NDTV Khabar

विजय विशिष्ठ


'विजय विशिष्ठ' - 14 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बहुत ऊबाऊ है 'राउडी राठौर'

    बहुत ऊबाऊ है 'राउडी राठौर'

    'वॉन्टेड' के डायरेक्टर प्रभुदेवा की यह एक और एक्शन फिल्म है, लेकिन जहां 'वॉन्टेड' तेज गति से भागती, कसी हुई फिल्म थी, वहीं 'राउडी राठौर' ऊबाऊ है...

  • रिव्यू : 'आई एम सिंह' को 1.5 स्टार

    'आई एम सिंह' कहानी अमेरिका के 9/11 हमले के बाद भड़की नफरत की हिंसा पर है। जब अमेरिकी सिखों को हिंसा का शिकार बनाया जाता है।

  • ये 'बॉडीगार्ड' तो पूरी आर्मी के बराबर

    'बॉडीगार्ड' लवली सिंह को उसका मालिक अपनी बेटी दिव्या यानी करीना कपूर की हिफाज़त का जिम्मा सौंपता है जिस पर जान का खतरा है।

  • रिव्यू : बेहतरीन फिल्म है 'बोल'

    पाकिस्तानी फिल्म 'बोल' एक हकीम के परिवार पर है जहां लड़के की चाहत में हकीम ढेरों लड़कियां पैदा करता है।

  • रिव्यू : एवरेज फिल्म है 'शबरी'

    ये कहानी है मुंबई की झोपड़पट्टी में आटा चक्की चलाने वाली मेहनती लड़की 'शबरी' की पुलिस जिसके निर्दोष भाई की जान ले लेती है।

  • रिव्यू : स्टैंडबाय को 2 स्टार

    'स्टैंडबाय' एक स्पोर्टस फिल्म है। कहानी फुटबॉल खिलाड़ी राहुल की है जिसे उसका पिता इंटरनेशनल फुटबॉल प्लेयर बनाना चाहता है।

  • 'ये दूरियां' में नहीं है नयापन

    टेलीविजन एक्ट्रेस दीपशिखा नागपाल लेकर आई हैं फिल्म ये दूरियां। कहानी सिम्मी की है जो तलाक के बाद अपने दो बच्चों के साथ कामयाब कोरियोग्राफर की जिंदगी जी रही हैं।

  • रिव्यू : अच्छी फिल्म है 'बबल गम'

    फिल्म में अपाहिज भाई का रोल कर रहे सोहैल लखानी सचमुच बोल और सुन नहीं सकते लेकिन उन्होंने कमाल की एक्टिंग की।

  • रिव्यू : 'खाप' की स्क्रिप्ट है कमजोर

    फिल्म 'खाप' हरियाणा की खाप पंचायत पर है जो ये मानती है एक ही गोत्र या खाप के लड़के-लड़कियां भाई-बहन के समान होते हैं।

  • रिव्यू : एवरेज फिल्म है 'सिंघम'

    इंटरवेल तक 'सिंघम' बहुत ही ठंडी है। स्टोरी घिसी पिटी है ट्रीटमेंट 80 और 90 के दौर की गांव की फिल्मों जैसा है।

  • रिव्यू : दिल को छू लेगी 'चिल्लर पार्टी'

    डायरेक्टर विकास बहल और नीतेश तिवारी की 'चिल्लर पार्टी' इंटेलिजेंट फिल्म है। ये कहानी में आने वाले मोड़ देखकर ही पता लग जाता है।

  • रिव्यू : एडल्ट और डरावनी है मर्डर-2

    भट्ट कैंप की फिल्म 'मर्डर-2' सिनेमाघरों में पहुंच गई लेकिन इसका हिट फिल्म 'मर्डर' से कोई लेना-देना नहीं ना कहानी से और ना किरदारों से।

  • दमदार है दम मारो दम

    इसमें ग्लैमर भी है, ड्रग्स और करप्शन के खिलाफ जंग भी, जो युवाओं को अपील करेगी... हमारी रेटिंग है तीन स्टार...

  • रिव्यू : मर्दों की बेवफाई पर है 'थैंक्यू'

    फिल्म 'थैंक्यू'तीन बिज़नेस पार्टनर दोस्तों पर है जो शादीशुदा जिंदगी से खुश हैं लेकिन पराई औरतों के साथ ऐश करने से बाज नहीं आते।