NDTV Khabar

राजनीति फायदा


'राजनीति फायदा' - 27 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं', मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं',  मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    लोकसभा चुनाव से पहले जब सपा और बीएसपी के गठबंधन का ऐलान हो रहा था तो उस दिन मायावती और अखिलेश यादव के हावभाव को देखकर ऐसा लग रहा था कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी. अंकगणित भी उनके पक्ष में था और गोरखपुर-फूलपुर-कैराना के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साह चरम पर था. लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों ही नेता जमीनी हकीकत को भांप नहीं पाए और करारी हार का सामना करना पड़ गया. इस हार के साथ ही गठबंधन भी बिखर गया है. सपा को जहां 5 सीटें मिली हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें. एक तरह से देखा जाए तो बीएसपी को ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी को एक भी सीट नहीं मिली थी. दूसरी ओर सारे समीकरणों को ध्वस्त करते हुए बीजेपी 62 सीटें कामयाब हो गई. इस हार के साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर ले लिया और कहा कि सपा अपने कोर वोट यादवों का भी समर्थन नहीं पा सकी और यही वजह है कि उनकी पत्नी चुनाव हार गईं. इतना ही नहीं मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने का ऐलान कर डाला. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव से उनके रिश्ते पर व्यक्तिगत तौर पर अच्छे हैं. वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव अभी तक पूरी तरह से सधे और रक्षात्मक बयान दे रहे हैं. लेकिन रविवार को हुई बीएसपी की एक अहम बैठक में मायावती ने रही-सही कसर भी पूरी कर डाली और उन्होंने अपने बयान से जाहिर कर दिया कि उनकी नजर में अब अखिलेश यादव की कोई अहमियत नहीं है.

  • बिहार में फिर गरमाई आरक्षण की राजनीति, तेजस्वी बोले- बीजेपी खत्म करने में जुटी

    बिहार में फिर गरमाई आरक्षण की राजनीति, तेजस्वी बोले- बीजेपी खत्म करने में जुटी

    कभी बिहार के विधानसभा चुनाव में बीजेपी पर आरक्षण खत्म करने का आरोप लगाकर चुनावी फायदा हासिल करने वाली RJD अब लोकसभा चुनाव में भी वही दांव चल रही है.

  • प्रियंका की एंट्री से बिगड़ेगा यूपी का सियासी 'खेल': कांग्रेस के दांव से टीम मायावती को नुकसान या बीजेपी को फायदा?

    प्रियंका की एंट्री से बिगड़ेगा यूपी का सियासी 'खेल': कांग्रेस के दांव से टीम मायावती को नुकसान या बीजेपी को फायदा?

    लोकसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी की सक्रिय राजनीति में दस्तक ने यूपी की सियासी समीकरण को एक बार फिर से उलझा दिया है.

  • प्रियंका गांधी बनीं कांग्रेस की महासचिव, रॉबर्ट वाड्रा बोले- जीवन के हर मोड़ पर साथ रहूंगा, पढ़ें और किसने क्या कहा

    प्रियंका गांधी बनीं कांग्रेस की महासचिव, रॉबर्ट वाड्रा बोले- जीवन के हर मोड़ पर साथ रहूंगा, पढ़ें और किसने क्या कहा

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने पार्टी के इस फैसले पर खुशी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि मैं पार्टी के इस फैसले का स्वागत करता हूं. प्रियंका जी पहले भी चुनाव में बड़ी जिम्मेदारियां संभाल चुकी है. अब जैसी परिस्थितियां होंगी वैसा फैसला लिया जाएगा. इस फैसले से पूरे देश में उत्साह है. सब इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं.

  • कर्नाटक में सियासी नाटक, फायदा किसको?

    कर्नाटक में सियासी नाटक, फायदा किसको?

    ऐसा लगता है कि बीजेपी का मिशन कर्नाटक सिरे नहीं चढ़ सका है. ऑपरेशन लोटस पार्ट-टू में बीजेपी को फिलहाल कामयाबी मिलती नहीं दिख रही है. बीजेपी की कोशिश थी कि कांग्रेस के कम से कम 13 विधायक इस्तीफा दें, ताकि बहुमत का आंकड़ा कम हो और बीजेपी दो निर्दलीयों की मदद से बहुमत साबित कर सके. कहा जा रहा था कि मुंबई में एक पांच सितारा होटल में रुके कांग्रेस के नाराज तीन विधायक इस्तीफा दे सकते हैं, लेकिन देर रात तक ऐसा नहीं हुआ. उधर कांग्रेस के गायब पांच विधायकों में से दो वापस आ गए हैं.

