NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019


'लोकसभा चुनाव 2019' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 5 राज्यों में चुनाव के बाद जून में होंगे कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव, गर्मागरम बहस के बाद CWC में लगी मुहर

    5 राज्यों में चुनाव के बाद जून में होंगे कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव, गर्मागरम बहस के बाद CWC में लगी मुहर

    2019 के लोकसभा चुनावों में हार के बाद इसकी जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सोनिया गांधी ने एक बार फिर पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष का पद संभाला.

  • TMC छोड़ने के सस्पेंस के बाद पार्टी सांसद शताब्दी रॉय को मिली अहम जिम्मेदारी

    TMC छोड़ने के सस्पेंस के बाद पार्टी सांसद शताब्दी रॉय को मिली अहम जिम्मेदारी

    तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) नाराज चल रहीं शताब्दी रॉय को पार्टी मनाने में कामयाब रही. शताब्दी 2019 के लोकसभा चुनाव में बीरभूम की सीट बचाने में सफल रही थीं, जबकि निकटवर्ती सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार बीजेपी से बड़े अंतर से हार गए थे.

  • लोकसभा चुनाव लड़ चुका व्यक्ति और उसके दो साथी ठगी के मामले में गिरफ्तार

    लोकसभा चुनाव लड़ चुका व्यक्ति और उसके दो साथी ठगी के मामले में गिरफ्तार

    सरकारी स्कूलों में नौकरी लगवाने का झांसा देकर ठगी करने वाले एक गिरोह के तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में से एक पूर्वी उत्तर प्रदेश से लोकसभा का चुनाव भी लड़ चुका है.

  • विधानसभा चुनाव जीतने में लोकसभा चुनाव का प्रदर्शन भाजपा के काम नहीं आएगा : तृणमूल कांग्रेस

    विधानसभा चुनाव जीतने में लोकसभा चुनाव का प्रदर्शन भाजपा के काम नहीं आएगा : तृणमूल कांग्रेस

    तृणमूल कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि अगर भाजपा सोच रही है कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव के प्रदर्शन के दम पर अगले साल होने वाले पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कर लेगी तो वह दिन में सपने देख रही है.

  • Bihar Election Results 2020: कांग्रेस के एक और फ्लॉप शो ने तेजस्वी यादव और महागठबंधन की उम्मीदों पर फेरा पानी...

    Bihar Election Results 2020: कांग्रेस के एक और फ्लॉप शो ने तेजस्वी यादव और महागठबंधन की उम्मीदों पर फेरा पानी...

    कांग्रेस के अलावा सभी दलों का स्ट्राइक रेट बेहतर रहा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी की तरफ से कई सभाएं की गयी लेकिन फिर भी उनकी पार्टी का प्रदर्शन आशा के अनुरूप देखने को नहीं मिल रहा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस गठबंधन को बिहार में हार का सामना करना पड़ा था जब 40 लोकसभा सीटों में से 39 पर पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था. 

  • 'किसने कहा बीजेपी को हराया नहीं जा सकता?', पी चिदंबरम बोले- 'बिहार में तो यही होने जा रहा'

    'किसने कहा बीजेपी को हराया नहीं जा सकता?', पी चिदंबरम बोले- 'बिहार में तो यही होने जा रहा'

    Bihar Election 2020: 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद हुए विधान सभा चुनावों और उप चुनावों का उल्लेख करते हुए चिदंबरम ने कहा कि बीजेपी की जीत का प्रतिशत और मार्जिन काफी कम हो चुका है.

