NDTV Khabar

विचार पेज


'विचार पेज' - 20 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मोदी सरकार पर महबूबा मुफ्ती का निशाना, बोलीं- जम्मू कश्मीर के जज्बाती बंटवारे की कोशिश में केंद्र

    मोदी सरकार पर महबूबा मुफ्ती का निशाना, बोलीं- जम्मू कश्मीर के जज्बाती बंटवारे की कोशिश में केंद्र

    मीडिया में यह खबर आने पर कि केंद्र विधानसभा सीटों का नए सिरे से परिसीमन कराने पर विचार कर रही है, महबूबा ने प्रतिक्रया देते हुए हुए अपने ट्विटर पेज पर कहा, "जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों का नक्शा फिर से खींचने की योजना के बारे में सुनकर परेशान हूं."

  • NEWS FLASH : अल्‍पसंख्‍यकों को छलावे में रखा गया, अच्छा होता कि माइनॉरिटी की शिक्षा, स्वास्थ्य की चिंता की जाती : पीएम मोदी

    NEWS FLASH : अल्‍पसंख्‍यकों को छलावे में रखा गया, अच्छा होता कि माइनॉरिटी की शिक्षा, स्वास्थ्य की चिंता की जाती : पीएम मोदी

    लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद शनिवार की शाम को बीजेपी संसदीय दल की बैठक होगी. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को औपचारिक तौर पर बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना जाएगा. इसके ठीक बाद एनडीए की बैठक होगी. शनिवार शाम 5 बजे सेंट्रल हॉल में एनडीए की बैठक बुलाई गई है. बैठक में उद्धव ठाकरे, रामविलास पासवान समेत एनडीए के सभी नेता और सांसद मौजूद रहेंगे. इस बैठक में नरेंद्र मोदी को एनडीए का भी नेता चुना जाएगा. इसके बाद मंत्रिमंडल के गठन और पोर्टफोलियो को लेकर अमित शाह शनिवार और रविवार को अलग-अलग एनडीए सहयोगियों के साथ विचार विमर्श करेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सरकार के गठन पर चर्चा के लिए सहयोगी दलों को आमंत्रित किया है. देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा, मनुष्य को फिर से चांद पर भेजेगा नासा

    अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा, मनुष्य को फिर से चांद पर भेजेगा नासा

    अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन चांद पर फिर से मनुष्य भेजने के लिए नासा को निर्देश देगा. यह बयान पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के विचार के ठीक उलट है क्योंकि ओबामा ने अंतरिक्ष एजेंसी नासा को मंगल ग्रह पर ध्यान केंद्रित करने को कहा था. वॉल स्ट्रीट जर्नल के संपादकीय पेज पर लिखे गए एक लेख और राष्ट्रीय अंतरिक्ष परिषद के उद्घाटन के मौके पर दिए गए अपने भाषण के दौरान पेंस ने प्रशासन के रुख को साफ कर दिया है. यह अंतरिक्ष परिषद अमेरिका के अंतरिक्ष एजेंडों को तय करेगा.

  • बाणभट्ट के सरकारी मुलाज़िम.....

    बाणभट्ट के सरकारी मुलाज़िम.....

    बाणभट्ट ने अपने दौर के सरकारी मुलाजिमों पर जो कटाक्ष किया है वह भारतीय साहित्य में ही नहीं, किसी भी युग में उस तीखेपन के साथ अन्यत्र भाषाओं में भी नहीं मिलता.

  • फेसबुक की दुनिया में सड़कों पर दोस्त बनाता एक बाइकर

    फेसबुक की दुनिया में सड़कों पर दोस्त बनाता एक बाइकर

    इस फेसबुक की दुनिया में सड़कों पर दोस्त बनाता एक बाइकर. हाल फ़िलहाल में बहुत कम ऐसे लोग मिलते हैं जिन्हें देखते ही पहली नज़र में महसूस होता है कि वो इन्सपिरेशनल हैं, जिनकी कहानी प्रेरणा दे.

