NDTV Khabar

राष्ट्रपति का चुनाव


'राष्ट्रपति का चुनाव' - 590 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NEWS FLASH: पीएम नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को करेंगे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने ट्वीट कर दी जानकारी

    NEWS FLASH: पीएम नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को करेंगे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने ट्वीट कर दी जानकारी

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था बेहद खराब, केंद्र चाहे तो वहां राष्ट्रपति शासन लगा सकता है : कांग्रेस

    पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था बेहद खराब, केंद्र चाहे तो वहां राष्ट्रपति शासन लगा सकता है : कांग्रेस

    लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की हालत बहुत ही खराब हो गई है. अगर केंद्र सरकार चाहे तो वहां राष्ट्रपति लगा सकती है. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि राज्य में बीजेपी राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करती है लेकिन दिल्ली में वे टीएमसी के साथ दोस्ताना व्यवहार करते हैं. कांग्रेस नेता की ओर यह बयान टीएमसी को नागवार गुजर सकता है क्योंकि भले ही लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियों के बीच समझौता न हो पाया हो लेकिन संसद में कई नीतिगत मुद्दों पर दोनों पार्टियां साथ खड़ी आती हैं. अब देखने वाली बात यह होगी कि अधीर रंजन चौधरी के बयान पर तृणमूलर कांग्रेस यानी टीएमसी की ओर से क्या बयान आता है.

  • डोनाल्ड ट्रंप ने कसा हिलेरी क्लिंटन पर तंज, बोले - हिलेरी को 2020 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ना चाहिए

    डोनाल्ड ट्रंप ने कसा हिलेरी क्लिंटन पर तंज, बोले - हिलेरी को 2020 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ना चाहिए

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में अपनी प्रतिद्वंद्वी रही हिलेरी क्लिंटन (Hillary Clinton) पर तंज कसते हुए कहा कि उन्हें अगला चुनाव भी लड़ना चाहिए. इसके लिए सिर्फ यह शर्त है कि उन्हें अपने अपराधों पर सफाई देनी होगी.

  • Howdy Modi : 'अबकी बार ट्रंप सरकार', पीएम मोदी का यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कहीं डोनाल्ड ट्रंप के लिए सवाल न बन जाए

    Howdy Modi : 'अबकी बार ट्रंप सरकार', पीएम मोदी का यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कहीं डोनाल्ड ट्रंप के लिए सवाल न बन जाए

    अमेरिका के टेक्सास के शहर ह्यूस्टन में आयोजित 'हाउडी मोदी' (Howdy Modi) कार्यक्रम में हजारों की भीड़ ने हिस्सा लिया. पीएम मोदी का भाषण सुनकर ऐसा लग रहा था कि जैसे वह किसी चुनावी रैली को संबोधित करने आए हों. वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी देखकर ऐसा लग रहा था कि वह अगले साल होने जा रहे चुनाव के मूड में है और वहां आए हजारों की संख्या में भारतीय-अमेरिकी को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं.

  • Howdy Modi: डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- भारतीयों ने अमेरिकी संस्कृति को समृद्ध किया है, जानिए 10 बातें

    Howdy Modi: डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- भारतीयों ने अमेरिकी संस्कृति को समृद्ध किया है,  जानिए 10 बातें

    अमेरिकी  राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एनआरजी स्टेडियम में रविवार को संपन्न हुए 'हाउडी, मोदी' कार्यक्रम के दौरान 50,000 भारतीय-अमेरिकियों के प्रति अपना आभार प्रकट करते हुए कहा कि अमेरिका को भारत से प्रेम है. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप के आगमन पर लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया. ट्रंप और मोदी ने एक-दूसरे को गले लगाया और वे इस ऐतिहासिक अवसर का उत्सुकता से इंतजार कर रहे समूह का हाथ हिला कर अभिवादन करते हुए मंच की तरफ बढ़े. यह पहली बार है जब ट्रंप और मोदी ने साथ मंच साझा किया और रिकॉर्ड 50,000 भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित किया. इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत में पीएम मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. इस एतिहासिक कार्यक्रम में आकर बहुत खुश हूं. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी लोकसभा चुनाव में मिली जीत पर बधाई दी. मेरा सौभाग्य है कि मैं पीएम मोदी के साथ हूं. हमारे सपने साझे हैं और प्रवासी भारतीय पर हमें गर्व है. भारत-अमेरिका एक-दूसरे का सम्मान करते हैं.

