NDTV Khabar

राजनीतिक पार्टियां


'राजनीतिक पार्टियां' - 82 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी हटाया 'कांग्रेस प्रेसिडेंट', राजनीतिक पार्टियों से आया कुछ ऐसा रिएक्शन

    राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी हटाया 'कांग्रेस प्रेसिडेंट', राजनीतिक पार्टियों से आया कुछ ऐसा रिएक्शन

    बीजेपी के नेता नलिनी कोहली ने राहुल गांधी के इस्तीफे पर कहा कि यह उनके ऊपर है कि वह इस्तीफा देते हैं या ऐसे हालात में खुद ही अध्यक्ष बने रहते हैं. दो तरह की पार्टियां होती हैं. एक बीजेपी जैसी जो लोकतंत्र के आधार पर चलती हैं जबकि दूसरी तरफ एक ऐसी पार्टी भी है जिसे सिर्फ परिवार वाले ही चलाते हैं. अब उन्हें निर्णय लेना है, इसमें हम कुछ नहीं बोल सकते.

  • सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच लोकसभा चुनाव से पहले हुए गठबंधन का अंत हो गया है. हालांकि इसकी कोई अभी तक औपचारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन मायावती ने 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर गठबंधन की स्‍थ‍िति साफ कर दी है. इस मसले पर अभी सपा की ओर से कोई बयान नहीं आया है. सपा-बसपा गठबंधन को पहले भी राजनीतिक विश्‍लेषक बेमेल समझौता बताते आ रहे थे. इस दौरान मायावती की चालाकी का भी जिक्र आया कि कैसे उन्‍होंने अखिलेश यादव के खाते में उन सीटों को दे दिया जिस पर उनकी जीत की कोई गुंजाइश नहीं बन पा रही थी. लखनऊ, गोरखपुर, बनारस, गाजियाबद जैसी लोकसभा सीटें इसके उदाहरण हैं. गठबंधन को लेकर सपा के संस्‍थापक और पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव खुश नहीं थे. अपनी नाराजगी उन्‍होंने साफ जाहिर कर दी थी. सपा से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी बनाई और अपने उम्‍मीदवार सभी सीटों पर उतारे. शिवपाल यादव ने भी इस गठबंधन का मजाक उड़ाया था. गेस्‍ट हाउस कांड का भी जिक्र आया लेकिन कहा गया कि दोनों पार्टियां अब इस हादसे से उबर चुकी हैं. मंच पर मायावती के साथ मुलायम और अखिलेश की कई तस्‍वीरें सामने आईं. हालांकि एक चुनावी भाषण में मायावती यह कहने से नहीं चूकीं कि सपा के कार्यकर्ताओं को बसपा के लोगों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है.

  • बिहार : आचार संहिता, इफ्तार और सियासी मायनों के फेर में फंसे सभी पार्टियों के नेता

    बिहार : आचार संहिता, इफ्तार और सियासी मायनों के फेर में फंसे सभी पार्टियों के नेता

    बिहार में इस समय राजनीतिक माहौल और इफ्तार का अजब संयोग बना हुआ है और हालात ऐसे हैं कि हर इफ्तार पार्टी कोई न कोई खबर लेकर आती है जिसके सियासी मायने निकाले जाने शुरू हो जाते हैं. दरअसल लोकसभा चुनाव के चलते आचार संहिता लगी हुई थी और जिसकी वजह से रमजान के महीने में कोई भी नेता इफ्तार नहीं दे सका. अब चुनाव के साथ ही रमजान का महीना भी खत्म होने को आया है.

  • Election Results : NaMo ने बनाया BJP को 2014 से भी ज्‍यादा मजबूत, दूसरी बार केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार,10 बातें

    Election Results : NaMo ने बनाया BJP को 2014 से भी ज्‍यादा मजबूत, दूसरी बार केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार,10 बातें

    India Election Results 2019 : पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा ने चुनाव को बेशक रक्‍तरंजित बना दिया हो लेकिन जो परिणाम आ रहे हैं उससे यह साबित होते जा रहा है कि चुनाव कैसे इससे प्रभावित हुआ. बताया जा रहा है कि इसबार का चुनाव प्रचार अब तक का सबसे ज्यादा ध्रुवीकरण वाला रहा है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की अगुवाई में बीजेपी को बहुमत मिला था. 30 साल बाद यह पहला मौका था किसी भी राजनीतिक दल को पूर्ण बहुमत मिला हो. और यह अब दूसरी बार होगा कि कोई गैर कांग्रेसी सरकार अपने दम पर सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में 21 पार्टियां एक साथ हैं. वहीं उत्तर प्रदेश में सपा और बीएसपी मिलकर चुनाव लड़ रही हैं.