  • बिहार चुनाव : BJP-एलजेपी में जुबानी जंग तेज, 'वोटकटवा' कहे जाने पर चिराग पासवान ने दिया जवाब

    बिहार चुनाव : BJP-एलजेपी में जुबानी जंग तेज, 'वोटकटवा' कहे जाने पर चिराग पासवान ने दिया जवाब

    चिराग पासवान ने पटना में शनिवार को पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि BJP के नेता एक ऐसे व्यक्ति के फ़ैसले पर उंगली उठा रही है, जो उनके साथ कैबिनेट में छह वर्षों तक साथ थे. चिराग़ ने कहा कि सब जानते हैं कि वो चाहे 2014  का लोकसभा चुनाव हो या 2019  का रामविलास पासवान और लोक जनशक्ति पार्टी के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने BJP की सरकार बनाने के लिए कितना मेहनत की है. 

  • अलवर गैंगरेप केस में चार दोषियों को आजीवन कारावास, एक को पांच साल की सजा

    अलवर गैंगरेप केस में चार दोषियों को आजीवन कारावास, एक को पांच साल की सजा

    Alwar Gang Rape Case: राजस्थान (Rajasthan) के अलवर में 2019 में हुए सामूहिक बलात्कार (Gang Rape) के मामले में अलवर की एक विशेष अदालत ने पांच दोषियों में से चार को उम्रक़ैद (Life Imprisonment) की सज़ा सुनाई है और एक को पांच साल का कठोर कारावास दिया है. एक आरोपी की सुनवाई जुवेनाइल कोर्ट में चल रही है. अलवर के थांगजी का ये मामला काफी सुर्ख़ियों में रहा था. दो मई 2019 को पीड़ित एफआईआर दर्ज करवाने गई तो उस समय चल रहे लोकसभा चुनाव को कारण बताते हुए पुलिस ने मामला दर्ज करने में देरी कर दी. यह मामला लोकसभा चुनाव में राजनीतिक मुद्दा बन गया था और इसको लेकर राजस्थान की गहलोत सरकार की काफ़ी आलोचना भी हुई  थी.

  • एलजेपी NDA में रहेगी या नहीं ये फैसला बीजेपी को करना है : नीतीश कुमार

    एलजेपी NDA में रहेगी या नहीं ये फैसला बीजेपी को करना है : नीतीश कुमार

    उपेंद्र कुशवाहा के सम्बंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ननीतीश कुमार ने कहा की एनडीए में 2014 से जो बीजेपी के पार्टनर रहे हैं, उन पर फैसला भारतीय जनता पार्टी को करना है. नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले जो बीजेपी का साथ छोड़ कर चले गए और जो रह गए दोनों के ऊपर बीजेपी को ही फैसला करना है.

  • बिहार चुनाव: नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार के सामने तेजस्वी यादव की हैं ये पांच चुनौतियां

    बिहार चुनाव: नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार के सामने तेजस्वी यादव की हैं ये पांच चुनौतियां

    1980 के बाद यह पहला विधानसभा चुनाव होगा जब राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव शारीरिक तौर पर इसमें शामिल नहीं होंगे. यानी लोकसभा चुनाव 2019 की तरह ये विधान सभा चुनाव भी बगैर लालू के लड़ा जाएगा.

  • Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार की बेगूसराय सीट पर पूरे देश की नजरें थीं. यहां से बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और अपने बयानों के लिए मशहूर गिरिराज सिंह का मुकाबला वामपंथी राजनीति के इस समय पोस्टर ब्बॉय और सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से था. लेकिन बाजी आखिरकार गिरिराज सिंह के ही हाथ लगी और कन्हैया कुमार को हार का सामना करना पड़ा. यह सीट अपने आप में कई ऐतिहासिक और राजनीतिक नामकरणों को लिए भी मशहूर है. बेगूसराय को पूरब का लेनिनग्राद भी कहा जाता है. 2019 के चुनाव से पहले ही कन्हैया के भाषण सोशल मीडिया पर खूब देखे जा रहे थे. बिहार की राजनीति में एक युवा नेता का उभार एक समय तो तेजस्वी यादव के लिए भी बड़ा खतरा बनते देखा गया. कहा तो यह भी जाता है कि कन्हैया कुमार को हराने के लिए ही आरजेडी ने तनवीर हसन को लोकसभा चुनाव में उतार दिया था. हालांकि आरजेडी का कहना था साल 2014 में तनवीर हसन सिर्फ 60 हजार वोटों से हारे थे इसलिए कार्यकर्ताओं के मनोबल के लिए उनको चुनाव में उतारा गया है. फिलहाल इस सच्चाई से नकारा नहीं जा सकता है कि इसका फायदा गिरिराज सिंह को ही मिला था. 

