NDTV Khabar

वसुंधरा राजे


'वसुंधरा राजे' - 270 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • हाईकोर्ट के एक फैसले से छिन गईं पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की सभी सुविधाएं

    हाईकोर्ट के एक फैसले से छिन गईं पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की सभी सुविधाएं

    राजस्थान में अब पूर्व मुख्यमंत्रियों को न सरकारी बंगला मिलेगा न कार और न स्टाफ. राजस्थान हाईकोर्ट ने आज राजस्थान मंत्री संशोधन वेतन अधिनियम 2017 को अवैध करार दे दिया. इस अधिनियम में पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन सरकारी बंगला, आईएएस रैंक का प्राईवेट सेक्रेट्री समेत स्टाफ और कार जैसी सुविधाएं दी गई हैं. अब हाईकोर्ट ने इस अधिनियम को रद्द कर कहा कि पूर्व सीएम को कोई सुविधा नहीं दी जा सकती हैं, न ही सरकारी बंगला.

  • धर्मेंद्र ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर किया ट्वीट, यूं छलका बॉलीवुड स्टार का दर्द

    धर्मेंद्र ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर किया ट्वीट, यूं छलका बॉलीवुड स्टार का दर्द

    धर्मेंद्र (Dharmendra) 83 वर्ष के हैं और उनका अधिकतर समय इन दिनों खेतो में ही बीतता है. कभी वे खेतो में काम करते नजर आते हैं तो कभी पेड़ों से फल तोड़ रहे होते हैं. धर्मेंद्र के ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल होते हैं. धर्मेंद्र (Dharmendra) का जन्म 8 दिसंबर, 1935 को पंजाब के लुधियाना के नसराली गांव में हुआ था.

  • Rajasthan Election Result 2019 : राजस्‍थान को भाया केंद्र में नरेंद्र मोदी का 'राज', कांग्रेस की हार के 4 कारण..

    Rajasthan Election Result 2019 : राजस्‍थान को भाया केंद्र में नरेंद्र मोदी का 'राज', कांग्रेस की हार के 4 कारण..

    Election Result 2019: राजस्‍थान के चुनाव परिणाम (Rajasthan Election Result 2019) कांग्रेस पार्टी के लिए निराशाजनक रहे हैं. बीजेपी (BJP) राज्‍य में अपने वर्ष 2014 के प्रदर्शन को लगभग दोहराती नजर आ रही है, दूसरी ओर अभी तक के रुझान के हिसाब से कांग्रेस पार्टी (Congress)दो-तीन सीटों पर सिमटती नजर आ रही है. राज्‍य के लोगों की ओर ये दिया गया यह जनादेश वाकई हैरानी भरा है.

  • राजस्थान : पिछली बार 4 लाख वोटों से जीतने वाली बीजेपी के लिए इस बार दौसा सीट बनी सिरदर्द

    राजस्थान :  पिछली बार 4 लाख वोटों से जीतने वाली बीजेपी के लिए इस बार दौसा सीट बनी सिरदर्द

    बीजेपी ने राजस्थान की मीणा बहुल दौसा सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री जसकौर मीणा को टिकट तो दी है लेकिन अब इस सीट पर स्थानीय क्षत्रपों की आपसी खींचतान के कारण संकट के बादल मंडराने लगे है.  राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि भले ही बीजपी ने वसुंधरा राजे की करीबी माने जाने वाली जसकौर मीणा को टिकट दे दी लेकिन अब बड़ा सवाल टिकट की दौड़ में शामिल रहे डॉ. किरोड़ी मीणा व विधायक ओमप्रकाश हुडला की नाराजगी दूर करने का है. ऐसा कहा जाता है कि राज्यसभा सदस्य डॉ. मीणा अपनी पत्नी गोलमा देवी और हुडला खुद के लिए टिकट मांगे रहे थे.

