NDTV Khabar

राजनीतिक पार्टियां


'राजनीतिक पार्टियां' - 90 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सचिवालय तक मार्च के लिए ममता सरकार ने नहीं दी अनुमति, तो दोगुने जोर के साथ जुटी बीजेपी

    सचिवालय तक मार्च के लिए ममता सरकार ने नहीं दी अनुमति, तो दोगुने जोर के साथ जुटी बीजेपी

    बंगाल बीजेपी के चीफ दिलीप घोष ने कहा, 'हम जानबूझकर नबन्ना में लगी धारा 144 तोड़ेंगे.' उन्होंने ममता सरकार पर बीजेपी को निशाने पर रखने का आरोप लगाते हुए कहा कि ममता की तृणमूल कांग्रेस सहित दूसरी राजनीतिक पार्टियां भी निषिद्ध क्षेत्रों में प्रदर्शन करती हैं.

  • विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को 16000 करोड़ की सौगात देंगे PM मोदी : सूत्र

    विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को 16000 करोड़ की सौगात देंगे PM मोदी : सूत्र

    बिहार (Bihar Assembly Elections 2020) में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. सत्ता पर काबिज होने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां पूरा दमखम लगा रही हैं. सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बिहार को 16000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की भेंट देंगे. अगले 10 दिनों में पीएम बिहार के लिए विभिन्न परियोजनाओं को शुरू करेंगे. ये बुनियादी ढांचे के विकास के लिए और बिहार के लोगों का जीवन स्तर सुधारने के लिए होंगे.

  • दिल्‍ली: रेलवे की जमीन पर बनी झुग्गियों को हटाने का नोटिस मिलते ही सियासत शुरू, बयानबाजी तेज

    दिल्‍ली: रेलवे की जमीन पर बनी झुग्गियों को हटाने का नोटिस मिलते ही सियासत शुरू, बयानबाजी तेज

    दिल्‍ली विधानसभा चुनाव के दौरान तीनों ही प्रमुख राजनीतिक पार्टियों ने झुग्गी के बदले फ्लैट देने का वादा किया था. करीब 16 हजार गरीबों के फ्लैट तैयार भी हैं, लेकिन सालों से उनका आवंटन ही नहीं हो पाया है.एक अनुमान के अनुसार दिल्ली में 40 फीसदी आबादी अनाधिकृत कॉलोनियों में रहती है और इन कालोनियों को वैध करने के नाम पर राजनीति भी जमकर होती है.

  • मध्यप्रदेश उपचुनाव: बीजेपी ने तुलसी को हथियार बनाया, कांग्रेस शिवलिंग के सहारे

    मध्यप्रदेश उपचुनाव: बीजेपी ने तुलसी को हथियार बनाया, कांग्रेस शिवलिंग के सहारे

    मध्यप्रदेश में 25 सीटों पर उपचुनाव के लिए तारीख तो नहीं आई है, लेकिन राजनीतिक दलों में रस्साकशी शुरू हो गई है. कांग्रेस के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और अब शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट को उनके घर में घेरने के लिए दोनों पार्टियां नरम हिन्दुत्व के रास्ते पर हैं. बीजेपी ने अपने नेता 'तुलसी सिलावट' की ब्रांडिंग के लिए 'तुलसी' को ही हथियार बनाया है, वहीं कांग्रेस शिवलिंग के आसरे है.

  • प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) और विधानसभा चुनाव : इस बार यूपी और बिहार में सत्ता इन्हीं के कदमों पर चलकर आने वाली है?

    प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) और विधानसभा चुनाव : इस बार यूपी और बिहार में सत्ता इन्हीं के कदमों पर चलकर आने वाली है?

    कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को पूरा हो जाएगा. इस बात की चर्चा है कि सरकार अब पांचवें लॉकडाउन (Lockdown 5.0 ) की तैयारी कर रही है. जिसमें पिछली बार की तुलना में कुछ और रियायत दी जाएगी. 25 मार्च से जारी लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूरों का पलायन राजनीति का प्रमुख मुद्दा बन गया है. सोशल मीडिया में पैदल और श्रमिक ट्रेनों में जा रहे प्रवासी मजदूरों की तस्वीरें खूब वायरल की जा रही हैं. वहीं बीजेपी, कांग्रेस, बीएसपी, सपा, जेडीयू और आरजेडी सहित तमाम राजनीतिक पार्टियां खुद को इनका राजनीतिक हितैषी बताने से चूक नहीं रही हैं. 