  • Election Commission Of India Assembly Polls Results: राजस्थान, मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना चुनाव के नतीजे यहां देखें

    Election Commission Of India Assembly Polls Results: राजस्थान, मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना चुनाव के नतीजे यहां देखें

    Vidhan Sabha Results Live Updates: चुनाव आयोग (Election Commission Of India) ने पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे जारी करना शुरू कर दिया है. कांग्रेस ने बीजेपी से राजस्थान और छत्तीसगढ़ छीन लिया है. वहीं, मध्यप्रदेश में अब भी पेंच फंसा हुआ है. दूसरी तरफ तेलंगाना में पूर्व मुख्यमंत्री और के. चंद्रशेखर राव की पार्टी टीआरएस को बहुमत मिल गया है. टीआरएस ने 80 से ज्यादा सीटों पर बढ़त बनाई हुई है. मिजोरम में शुरुआत से ही एमएनएफ ने बढ़त बनाई हुई है, जबकि कांग्रेस पिछड़ी हुई दिख रही है. कुल मिलाकर अभी तक के रुझानों में बीजेपी के लिए झटका है. कांग्रेस को जहां लगता था कि सत्ता विरोधी लहर का फायदा उठाकर वह मध्य प्रदेश और राजस्थान में बीजेपी को साफ कर देगी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया, लेकिन छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सफलता मिली है. देखने वाली बात यह है कि लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले आए इन चुनाव परिणामों का देश की राजनीति पर क्या असर पड़ता है. 

  • तेलंगाना में पहले KCR जी को हराएंगे, फिर 2019 में नरेंद्र मोदी जी को हराएंगे: राहुल गांधी

    तेलंगाना में पहले KCR जी को हराएंगे, फिर 2019 में नरेंद्र मोदी जी को हराएंगे: राहुल गांधी

    तेलंगाना विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी ने चंद्रबाबू नायडू के साथ मंच साझा किया. एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने केसीआर पर जमकर हमला बोला और कहा कि केसीआर ने वंशवाद की राजनीति की और उनकी सरकार का फायदा सिर्फ एक परिवार को ही मिला. उन्होंने कहा कि अगर हम सत्ता में आए तो हम गरीबों को घर देंगे. हम एक लाख लोगों को रोजगार देंगे. 

  • तेजस्वी यादव ने कहा, नीतीश कुमार ने जानबूझकर हमारे घर की तरफ लगवाया कैमरा, पोस्ट की फोटो 

    तेजस्वी यादव ने कहा, नीतीश कुमार ने जानबूझकर हमारे घर की तरफ लगवाया कैमरा, पोस्ट की फोटो 

    तेजस्वी यादव ने इसे लेकर  एक ट्वीट भी किया है.उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार का घर के तीन तरफ सड़क और चौथी तरफ मेरा घर है. लेकिन सीएम को लगता है कि उन्हें सिर्फ उसी तरफ कैमरे लगवाने की जरूरत है जिस तरफ हमारा घर है.

  • वंशवाद की राजनीति पर नितिन गडकरी बोले- पहले पीएम, PM को जन्म देते थे, मगर हमने यह बदल दिया

    वंशवाद की राजनीति पर नितिन गडकरी बोले- पहले पीएम, PM को जन्म देते थे, मगर हमने यह बदल दिया

    भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और मोदी सरकार में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि भारत गरीब आबादी के साथ अमीर देश है क्योंकि शुरू में जिन्होंने इस देश में शासन किया, उन्होंने अपने परिवारों को फायदा पहुंचाया. नितिन गडकरी ने हैदराबाद में भारतीय जनता युवा मोर्चा को संबोधित करने के दौरान यह बात कही. 

  • राफेल डील पर विवाद : नागपुर में प्लांट, नए सीईओ संपथकुमारन एसटी और 10 बड़ी बातें