  • '56 पार्टियां बनाम 56 इंच का सीना': संयुक्त रैली में बीजेपी-शिवसेना का विपक्ष पर हमला

    '56 पार्टियां बनाम 56 इंच का सीना': संयुक्त रैली में बीजेपी-शिवसेना का विपक्ष पर हमला

    दोनों ही पार्टी के बड़े नेता रविवार को कोल्हापुर जिले में संयुक्त रैली की. इस दौरान महाराष्ट्र मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी एक साथ नजर आए. फडनवीस ने मंच से संबोधित करते हुए कहा, ''लोकसभा चुनाव उन लोगों के बीच लड़े जाएंगे जो देश के दुश्मनों से टक्कर लेते हैं और दूसरा वो जो राजनीतिक कारणों से अपने सैनिकों की उपलब्धियों पर सवाल उठाते हैं.''

  • भारत में अब हैं कुल 2293 राजनीतिक दल: सबसे बड़ी पार्टी से लेकर, भरोसा पार्टी तक शामिल

    भारत में अब हैं कुल 2293 राजनीतिक दल: सबसे बड़ी पार्टी से लेकर, भरोसा पार्टी तक शामिल

    ‘सबसे बड़ी पार्टी’...जी कयास नहीं लगाएं कि कौन सबसे बड़ी है क्योंकि यह खुद ही पार्टी का नाम है और इस तरह की छोटी-बड़ी तकरीबन 2300 राजनीतिक पार्टियां चुनाव आयोग में पंजीकृत हैं. भारत चुनाव आयोग में राजनीतिक दलों के नवीनतम डेटा के अनुसार देश में कुल 2293 राजनीतिक दल हैं.  चुनाव आयोग में पंजीकृत इन पार्टियों में से सात मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और 59 मान्यताप्राप्त राज्य पार्टियां हैं. 

  • चुनाव में 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण हो, याचिका पर आज सुनवाई

    चुनाव में 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण हो, याचिका पर आज सुनवाई

    लोकसभा चुनाव को लेकर 21 विपक्षी पार्टियां द्वारा दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सुनवाई करेगा. फ्री एंड फेयर चुनाव और पुख्ता व्यवस्था के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण करने की मांग आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित 21 विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में की है.

  • ऑपरेशन बालाकोट: राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को दी पाकिस्तान जाने की सलाह, मारे गए आतंकियों की संख्या पर कही यह बात

    ऑपरेशन बालाकोट: राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को दी पाकिस्तान जाने की सलाह, मारे गए आतंकियों की संख्या पर कही यह बात

    बीएसएफ की एक सीमा परियोजना का उद्घाटन करने के बाद जनता को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि अन्य राजनीतिक दलों के कुछ नेता पूछ रहे हैं कि भारतीय वायु सेना के हमले में कितने आतंकवादी मारे गए हैं. यह आज या कल सबको मालूम हो जाएगा. पाकिस्तान और उसके नेताओं के दिल जानते हैं कि कितने आतंकवादी मारे गए हैं. मारे गए आतंकवादियों की संख्या पर सवाल करने के लिए विपक्ष पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पार्टियां पूछ रही हैं कि कितने मरे, कितने मरे? एनटीआरओ की प्रमाणिक प्रणाली है जो कहती है कि (बालाकोट स्थल पर) 300 मोबाइल फोन सक्रिय थे.

  • क्या कांग्रेस के गढ़ छिंदवाड़ा में इस बार खिल पाएगा 'कमल'? कमलनाथ की सीट से ये हो सकते हैं उम्मीदवार!

    क्या कांग्रेस के गढ़ छिंदवाड़ा में इस बार खिल पाएगा 'कमल'? कमलनाथ की सीट से ये हो सकते हैं उम्मीदवार!

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) नजदीक आते ही सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) दोनों पार्टियां किसी भी सीट पर कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती. ऐसे में बात करते हैं मध्यप्रदेश की हाईप्रोफाइल सीट छिंदवाड़ा (Chhindwara Seat) की. यह क्षेत्र कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) का गढ़ रहा है. इस सीट से कमलनाथ 9 बार से सांसद हैं. उन्हें यहां सिर्फ एक बार हार मिली है.