  • योगी आदित्यनाथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बैठक की तस्वीर देखकर खुश हुए होंगे?

    योगी आदित्यनाथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बैठक की तस्वीर देखकर खुश हुए होंगे?

    अगर आप सोच रहे होंगे कि कोरोना वायरस से जूझ रहे देश में राजनीतिक पार्टियां चुनावी गुणा-भाग में नहीं लगीं है तो आप गलत साबित हो सकते हैं क्योंकि राजनीति में जब कुछ न होता दिख रहा है तो उसे शांत जल की तरह समझना चाहिए जिसमें धाराएं एक दूसरे को अंदर ही अंदर काटती रहती हैं. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 22022 में होने हैं, लेकिन राजनीतिक दलों ने हमेशा की तरह अपने मुद्दे तलाशने शुरू कर दिए हैं. कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को जमकर घेरा है. लेकिन इसमें उनका साथ देने के लिए राज्य के दो प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी सामने नहीं आए. 

  • महाराष्ट्र में हुए उलटफेर पर बॉलीवुड एक्टर बोले- यदि पार्टियां विधायकों को खरीद-बेच रही हैं तो आज के बाद...

    महाराष्ट्र में हुए उलटफेर पर बॉलीवुड एक्टर बोले- यदि पार्टियां विधायकों को खरीद-बेच रही हैं तो आज के बाद...

    कमाल आर खान (Kamaal R Khan) ने लिखा: "सभी महाराष्ट्र के लोगों को शर्म आनी चाहिए, यदि सभी राजनीतिक दल हमारे द्वारा निर्वाचित विधायक को बेच और खरीद रहे हैं. तो मैं अपने पूरे जीवन में फिर कभी वोट नहीं दूंगा."

  • महाराष्ट्र: राष्ट्रपति शासन लगने के बाद राजनीतिक दलों के पास क्या हैं विकल्प? 

    महाराष्ट्र: राष्ट्रपति शासन लगने के बाद राजनीतिक दलों के पास क्या हैं विकल्प? 

    संविधान विशेषज्ञों का कहना है कि महाराष्ट्र की राजनीतिक पार्टियां राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बावजूद सरकार बनाने का अपना दावा पेश कर सकती हैं.

  • राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी हटाया 'कांग्रेस प्रेसिडेंट', राजनीतिक पार्टियों से आया कुछ ऐसा रिएक्शन

    राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी हटाया 'कांग्रेस प्रेसिडेंट', राजनीतिक पार्टियों से आया कुछ ऐसा रिएक्शन

    बीजेपी के नेता नलिनी कोहली ने राहुल गांधी के इस्तीफे पर कहा कि यह उनके ऊपर है कि वह इस्तीफा देते हैं या ऐसे हालात में खुद ही अध्यक्ष बने रहते हैं. दो तरह की पार्टियां होती हैं. एक बीजेपी जैसी जो लोकतंत्र के आधार पर चलती हैं जबकि दूसरी तरफ एक ऐसी पार्टी भी है जिसे सिर्फ परिवार वाले ही चलाते हैं. अब उन्हें निर्णय लेना है, इसमें हम कुछ नहीं बोल सकते.

  • सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच लोकसभा चुनाव से पहले हुए गठबंधन का अंत हो गया है. हालांकि इसकी कोई अभी तक औपचारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन मायावती ने 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर गठबंधन की स्‍थ‍िति साफ कर दी है. इस मसले पर अभी सपा की ओर से कोई बयान नहीं आया है. सपा-बसपा गठबंधन को पहले भी राजनीतिक विश्‍लेषक बेमेल समझौता बताते आ रहे थे. इस दौरान मायावती की चालाकी का भी जिक्र आया कि कैसे उन्‍होंने अखिलेश यादव के खाते में उन सीटों को दे दिया जिस पर उनकी जीत की कोई गुंजाइश नहीं बन पा रही थी. लखनऊ, गोरखपुर, बनारस, गाजियाबद जैसी लोकसभा सीटें इसके उदाहरण हैं. गठबंधन को लेकर सपा के संस्‍थापक और पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव खुश नहीं थे. अपनी नाराजगी उन्‍होंने साफ जाहिर कर दी थी. सपा से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी बनाई और अपने उम्‍मीदवार सभी सीटों पर उतारे. शिवपाल यादव ने भी इस गठबंधन का मजाक उड़ाया था. गेस्‍ट हाउस कांड का भी जिक्र आया लेकिन कहा गया कि दोनों पार्टियां अब इस हादसे से उबर चुकी हैं. मंच पर मायावती के साथ मुलायम और अखिलेश की कई तस्‍वीरें सामने आईं. हालांकि एक चुनावी भाषण में मायावती यह कहने से नहीं चूकीं कि सपा के कार्यकर्ताओं को बसपा के लोगों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है.

  • बिहार : आचार संहिता, इफ्तार और सियासी मायनों के फेर में फंसे सभी पार्टियों के नेता

    बिहार : आचार संहिता, इफ्तार और सियासी मायनों के फेर में फंसे सभी पार्टियों के नेता

    बिहार में इस समय राजनीतिक माहौल और इफ्तार का अजब संयोग बना हुआ है और हालात ऐसे हैं कि हर इफ्तार पार्टी कोई न कोई खबर लेकर आती है जिसके सियासी मायने निकाले जाने शुरू हो जाते हैं. दरअसल लोकसभा चुनाव के चलते आचार संहिता लगी हुई थी और जिसकी वजह से रमजान के महीने में कोई भी नेता इफ्तार नहीं दे सका. अब चुनाव के साथ ही रमजान का महीना भी खत्म होने को आया है.

  • Election Results : NaMo ने बनाया BJP को 2014 से भी ज्‍यादा मजबूत, दूसरी बार केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार,10 बातें

    Election Results : NaMo ने बनाया BJP को 2014 से भी ज्‍यादा मजबूत, दूसरी बार केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार,10 बातें

    India Election Results 2019 : पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा ने चुनाव को बेशक रक्‍तरंजित बना दिया हो लेकिन जो परिणाम आ रहे हैं उससे यह साबित होते जा रहा है कि चुनाव कैसे इससे प्रभावित हुआ. बताया जा रहा है कि इसबार का चुनाव प्रचार अब तक का सबसे ज्यादा ध्रुवीकरण वाला रहा है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की अगुवाई में बीजेपी को बहुमत मिला था. 30 साल बाद यह पहला मौका था किसी भी राजनीतिक दल को पूर्ण बहुमत मिला हो. और यह अब दूसरी बार होगा कि कोई गैर कांग्रेसी सरकार अपने दम पर सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में 21 पार्टियां एक साथ हैं. वहीं उत्तर प्रदेश में सपा और बीएसपी मिलकर चुनाव लड़ रही हैं.

  • '56 पार्टियां बनाम 56 इंच का सीना': संयुक्त रैली में बीजेपी-शिवसेना का विपक्ष पर हमला

    '56 पार्टियां बनाम 56 इंच का सीना': संयुक्त रैली में बीजेपी-शिवसेना का विपक्ष पर हमला

    दोनों ही पार्टी के बड़े नेता रविवार को कोल्हापुर जिले में संयुक्त रैली की. इस दौरान महाराष्ट्र मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी एक साथ नजर आए. फडनवीस ने मंच से संबोधित करते हुए कहा, ''लोकसभा चुनाव उन लोगों के बीच लड़े जाएंगे जो देश के दुश्मनों से टक्कर लेते हैं और दूसरा वो जो राजनीतिक कारणों से अपने सैनिकों की उपलब्धियों पर सवाल उठाते हैं.''