  • राहुल गांधी को राजनीति से संन्यास लेने के लिए क्यों नहीं धकेल रहा सोशल मीडिया ?

    राहुल गांधी को राजनीति से संन्यास लेने के लिए क्यों नहीं धकेल रहा सोशल मीडिया ?

    चिंता और आश्चर्य की बात तो है ही. अपना समाज जो प्रदर्शन और मर्यादा के इतने कड़क पैरामीटर पर जीता है, उठता-बैठता-सोता है, वही हमारा प्रबुद्ध वर्ग आख़िर राहुल गांधी से राजनीति क्यों नहीं छुड़वा रहा?

  • सुप्रीम कोर्ट, सरकार और सीबीआई संदेह के घेरे में - पुल के सुसाइड नोट पर हो पब्लिक ट्रायल

    सुप्रीम कोर्ट, सरकार और सीबीआई संदेह के घेरे में - पुल के सुसाइड नोट पर हो पब्लिक ट्रायल

    कलिखो पुल के सुसाइड नोट में बड़े वकील और जजों के नाम पर करोड़ों के लेन-देन की मांग का जिक्र है. सीबीआई के दो पूर्व मुखिया बड़े मामलों को दबाने के मामले में जांच का सामना कर रहे हैं फिर सीबीआई इस सुसाइड नोट की निष्पक्ष जांच कैसे कर पाएगी?

  • एक वेश्‍या का ख़त: समाज मुझे सम्‍मान नहीं देता लेकिन इसे आपको अपने लिए पढ़ना चाहिए...

    एक वेश्‍या का ख़त: समाज मुझे सम्‍मान नहीं देता लेकिन इसे आपको अपने लिए पढ़ना चाहिए...

    मैंने इतने सालों में एक ही बात समझी है कि जो वंचित और उपेक्षित होता है, वही प्रताड़ित और शोषित होता है. क्या हम इसे खत्‍म नहीं कर सकते? यदि वंचित होना खत्म होगा, तो प्रताड़ना और शोषण अपने आप खत्‍म होगा. मैं चाहती हूं कि हमारी बस्ती में लड़कियों को सम्मानजनक रोज़गार मिलना चाहिए ताकि उन्हें वेश्यावृत्ति न करना पड़े.

  • जाट..भारत की राजनीति की बेचैन आत्मा!

    जाट..भारत की राजनीति की बेचैन आत्मा!

    सांप्रदायिक जूनून समुदायों को बदल देता है. हठी बना देता है. कोई भी पक्ष आसानी से अपनी बात से पीछे नहीं हटता है. पश्चिम उत्तर प्रदेश के जाटों का यह भोलापन मुझे बहुत पसंद आया कि वे अपने ग़ुस्से की बात को कबूल कर रहे हैं.

  • चुनावी फंडिंग की सफाई या आंखों का धोखा..

    चुनावी फंडिंग की सफाई या आंखों का धोखा..

    राजनीतिक पार्टियों को दिए जाने वाले नकद चंदे को लेकर बजट में लाए गए नए नियम से क्रांति आए न आए, लेकिन ये आंखों का धोखा ज़रूर है.

  • मध्य प्रदेश का दशरथ मांझी ‘सुखदेव’, पत्थरों में निकाला पानी

    मध्य प्रदेश का दशरथ मांझी ‘सुखदेव’, पत्थरों में निकाला पानी

    वो न ‘शानदार’ बोलता है, न ‘जबर्दस्त’ न ‘जिंदाबाद’. सुखदेव किसी के गम मे बावरे भी न हैं. उनका मानसिक संतुलन बिलकुल ठीक है. लेकिन उनका हौसला बीवी की जुदाई में गमगीन दशरथ मांझी से बिलकुल भी कम नहीं है. वही दशरथ मांझी जिसकी कहानी आप रुपहले परदे पर देख चुके हैं. दशरथ ने पहाड़ तोड़ सड़क निकाल दी, सुखदेव ने बंजर पथरीली जमीन खोद पाताल से पानी निकाल दिया.

