NDTV Khabar

रवीश कुमार


'रवीश कुमार' - 751 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • एक करोड़ नौकरियों का वादा कहां गया? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम 

    एक करोड़ नौकरियों का वादा कहां गया? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम 

    जब गांव-शहर और घर-बाहर हर जगह नौकरी की बात होती रहती है तो फिर मीडिया में नौकरी की बात क्यों नहीं होती है. विपक्ष में रहते हुए नेता बेरोज़गारी का मुद्दा उठाते हैं मगर सरकार में आकर रोज़गार के बारे में बताते ही नहीं है. यह बात हर दल और हर मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री पर लागू होती है.

  • अपनी शामों को मीडिया के खंडहर से निकाल लाइये...

    अपनी शामों को मीडिया के खंडहर से निकाल लाइये...

    जज लोया के दोस्त इसे सुनियोजित हत्या मान रहे हैं. अनुज लोया ने जब 2015 में जांच की मांग की थी और जान को ख़तरा बताया था तब गोदी मीडिया के एंकर सवाल पूछना या चीखना-चिल्लाना भूल गए. वो जानते थे कि उस स्टोरी को हाथ लगाते तो हुज़ूर थाली से रोटी हटा लेते.

  • काबुल में भारतीय दूतावास परिसर में गिरा रॉकेट, कोई हताहत नहीं

    काबुल में भारतीय दूतावास परिसर में गिरा रॉकेट, कोई हताहत नहीं

    अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भारतीय दूतावास के परिसर में  एक रॉकेट गिरा, लेकिन मिशन के सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं.

  • प्राइम टाइम इंट्रो : न्यायपालिका के भीतर के सुलगते सवाल

    प्राइम टाइम इंट्रो : न्यायपालिका के भीतर के सुलगते सवाल

    चार जज कहें कि हम नहीं चाहते कि कोई ऐसे याद करे कि इन्होंने अपनी आत्मा बेच दी और हम बहस उनके उठाए सवालों पर नहीं कर रहे हैं. माननीय न्यायमूर्तियों के सवालों को किनारे लगाकर टीवी मीडिया और सोशल मीडिया इस पर चर्चा करने लगा कि इनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि क्या है, प्रेस कांफ्रेंस क्यों किया, राष्ट्रपति के पास क्यों नहीं गए, चीफ जस्टिस से बात क्यों नहीं की.

  • सुप्रीम कोर्ट में लगी है अंतरात्मा की अदालत

    सुप्रीम कोर्ट में लगी है अंतरात्मा की अदालत

    मेडिकल कॉलेज और जज लोया की सुनवाई के मामले में गठित बेंच ने जजों को अपना फ़र्ज़ निभाने के लिए प्रेरित किया है या कोई और वजह है, यह उन चार जजों के जवाब पर निर्भर करेगा.

  • भारत और पाकिस्तान के बीच NSA लेवल की वार्ता को लेकर विदेश मंत्रालय ने यह कहा

    भारत और पाकिस्तान के बीच NSA लेवल की वार्ता को लेकर विदेश मंत्रालय ने यह कहा

    भारत ने पहली बार गुरुवार को पुष्टि करते हुए कहा कि पिछले महीने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नासिर खान जंजुआ ने बैंकाक में मुलाकात की थी. बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ने और सीमा पार आतंकवाद को समाप्त करने पर जोर रहा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, "हां, मैं मानता हूं, बातचीत हुई थी. मैं इस बात को भी मानता हूं कि मुद्दा आतंकवाद का था. चर्चा इस बात पर हुई कि कैसे क्षेत्र में आतंकवाद से छुटकारा पाया जाए, कैसे यह सुनिश्चित किया जाए कि आतंकवाद इस क्षेत्र को प्रभावित न करे. मेरे विचार से हमने उस वार्ता में सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा उठाया."

  • हल्द्वानी के ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की मौत पर मीडिया ने चुकाई जीएसटी

    हल्द्वानी के ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की मौत पर मीडिया ने चुकाई जीएसटी

    हल्द्वानी के प्रकाश पांडे के सल्फास खाने के बाद मुख्यमंत्री 12 लाख रुपये मुआवज़ा देने का एलान कर रहे हैं. परिवार वाले स्थाई नौकरी और अधिक मुआवज़े की मांग कर रहे हैं. हल्द्वानी में व्यापारियों और ट्रांसपोर्टर ने बुधवार को बंद भी रखा. हिन्दुस्तान टाइम्स से ट्रांसपोर्टर संघ के अध्यक्ष प्रीतम सब्बरवाल ने कहा है कि बिजनेस ख़त्म हो गया है.

