NDTV Khabar

राम मंदिर


'राम मंदिर' - 677 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बाबरी विध्वंस केस : पता नहीं देने वाले आरोपियों को 18 जून तक पेश होने का निर्देश

    बाबरी विध्वंस केस : पता नहीं देने वाले आरोपियों को 18 जून तक पेश होने का निर्देश

    गौरतलब है कि 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या स्थित बाबरी मस्जिद को कारसेवकों ने ढहा दिया था. उनका मानना था कि इस मस्जिद का निर्माण प्राचीन राम मंदिर को ढहा कर किया गया था.

  • अयोध्या में आज से कर सकेंगे भगवान राम के दर्शन, मथुरा के मंदिरों के लिए करना होगा अभी और इंतजार

    अयोध्या में आज से कर सकेंगे भगवान राम के दर्शन, मथुरा के मंदिरों के लिए करना होगा अभी और इंतजार

    लॉकडाउन के चलते अयोध्या (Ayodhya) स्थित राम जन्मभूमि स्थित मंदिर (अस्थायी) दो महीने से ज्यादा वक्त से बंद था. आज (सोमवार) से देश के सभी धार्मिक स्थल खुल रहे हैं, लिहाजा राम मंदिर भी खुल रहा है. भक्त अब वहां पूजा-अर्चना कर सकेंगे. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य मानकों का सख्ती से पालन किया जाएगा.

  • PM Modi Government 2.0: मोदी सरकार के एक साल, ये 5 बातें जो नहीं होनी चाहिए थीं

    PM Modi Government 2.0: मोदी सरकार के एक साल, ये 5 बातें जो नहीं होनी चाहिए थीं

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा 31 मई यानी रविवार को पूरा हो जाएगा. इससे एक दिन पहले शनिवार पीएम मोदी ने देशवासियों को चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने बीते साल एक साल में सरकार की उपलब्धियों और चुनौतियों का जिक्र किया है. पीएम मोदी ने अपनी चिट्ठी में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370, राम मंदिर, तीन तलाक और नागरिक संशोधन बिल (CAA) का जिक्र किया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद से आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए पूरा देश एक साथ खड़ा है. लेकिन पीएम मोदी की बातों से इतर बीते एक साल में पीएम मोदी के कार्यकाल में हुए कुछ ऐसी बातों पर ध्यान दें तो पाएंगे कि ये देश में हित नहीं थीं और ऐसा नहीं होना चाहिए था. 

  • 'हम आगे बढ़ेंगे, हम विजयी होंगे', मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर जनता को लिखी PM की चिट्ठी की 10 बड़ी बातें

    'हम आगे बढ़ेंगे, हम विजयी होंगे', मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर जनता को लिखी PM की चिट्ठी की 10 बड़ी बातें

    नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पूरा होने पर प्रधानमंत्री चिट्ठी लिखकर लोगों से मुखातिब हुए. उन्होंने अपने इस कार्यकाल के पूरे होने पर तमाम उपलब्धियों को विस्तृत रूप से साझा किया. वह चाहे आर्टिकल 370, राम मंदिर निर्माण, ट्रिपल तलाक हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून. इन सभी ऐतिहासिक फैसलों के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने खत में जिक्र किया. उन्होंने भारत की विकास यात्रा को नई गति देने की भी बात कही. इतना ही नहीं, पीएम मोदी (PM Modi) ने 'हम आगे बढ़ेंगे, हम विजयी होंगे' का एक नारा भी दिया. आइए जानते हैं कि प्रधानमंत्री की चिट्ठी की 10 बड़ी बातें (10 points of PM Narendra Modi’s letter to nation)...