  • राजस्थान : बीजेपी के वरिष्ठ नेता कटारिया विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, राजेन्द्र राठौड़ उपनेता होंगे

    राजस्थान : बीजेपी के वरिष्ठ नेता कटारिया विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, राजेन्द्र राठौड़ उपनेता होंगे

    भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अरूण सिंह ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि भाजपा मुख्यालय में आयोजित विधायक दल की बैठक में गुलाबचंद कटारिया ने राजेन्द्र राठौड़ को दल का उपनेता चुना. उल्लेखनीय है कि मंगलवार से शुरू होने वाले, नवगठित 15वीं विधानसभा के सत्र के लिये, आठ बार विधायक रहे और पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार में गृहमंत्री रहे गुलाब चंद कटारिया को प्रोटेम स्पीकर भी बनाया गया है.

  • लोकसभा चुनाव से पहले BJP ने कसी कमर, शिवराज चौहान, वसुंधरा राजे और रमन सिंह को सौंपी यह जिम्मेदारी

    लोकसभा चुनाव से पहले BJP ने कसी कमर, शिवराज चौहान, वसुंधरा राजे और रमन सिंह को सौंपी यह जिम्मेदारी

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कमर कस ली है. भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan), रमन सिंह (Raman singh) और वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया. इसके साथ ही भाजपा राज्यों के अपने तीन प्रभावशाली नेताओं को राष्ट्रीय राजनीति में ले आई. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक की पूर्व संध्या पर ये नियुक्तियां की. राष्ट्रीय परिषद की बैठक में लोकसभा चुनाव प्रचार का एजेंडा रहने की संभावना है.

  • राजस्थान: सरकारी दस्तावेजों से हटाई जाएगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर, 2017 में लगाने का दिया गया था आदेश

    राजस्थान: सरकारी दस्तावेजों से हटाई जाएगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर, 2017 में लगाने का दिया गया था आदेश

    राज्य के मुद्रण एवं लेखन सामग्री विभाग की ओर से दीनदयाल की तस्वीर हटाने का आदेश जारी किया गया. अतिरिक्त मुख्य सचिव रवि शंकर श्रीवास्तव की ओर से जारी इस आदेश के अनुसार राज्य मंत्रिमंडल की 29 दिसम्बर को हुई बैठक में किए गए फैसले के अनुसार यह कदम उठाया गया है. इसके तहत राज्य के समस्त राजकीय विभागों, निगमों,बोर्ड एवं स्वायत्तशासी संस्थाओं के लेटर पैड पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर का लोगो के रूप में प्रयोग/मुद्रण करने के संबंध में 11 दिसंबर, 2017 को जारी परिपत्र को वापस लिया जाता है.

  • राजस्थान में अशोक गहलोत ने वसुंधरा सरकार के कई फैसले पलटे, पंचायत चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता भी खत्म

    राजस्थान में अशोक गहलोत ने वसुंधरा सरकार के कई फैसले पलटे, पंचायत चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता भी खत्म

    राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने वसुंधरा सरकार (Vasundhara Raje) के कई फैसलों को पलट दिया. नई सरकार ने पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार के पार्षदी और सरपंची चुनाव में शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता के फैसले को खत्म कर दिया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार को हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की पहली बैठक में किसानों का कर्ज माफ करने की पात्रता व मापदंड तय करने के लिए अंतर्विभागीय समिति गठित करने, वृद्धावस्था पेंशन बढ़ाने जैसे कई अहम फैसले भी लिए गए.

  • विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस सरकार (Rajasthan Cabinet) में विभागों के बंटवारे से जुड़ी खींचतान की खबरें थीं, मगर अब उस पर सहमति बनती दिख रही है. राजस्थान सरकार के विभागों का बंटवारा हो गया है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 9 विभाग अपने पास रखे हैं, वहीं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) को पांच विभाग मिले हैं. बता दें कि राजस्थान में  कांग्रेस ने बीजेपी को हराकर सत्ता हासिल की है. इससे पहले वसुंधरा राजे के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार थी.