  • 18 साल के मतदाताओं के नाम रवीश कुमार का एक खुला खत

    18 साल के मतदाताओं के नाम रवीश कुमार का एक खुला खत

    मतदाता बनना प्रतिशत में गिना जाना नहीं होता है. अच्छा मतदाता वह होता है जो वोट देने से पहले काफी मेहनत करता है. तर्कों का इस्तेमाल करता है, तरह-तरह की पहचान के नाम पर भड़काई गई भावुकता में नहीं बहता है.

  • टावर ले लो, स्पेक्ट्रम ले लो, कैंपस ले लो, अनिल अंबानी बेच रहे हैं, तुम भी ले लो

    टावर ले लो, स्पेक्ट्रम ले लो, कैंपस ले लो, अनिल अंबानी बेच रहे हैं, तुम भी ले लो

    2010 तक टेलिकॉम की दुनिया में नंबर दो के स्थान पर बादशाहत रखने वाली अनिल अंबानी की कंपनी RCOM तीन महीने के भीतर अपना बहुत कुछ नीलाम करने वाली है. अगर आपके पास पैसा है तो आप ख़रीद सकते हैं मगर देखना दिलचस्प होगा कि किस कंपनी के पास इतना पैसा होगा जो तीन महीने के भीतर 39000 करोड़ की ख़रीद करेगी. ज़ाहिर है एक कंपनी तो नहीं होगी, कई कंपनियां भी हो सकती हैं.

  • नौजवानों के साथ धोखा, कहां हैं मोदी और राहुल

    नौजवानों के साथ धोखा, कहां हैं मोदी और राहुल

    आप दोनों युवाओं के लिए वक्त निकालिए. प्रधानमंत्री जी आप सरकार में रहते हुए सोचिए कि क्या होना चाहिए और राहुल गांधी जी आप विपक्ष में रहते हुए आप इस मुद्दे को इतना उठाइये कि सरकार जल्दी सोचे और जल्दी कुछ करे. भारत के नौजवानों के धीरज का इम्तहान मत लीजिए.

  • भय के माहौल के बावजूद मां ने कुलभूषण से कहा- बेटा जब भी बोलना सच बोलना : सूत्र

    भय के माहौल के बावजूद मां ने कुलभूषण से कहा- बेटा जब भी बोलना सच बोलना : सूत्र

    जासूसी के आरोप में पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी के मुलाकात के एक दिन बीत गये. मुलाकात के बाद से भारतीयों के मन में उस बातचीत के बारे में जानने की इच्छा अधिक है. सभी ये जानना चाहते हैं कि इस्लामाबाद में कुलभूषण जाधव और उनकी मां और पत्नी के बीच क्या-क्या बात हुई और वहां पर किस तरह का माहौल था. मगर सूत्रों की मानें तो भय काे माहौल के बावजूद कुलभूषण की मां ने अपने बेटे से कहा कि बेटा जब भी बोलना सच बोलना और बताना कि तुम एक कारोबारी हो.

  • मुलाकात से पहले कुलभूषण जाधव की पत्‍नी का मंगलसूत्र और चूड़ियां तक उतरवा ली पाकिस्‍तान ने- 10 बड़ी बातें

    मुलाकात से पहले कुलभूषण जाधव की पत्‍नी का मंगलसूत्र और चूड़ियां तक उतरवा ली पाकिस्‍तान ने- 10 बड़ी बातें

    इस्लामाबाद में अपने बेटे कुलभूषण जाधव से मिलने के एक दिन बाद उनकी मां और पत्नी ने मंगलवार को दिल्‍ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. जाधव कथित जासूसी के मामले में पाकिस्तान में जेल में हैं और उन्हें वहां की एक अदालत ने फांसी की सजा सुनाई हुई है. मुलाकात के दौरान सुषमा स्वराज के आवास पर विदेश सचिव एस. जयशंकर और विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार, जाधव की मां अवंती और पत्नी चेतानकुल के साथ थे. विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने बताया कि कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी कल उनसे इस्लामाबाद में मिलीं. भारत की ओर से परिवार को मिलने देने के अनुरोध के बाद ये मुलाक़ात हुई. बैठक से पहले इसके तौर-तरीक़े तय करने के लिए कूटनीतिक स्तर पर दोनों सरकारें संपर्क में थीं. दोनों पक्षों में समझ साफ़ थी कि और भारतीय पक्ष अपनी प्रतिबद्धता पर अडिग रहा, लेकिन हमें खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि पाकिस्तान ने कुछ इस तरह बैठक की जिसमें इस समझ का उल्लंघन हुआ.