  • जयललिता ने मुझे जो जवाब दिया, वह उनका किसी भी पत्रकार को दिया गया आखिरी जवाब था

    जयललिता ने मुझे जो जवाब दिया, वह उनका किसी भी पत्रकार को दिया गया आखिरी जवाब था

    जब दो साल पहले मैंने तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता से सवाल किया था, तब किसे पता था कि किसी पत्रकार को दी गई यह उनकी आखिरी प्रतिक्रिया होने वाली है.

  • विपक्ष को पहले अपना विपक्ष बनना चाहिए, फिर सत्ता का...

    विपक्ष को पहले अपना विपक्ष बनना चाहिए, फिर सत्ता का...

    विपक्ष का मतलब होता है विकल्प. विपक्ष की परिभाषा विकल्प से शुरू होती है. हर कोई पूछता है कि आप ही बताइये, विकल्प क्या है. इस एक सवाल से लैस आसान सी गेंद भी मिडिल स्टंप उड़ा देती है.

  • हिपोक्रेसी है इस डेमोक्रेसी का हिप्पोपोटोमस- प्रदर्शनीय और दर्शनीय

    हिपोक्रेसी है इस डेमोक्रेसी का हिप्पोपोटोमस- प्रदर्शनीय और दर्शनीय

    इस समाज का आचार-सदाचार ही पचरंगा अचार है, स्वाद बदलने के लिए इस्तेमाल होता है. मेन कोर्स मेन्यू तो भ्रष्टाचार ही है. स्वीकार्य है, स्वादिष्ट है और सामिष-निरामिषों में समान रूप से मान्य है.

  • 'सर्जिकल स्‍ट्राइक' और सरकार के साथ लेकिन उन्‍माद और युद्ध के विरुद्ध ….

    'सर्जिकल स्‍ट्राइक' और सरकार के साथ लेकिन उन्‍माद और युद्ध के विरुद्ध ….

    अखबार और मीडिया की गुरुवार और शु‍क्रवार की हेडलांइस से समाज के हितों का कोई लेना-देना नहीं है. यह बस एकाकी राग है, मूल विषयों से ध्‍यान भटकाने और उस जंग के उस बेसुरे राग छेड़ने का जिसका कोई लक्ष्‍य मनुष्‍य से जुड़ाव नहीं रखता. मनुष्‍यता और जंग परस्‍पर विरोधी स्‍वर हैं.

  • #मैंऔरमेरीहिन्दी : हिन्दी पर बात करने का यह एक दिन

    #मैंऔरमेरीहिन्दी : हिन्दी पर बात करने का यह एक दिन

    अपने-पराए का चक्कर चलाने वाले लोग भाषा को भी नहीं छोड़ते. हिन्दी को सचमुच में राजभाषा बनाने की कवायद दसियों साल से चल रही है, लेकिन सितंबर के महीने में हिन्दी पखवाड़े की रस्म निभाने के अलावा कुछ नहीं हो पा रहा है.

  • जब तक नई उम्मीद नहीं जगती, ऐसे जश्न ही अच्छा विकल्प...

    जब तक नई उम्मीद नहीं जगती, ऐसे जश्न ही अच्छा विकल्प...

    अपने दो साल की उपलब्धियों का प्रचार करने में सरकार ने पूरी ज़ान लगा दी। कई क्षेत्रों के कलाकारों के जरिए इसे देशव्यापी बनाने की कोशिश हुई। जब तक कोई नई उम्मीद नहीं जगती, ऐसे आयोजन सबसे अच्छा विकल्प हैं।

  • सीरियाई संकट...एक सभ्यता का विनाश

    सीरियाई संकट...एक सभ्यता का विनाश

    सीरिया से मिलने वाली ख़बरें दिल दहला देने वाली हैं। हमारी आँखों के सामने एक सभ्यता का विनाश जारी है। सीरिया कोई सामान्य देश नहीं, विश्व सभ्यता के इतिहास की एक धरोहर है जिसकी परम्परा हमें यहूदियत, ईसाइयत और इस्लाम के पहले ले जाती है।

Advertisement