  • मोदी सरकार 2.0 के एक साल : हिंदुत्व के पथ पर दौड़ता रथ, कोरोना वायरस ने लगाया ब्रेक

    मोदी सरकार 2.0 के एक साल : हिंदुत्व के पथ पर दौड़ता रथ, कोरोना वायरस ने लगाया ब्रेक

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरे होने पर देशवासियों के नाम चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद उपजे हालात से निपटने का संकल्प लिया. साथ में पीएम मोदी ने अपनी पार्टी कि विचारधारा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता भी जाहिए की. उन्होंने कहा, राष्ट्रीय एकता-अखंडता के लिए आर्टिकल 370 की बात हो, सदियों पुराने संघर्ष के सुखद परिणाम - राम मंदिर निर्माण की बात हो, आधुनिक समाज व्यवस्था में रुकावट बना ट्रिपल तलाक हो, या फिर भारत की करुणा का प्रतीक नागरिकता संशोधन कानून हो, ये सारी उपलब्धियां आप सभी को स्मरण हैं. एक के बाद एक हुए इन ऐतिहासिक निर्णयों के बीच अनेक फैसले, अनेक बदलाव ऐसे भी हैं, जिन्होंने भारत की विकास यात्रा को नई गति दी है, नए लक्ष्य दिए हैं, लोगों की अपेक्षाओं को पूरा किया है'.  इसके साथ ही गृहमंत्री अमित शाह ने भी कहा कि  'मोदी जी ने इन 6 वर्षों के कार्यकाल में न सिर्फ कई ऐतिहासिक गलतियों को सुधारा है बल्कि 6 दशक की खाई को पाट कर विकासपथ पर अग्रसर एक आत्मनिर्भर भारत की नींव भी रखी है.

  • यूपी के बांदा में 30 साल पहले चोरी हुई अष्टधातु की मूर्ति कुएं में मिली

    यूपी के बांदा में 30 साल पहले चोरी हुई अष्टधातु की मूर्ति कुएं में मिली

    बांदा शहर के राम जानकी मंदिर से कथित तौर पर 30 साल पूर्व चोरी हुई भगवान श्रीकृष्ण की खंडित अष्टधातु की मूर्ति मवई बुजुर्ग गांव में एक कुएं की सफाई के दौरान मजदूरों को मिली. पुलिस ने उसे कब्जे में ले लिया है.

  • अयोध्‍या में विशेष पूजा-अर्चना के साथ राम मंदिर का निर्माण शुरू, कोरोनावायरस के चलते टाला गया भव्‍य कार्यक्रम

    अयोध्‍या में विशेष पूजा-अर्चना के साथ राम मंदिर का निर्माण शुरू, कोरोनावायरस के चलते टाला गया भव्‍य कार्यक्रम

    रामनगरी अयोध्या में रामलला को वैकल्पिक गर्भगृह में ले जाए जाने की तैयारी है. रामलला अब अयोध्या में बुलेटप्रूफ फाइवर के बने मंदिर में रजत सिंहासन पर विराजेंगे. श्रीराम जन्मभूमि परिसर में नवनिर्मित वैकल्पिक गर्भगृह में शुरू हुआ प्राण-प्रतिष्ठा से जुड़ा पूजन-अर्चन शुरू हो चुका है.

  • उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री योगी 25 मार्च को अयोध्या में रामलला की मूर्ति टेंट से फाइबर के मंदिर में करेंगे स्थापित

    उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री योगी 25 मार्च को अयोध्या में रामलला की मूर्ति टेंट से फाइबर के मंदिर में करेंगे स्थापित

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 25 मार्च को अयोध्या में रामलला की मूर्ति टेंट से फाइबर के मंदिर में स्थापित करेंगे. इस मौके पर देश के तमाम हिस्सों से आए 200 साधु संत विशेष पूजा करेंगे. बता दें कि रामलला का फाइबर का अस्थायी मंदिर बनकर तैयार है और जल्द ही अयोध्या पहुंचने वाला है. अयोध्या में जहां अभी रामलला की मूर्ति टेंट में रखी है वहां मंदिर का काम शुरू होगा. लिहाजा वहां से करीब 500 मीटर दूर एक चबूतरे पर फाइबर का मंदिर बनेगा जिसमें 25 मार्च को सुबह 4 बजे योगी मूर्ति स्थापित करेंगे.