  • लोकसभा चुनाव 2019: इन 5 डिजिटल तरीकों की मदद से मतदाताओं के दिलों तक पहुंचने की फिराक में जुटी राजनीतिक पार्टियां

    लोकसभा चुनाव 2019: इन 5 डिजिटल तरीकों की मदद से मतदाताओं के दिलों तक पहुंचने की फिराक में जुटी राजनीतिक पार्टियां

    व्हाट्सऐप उपभोक्ताओं की संख्या को लेकर हाल में जारी रिपोर्ट्स के अनुसार बीते पांच साल में फेसबुक व अन्य सोशल साइट्स की तुलना में इसका इस्तेमाल करने वालों की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है. लिहाजा पार्टियां अन्य सोशल साइटों के साथ-साथ इसे लेकर भी अपनी रणनीति तैयार करने में जुटी हैं.

  • MP के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर बोले- दिग्विजय ने दिया कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर, मैं कर रहा हूं विचार

    MP के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर बोले- दिग्विजय ने दिया कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर, मैं कर रहा हूं विचार

    गौर का बयान ऐसे समय पर आया है, जब राज्य में राजनीतिक पार्टियां खरीद-फरोख्त पर बयानबाजी दे रही हैं. हालही प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिराने के लिये भाजपा द्वारा विधायकों को धन का लालच दिये जाने के कांग्रेस के आरोपों के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर विवाद खड़ा हो गया था. कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया था कि कमलनाथ सरकार भाजपा की कृपा से चल रही है और जिस दिन भाजपा आलाकमान को छींक भर आ गई, उसी दिन मध्यप्रदेश में भाजपा फिर से सत्ता में आ जायेगी. इंदौर में भाजपा के एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था, "यह सरकार (कमलनाथ सरकार) कैसी सरकार है? यह सरकार हमारी कृपा से चल रही है. जिस दिन ऊपर से बॉस का इशारा हो जायेगा ना….."

  • कर्नाटक सियासी ड्रामा: JDS विधायक का दावा: BJP ने एक को 60 करोड़ और मंत्री पद का दिया था ऑफर

    कर्नाटक सियासी ड्रामा: JDS विधायक का दावा: BJP ने एक को 60 करोड़ और मंत्री पद का दिया था ऑफर

    सीएम एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) की पार्टी जेडीएस के एक विधायक ने दावा किया है कि उनकी पार्टी के एक आदमी को भाजपा ने कथित तौर पर 60 करोड़ रुपए और मंत्री पद का ऑफर दिया था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया. कर्नाटक के हस्सान में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए जेडीएस विधायक केएम शिवलिंगे गौड़ा ने कहा, 'जेडीएस के एक व्यक्ति को पूर्व सीएम और भाजपा नेता जगदीश शेट्टार ने 60 करोड़ रुपए और मंत्री पद का ऑफर दिया था. उन्होंने वह ऑफर ठुकरा दिया और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को इसकी जानकारी दी.'

  • ये कौन से गरीब हैं, जिन्हें आरक्षण मिलेगा...?

    ये कौन से गरीब हैं, जिन्हें आरक्षण मिलेगा...?

    आरक्षण को लेकर BJP और कांग्रेस जैसी मूलतः अगड़े वर्चस्व वाली पार्टियां हमेशा दुविधा में रहीं. लेफ्ट फ्रंट को भी जातिगत आधार पर आरक्षण के सिद्धांत का समर्थन करने में वक्त लगा. संघ परिवार खुलेआम आरक्षण का विरोध करता रहा. 1990 में जब तत्कालीन प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने पिछड़ी जातियों के आरक्षण के लिए मंडल आयोग की सिफारिशें लागू करने का ऐलान किया, तो देशभर में जो मंडल-विरोधी आंदोलन चल पड़ा, उसे इन राजनीतिक दलों की शह भी हासिल थी. मंडल की काट के लिए BJP ने कमंडल का दांव भी खेला.