  • 2024 के चुनाव में शायद राहुल गांधी न करें कांग्रेस का नेतृत्व, पत्र लिखने वालों में से एक नेता ने कहा  

    2024 के चुनाव में शायद राहुल गांधी न करें कांग्रेस का नेतृत्व, पत्र लिखने वालों में से एक नेता ने कहा  

    नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर कांग्रेस नेता ने कहा, "हम यह कहने की स्थिति में नहीं हैं कि राहुल गांधी पार्टी का नेतृत्व कर पाएंगे और 2024 में 400 सीटें हासिल करने में हमारी मदद करेंगे. हमें इस बात का एहसास होना चाहिए कि 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी को जरूरत की मुताबिक सीटें नहीं मिल पाई हैं." 

  • जम्मू-कश्मीर : पूरा हुआ पक्के घर का सपना, 12000 लोगों को मिली किश्त

    जम्मू-कश्मीर : पूरा हुआ पक्के घर का सपना,  12000 लोगों को मिली किश्त

    जम्मू-कश्मीर के रजौरी जिलो में 12000 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 50 हजार रुपये की पहली किश्त मिली है. इस राशि को उन्हें घर बनाने में इस्तेमाल करना है. रजौरी जिले के असिस्टेंट डेवलपमेंट कमिश्नर (ग्रामीण) एसके खजूरिया ने कहा है कि यह गरीबों के लिए बड़ी राहत है. इस राशि की मदद से वह पक्के मकान में सुरक्षित रह सकेंगे. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की 2022 तक सबको घर मुहैया कराने की योजना है. इस योजना का बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लोकसभा चुनाव में जमकर प्रचार किया था और मिली जीत में इस योजना का भी बड़ा हाथ मानती है.  

  • Rajya Sabha Election: जिन्हें जिताने के लिए राहुल गांधी ने किया था 27 मंदिरों में दर्शन, वही अब गुजरात में कांग्रेस छोड़ रहे हैं

    Rajya Sabha Election: जिन्हें जिताने के लिए राहुल गांधी ने किया था 27 मंदिरों में दर्शन, वही अब गुजरात में कांग्रेस छोड़ रहे हैं

    Gujarat Rajya Sabha Polls :  राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस को झटके पर झटका लगा रहा है इसी हफ्ते तीन विधायक पार्टी छोड़कर जा चुके हैं. राज्यसभा चुनाव के ऐलान के बाद से अब तक 5 विधायक पार्टी छोड़कर जा चुके हैं. वहीं  अब तक कुल 8 विधायक पार्टी छोड़कर जा चुके हैं. गुजरात कांग्रेस के लिए इसलिए भी अहम है जहां से पार्टी ने विधानसभा चुनाव में हार के बाद भी लोकसभा चुनाव 2019 जीतने का सपना देखना शुरू कर दिया था.दरअसल गुजरात विधानसभा चुनाव जिसमें राहुल गांधी पहली बार पीएम मोदी के सामने टक्कर देते दिखाई दे रहे थे.

