NDTV Khabar

यूपी में जीत


'यूपी में जीत' - 224 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • दिल्ली विधानसभा में जीत के बाद अब UP पर AAP की नजर, लखनऊ दौरे पर पहुंचे संजय सिंह

    दिल्ली विधानसभा में जीत के बाद अब UP पर AAP की नजर, लखनऊ दौरे पर पहुंचे संजय सिंह

    विधानसभा चुनाव में दिल्ली की जनता ने यह जाहिर कर दिया है कि दिल्ली मॉडल ही विकास का असल मॉडल है. सिंह ने कहा कि राजनीतिक लिहाज से सबसे संवेदनशील राज्य उत्तर प्रदेश में पार्टी अपनी जमीन तैयार करने में जुट गई है.

  • दिल्ली के बाद अब इस राज्य में पार्टी के विस्तार में जुटी AAP, उठाएगी यह कदम...

    दिल्ली के बाद अब इस राज्य में पार्टी के विस्तार में जुटी AAP, उठाएगी यह कदम...

    दिल्ली विधानसभा में बेहतरीन जीत के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) अब उत्तर प्रदेश में अपने संगठन का विस्तार करने पर ध्यान केंद्रीय कर रही है.

  • PMC खाताधारकों की मुश्किलें कब दूर होंगी?

    PMC खाताधारकों की मुश्किलें कब दूर होंगी?

    लोकतंत्र में संख्या बेमानी हो गई है. चुनाव में इस संख्या के दम पर जीत तो हासिल कर लेते हैं, लेकिन उसके बाद इस संख्या का कोई मोल नहीं रह जाता. इसलिए जब पेड़ों के काटने के खिलाफ लोग प्रदर्शन करते हैं तो उन पर सख्त धाराएं लगा दी जाती हैं, ताकि उनकी ज़िंदगी मुकदमों में उलझकर रह जाएं और इस बात से किसी को फर्क नहीं पड़ता है. उसी शहर में जब हज़ारों लोग अपने पैसे की वापसी को लेकर सड़क पर उतरते हैं तो वही शहर उनसे भी बेगाना हो जाता है. उनकी संख्या जितनी भी हो बेमानी हो जाती है. जनता जब जनता की नहीं होती है तो संख्या फिर संख्या नहीं रह जाती, ज़ीरो हो जाती है.

  • यूपी के उपचुनाव में हार का मिथक तोड़ना चाहती है BJP, पिछले उपचुनाव में नहीं रहा था अच्छा अनुभव

    यूपी के उपचुनाव में हार का मिथक तोड़ना चाहती है BJP, पिछले उपचुनाव में नहीं रहा था अच्छा अनुभव

    साल 2017 के चुनाव में इन 10 सीटों में से बसपा और सपा ने सिर्फ दो सीटें जलालपुर और रामपुर जीती थीं, लेकिन अबकी भाजपा सभी पर नजर गड़ाए हुए है. भाजपा की कोशिश है कि इस बार के चुनाव में सभी सीटों पर जीत दर्ज हो, ताकि अभी तक हुए उपचुनावों में हुई हार का मिथक टूट सके. चुनाव की घोषणा के पहले मुख्यमंत्री योगी, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव और संगठन महामंत्री सुनील बंसल चुनाव वाले क्षेत्रों का दौरा कर कई कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुके हैं.

  • सोनिया गांधी की सीट रायबरेली में कांग्रेस के लिए बड़ा खतरा बन सकती हैं विधायक अदिति सिंह

    सोनिया गांधी की सीट रायबरेली में कांग्रेस के लिए बड़ा खतरा बन सकती हैं विधायक अदिति सिंह

    उत्तर प्रदेश में सोनिया गांधी की रायबरेली सीट ही कांग्रेस के लिए सबसे सुरक्षित मानी जाती रही है. इस बार हुए लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने यहां बहुत खराब प्रदर्शन करते हुए भी 1 लाख के अंतर से बीजेपी प्रत्याशी दिनेश सिंह को हराया है. लेकिन पिछली बार की तुलना में कांग्रेस की जीत का अंतर घट गया है.

