Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

वसुंधरा राजे सरकार


'वसुंधरा राजे सरकार' - 104 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • संकट में कमलनाथ सरकार: दादी व‍िजयाराजे से ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य तक, द‍िलचस्‍प रहा है स‍िंध‍िया पर‍िवार का स‍ियासी सफर..

    संकट में कमलनाथ सरकार:  दादी व‍िजयाराजे से ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य तक, द‍िलचस्‍प रहा है स‍िंध‍िया पर‍िवार का स‍ियासी सफर..

    Jyotiraditya scindia: व‍िमान हादसे में माधवराव स‍िंध‍िया (Madhavrao Scindia) के आकस्‍म‍िक न‍िधन के बाद ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य का राजनीत‍ि में आगमन हुआ. बीजेपी ने इस बात की पूरी कोश‍िश की क‍ि ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य भगवा पार्टी से जुड़कर ही अपनी स‍ियासत शुरू करें लेक‍िन ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य ने कांग्रेस का ही दामन था. कांग्रेस के ट‍िकट पर वे न केवल गुना से सांसद चुने गए बल्‍क‍ि मनमोहन स‍िंह की सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रहे. बहरहाल वर्ष 2019 से ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य के समीकरण कांग्रेस पार्टी के साथ ब‍िगड़ते चले गए.

  • ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर प्रशांत किशोर ने कसा तंज, ट्वीट कर कही यह बात...

    ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर प्रशांत किशोर ने कसा तंज, ट्वीट कर कही यह बात...

    सिंधिया ग्वालियर राजघराने से आते हैं. उनके परिवार के कई सदस्य राजनीति में रहे हैं. ज्योतिरादित्य पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता माधवराव सिंधिया के बेटे हैं, जिनकी 2001 में एक विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी. वहीं  ज्योतिरादित्य की दिवंगत दादी विजय राजे सिंधिया भारतीय जनसंघ की नेता और सांसद थीं. उनकी बुआ वसुंधरा राजे सिंधिया राजस्थान में भाजपा की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं.

  • राजस्थान में अगले साल एक अप्रैल से लागू होगा ‘जन आधार कार्ड’

    राजस्थान में अगले साल एक अप्रैल से लागू होगा ‘जन आधार कार्ड’

    राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने इसी सप्ताह कैबिनेट की बैठक के बाद कहा था, ‘पूरे राजस्थान में भामाशाह कार्ड 31 मार्च 2020 तक रिप्लेस हो जाएगा. उसके बाद जन आधार कार्ड ही काम में आएगा. जन आधार कार्ड का नंबर अलग से बनेगा. भामाशाह कार्ड का नंबर 31 मार्च 2020 के बाद काम में नहीं आएगा.’ 

  • राजस्थान : बीजेपी के वरिष्ठ नेता कटारिया विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, राजेन्द्र राठौड़ उपनेता होंगे

    राजस्थान : बीजेपी के वरिष्ठ नेता कटारिया विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, राजेन्द्र राठौड़ उपनेता होंगे

    भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अरूण सिंह ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि भाजपा मुख्यालय में आयोजित विधायक दल की बैठक में गुलाबचंद कटारिया ने राजेन्द्र राठौड़ को दल का उपनेता चुना. उल्लेखनीय है कि मंगलवार से शुरू होने वाले, नवगठित 15वीं विधानसभा के सत्र के लिये, आठ बार विधायक रहे और पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार में गृहमंत्री रहे गुलाब चंद कटारिया को प्रोटेम स्पीकर भी बनाया गया है.

