NDTV Khabar

रतन मणि लाल News in Hindi


'रतन मणि लाल' - 17 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • यूपी चुनाव नतीजे : गैर भाजपा दलों के लिए यह आत्‍ममंथन का समय

    यूपी चुनाव नतीजे : गैर भाजपा दलों के लिए यह आत्‍ममंथन का समय

    बीजेपी के घोर समर्थक भी पार्टी के 200 के करीब का आंकड़ा पाने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन जिस तरह से संप्रदाय, जाति या क्षेत्र के सीमाएं तोड़ते हुए कुल वोट का 40 प्रतिशत से भी ज्यादा पाकर बीजेपी ने उत्तर प्रदेश की सत्ता हासिल की है, उससे प्रदेश के लोगों और राजनीतिक माहौल के बारे में नई परिभाषाएं गढ़ने के जरूरत महसूस हो रही है.

  • काल्पनिक डर और हमारे अंदर के 'रावण'

    काल्पनिक डर और हमारे अंदर के 'रावण'

    भारत में, और विशेषकर उत्तर भारत के राज्यों में चुनावी प्रचार एक तरह से फ्री-स्टाइल कुश्ती की तर्ज पर होता है जिसमें कोई भी नियम या बंदिश नहीं होती. भले ही भारत का चुनाव आयोग अपने तमाम आदेशों से चुनाव प्रचार के वक्तव्यों, टिप्पणियों और भाषणों के लिए दिशा निर्देश निर्धारित करता रहा हो, लेकिन नेता हैं कि मानते ही नहीं. उनके लिए प्रचार का एक-एक मौका अपनी बात को अतिरंजित कर कहने के लिए इस्तेमाल किया जाता है भले ही इससे किसी की संवेदनाओं पर चोट क्यों न पहुंचती हो.

  • अखिलेश को मिली सपा की विरासत, क्या होगा मुलायम सिंह का भविष्य...

    अखिलेश को मिली सपा की विरासत, क्या होगा मुलायम सिंह का भविष्य...

    क्या ‘साइकिल’ चुनाव चिन्ह मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव फिर से चुनावी रेस में आगे आ सकते हैं? क्या उनके ऊपर अपने पिता मुलायम सिंह यादव की पार्टी और उनके चुनाव चिन्ह पर कब्जा कर लेने का आरोप उन्हें नुकसान पहुंचाएगा? और क्या अब अखिलेश एक भावनात्मक अपील करते हुए अपने पिता से यह कहेंगे कि पार्टी तो मुलायम की ही है, और तीन महीने बाद – फिर से सत्ता हासिल करके – वे (मुलायम) ही फिर से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे?

  • उत्तर प्रदेश में कोई हल नजदीक ही है, गठबंधन के बढ़ते आसार

    उत्तर प्रदेश में कोई हल नजदीक ही है, गठबंधन के बढ़ते आसार

    क्या उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के चुनाव पूर्व गठबंधन को लेकर कुछ तय हो चुका है? क्या इसी का नतीजा है कि पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के अब तक के रुख में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है?

  • उत्तर प्रदेश : विकास गाथा पर भारी जातीय संतुलन की राजनीति

    उत्तर प्रदेश : विकास गाथा पर भारी जातीय संतुलन की राजनीति

    चुनाव जीतने के लिए राजनीतिक दलों और नेताओं को क्या-क्या नहीं करना पड़ता है. ऐसे वादे करना जो पूरे न किए जा सकते हों, ऐसे आरोप जो साबित न किए जा सकते हों, ऐसी मांग करना जो वाजिब न हों, यह अब आम बात हो चुकी है. और कुछ इसी तरह अपनी छवि गढ़ी जाती है, जिसे बनाए रखने के लिए न जाने क्या-क्या नाटक करने पड़ते हैं.

  • नोटबंदी के माहौल में एकता के अनोखे रंग...

    नोटबंदी के माहौल में एकता के अनोखे रंग...

    पूरे देश में एकता की बयार चल रही है. लोग नोट बदलने के लिए एक हो रहे हैं, लाइन लगने के लिए एक हो रहे हैं, नोट बंदी का समर्थन करने के लिए एक हो रहे हैं, नोट बंदी और विशेष तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करने के लिए एक हो रहे हैं.

  • यूपी में सपा में कलह और निकले पांच सवाल..

    यूपी में सपा में कलह और निकले पांच सवाल..

    उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव के कुछ महीनों पहले ही सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी में हुई कलह से एक बार फिर परिवार-केन्द्रित राजनीति की सीमाएं उजागर हुईं हैं.

  • क्यों ऐसे ही हैं सरकारी अस्पताल?

    क्यों ऐसे ही हैं सरकारी अस्पताल?

    देश में सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का हाल बिलकुल ठीक नहीं है यह अब कोई खबर नहीं रह गई है. डॉक्टरों और कर्मचरियों के अलावा बेड, दवाओं व अन्य सामानों की कमी के साथ-साथ सरकारी तंत्र की संवेदनहीनता का सबसे बड़ा उदाहरण भी सरकारी अस्पतालों में ही दीखता है. इसका सबसे ताजा उदाहारण कुछ दिन पहले कानपुर में मिला.

  • क्या राहुल गांधी खोल पाएंगे अखिलेश यादव के खिलाफ नया मोर्चा?