  • 'हाउडी मोदी' इवेंट में 100 मिनट तक मौजूद रहेंगे डोनाल्ड ट्रंप, इस मुद्दे पर केंद्रित रहेगा उनका भाषण

    'हाउडी मोदी' इवेंट में 100 मिनट तक मौजूद रहेंगे डोनाल्ड ट्रंप, इस मुद्दे पर केंद्रित रहेगा उनका भाषण

    अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि विश्व की ऊर्जा राजधानी में आयोजित इस कार्यक्रम से दोनों लोकतंत्रों के संबंधों को नई ऊर्जा मिलेगी. पहले रिपोर्ट थी कि ट्रंप भारतीय समुदाय के इस कार्यक्रम में केवल संक्षित भाषण या उपस्थिति दर्ज कराएंगे. साल 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के प्रत्याशी के तौर पर भारत का घनिष्ठ मित्र होने का वादा करने वाले ट्रंप केवल 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ह्यूस्टन आ रहे हैं.

  • स्मृति ईरानी से किया ये वादा पूरा किए बिना ही चली गईं सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री ने कहा- दीदी, मुझे आपसे...

    स्मृति ईरानी से किया ये वादा पूरा किए बिना ही चली गईं सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री ने कहा- दीदी, मुझे आपसे...

    भाजपा की वरिष्ठ नेता का 2016 में गुर्दा प्रतिरोपित किया गया था और स्वास्थ्य कारणों से उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य बड़े नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. पीएम मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन को 'व्यक्तिगत क्षति' बताया है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी उन नेताओं में शामिल हैं, जो सुषमा स्वराज के गंभीर रूप से बीमार होने की सूचना मिलने के बाद एम्स पहुंची थीं.

  • अलविदा सुषमा स्वराज: राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

    अलविदा सुषमा स्वराज: राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर मंगलवार को गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया. मोदी ने स्वराज के निधन को ‘व्यक्तिगत क्षति’ बताया. मोदी ने ट्वीट किया, ‘असाधारण नेता के निधन से भारत शोकाकुल है.’ उन्होंने कहा कि वह भूल नहीं सकते कि कैसे पूर्व विदेश मंत्री बिना थके काम करती थीं. पीएम मोदी ने कहा, ‘यहां तक कि जब उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था तब भी वह अपने काम के साथ न्याय करने के लिए जो कर सकती थीं करती थीं और अपने मंत्रालय के मसलों से वाकिफ रहती थीं.’

  • बेंजामिन नेतन्याहू को इस्राइली चुनाव में भी 'मोदी लहर' की उम्मीद, देखें Video

    बेंजामिन नेतन्याहू को इस्राइली चुनाव में भी 'मोदी लहर' की उम्मीद, देखें Video

    इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को अपने प्रचार में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'दोस्ती' का भी इस्तेमाल कर रहे हैं. दरअसल उनकी पार्टी ने चुनाव प्रचार के लिए एक पोस्टर भी तैयार किया है जिसमें पीएम मोदी  और  बेंजामिन नेतन्याहू साथ दिख रहे हैं. हालांकि  प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ तस्वीर वाले बैनर भी लगाए हैं. इसके साथ ही बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें यह तीनों नेता ( मोदी, ट्रंप और पुतिन) शामिल हैं. नेतन्याहू इस वीडियो में इन तीनों नेताओं से गर्मजोशी से मिलते नजर आ रहे हैं. पीएम मोदी के साथ नेतन्याहू की यह तस्वीर भारत में चर्चा का विषय बन गई हैं.  

  • इजराइल में PM नेतन्याहू के चुनाव प्रचार का अनोखा तरीका, वोटरों को रिझाने के लिए लगाए पीएम मोदी के बैनर

    इजराइल में PM नेतन्याहू के चुनाव प्रचार का अनोखा तरीका, वोटरों को रिझाने के लिए लगाए पीएम मोदी के बैनर

    इजराइल में 17 सितंबर को होने वाले मध्यावधि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपनी तस्वीर वाले बैनर लगाए हैं. तेल अवीव में लिकुड पार्टी का मुख्यालय चुनाव प्रचार के बैनरों से अटा पड़ा है, जिसमें नेतन्याहू की विश्व के तीन नेताओं के साथ नजदीकियों को दिखाया गया है.