  • राजस्थान: सरकारी दस्तावेजों से हटाई जाएगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर, 2017 में लगाने का दिया गया था आदेश

    राजस्थान: सरकारी दस्तावेजों से हटाई जाएगी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर, 2017 में लगाने का दिया गया था आदेश

    राज्य के मुद्रण एवं लेखन सामग्री विभाग की ओर से दीनदयाल की तस्वीर हटाने का आदेश जारी किया गया. अतिरिक्त मुख्य सचिव रवि शंकर श्रीवास्तव की ओर से जारी इस आदेश के अनुसार राज्य मंत्रिमंडल की 29 दिसम्बर को हुई बैठक में किए गए फैसले के अनुसार यह कदम उठाया गया है. इसके तहत राज्य के समस्त राजकीय विभागों, निगमों,बोर्ड एवं स्वायत्तशासी संस्थाओं के लेटर पैड पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर का लोगो के रूप में प्रयोग/मुद्रण करने के संबंध में 11 दिसंबर, 2017 को जारी परिपत्र को वापस लिया जाता है.

  • राजस्थान में अशोक गहलोत ने वसुंधरा सरकार के कई फैसले पलटे, पंचायत चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता भी खत्म

    राजस्थान में अशोक गहलोत ने वसुंधरा सरकार के कई फैसले पलटे, पंचायत चुनाव के लिए शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता भी खत्म

    राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने वसुंधरा सरकार (Vasundhara Raje) के कई फैसलों को पलट दिया. नई सरकार ने पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार के पार्षदी और सरपंची चुनाव में शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता के फैसले को खत्म कर दिया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार को हुई प्रदेश मंत्रिमंडल की पहली बैठक में किसानों का कर्ज माफ करने की पात्रता व मापदंड तय करने के लिए अंतर्विभागीय समिति गठित करने, वृद्धावस्था पेंशन बढ़ाने जैसे कई अहम फैसले भी लिए गए.

  • विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस सरकार (Rajasthan Cabinet) में विभागों के बंटवारे से जुड़ी खींचतान की खबरें थीं, मगर अब उस पर सहमति बनती दिख रही है. राजस्थान सरकार के विभागों का बंटवारा हो गया है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 9 विभाग अपने पास रखे हैं, वहीं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) को पांच विभाग मिले हैं. बता दें कि राजस्थान में  कांग्रेस ने बीजेपी को हराकर सत्ता हासिल की है. इससे पहले वसुंधरा राजे के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार थी.

  • वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    इसके पीछे हो सकता है कि भाजपा की चाल हो. हो सकता है भाजपा मध्य प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश करे. ऐसी संभावना इसलिए जताई जा रही है क्योंकि मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने मंगलवार रात तो ट्वीट करके कहा था, 'कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. निर्दलीय और कई अन्य उम्मीदवार भाजपा के संपर्क में हैं. हम कल राज्यपाल से मुलाकात करेंग.' हालांकि, कांग्रेस ने मंगलवार रात ही राज्यपाल को खत लिखकर मिलने का समय मांगा था और सरकार बनाने का दावा पेश किया था. लेकिन सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल ने कांग्रेस को कहा था कि अभी मतगणना को पूरी होने दीजिए.

  • राजस्थान विधानसभा चुनाव : वसुंधरा राजे ने कांग्रेस को बधाई दी, कहा- जनादेश सर आंखों पर

    राजस्थान विधानसभा चुनाव : वसुंधरा राजे ने कांग्रेस को बधाई दी, कहा- जनादेश सर आंखों पर

    राजस्थान की निवर्तमान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने विधानसभा चुनावों में जीत के लिए कांग्रेस को बधाई देते हुए उम्मीद जताई है कि नई सरकार उनके कार्यो व योजनाओं को जारी रखेगी.

  • राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम : वसुंधरा राजे सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों को मिली पराजय

    राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम : वसुंधरा राजे सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों को मिली पराजय

    वसुंधरा राजे सरकार में कद्दावर रहे कई मंत्री विधानसभा चुनाव हार गए हैं. इनमें परिवहन मंत्री युनुस खान, खान मंत्री सुरेंद्र पाल सिंह टीटी, यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी शामिल हैं. जीतने वाले मंत्रियों में गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया व शिक्षा मंत्री किरण महेश्वरी का नाम प्रमुख है.