    क्या राहुल गांधी खोल पाएंगे अखिलेश यादव के खिलाफ नया मोर्चा?

    पिछले 13 वर्षों से बारी बारी से उत्तर प्रदेश पर शासन कर रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के लिए 2017 का चुनाव अब “तुम चलो, मैं आया” की स्थिति से अलग जाता दिख रहा है.

  • अधूरे ख्वाब के साथ चले गए अयोध्या के 'चचा' हाशिम अंसारी...

    अधूरे ख्वाब के साथ चले गए अयोध्या के 'चचा' हाशिम अंसारी...

    हाशिम अंसारी का अपने जीवनकाल में अयोध्या में राम मंदिर के साथ मस्जिद भी बनना देखने का सपना अधूरा रह गया। बुधवार 20 जुलाई को सवेरे 5.30 बजे अयोध्या विवाद के सबसे पुराने पैरोकार हाशिम के निधन के साथ ही इस विवाद का सार्थक हल निकालने को लेकर उठती रही एक आवाज़ हमेशा के लिए खामोश हो गई।

  • यूपी चुनाव: कांग्रेस को अभी भी प्रचार नीति की तलाश...

    यूपी चुनाव: कांग्रेस को अभी भी प्रचार नीति की तलाश...

    यूपी में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी अपनी और मुख्यमंत्री की छवि बदलने की कोशिश में व्यापक प्रचार अभियान चला रही है, वहीं बीजेपी प्रदेश भर में रैली और सभाएं आयोजित कर लोगों को अपनी खूबियां बता रही है। लेकिन इन सब के बीच कांग्रेस में चुनाव की तैयारियों को लेकर जो कुछ भी हो रहा है वह वास्तव में आश्चर्यजनक है।

  • यूपी में कानून व्यवस्‍था और अपराध नियंत्रण में पुलिस की नाकामी का सच

    यूपी में कानून व्यवस्‍था और अपराध नियंत्रण में पुलिस की नाकामी का सच

    उत्तर प्रदेश के बारे में कहीं भी कैसी भी चर्चा हो, उसमें यहां की कानून व्यवस्था की स्थिति और अपराध नियंत्रण पर पुलिस की नाकामयाबी का उल्लेख हावी रहता है।

  • पार्टी में वापसी, जाति न पूछो ‘पारिवारिक दोस्त’ की

    पार्टी में वापसी, जाति न पूछो ‘पारिवारिक दोस्त’ की

    समाजवादी पार्टी के भूतपूर्व नेता बेनी प्रसाद वर्मा के कांग्रेस छोड़कर पुनः सपा में आने से कुछ अन्य बड़े नेताओं का भी साहस बढ़ा है कि अब समय आ गया है कि वे भी अपने पत्ते खोलें। यह तो मौसम की मांग है कि पत्ते ही नहीं बल्कि शाखें और पूरे-पूरे पेड़ भी रंग बदलते रहें, और लोगों को अपने प्रासंगिक होने की याद दिलाते रहें।

  • देश की सियासत में पानी के कैसे-कैसे रंग...

    देश की सियासत में पानी के कैसे-कैसे रंग...

    उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में सूखे की स्थिति क्या है? क्या वहां पानी की किल्लत उतनी ही है जितनी महाराष्ट्र के कुछ क्षेत्रों में? क्या वहां राहत और बचाव के काम प्रदेश सरकार की देखरेख में ठीक से हो रहे हैं?

  • आस्था के प्रतीक और राजनीतिक विरोध

    आस्था के प्रतीक और राजनीतिक विरोध

    उत्तरप्रदेश में मौसम की गर्म मार बढ़ने के साथ साथ राजनीतिक दलों में भी एक-दूसरे की धज्जियां उड़ाने के प्रयासों में तेज़ी आना शुरू हो गई है। ऐसे में राजनीतिक दलों के समर्थक अपने पूज्य नेताओं को बलशाली दिखाने के लिए ऐसे प्रतीकों का भी इस्तेमाल कर रहे हैं, जिनसे वे नेता भी दूर रहना चाहेंगे।

  • अफसरों के भरोसे यूपी में चुनाव जीतेगी सपा ?

    अफसरों के भरोसे यूपी में चुनाव जीतेगी सपा ?

    उत्तर प्रदेश में तमाम मेगा परियोजनाओं को शुरू करने के बावजूद भी सपा सरकार का आकलन अपराध और कानून-व्यवस्था की चिंताजनक स्थिति पर ही हो रहा है और लोगों के बीच तमाम चर्चाएं भी इसी मुद्दे के इर्द-गिर्द आकर रुक जाती हैं।

  • यूपी में शुरू हुई मुस्लिम वोट पर हक जमाने की होड़

    यूपी में शुरू हुई मुस्लिम वोट पर हक जमाने की होड़

    क्या मुस्लिम समुदाय ने किसी भी चुनाव में अपने समर्थन देने के अधिकार को चुनने की जिम्मेदारी किसी एक शख्स को दे रखी है? भले ही ऐसा होना संभावित न लगे, लेकिन कम से कम यूपी में तो ऐसे कई चेहरे उभरने लगे हैं जो प्रदेश के 2017 के चुनाव में अपने समुदाय का एकमुश्त समर्थन देने का दावा कर रहे हैं।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com