  • CM गहलोत के शपथ ग्रहण में जब सारे मतभेद भूल वसुंधरा ने भतीजे ज्योतिरादित्य को लगाया गले

    CM गहलोत के शपथ ग्रहण में जब सारे मतभेद भूल वसुंधरा ने भतीजे ज्योतिरादित्य को लगाया गले

    वसुंधरा राजे ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया की बहन हैं. माधवराव सिंधिया की साल 2001 में प्लेन हादसे में मौत हो गई थी. ज्योतिरादित्य सिंधिया को गले लगाए वसुंधरा राजे की तस्वीर काफी वायरल हो रही है. तस्वीर में देखा जा सकता है कि वसुंधरा ने ज्योतिरादित्य को गले लगा रखा है और स्नेह से उनकी आंखें बंद हैं.

  • वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    इसके पीछे हो सकता है कि भाजपा की चाल हो. हो सकता है भाजपा मध्य प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश करे. ऐसी संभावना इसलिए जताई जा रही है क्योंकि मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने मंगलवार रात तो ट्वीट करके कहा था, 'कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. निर्दलीय और कई अन्य उम्मीदवार भाजपा के संपर्क में हैं. हम कल राज्यपाल से मुलाकात करेंग.' हालांकि, कांग्रेस ने मंगलवार रात ही राज्यपाल को खत लिखकर मिलने का समय मांगा था और सरकार बनाने का दावा पेश किया था. लेकिन सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल ने कांग्रेस को कहा था कि अभी मतगणना को पूरी होने दीजिए.

  • राजस्थान विधानसभा चुनाव : वसुंधरा राजे ने कांग्रेस को बधाई दी, कहा- जनादेश सर आंखों पर

    राजस्थान विधानसभा चुनाव : वसुंधरा राजे ने कांग्रेस को बधाई दी, कहा- जनादेश सर आंखों पर

    राजस्थान की निवर्तमान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने विधानसभा चुनावों में जीत के लिए कांग्रेस को बधाई देते हुए उम्मीद जताई है कि नई सरकार उनके कार्यो व योजनाओं को जारी रखेगी.

  • राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम : वसुंधरा राजे सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों को मिली पराजय

    राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम : वसुंधरा राजे सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों को मिली पराजय

    वसुंधरा राजे सरकार में कद्दावर रहे कई मंत्री विधानसभा चुनाव हार गए हैं. इनमें परिवहन मंत्री युनुस खान, खान मंत्री सुरेंद्र पाल सिंह टीटी, यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी शामिल हैं. जीतने वाले मंत्रियों में गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया व शिक्षा मंत्री किरण महेश्वरी का नाम प्रमुख है.

  • विधानसभा चुनावों में हार के बाद राज्यों में साइडलाइन हो सकते हैं शिवराज, वसुंधरा राजे और रमन सिंह, दिख सकते हैं नई भूमिका में !

    विधानसभा चुनावों में हार के बाद राज्यों में साइडलाइन हो सकते हैं शिवराज, वसुंधरा राजे और रमन सिंह, दिख सकते हैं नई भूमिका में !

    राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के हाथों हार पर वसुंधरा राजे, रमन सिंह और शिवराज सिंह चौहान को राज्यों से हटाया जा सकता है.

  • NDTV के कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता ने ऐसा क्या कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू शो छोड़कर ही चले गए

    NDTV के कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता ने ऐसा क्या कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू शो छोड़कर ही चले गए