  • PM मोदी का हमला: महागठबंधन अमीर परिवारों का गठजोड़, निजी अस्तित्व को बचाने के लिए एकजुट हुई पार्टियां

    PM मोदी का हमला: महागठबंधन अमीर परिवारों का गठजोड़, निजी अस्तित्व को बचाने के लिए एकजुट हुई पार्टियां

    उन्होंने अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों का ‘निजी अस्तित्व’ बचाने के लिए किया गया ‘नापाक गठबंधन’ करार दिया. मोदी ने तमिलनाडु में चेन्नई मध्य, चेन्नई उत्तर, मदुरई, तिरुचिरापल्ली और तिरूवल्लुर निर्वाचन क्षेत्रों के भाजपा के बूथ कार्यकर्ताओं से वीडियो संबोधन के जरिए कहा कि लोग ‘धनाढ्य वंशों के एक बेतुके गठबंधन’ को देखेंगे.

  • EVM की विश्वसनीयता को लेकर उठे सवालों पर बोले मुख्य चुनाव आयुक्त, कहा- हमनें इसे फुटबॉल बना दिया है

    EVM की विश्वसनीयता को लेकर उठे सवालों पर बोले मुख्य चुनाव आयुक्त, कहा- हमनें इसे फुटबॉल बना दिया है

    नवनियुक्त सीईसी अरोड़ा ने EVM पर राजनीतिक दलों के आरोपों के दायरे में अब चुनाव आयोग के भी आने के मुद्दे पर गुरुवार को कहा कि चुनाव में मतदाताओं के बाद राजनीतिक दल ही मुख्य पक्षकार होते हैं. उन्हें अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है, लेकिन इस बात से मुझे दुख होता है, हमने ईवीएम को फुटबॉल बना दिया है.

  • तेलंगाना में सरकार बनाने के लिए बीजेपी के दांव पर कांग्रेस ने फेंका पासा, यह है प्लान

    तेलंगाना में सरकार बनाने के लिए बीजेपी के दांव पर कांग्रेस ने फेंका पासा, यह है प्लान

    तेलंगाना में नतीजों से पहले चुनावी हलचल तेज है. भारतीय जनता पार्टी से लेकर कांग्रेस तक सभी अपनी-अपनी राजनीतिक गोटियां सेट करने की जुगत में लग गई हैं. एग्जिट पोल के ऐलान के बाद नतीजों की संभावनाओं पर सभी पार्टियां विकल्पों पर विचार कर रही हैं. बीजेपी ने यह दावा किया है कि अगर किसी पार्टी को राज्य में स्पष्ट बहुमत नहीं मिलते हैं तो उनकी पार्टी टीआरएस के साथ मिलकर सरकार में शामिल हो सकती है. इस ऐलान के बाद कांग्रेस ने भी अपना पासा फेंका है और कहा कि उसे भी सरकार बनाने के लिए ऑल इंडिया मज्लिस ए इतेहदुल मुसलिमीन आनी ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के साथ जाने से कोई दिक्कत नहीं है. 

  • BJP ने कहा- देश विरोधी ताकतों के इशारे पर गठबंधन, कांग्रेस बोली- आपका कोई नेता है, जो आतंकवाद से लड़ते शहीद हुआ हो

    BJP ने कहा- देश विरोधी ताकतों के इशारे पर गठबंधन, कांग्रेस बोली- आपका कोई नेता है, जो आतंकवाद से लड़ते शहीद हुआ हो

    जम्मू-कश्मीर में गठबंधन की सरकार के दावों और विधानसभा भंग करने का मामला अब गरमाता जा रहा है. घाटी के सियासी हालात पर राजनीतिक पार्टियां आमने-सामने हैं और कांग्रेस समेत एनसी और पीडीपी भी राज्यपाल की भूमिका पर कई तरह के सवाल खड़े कर रही है. कांग्रेस ने फैक्स मशीन नहीं चलने वाले राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बयान पर भी निशाना साधा और कहा कि राज्यपाल ने आनन-फानन में विधानसभा भंग की है. हालांकि, बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार किया और कहा कि देश के गद्दारों के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर को बेचने की कांग्रेस ने साजिश की

  • हम गरीबी-बेरोजगारी और अशिक्षा हटाना चाहते हैं, राहुल गांधी सिर्फ मोदी को हटाना चाहते हैं : अमित शाह

    हम गरीबी-बेरोजगारी और अशिक्षा हटाना चाहते हैं, राहुल गांधी सिर्फ मोदी को हटाना चाहते हैं : अमित शाह

    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार अपने चरम पर पहुंच गया है. राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर जमकर निशाना साध रही हैं. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आज जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि राहुल गांधी को मोदी फोबिया हो गया है. वह हमेशा मोदी...मोदी की रट लगाए रहते हैं.