  • भारत में अब हैं कुल 2293 राजनीतिक दल: सबसे बड़ी पार्टी से लेकर, भरोसा पार्टी तक शामिल

    भारत में अब हैं कुल 2293 राजनीतिक दल: सबसे बड़ी पार्टी से लेकर, भरोसा पार्टी तक शामिल

    ‘सबसे बड़ी पार्टी’...जी कयास नहीं लगाएं कि कौन सबसे बड़ी है क्योंकि यह खुद ही पार्टी का नाम है और इस तरह की छोटी-बड़ी तकरीबन 2300 राजनीतिक पार्टियां चुनाव आयोग में पंजीकृत हैं. भारत चुनाव आयोग में राजनीतिक दलों के नवीनतम डेटा के अनुसार देश में कुल 2293 राजनीतिक दल हैं.  चुनाव आयोग में पंजीकृत इन पार्टियों में से सात मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और 59 मान्यताप्राप्त राज्य पार्टियां हैं. 

  • चुनाव में 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण हो, याचिका पर आज सुनवाई

    चुनाव में 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण हो, याचिका पर आज सुनवाई

    लोकसभा चुनाव को लेकर 21 विपक्षी पार्टियां द्वारा दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सुनवाई करेगा. फ्री एंड फेयर चुनाव और पुख्ता व्यवस्था के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण करने की मांग आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित 21 विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में की है.

  • ऑपरेशन बालाकोट: राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को दी पाकिस्तान जाने की सलाह, मारे गए आतंकियों की संख्या पर कही यह बात

    ऑपरेशन बालाकोट: राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को दी पाकिस्तान जाने की सलाह, मारे गए आतंकियों की संख्या पर कही यह बात

    बीएसएफ की एक सीमा परियोजना का उद्घाटन करने के बाद जनता को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि अन्य राजनीतिक दलों के कुछ नेता पूछ रहे हैं कि भारतीय वायु सेना के हमले में कितने आतंकवादी मारे गए हैं. यह आज या कल सबको मालूम हो जाएगा. पाकिस्तान और उसके नेताओं के दिल जानते हैं कि कितने आतंकवादी मारे गए हैं. मारे गए आतंकवादियों की संख्या पर सवाल करने के लिए विपक्ष पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पार्टियां पूछ रही हैं कि कितने मरे, कितने मरे? एनटीआरओ की प्रमाणिक प्रणाली है जो कहती है कि (बालाकोट स्थल पर) 300 मोबाइल फोन सक्रिय थे.

  • क्या कांग्रेस के गढ़ छिंदवाड़ा में इस बार खिल पाएगा 'कमल'? कमलनाथ की सीट से ये हो सकते हैं उम्मीदवार!

    क्या कांग्रेस के गढ़ छिंदवाड़ा में इस बार खिल पाएगा 'कमल'? कमलनाथ की सीट से ये हो सकते हैं उम्मीदवार!

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) नजदीक आते ही सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) दोनों पार्टियां किसी भी सीट पर कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती. ऐसे में बात करते हैं मध्यप्रदेश की हाईप्रोफाइल सीट छिंदवाड़ा (Chhindwara Seat) की. यह क्षेत्र कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) का गढ़ रहा है. इस सीट से कमलनाथ 9 बार से सांसद हैं. उन्हें यहां सिर्फ एक बार हार मिली है.

  • लोकसभा चुनाव 2019: इन 5 डिजिटल तरीकों की मदद से मतदाताओं के दिलों तक पहुंचने की फिराक में जुटी राजनीतिक पार्टियां

    लोकसभा चुनाव 2019: इन 5 डिजिटल तरीकों की मदद से मतदाताओं के दिलों तक पहुंचने की फिराक में जुटी राजनीतिक पार्टियां

    व्हाट्सऐप उपभोक्ताओं की संख्या को लेकर हाल में जारी रिपोर्ट्स के अनुसार बीते पांच साल में फेसबुक व अन्य सोशल साइट्स की तुलना में इसका इस्तेमाल करने वालों की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है. लिहाजा पार्टियां अन्य सोशल साइटों के साथ-साथ इसे लेकर भी अपनी रणनीति तैयार करने में जुटी हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com