  • कर्नाटक को लेकर असमंजस में बीजेपी, टिकाऊ सरकार के लिए इंतजार; या येदियुरप्पा का सपना करे साकार

    कर्नाटक को लेकर असमंजस में बीजेपी, टिकाऊ सरकार के लिए इंतजार; या येदियुरप्पा का सपना करे साकार

    भारतीय जनता पार्टी (BJP) कर्नाटक में टिकाऊ सरकार चाहती है और इसके लिए राज्य में विधानसभा चुनाव ही एक मात्र विकल्प है. दूसरी तरफ बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा की नजर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर टिकी हुई है. बीजेपी ने कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार के पतन के दो दिन बाद भी सरकार के गठन के लिए दावा पेश नहीं किया है. जबकि राज्य को 31 जुलाई के पहले वित्त विधेयक पारित करना होगा और तब तक नई सरकार के अस्तित्व में न आने के हालात में राष्ट्रपति शासन लगाना बाध्यता होगी.

  • कर्नाटक : येदियुरप्पा के लिए मुख्यमंत्री बनने का अंतिम मौका, जिसे वे खोना नहीं चाहते

    कर्नाटक : येदियुरप्पा के लिए मुख्यमंत्री बनने का अंतिम मौका, जिसे वे खोना नहीं चाहते

    कर्नाटक (Karnataka) का मुख्यमंत्री बनने की येदियुरप्पा की महत्वाकांक्षा आखिरकार पूरी होने के प्रबल आसार अब बन ही गए. एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) की 14 माह पुरानी कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) सरकार के गिरने के साथ बीजेपी (BJP) ने अपनी सरकार के गठन का रास्ता बना लिया. माना जाता है कि बीजेपी हाईकमान फिलहाल कर्नाटक सरकार को गिराने के लिए जिम्मेदार नहीं बनना चाहता था. बीजेपी चाहती थी कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार खुद ही गिर जाए, बीजेपी के हाथ साफ रहें, लेकिन बीएस येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) की अभिलाषा के चलते सारे दांव-पेंच अपनाए गए और अंतत: कुमार स्वामी सरकार गिर गई.

  • जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल राज्यसभा में पेश, कांग्रेस ने कहा- आपकी वजह से पैदा हुए ऐसे हालात

    जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल राज्यसभा में पेश, कांग्रेस ने कहा- आपकी वजह से पैदा हुए ऐसे हालात

    गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने बढ़ाने के लिए बिल और जम्मू-कश्मीर रिजर्वेशन संशोधन बिल 2019 राज्यसभा में पेश कर दिया है. अब इसको लेकर सदन में चर्चा हो रही है. कांग्रेस की सांसद विप्लव ठाकुर ने सरकार पर जम्मू-कश्मीर के हालात बिगाड़ने का आरोप लगाया है और साथ ही पूछा कि अगर वहां पर लोकसभा चुनाव हो सकते हैं तो राज्यसभा चुनाव क्यों नहीं हो रहे हैं. उन्होंने पूछा कि जो इस समय हालात हैं वह तंग सोच की वजह से हैं.  आपको बता दें कि लोकसभा में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल पास कर दिया गया है. पेश कर दिया गया है. लोकसभा में जहां कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण बिल का समर्थन किया तो वहीं राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाले बिल का विरोध किया.

  • जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार को लोकसभा में मंजूरी

    जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन के विस्तार को लोकसभा में मंजूरी

    जम्मू एवं कश्मीर में 3 जुलाई से छह महीने के लिए राष्ट्रपति शासन का विस्तार करने की लोकसभा ने शुक्रवार को अनुमति दे दी. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि केंद्र तैयार है, चुनाव आयोग जब चाहे राज्य में विधानसभा चुनाव कराने का फैसला ले सकता है. राज्य में दिसंबर से राष्ट्रपति शासन लागू है.

  • जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने और बढ़ाने के लिए अमित शाह ने लोकसभा में प्रस्ताव पेश किया, विपक्ष ने किया विरोध

    जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने और बढ़ाने के लिए अमित शाह ने लोकसभा में प्रस्ताव पेश किया, विपक्ष ने किया विरोध

    गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में आज जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक 2019 पेश किया और राज्य में राष्ट्रपति शासन 6 महीने के लिए बढ़ाने का प्रस्ताव दिया. लोकसभा में प्रस्ताव पेश करते हुए अमित शाह ने कहा कि इस साल के अंत तक राज्य में चुनाव संभव है. गृह मंत्री ने कहा कि रमजान का पवित्र महीना था, अब अमरनाथ यात्रा होनी है, इस वजह से चुनाव कराने इस दौरान मुमकिन नहीं था. इस साल के अंत में चुनाव कराने का फैसला लिया गया. अमित शाह ने इंटरनेशनल बॉर्डर पर रहने वाले लोगों को भी आरक्षण देने का प्रस्ताव लोकसभा में रखा. उन्होंने कहा कि ये विधेयक किसी को खुश करने के लिए नहीं है, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास रहने वालों के लिए है. इस मौके पर उन्होंने कहा है कि कश्मीर में उनकी सरकार में पिछले एक साल में जीरो टोलेरेंस की नीति अपनाई गई है. उन्होंने कहा कि राज्य में चुनाव होता था तो बड़े पैमाने पर हिंसा होती थी. लेकिन इस बार पंचायत चुनाव में किसी का खून नहीं बहा है. आतंकवाद की घटनाएं भी कम हुई हैं. गृहमंत्री ने कहा कि सुरक्षा कारणों से अभी राज्य में चुनाव नहीं कराए जा सकते हैं. लेकिन उम्मीद है कि अगले 6 महीने में आयोग वहां चुनाव कराएगा. शाह ने कहा कि वह सदन में रिकॉर्ड पर तत्कालीन गृहमंत्री और रक्षा मंत्री को धन्यवाद देना चाहता हूं.

  • राज्यसभा में कांग्रेस पर बरसे PM मोदी, EVM और चुनाव नतीजों सहित इन मुद्दों को लेकर साधा निशाना: 10 खास बातें

    राज्यसभा में कांग्रेस पर बरसे PM मोदी, EVM और चुनाव नतीजों सहित इन मुद्दों को लेकर साधा निशाना: 10 खास बातें

    भाजपा नीत राजग को लोकसभा चुनाव में मिले बहुमत को ‘‘देश की हार’’ बताने के लिए कांग्रेस पर बरसते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि ऐसा कहना देश के करोड़ों मतदाताओं, किसानों एवं मीडिया का अपमान है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हारने से देश नहीं हार जाता क्योंकि कांग्रेस देश नहीं है. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए राज्यसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा ‘‘ऐसे अवसर बहुत कम आते हैं जब चुनाव स्वयं जनता लड़ती है. 2019 का चुनाव दलों से परे देश की जनता लड़ रही थी,’’

  • मोदी सरकार के गठन के लिए केंद्र बना अमित शाह का घर, 10 बातों में जानें अब तक क्या हुआ

    मोदी सरकार के गठन के लिए केंद्र बना अमित शाह का घर, 10 बातों में जानें अब तक क्या हुआ

    राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आयोजित होने वाले इस शपथ ग्रहण समारोह में करीब आठ हजार मेहमानों के शामिल होने की उम्मीद है. वर्ष 2014 में मोदी को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दक्षेस देशों के प्रमुखों सहित 3500 से अधिक मेहमानों की मौजूदगी में शपथ दिलायी थी. राष्ट्रपति भवन के प्रांगण का इस्तेमाल आम तौर पर देश की यात्रा पर आने वाले राष्ट्राध्यक्षों एवं सरकार के प्रमुखों के औपचारिक स्वागत के लिए किया जाता है. इससे पहले 1990 में चंद्रशेखर और 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में शपथ दिलायी गई थी. शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों, बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, म्यामांर के राष्ट्रपति यू विन मिंट और भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग ने शामिल होने की पुष्टि पहले ही कर दी है. थाईलैंड से उसके विशेष दूत जी बूनराच देश का प्रतिनिधित्व करेंगे. भारत के अलावा बिम्सटेक में बांग्लादेश, म्यामां, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. इन नेताओं के साथ-साथ शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष और किर्गिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति जीनबेकोव और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ को भी शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया है. मोदी नीत भाजपा ने लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से 303 सीटें जीतकर सत्ता में बहुमत के साथ वापसी की है.

  • राष्ट्रपति भवन में मोदी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह आज, जानें मेहमानों को मिलने वाली दावत का मेन्यू!

    राष्ट्रपति भवन में मोदी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह आज, जानें मेहमानों को मिलने वाली दावत का मेन्यू!

    लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) आज शाम अपने दूसरे कार्यकाल के लिए नये मंत्रिपरिषद के साथ शपथ ग्रहण करेंगे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) मोदी और उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगियों को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में शपथ दिलाएंगे.