  • महाराष्ट्र में होने जा रहे इस महत्वपूर्ण चुनाव के लिए बीजेपी की लिस्ट में नहीं है पंकजा मुंडे का नाम

    महाराष्ट्र में होने जा रहे इस महत्वपूर्ण चुनाव के लिए बीजेपी की लिस्ट में नहीं है पंकजा मुंडे का नाम

    महाराष्ट्र विधान परिषद के लिए 21 मई को होने वाले चुनाव के लिए बीजेपी उम्मीदवारों की सूची में महाराष्ट्र बीजेपी के वरिष्ठ नेता पंकजा मुंडे और एकनाथ खडसे का नाम नहीं है. 2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी छोड़कर बीजेपी में आने वाले  रणजीत सिंह मोहिते का नाम उन चार लोगों में शामिल है जिन्हें बीजेपी का उम्मीदवार बनाया गया है. गौरतलब है कि पंकजा मुंडे पिछले साल अक्टूबर में हुए विधानसभा चुनाव में अपने भाई धनंजय मुंडे, जो कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के टिकट से चुनाव लड़े थे, से चुनाव हार गई थी. जिसके बाद से पंकजा ने अपनी ही पार्टी के भीतर और विशेषकर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से किनारा किया हुआ है.

  • राज्यसभा चुनाव से पहले शिवसेना में असंतोष, प्रियंका चतुर्वेदी की उम्मीदवारी का इस वरिष्ठ नेता ने किया विरोध...

    राज्यसभा चुनाव से पहले शिवसेना में असंतोष, प्रियंका चतुर्वेदी की उम्मीदवारी का इस वरिष्ठ नेता ने किया विरोध...

    चतुर्वेदी कांग्रेस छोड़ कर अप्रैल 2019 में शिवसेना में शामिल हुई थी. उस वक्त शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा था कि शिवसेना कार्यकर्ता को चतुर्वेदी के रूप में एक अच्छी बहन मिल गई है. शिवसेना नेता खैरे ने कहा कि वह दो दशक तक सांसद रहे हैं. चार बार सांसद रहे और पिछले लोकसभा चुनाव में औरंगाबाद सीट पर एआईएमआईएम के इम्तियाज जलील से पराजित हुए खैरे ने कहा, ‘‘राज्यसभा के लिए मेरी उम्मीदवारी मराठवाड़ा क्षेत्र की मांग थी और यदि मुझे उम्मीदवार बनाया जाता तो पार्टी को इस क्षेत्र में कहीं अधिक मजबूती मिलती.’’

  • BJP नेता व एक्ट्रेस जयाप्रदा के खिलाफ गैर जमानती वारंट, अगली सुनवाई 20 अप्रैल को

    BJP नेता व एक्ट्रेस जयाप्रदा के खिलाफ गैर जमानती वारंट, अगली सुनवाई 20 अप्रैल को

    दिग्गज अभिनेता और भाजपा नेता जयाप्रदा के खिलाफ रामपुर की एक अदालत ने 2019 के आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया है. इसकी अगली सुनवाई 20 अप्रैल को है. सुनवाई के दौरान जयाप्रदा गैर हाजिर रहने पर कोर्ट ने वारंट जारी किया. बताते चले कि लोकसभा चुनाव में रामपुर संसदीय सीट से बीजेपी की प्रत्याशी जयाप्रदा थीं. उसी दौरान उनपर आदर्श आचार संहिता का केस दर्ज हुआ था.

  • लोकसभा चुनाव में बुरी हार की याद के साथ ही कांग्रेस को उम्मीद भी दे गया साल 2019

    लोकसभा चुनाव में बुरी हार की याद के साथ ही कांग्रेस को उम्मीद भी दे गया साल 2019

    लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त और राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद 2019 के पहले छह महीने कांग्रेस के लिए बहुत ही मुश्किल भरे रहे, लेकिन साल के अंत में महाराष्ट्र और झारखंड में भाजपा की सरकार नहीं बनने से देश की सबसे पुरानी पार्टी के भीतर भविष्य में बेहतर करने की एक उम्मीद जगी है. इसी साल सोनिया गांधी ने पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली तो प्रियंका गांधी ने बतौर महासचिव अपनी सक्रिय राजनीति का आगाज किया.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com