    राफेल डील पर विवाद : नागपुर में प्लांट, नए सीईओ संपथकुमारन एसटी और 10 बड़ी बातें

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को राफेल सौदे में भूमिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जांच की मांग की और आरोप लगाया कि वह एक ‘‘भ्रष्ट व्यक्ति’’ हैं. जिन्होंने 36 लड़ाकू विमानों की खरीद में अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया. कांग्रेस अध्यक्ष ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की फ्रांस की तीन दिन की वर्तमान यात्रा को सरकार द्वारा राफेल सौदे पर 'पर्दा डालने की कोशिश' का हिस्सा बताया. भाजपा ने राहुल पर जोरदार पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि वह 'सरासर झूठ बोल रहे हैं' और अपना राजनीतिक करियर चमकाने के लिए 'दुष्प्रचार की राजनीति' कर रहे हैं. भाजपा ने राहुल गांधी को 'मसखरा शहजादा' करार देते हुए आरोप लगाया कि वह 'स्वयं एक बिचौलिये के परिवार से आते हैं' और उनके पिता एवं पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी एक रक्षा सौदे में 'आधिकारिक रूप से बिचौलिया' थे. पिछले महीने फ्रांसीसी ऑनलाइन जर्नल 'मीडियापार्ट' ने फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से कहा था कि फ्रांस के पास दसॉल्ट के लिए भारतीय सहयोगी कंपनी के चयन को लेकर कोई विकल्प' नहीं था और भारत सरकार ने फ्रांसीसी विमानन कंपनी के सहयोगी के रूप में भारतीय कंपनी के नाम का प्रस्ताव रखा था

  • दिल्ली की जनता को सस्ती बिजली देने के लिए ही केंद्र सरकार ला रही है विधेयक: मनोज तिवारी

    दिल्ली की जनता को सस्ती बिजली देने के लिए ही केंद्र सरकार ला रही है विधेयक: मनोज तिवारी

    सीएम अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि केन्द्र सरकार विधेयक लाकर बिजली कंपनियों का होल्ड राज्य सरकार से छीनकर अपने हाथ में लेना चाहती है, जिससे दिल्ली की जनता के लिये बिजली के दाम बढ़ना तय हैं. मनोज तिवारी ने कहा कि ऐसी लूट को समाप्त करने के लिये केन्द्र सरकार एक विधेयक लेकर आ रही है.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : सियासत की बिसात पर बीजेपी का सबसे बड़ा दांव है एससी/एसटी एक्ट?

    लोकसभा चुनाव 2019 : सियासत की बिसात पर बीजेपी का सबसे बड़ा दांव है एससी/एसटी एक्ट?

    2019 के पहले एससी/एसटी एक्ट बिल सियासी बिसात पर कोई नई चाल है. जिसका फायदा हर दल उठाना चाहता है. 2014 का लोकसभा चुनाव दलित राजनीति के लिये बहुत मायने रखता है जिसमें सारे समीकरण ध्वस्त करते हुये बीजेपी-एनडीए ने आरक्षित सीटों पर कब्जा तो जमाया ही वहीं बहुजन समाज की सबसे बड़ी नेता मायावती की पार्टी बीएसपी का खाता तक नहीं खुला है.

  • 'महिला आरक्षण' से महिला आयोग को आपत्ति, अध्यक्ष बोलीं- इससे नेताओं की बेटियों और पत्नियों को फायदा

    'महिला आरक्षण' से महिला आयोग को आपत्ति, अध्यक्ष बोलीं- इससे नेताओं की बेटियों और पत्नियों को फायदा

    राष्ट्रीय महिला आयोग की कार्यवाहक अध्यक्ष रेखा शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि आरक्षण की व्यवस्था को लेकर उन्हें ‘आपत्तियां’ हैं. उन्होंने दलील दी कि महिलाओं को राजनीति में अपने दम पर जगह बनानी चाहिए क्योंकि आरक्षण से सिर्फ कुछ नेताओं की बेटियों और पत्नियों को मदद मिलेगी. शर्मा का यह बयान ऐसे समय में आया है जब विपक्षी दल , खासकर कांग्रेस , सरकार से यह मांग कर रहे हैं कि लोकसभा और विधानसभाओं में 33 फीसदी सीटें आरक्षित करने के प्रावधान वाले महिला आरक्षण विधेयक को संसद के मानसून सत्र में पारित कराया जाए. 