  • राहुल गांधी के जन्मदिन पर PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई तो कांग्रेस अध्यक्ष ने ऐसे दिया जवाब

    राहुल गांधी के जन्मदिन पर PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई तो कांग्रेस अध्यक्ष ने ऐसे दिया जवाब

    लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राफेल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. राहुल गांधी ने अपने प्रचार के दौरान 'चौकीदार चोर है' के नारे खूब लगाए थे. पीएम मोदी और राहुल गांधी के बीच राजीव गांधी को लेकर भी दोनों में बहस हुए थी. पीएम मोदी ने यूपी में एक रैली के दौरान राजीव गांधी को 'भ्रष्टाचारी नंबर 1' बताया था. इसके जवाब में राहुल गांधी ने पीएम मोदी को झप्पी का ऑफर देते हुए कहा था कि आपके 'कर्मों' का फल मिलेगा. हालांकि, राहुल गांधी की पूरी कोशिश के बाद भी कांग्रेस प्रदर्शन नहीं कर पाई. कांग्रेस के खाते में केवल 52 सीटें आईं. इस बार राहुल गांधी अपनी लोकसभा सीट अमेठी भी नहीं बचा पाए. हालांकि, उन्होंने केरल के वायनाड सीट से जीत हासिल की है.

  • यूपी में बीजेपी के नए अध्यक्ष के नाम पर चर्चा तेज, एमपी में कांग्रेस कर रही आदिवासी नेता की तलाश

    यूपी में बीजेपी के नए अध्यक्ष के नाम पर चर्चा तेज, एमपी में कांग्रेस कर रही आदिवासी नेता की तलाश

    एक व्यक्ति, एक पद के सिद्धांत के चलते पांडेय ज्यादा दिन तक अध्यक्ष पद पर नहीं रहेंगे. नए अध्यक्ष को खोजने के लिए भाजपा को सारे आंकड़ों में फिट बैठने वाला व्यक्ति ही चाहिए. माना जाता है कि उप्र की बड़ी जीत में महेंद्रनाथ पांडेय का विशेष योगदान रहा है.

  • भीषण गर्मी में यूपी में बिजली कटौती : 'चुनाव खत्म हो चुका है, स्मृति ईरानी जीत चुकी हैं, अब अमेठी से बिजली चली गई है'

    भीषण गर्मी में यूपी में बिजली कटौती :  'चुनाव खत्म हो चुका है, स्मृति ईरानी जीत चुकी हैं, अब अमेठी से बिजली चली गई है'

    लोकसभा चुनाव 2019 समाप्त हो गए और इसी के साथ उत्तर प्रदेश में बिजली की निर्बाध आपूर्ति की रौनक भी चली गई. जैसे-जैसे गर्मी का पारा ऊपर चढ़ता गया, राज्य में शहरों और गांवों में अघोषित बिजली कटौती बढ़ती गई और गर्मी में जीना और मुहाल हो गया. अमेठी में जगदीशपुर एक ऐसी ही जगह है जिसने चुनाव के दौरान निर्बाध बिजली का मजा लिया. अब स्थिति बदल गई है. जगदीशपुर के व्यापारी बेचू खान ने कहा, "अब चुनाव खत्म हो चुका है, स्मृति ईरानी जीत चुकी हैं, अब अमेठी से बिजली चली गई है. हम घंटों की कटौती झेल रहे हैं और कोई अधिकारी हमारे सवालों का जवाब देने के लिए तैयार नहीं है." सुल्तानपुर जिले के लंभुआ के अर्जुनपुर गांव में विवेक सिंह ने भी कुछ ऐसी ही कहानी सुनाई. उन्होंने कहा, "हम तो अब, जब बिजली आती है तो जश्न मनाते हैं. पूरे दिन बिजली गायब रही. आधी रात को ही पंखा चलता है और वह भी कुछ घंटे के लिए."

  • यूपी में मायावती के उप-चुनाव अकेले लड़ने के फैसले के बाद अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर दिया बयान, कही यह बात...

    यूपी में मायावती के उप-चुनाव अकेले लड़ने के फैसले के बाद अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर दिया बयान, कही यह बात...

    उन्होंने (Akhilesh Yadav) इशारों में सपा की हार का ठीकरा मीडिया के सिर फोड़ते हुए कहा कि बताइए हर दिन टीवी पर कौन दिखता था, किसका टीवी था? वे हमारे दिमाग में टीवी और मोबाइल से खेले. यह अलग किस्म की लड़ाई थी, हम इस लड़ाई को नहीं समझ पाए. जिस दिन हम इस लड़ाई को समझ जाएंगे उस दिन जीत जाएंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि विरोधी काफी ताकतवर हैं लेकिन सामाजिक गठबंधन के जरिए उन्हें मात देने का प्रयास निरंतर जारी रहेगा.

  • सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच लोकसभा चुनाव से पहले हुए गठबंधन का अंत हो गया है. हालांकि इसकी कोई अभी तक औपचारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन मायावती ने 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर गठबंधन की स्‍थ‍िति साफ कर दी है. इस मसले पर अभी सपा की ओर से कोई बयान नहीं आया है. सपा-बसपा गठबंधन को पहले भी राजनीतिक विश्‍लेषक बेमेल समझौता बताते आ रहे थे. इस दौरान मायावती की चालाकी का भी जिक्र आया कि कैसे उन्‍होंने अखिलेश यादव के खाते में उन सीटों को दे दिया जिस पर उनकी जीत की कोई गुंजाइश नहीं बन पा रही थी. लखनऊ, गोरखपुर, बनारस, गाजियाबद जैसी लोकसभा सीटें इसके उदाहरण हैं. गठबंधन को लेकर सपा के संस्‍थापक और पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव खुश नहीं थे. अपनी नाराजगी उन्‍होंने साफ जाहिर कर दी थी. सपा से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी बनाई और अपने उम्‍मीदवार सभी सीटों पर उतारे. शिवपाल यादव ने भी इस गठबंधन का मजाक उड़ाया था. गेस्‍ट हाउस कांड का भी जिक्र आया लेकिन कहा गया कि दोनों पार्टियां अब इस हादसे से उबर चुकी हैं. मंच पर मायावती के साथ मुलायम और अखिलेश की कई तस्‍वीरें सामने आईं. हालांकि एक चुनावी भाषण में मायावती यह कहने से नहीं चूकीं कि सपा के कार्यकर्ताओं को बसपा के लोगों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है.

  • Results 2019: ...तो इस वजह से बिहार में हुई महागठबंधन की दुर्गति

    Results 2019: ...तो इस वजह से बिहार में हुई महागठबंधन की दुर्गति

    बिहार में शायद 1991 के बाद इस बार के लोकसभा चुनाव का परिणाम होगा जहां सत्तारूढ़ दल ने विपक्ष को मात्र एक सीट पर समेट दिया. 1991 के चुनाव में सामाजिक न्याय की हवा और लालू यादव के नेतृत्व के कारण कांग्रेस पार्टी एक मात्र बेगूसराय की सीट जीत पायी थी और भाजपा को चार सीटें अब के झारखंड में मिली थीं. लेकिन इस बार भी उसी कांग्रेस पार्टी को किशनगंज सीट से संतोष करना पड़ा. लेकिन इस बार के बाद सब इस पराजय का कारण जानने में लगे हैं लेकिन सरसरी नज़र से देखें तो इस परिणाम के कारण कुछ यूं हैं...

  • Election Results 2019: हार पर मंथन करेगी कांग्रेस, कल CWC की होगी बैठक, इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं राहुल गांधी

    Election Results 2019: हार पर मंथन करेगी कांग्रेस, कल CWC की होगी बैठक, इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं राहुल गांधी

    उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख राज बब्बर ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजीव बक्शी ने शुक्रवार को पीटीआई भाषा को बताया कि बब्बर ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. बक्शी ने बताया कि बब्बर ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दिया है. इससे पहले बब्बर ने ट्वीट किया, ''यूपी कांग्रेस के लिए परिणाम निराशाजनक हैं. अपनी जिम्मेदारी को सही तरीके से नहीं निभा पाने के लिए खुद को दोषी पाता हूं. नेतृत्व से मिलकर अपनी बात रखूंग. जनता का विश्वास हासिल करने के लिए विजेताओं को बधाई.' यूपी की बात करें तो यहां 80 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस सिर्फ एक रायबरेली सीट जीत पायी, जहां से सोनिया गांधी चुनाव लड़ी थीं. फतेहपुर सीकरी से राज बब्बर चुनाव हार गये हैं.

  • लोकसभा चुनाव : उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की बुरी हार, राज बब्बर ने यूपी अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

    लोकसभा चुनाव : उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की बुरी हार, राज बब्बर ने यूपी अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

    उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख राज बब्बर ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. बब्बर ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दिया है.