  • NDTV के कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता ने ऐसा क्या कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू शो छोड़कर ही चले गए

    NDTV के कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता ने ऐसा क्या कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू शो छोड़कर ही चले गए

    विधानसभा चुनाव के नतीजों की तस्वीरें अब स्पष्ट होने लगी हैं. अगर अब तक आए रुझानों को देखें तो राजस्थान में कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है और वसुंधरा राजे की सरकार को उखाड़ फेंका है. मगर सुबह में जब कांग्रेस और बीजेपी में राजस्थान में जबरदस्त टक्कर हो रही थी और ऐसा लग रहा था कि कांग्रेस सौ का आंकड़ा भी नहीं पार कर सकती है तो उस वक्त कांग्रेस के नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एनडीटीवी के कार्यक्रम से सवाल का जवाब दिए बिना ही उठकर चल दिए. दरअसल, एनडीटीवी के चुनावी विश्लेषण कार्यक्रम में नवजोत सिंह सिद्धू अभिज्ञान प्रकाश के साथ लाइव थे. नवजोत सिंह सिद्धू उस वक्त एनडीटीवी से बातचीत कर रहे थे, जब रुझानों में कांग्रेस राजस्थान में सौ के आंकड़े से काफी दूर थी. इसी पर एक सवाल से नवजोत सिंह सिद्धू इस तरह खफा हुए कि वह लाइव से उठकर चल दिए. 

  • राजस्थान में कांग्रेस का 'राजतिलक', मगर अब पार्टी के सामने है यह 'बड़ा सिरदर्द'

    राजस्थान में कांग्रेस का 'राजतिलक', मगर अब पार्टी के सामने है यह 'बड़ा सिरदर्द'

    राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत हुई है. कांग्रेस राजस्थान में बहुमत के आंकड़े से भले एक सीट दूर रह गई, मगर अपने सहयोगियों के समर्पाथन से सरकार बनाने के आंकड़े को पार कर चुकी है. बीजेपी के पास मौका था राजस्थान के सियासी इतिहास को बदलने का, मगर सचिन पायलट और अशोक गहलोत की जोड़ी ने वसुंधरा राजे की सरकार को पटखनी दे दी और राजस्थान में कांग्रेस का राजतिलक करवा दिया. चुनावी नतीजों में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार तो अब बनती दिख रही है, मगर कांग्रेस के भीतर असल माथा-पच्ची अब शुरू होने वाली है. आज के परिणाम के नतीजों से यह स्पष्ट हो चुका है कि राजस्थान में कांग्रेस का राजतिलक तो होगा, मगर मुख्यमंत्री का ताज किसके सिर पर होगा, यह अभी भी बड़ा सवाल है और इस सवाल पर अब तक कोई खुलकर बोलने के लिए तैयार नहीं है. हालांकि, यह बात तय है कि अशोक गहलोत या फिर सचिन पायलट में से ही कोई एक राजस्थान में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार होगा. लेकिन सचिन पायलट और अशोक गहलोत दोनों में से किसी एक को सीएम के रूप में चुनना इतना आसान भी नही हैं. 

  • राजस्थान में बहुमत के करीब कांग्रेस, सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट ने चला यह दांव

    राजस्थान में बहुमत के करीब कांग्रेस, सरकार बनाने के लिए सचिन पायलट ने चला यह दांव

    राजस्थान विधानसभा चुनावों के रुझानों में कांग्रेस बहुमत के करीब जाती दिख रही है. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि वसुंधरा राजे की सरकार इस बार इतिहास नहीं बना पाएगी और कांग्रेस सत्ता में आ जाएगी. राजस्थान में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस ने अब अपनी तैयारियां शुरू कर दी है.  सूत्रों की मानें तो बहुमत का आंकड़ा छूने के लिए कांग्रेस के सचिन पायलट 8 निर्दलीयों के संपर्क में हैं.