    विधानसभा चुनाव के नतीजों की तस्वीरें अब स्पष्ट होने लगी हैं. अगर अब तक आए रुझानों को देखें तो राजस्थान में कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है और वसुंधरा राजे की सरकार को उखाड़ फेंका है. मगर सुबह में जब कांग्रेस और बीजेपी में राजस्थान में जबरदस्त टक्कर हो रही थी और ऐसा लग रहा था कि कांग्रेस सौ का आंकड़ा भी नहीं पार कर सकती है तो उस वक्त कांग्रेस के नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एनडीटीवी के कार्यक्रम से सवाल का जवाब दिए बिना ही उठकर चल दिए. दरअसल, एनडीटीवी के चुनावी विश्लेषण कार्यक्रम में नवजोत सिंह सिद्धू अभिज्ञान प्रकाश के साथ लाइव थे. नवजोत सिंह सिद्धू उस वक्त एनडीटीवी से बातचीत कर रहे थे, जब रुझानों में कांग्रेस राजस्थान में सौ के आंकड़े से काफी दूर थी. इसी पर एक सवाल से नवजोत सिंह सिद्धू इस तरह खफा हुए कि वह लाइव से उठकर चल दिए. 

  • राजस्थान में कांग्रेस का 'राजतिलक', मगर अब पार्टी के सामने है यह 'बड़ा सिरदर्द'

    राजस्थान में कांग्रेस का 'राजतिलक', मगर अब पार्टी के सामने है यह 'बड़ा सिरदर्द'

    राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत हुई है. कांग्रेस राजस्थान में बहुमत के आंकड़े से भले एक सीट दूर रह गई, मगर अपने सहयोगियों के समर्पाथन से सरकार बनाने के आंकड़े को पार कर चुकी है. बीजेपी के पास मौका था राजस्थान के सियासी इतिहास को बदलने का, मगर सचिन पायलट और अशोक गहलोत की जोड़ी ने वसुंधरा राजे की सरकार को पटखनी दे दी और राजस्थान में कांग्रेस का राजतिलक करवा दिया. चुनावी नतीजों में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार तो अब बनती दिख रही है, मगर कांग्रेस के भीतर असल माथा-पच्ची अब शुरू होने वाली है. आज के परिणाम के नतीजों से यह स्पष्ट हो चुका है कि राजस्थान में कांग्रेस का राजतिलक तो होगा, मगर मुख्यमंत्री का ताज किसके सिर पर होगा, यह अभी भी बड़ा सवाल है और इस सवाल पर अब तक कोई खुलकर बोलने के लिए तैयार नहीं है. हालांकि, यह बात तय है कि अशोक गहलोत या फिर सचिन पायलट में से ही कोई एक राजस्थान में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार होगा. लेकिन सचिन पायलट और अशोक गहलोत दोनों में से किसी एक को सीएम के रूप में चुनना इतना आसान भी नही हैं. 

  • राजस्थान में बहुमत के करीब कांग्रेस, सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट ने चला यह दांव

    राजस्थान में बहुमत के करीब कांग्रेस, सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट ने चला यह दांव

    राजस्थान विधानसभा चुनावों के रुझानों में कांग्रेस बहुमत के करीब जाती दिख रही है. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि वसुंधरा राजे की सरकार इस बार इतिहास नहीं बना पाएगी और कांग्रेस सत्ता में आ जाएगी. राजस्थान में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस ने अब अपनी तैयारियां शुरू कर दी है.  सूत्रों की मानें तो बहुमत का आंकड़ा छूने के लिए कांग्रेस के सचिन पायलट 8 निर्दलीयों के संपर्क में हैं.

  • राजस्थान में नतीजों से पहले अशोक गहलोत का हमला- कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले खुद मुक्त हो जाएंगे

    राजस्थान में नतीजों से पहले अशोक गहलोत का हमला- कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले खुद मुक्त हो जाएंगे

    राजस्थान विधानसभा चुनावों के रुझानों में कांग्रेस बहुमत के करीब जाती दिख रही है. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि वसुंधरा राजे की सरकार इस बार इतिहास नहीं बना पाएगी और कांग्रेस सत्ता में आ जाएगी. हालांकि, अभी तक नतीजों की तस्वीर पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाई है. हालांकि, नतीजों से पहले कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी और इसके लिए उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशियों को भी साथ आने का न्योता दिया है. 

Advertisement