  • क्‍या मीडिया और विपक्ष का घालमेल रहा 2जी?

    क्‍या मीडिया और विपक्ष का घालमेल रहा 2जी?

    2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में 1 लाख 76 हज़ार घोटाले को साबित करने के लिए कोई पक्के सबूत नहीं मिले हैं. स्पेशल सीबीआई कोर्ट के फैसले के बाद यह बात हज़म नहीं हो पा रही है कि जिस घोटाले को भारत के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला बताया गया, उसे साबित करने के लिए आखिर सीबीआई सात साल में सबूत क्यों नहीं पेश कर पाई.

  • एक ऐसा घोटाला, जो कभी हुआ ही नहीं!

    एक ऐसा घोटाला, जो कभी हुआ ही नहीं!

    2जी घोटाले में किसी के ख़िलाफ़ कोई सबूत नहीं मिला है. सीबीआई सात सालों में किसी भी आरोपी के ख़िलाफ़ ऐसा सबूत पेश नहीं कर पाई जिससे आरोप साबित हों. सात साल तक चले इस मामले में साढ़े तीन साल मोदी सरकार के हैं. सुप्रीम कोर्ट इस केस की निगरानी कर रहा था. इसके बाद भी 2जी मामले में सीबीआई किसी के ख़िलाफ़ सबूत पेश नहीं कर पाई है.

  • बागों में बहार तो नहीं है मगर फिर भी....

    बागों में बहार तो नहीं है मगर फिर भी....

    हमने पत्रकारिता को टीआरपी मीटर का गुलाम बना दिया है. टीआरपी मीटर ने एक साज़िश की है. उसने अपने दायरे के लाखों-करोड़ों लोगों को दर्शक होने की पहचान से ही बाहर कर दिया है. कई बार सोचता हूं कि जिनके घर टीआरपी मीटर नहीं लगे हैं, वो टीवी देखने का पैसा क्यों देते हैं? क्या वे टीवी का दर्शक होने की गिनती से बेदखल होने के लिए तीन से चार सौ रुपये महीने का देते हैं. करोड़ों लोग टीवी देखते हैं मगर सभी टीआरपी तय नहीं करते हैं.

  • आसियान के साथ संबंध किसी तीसरे देश से प्रभावित नहीं : भारत

    आसियान के साथ संबंध किसी तीसरे देश से प्रभावित नहीं : भारत

    भारत ने परोक्ष रूप से चीन का हवाला देते हुए मंगलवार को कहा कि आसियान के साथ भागीदारी का उसका स्तर सहयोग के अवसर से निर्धारित है और किसी तीसरे देश से प्रभावित नहीं है.

  • NEWS FLASH : एनडीटीवी के रवीश कुमार को रामनाथ गोयनका सम्मान, श्रीनिवासन जैन और मानस प्रताप को भी सम्मान

    NEWS FLASH : एनडीटीवी के रवीश कुमार को रामनाथ गोयनका सम्मान, श्रीनिवासन जैन और मानस प्रताप को भी सम्मान

    गुजरात और हिमाचल के विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद अब दोनों राज्यों में मुख्यमंत्री के चयन के लिए बीजेपी के शीर्ष अधिकारियों में मंथन जारी है.

  • उन्माद फैलाने वाले को न्यायपालिका का भी डर नहीं ? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम

    उन्माद फैलाने वाले को न्यायपालिका का भी डर नहीं ? रवीश कुमार के साथ प्राइम टाइम

    राजस्थान के उदयपुर की अदालत के गेट की छत पर चढ़कर भगवा ध्वज लहराने की यह तस्वीर संविधान की बनाई तमाम मर्यादा से खिलवाड़ करती है.

Advertisement