  • राजस्थान में नतीजों से पहले अशोक गहलोत का हमला- कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले खुद मुक्त हो जाएंगे

    राजस्थान में नतीजों से पहले अशोक गहलोत का हमला- कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले खुद मुक्त हो जाएंगे

    राजस्थान विधानसभा चुनावों के रुझानों में कांग्रेस बहुमत के करीब जाती दिख रही है. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि वसुंधरा राजे की सरकार इस बार इतिहास नहीं बना पाएगी और कांग्रेस सत्ता में आ जाएगी. हालांकि, अभी तक नतीजों की तस्वीर पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाई है. हालांकि, नतीजों से पहले कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी और इसके लिए उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशियों को भी साथ आने का न्योता दिया है. 

  • राजस्थान विधान सभा चुनाव परिणाम 2018 Updates: कांग्रेस व सहयोगी दलों को मिला बहुमत, सरकार बनाने की तैयारी शुरू

    राजस्थान विधान सभा चुनाव परिणाम 2018 Updates: कांग्रेस व सहयोगी दलों को मिला बहुमत, सरकार बनाने की तैयारी शुरू

    राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम (Rajasthan Election Results): राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और कांग्रेस नेता सचिन पायलट अपनी विधानसभा सीटों से चुनाव जीत गए हैं.

  • NDTV Exclusive : वसुंधरा राजे ने कहा- धर्म या नफरत नहीं, आम अपराध ही है लिंचिंग

    NDTV Exclusive : वसुंधरा राजे ने कहा- धर्म या नफरत नहीं, आम अपराध ही है लिंचिंग

    राजस्थान में सात दिसंबर को वोट डाले जाने हैं जिससे ये फैसला होगा कि वसुंधरा राजे अपनी सरकार बचा पाएंगी या नहीं? राजस्थान में पिछले दिनों गोकशी के नाम पर लिंचिंग की कुछ वारदातें हुईं लेकिन वसुंधरा राजे का कहना है कि ऐसे मामलों को धर्म या नफ़रत की बजाय एक आम अपराध की तरह देखना चाहिए, अपराधियों को सज़ा मिलनी चाहिए.

  • क्या बदल सकती है राजस्थान की हवा?

    क्या बदल सकती है राजस्थान की हवा?

    अब तक हर ओपीनियन पोल, हर राजनीतिक विश्लेषक यही कह रहा है कि राजस्थान हर पांच साल में सरकार बदलने की परंपरा को कायम रखते हुए कांग्रेस को सत्ता सौंपने जा रहा है. लेकिन क्या राजस्थान में हवा का रुख बदल सकता है? यह सवाल इसलिए क्योंकि कांग्रेस के भीतर टिकटों के गलत बंटवारे और प्रदेश नेतृत्व में तीखे मतभेदों को देखते हुए बीजेपी ने अब पूरी ताकत झोंकने का फैसला किया है. बीजेपी को अब अपनी संभावनाएं नजर आने लगी हैं. अब तक प्रधानमंत्री मोदी छह सभाएं कर चुके हैं. वे नागौर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, कोटा और अलवर जा चुके हैं. उनकी सभाओं में आई भीड़ और लोगों के उत्साह को देखते हुए बीजेपी ने अब उनकी और ज्यादा सभाएं कराने का फैसला किया है. वे पांच से छह और सभाएं कर सकते हैं. इनमें जोधपुर, हनुमानगढ़ सीकर और जयपुर पहले से ही तय है.

  • राजस्थान में BJP ने जारी किया घोषणा पत्र: 50 लाख नौकरियों का वादा, बेरोजगारों को 5 हजार रुपये का भत्ता

    राजस्थान में BJP ने जारी किया घोषणा पत्र: 50 लाख नौकरियों का वादा, बेरोजगारों को 5 हजार रुपये का भत्ता

    जयपुर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राजस्थान चुनाव के लिए संकल्प पत्र जारी किया. मुख्यमंत्री वसुंधरा ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछले संकल्प पत्र के 665 में से 630 वादों को पूरा किया. उन्होंने कहा कि दोबारा सत्ता मिलने पर उनकी सरकार पानी की कमी को दूर करेगी और सिंचाई के लिए विशेष योजनाएं लाएगी. वसुंधरा ने बेरोज़गारों को 5 हज़ार रुपए भत्ता देने का भी वादा किया.