  • क्या बदल रहा है नीतीश कुमार का मिजाज, ये हैं 4 कारण

    क्या बदल रहा है नीतीश कुमार का मिजाज, ये हैं 4 कारण

    सियासी हवा का रुख भांप कर कदम बढ़ाने में भले ही रामविलास पासवान को महारथ हासिल हो, मगर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी अब राजनीति की दिशा के अनुरूप ही चलने में विश्वास रखते हैं. पिछले काफी समय से उनके राजनीतिक फैसलों से अब यह प्रतीत होने लगा है कि नीतीश कुमार भी मौके पर चौका मारने में माहिर हो गये हैं और अब उऩका मूड भी बदलने लगा है. अभी 2019 के लोकसभा चुनाव में करीब एक साल का वक्त बचा है, मगर नीतीश कुमार अभी से ही सियासी हिसाब-किताब बैठाने में लग गये हैं. राज्य से लेकर देश में जिस तरह से विपक्षी एकजुटता का नजारा दिख रहा है और जैसे-जैसे मोदी सरकार को घेरने के लिए महागठबंधऩ की कवायद तेज हो रही है, उसे देखते हुए सीएम नीतीश भी इस अवसर का फायदा उठाने की जुदत में भिड़ गये हैं. हालांकि, कुछ समय से उऩके अंदाज और जो सियासी चाल सामने आ रहे हैं, उसने सियासी गलियारों में भी एक नया शिगुफा छेड़ दिया है.

  • CJI के खिलाफ महाभियोग नोटिस पर बोले वित्त मंत्री - कोर्ट में फूट का फायदा उठाना चाहती है कांग्रेस

    CJI के खिलाफ महाभियोग नोटिस पर बोले वित्त मंत्री - कोर्ट में फूट का फायदा उठाना चाहती है कांग्रेस

    सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश के खिलाफ महाभियोग के मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी न्यायालय में मतभेद का फायदा उठाना चाहती है और इस मुद्दे पर हासिए की राजनीति कर रही है. जेटली ने कहा कि कांग्रेस को इस राजनीति का तत्काल कर्नाटक में नुकसान होने जा रहा है.

  • कांग्रेस महाधिवेशन : क्या एनडीए में बिखराव का फायदा उठा पाएगी कांग्रेस, 10 बड़ी बातें

    कांग्रेस महाधिवेशन : क्या एनडीए में बिखराव का फायदा उठा पाएगी कांग्रेस, 10 बड़ी बातें

    आज भारतीय राजनीति में एक अहम सवाल है कि क्या एनडीए के बिखराव का फायदा क्या कांग्रेस उठा पाएगी? वो अपने सबसे बुरे दौर में चल रही है. फूलपुर-गोरखपुर में उसका प्रदर्शन काफी दयनीय रहा. इन हालात में कांग्रेस का अधिवेशन हो रहा है. राहुल गांधी की अध्यक्षता में पहली बार हो रहे कांग्रेस अधिवेशन में कई अहम चुनौतियों पर चर्चा की जाएगी. राजनीतिक प्रस्ताव पास होने के साथ-साथ यूपीए का कुनबा बढ़ाने पर भी जोर रहेगा. महाधिवेशन की शुरुआत में राहुल गांधी का भाषण होगा.

  • फिल्‍म 'पद्मावत' से बड़ी मुश्किल में चारों राज्य सरकारें...

    फिल्‍म 'पद्मावत' से बड़ी मुश्किल में चारों राज्य सरकारें...

    पिछले चार महीनों में इस विवाद के बहाने साहित्य, कला, इतिहास, जाति, धर्म, राजनीति, कानून व्यवस्था और यहां तक कि फिल्म उद्योग व्यापार के पहलू तक सोचे-विचारे गए. खासतौर पर आज की राजनीति और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बीच के जटिल संबंधों पर एक शोध प्रबंध लिखने लायक सामग्री तैयार हो गई है. इस प्रकरण सें एक फायदा यह हुआ दिखता है कि हमेशा उठ खड़े होने वाले विवादों का फौरन निपटारा करने के लिए आगे के लिए नजीरें बन कर तैयार हो गई हैं.

  • मुलायम सिंह यादव बनाम अखिलेश यादव : चुनाव में किसको होगा फायदा, क्या कहते हैं जानकार

    मुलायम सिंह यादव बनाम अखिलेश यादव : चुनाव में किसको होगा फायदा, क्या कहते हैं जानकार

    अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच की लड़ाई अब बहुत आगे बढ़ गई है. उत्तर प्रदेश के राजनीति में यह पहली बार देखने को मिल रहा है जब बाप और बेटा कुर्सी के लिए एक-दूसरे से लड़ रहे हैं. चुनाव को अब ज्यादा दिन भी नहीं रह गए हैं फिर भी दोनों के बीच कोई सुलह नहीं हो पाई है. ऐसे में चुनाव में किसका क्या फायदा होगा या नुकसान इसके बारे में जानने के लिए एनडीटीवी ने लखनऊ के दो वरिष्ठ पत्रकारों से बात की. चलिए जानते इन दोनों पत्रकारों का क्या कहना है...

Advertisement