  • अयोध्या: 27 साल बाद फाइबर के मंदिर में रखे जाएंगे रामलला विराजमान, दिल्ली में हो रहा तैयार

    अयोध्या: 27 साल बाद फाइबर के मंदिर में रखे जाएंगे रामलला विराजमान, दिल्ली में हो रहा तैयार

    ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि फाइबर के मंदिर का निर्माण और अयोध्या में मंदिर परिसर के अंदर इसे स्थापित करने की जिम्मेदारी सुरक्षा एजेंसियों की होगी. राय ने बताया कि ट्रस्ट के आयोध्या कार्यालय के भवन को भी चयन कर लिया गया है.

  • अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने की राम मंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा

    अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने की राम मंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा

    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सरकार के 100 दिन पूरे होने पर शनिवार को यूपी के अयोध्या में पहुंचे. जहां उन्होंने अपनी तरफ से एक करोड़ रुपए की राशि राम मंदिर निर्माण के ट्रस्ट को देने का फैसला किया. वहीं, अयोध्या आंदोलन के समय महाराष्ट्र से कई कारसेवक आए थे, इसलिए मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने प्रस्ताव रखता हूं कि यहां पर महाराष्ट्र भवन निर्माण कराने के लिए तैयार हैं. ताकि महाराष्ट्र से आए लोगों को यहां रुक सके.

  • महाराष्ट्र सरकार के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे आज अयोध्या में, राम जन्मभूमि मंदिर में करेंगे दर्शन

    महाराष्ट्र सरकार के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे आज अयोध्या में, राम जन्मभूमि मंदिर में करेंगे दर्शन

    उद्धव ठाकरे के साथ उनकी पत्नी रश्मि ठाकरे और पुत्र व मंत्री आदित्य ठाकरे के भी आने की संभावना है. केंद्र द्वारा शहर में विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण की देखरेख के लिए एक ट्रस्ट का गठन किए जाने के एक महीने बाद ठाकरे अयोध्या आ रहे हैं. ठाकरे ने 28 नवंबर, 2019 को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी.

  • राम मंदिर ट्रस्‍ट की बैठक टली, रामनवमी के बाद ही होगा भूमि पूजन

    राम मंदिर ट्रस्‍ट की बैठक टली, रामनवमी के बाद ही होगा भूमि पूजन

    नृपेंद्र मिश्र शुक्रवार को उत्तर प्रदेश गए थे और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद उन्होंने शनिवार को अयोध्या में रामजन्मभूमि परिसर का निरीक्षण किया था. उन्होंने रामलला के दर्शन किए और इंजीनियरों के साथ बैठक की.

  • होली के बाद होगा राम मंदिर निर्माण शुरू करने की तारीख का ऐलान, इन तिथियों पर हो सकता है भूमि पूजन

    होली के बाद होगा राम मंदिर निर्माण शुरू करने की तारीख का ऐलान, इन तिथियों पर हो सकता है भूमि पूजन

    इस ट्रस्ट में 15 सदस्य हैं. साधु-संतों के अलावा कई सम्मानित नागरिकों व नौकरशाहों को भी इसका सदस्य बनाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के प्रमुख सचिव रह चुके नृपेंद्र मिश्रा (Nripendra Mishra) को ट्रस्ट के प्रमुख का दायित्व सौंपा गया है. मंदिर निर्माण शुरू किए जाने व इसकी रूपरेखा को लेकर ट्रस्ट के सदस्य कई बैठकें कर चुके हैं. निर्माण शुरू किए जाने की तारीख अब होली (Holi 2020) के बाद तय की जाएगी.

  • निरंजन ज्योति ने कहा- CAA के बाद अब जनसंख्या नियंत्रण कानून की तैयारी

    निरंजन ज्योति ने कहा- CAA के बाद अब जनसंख्या नियंत्रण कानून की तैयारी

    राज्यमंत्री ने कहा, "अब सबको विश्वास हो गया है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हट सकता है और राम मंदिर का फैसला भी आ सकता है तो देश के लिए जो भी कानून जरूरी हुआ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसे अवश्य लाएंगे. उन्होंने यह इतना बड़ा आन्दोलन (सीएए आदि कानून एवं प्रस्तावित बिलों का विरोध) खड़ा हो जाने के बाद भी तीन देशों में धार्मिक उत्पीड़न झेलने वाले लोगों को नागरिकता देकर सिद्ध कर दिया है."