  • Election Results 2019: मोदी लहर में भी संबित पात्रा समेत बीजेपी के ये बड़े नेता नहीं जीत पाए चुनाव, नतीजे कर देंगे हैरान

    Election Results 2019: मोदी लहर में भी संबित पात्रा समेत बीजेपी के ये बड़े नेता नहीं जीत पाए चुनाव, नतीजे कर देंगे हैरान

    Election Results 2019: हैरानी की बात ये है कि मोदी लहर के बावजूद भी बीजेपी के 4 बड़े नेताओं को हार का सामना करना पड़ा. चुनाव आयोग से मिल रहे नतीजों के मुताबिक बीजेपी अब तक 302 सीटें जीत चुकी है और 1 सीट पर आगे चल रही है.

  • UP Election Results: वाराणसी से जीते PM मोदी, अमेठी से राहुल गांधी ने मानी हार, 60 से ज्यादा सीटों पर BJP आगे

    UP Election Results: वाराणसी से जीते PM मोदी, अमेठी से राहुल गांधी ने मानी हार, 60 से ज्यादा सीटों पर BJP आगे

    Live UP Chunav Results 2019 : Results 2019: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में लगातार दूसरी बार 'प्रचंड मोदी लहर' पर सवार भारतीय जनता पार्टी (BJP) रिकॉर्ड सीटों के साथ सत्ता पर काबिज होने जा रही है. उत्तर प्रदेश ने लोकसभा चुनाव में भाजपा को एक बार फिर जोरदार समर्थन दिया है. लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में अभी तक घोषित 21 चुनाव परिणामों में से 13 उसके पक्ष में गए हैं. अभी 62 सीटों पर बीजेपी आगे है और सपा-बसपा गठबंधन को 17 सीटें मिलती दिख रही है. कांग्रेस से सिर्फ सोनियां गांधी जीत दर्ज करने में सफल रहीं.

  • राम माधव का दावा: 2014 के यूपी वाले नतीजे इस बार बंगाल में आएंगे, जानें क्या कहते हैं आकंड़े

    राम माधव का दावा: 2014 के यूपी वाले नतीजे इस बार बंगाल में आएंगे, जानें क्या कहते हैं आकंड़े

    इस चुनाव में पश्चिम बंगाल काफी चर्चा में रहा है. वहीं भाजपा का इस प्रदेश पर विशेष फोकस भी रहा. NDTV के पोल ऑफ एग्जिट पोल्स (Poll of Exit Poll 2019) के अनुसार बीजेपी को पश्चिम बंगाल में दस से ज्यादा सीटें मिल सकती हैं. जबकि टीएमसी को 24 सीटों पर जीत मिल सकती है. वहीं राज्य में कांग्रेस को भी दो सीटों पर जीत मिल सकती है. उधर, वाम दलों को भी दो सीटों पर जीत मिलने का अनुमान है.

  • शत्रुघ्न सिन्हा को अपनी जीत का पूरा भरोसा, कहा- बिहार और यूपी में हो जाएगा बीजेपी का सूपड़ा साफ

    शत्रुघ्न सिन्हा को अपनी जीत का पूरा भरोसा, कहा- बिहार और यूपी में हो जाएगा बीजेपी का सूपड़ा साफ

    बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) पटना साहिब सीट पर लगातार तीसरी बार अपनी जीत बरकरार रखने के लिए आश्वस्त हैं. सिन्हा ने रविवार को दावा किया कि बिहार और उत्तर प्रदेश में बीजेपी (BJP) का सूपड़ा साफ हो जाएगा

  • क्या आप चाहेंगे मायावती PM बनें और आप उनका समर्थन करेंगे? अखिलेश यादव ने डॉ प्रणय रॉय को दिया यह जवाब

    क्या आप चाहेंगे मायावती PM बनें और आप उनका समर्थन करेंगे? अखिलेश यादव ने डॉ प्रणय रॉय को दिया यह जवाब

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) की सरगर्मियों के बीच NDTV के डॉ. प्रणव रॉय ने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और उनकी पत्नी डिंपल यादव (Dimple Yadav) से खास बातचीत की. सपा प्रमुख और यूपी के कन्नौज से सांसद डिंपल यादव ने महिलाओं के लिए पार्टी की नीतियों, अगर चुनाव में विपक्ष की जीत होती है तो कौन बनेगा प्रधानमंत्री और यूपी में सपा-बसपा के गठबंधन के प्रभाव को लेकर अपनी बात कही. क्‍या प्रधानमंत्री पद के लिए वो मायावती का समर्थन करेंगे, इसके जवाब में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav News) ने कहा, 'मेरे बारे में सब जानते हैं कि मैं किसके साथ रहूंगा. मैं ये चाहता हूं कि यूपी से प्रधानमंत्री बने.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com