  • रामविलास वेदांती ने बताया कब तक बनकर तैयार होगा राम मंदिर, कहा- 67 एकड़ जमीन पड़ेगी कम

    रामविलास वेदांती ने बताया कब तक बनकर तैयार होगा राम मंदिर, कहा-  67 एकड़ जमीन पड़ेगी कम

    वेदांती ने यहां संवाददाताओं से कहा, "केंद्र सरकार द्वारा ट्रस्ट (श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास) के गठन के बाद अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. मुझे लगता है कि वर्ष 2024 के चुनाव से पहले इस मंदिर का प्रारूप खड़ा हो जाएगा. उन्होंने कहा, "चूंकि यह विश्व का सबसे बड़ा मंदिर और अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल बनेगा. इसलिये इसके निर्माण में राम जन्मभूमि परिसर की 67 एकड़ जमीन कम पड़ेगी. हो सकता है कि सरकार के गठित ट्रस्ट को भव्य मंदिर के निर्माण के लिये इस परिसर के आस-पास की भूमि का अधिग्रहण करना पड़े."

  • नृपेंद्र मिश्र रामलला के दरबार पहुंचे, मंदिर निर्माण का खाका खींचा

    नृपेंद्र मिश्र रामलला के दरबार पहुंचे, मंदिर निर्माण का खाका खींचा

    अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्होंने मंदिर निर्माण कार्य का आकलन किया. दौरे के दौरान यहां के कमिश्नर एमपी अग्रवाल, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा और ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय भी नृपेंद्र मिश्र के साथ रहे. इस दौरान उन्होंने राम जन्मभूमि परिसर में करीब तीन घंटे बिताए. इसके बाद श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के स्थानीय सदस्यों और जिम्मेदार अधिकारियों के साथ बैठक कर शिलाओं को लाने वाले रास्ते का निरीक्षण किया. 

  • Navratri 2020: चैत्र नवरात्रि के दौरान भक्‍त कर सकेंगे रामलला के दर्शन, ऐसी होगी व्‍यवस्‍था

    Navratri 2020: चैत्र नवरात्रि के दौरान भक्‍त कर सकेंगे रामलला के दर्शन, ऐसी होगी व्‍यवस्‍था

    रामलला की मूर्तियों को यहां सबसे पहले 22-23 दिसंबर, 1949 की मध्यरात्रि के दौरान रखा गया था. 43 साल बाद, विवादित ढांचे को ढहाए जाने के बाद मूर्तियों को हटा दिया गया था.

  • दिल्ली तो बस एक नई प्रयोगशाला है

    दिल्ली तो बस एक नई प्रयोगशाला है

    दिल्ली और देश में जो कुछ हो रहा है, उसके लिए न भारतीय जनता पार्टी को कोसें और न ही संघ परिवार को. ये सब अपने लक्ष्यों को लेकर बहुत ईमानदार संगठन हैं- लक्ष्य तक पहुंचने के लिए चाहे जितनी बेईमानी कर लें. एक समुदाय के प्रति अपने भाव इन्होंने कभी नहीं छुपाए और यह इरादा भी कभी नहीं छुपाया कि सत्ता में आने के बाद वे इस देश के बहुसंख्यकवाद को नई ताक़त देंगे. धारा 370 हटाने की बात हो, राम मंदिर निर्माण की बात हो, तीन तलाक़ की बात हो, एनआरसी की बात हो- सब बीजेपी के घोषणापत्र में पहले से दर्ज है. बल्कि कई बार इस आधार पर उनकी खिल्ली उड़ाई गई कि वे सत्ता में आने के बाद अपना एजेंडा भूल जा रहे हैं. अब वे अपना घोषित एजेंडा पूरा कर रहे हैं तो इस पर आप दुखी हो सकते हैं, हैरान नहीं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com