NDTV Khabar

विधानसभा


'विधानसभा' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • झारखंड के खूंटी में 10,000 लोगों पर देशद्रोह का केस?

    झारखंड के खूंटी में 10,000 लोगों पर देशद्रोह का केस?

    झारखंड में एक तरफ पहले चरण का चुनाव प्रचार ज़ोर पकड़ रहा है. तो वहीं, राज्य के खूंटी ज़िले में दस हज़ार लोगों के ख़िलाफ़ देशद्रोह के मामले दर्ज करने की खबर है.

  • महाराष्ट्र में जनादेश का अपमान कर छद्म राजनीति खेली जा रही है : BJP

    महाराष्ट्र में जनादेश का अपमान कर छद्म राजनीति खेली जा रही है : BJP

    बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्रबुद्धे ने कहा है कि  महाराष्ट्र में जनादेश का अपमान कर छद्म राजनीति खेली जा रही है. उन्होंने NDTV से बात करते हुए कहा कि जनादेश बीजेपी, शिवसेना को साथ मिलाकर सरकार बनाने का मिला था. जब हमारी सीटें शिवसेना से कम होती थीं तब हम सीएम पोस्ट के लिए सपने नहीं देखते थे.  आपको बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं.

  • भाजपा को मां मानकर झारखंड में 'डबल इंजन' की सरकार बनवाएं : अरुण सिंह

    भाजपा को मां मानकर झारखंड में 'डबल इंजन' की सरकार बनवाएं : अरुण सिंह

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने गुरुवार को विधानसभा चुनाव वाले राज्य झारखंड के डाल्टनगंज में रैली कर पार्टी के पक्ष में माहौल बनाया.

  • बरहेट विधानसभा सीट : हमेशा से JMM का मज़बूत गढ़ रही है संथाल क्षेत्र की यह सीट

    बरहेट विधानसभा सीट : हमेशा से JMM का मज़बूत गढ़ रही है संथाल क्षेत्र की यह सीट

    बरहेट सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Barhait Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड विकास मोर्चा (JVM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस उम्मीदवार चौथे तथा मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) का प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे.

  • Birthday Special: पहलवानी से सियासी अखाड़े तक कैसे पहुंचे मुलायम सिंह यादव?

    Birthday Special: पहलवानी से सियासी अखाड़े तक कैसे पहुंचे मुलायम सिंह यादव?

    मुलायम सिंह यादव पहली बार साल 1967 में अपने गृह जनपद इटावा की जसवंतनगर सीट से चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचे.

  • दुमका विधानसभा सीट : JMM के 'गढ़' को पिछली बार BJP ने कर लिया था फतह

    दुमका विधानसभा सीट : JMM के 'गढ़' को पिछली बार BJP ने कर लिया था फतह

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के हेमंत सोरेन ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), कांग्रेस, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के प्रत्याशी रहे थे.

  • जगन्नाथपुर विधानसभा सीट : मधु कोड़ा के बाद उनकी पत्नी गीता कोड़ा को भी दो बार बनाया है विधायक

    जगन्नाथपुर विधानसभा सीट : मधु कोड़ा के बाद उनकी पत्नी गीता कोड़ा को भी दो बार बनाया है विधायक

    जगन्नाथपुर सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Jaganathpur Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस का उम्मीदवार चौथे तथा निर्दलीय प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे. पिछले चुनाव में इस सीट के मतदाताओं में से 4,919, यानी 4.3 फीसदी ने NOTA, यानी 'इनमें से कोई नहीं' का विकल्प चुना था.

  • महेशपुर विधानसभा सीट : हमेशा नया विधायक भेजती रही है विधानसभा में

    महेशपुर विधानसभा सीट : हमेशा नया विधायक भेजती रही है विधानसभा में

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर झारखंड विकास मोर्चा (JVM) के मिस्त्री सोरेन ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), तृणमूल कांग्रेस (TMC), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) और निर्दलीय प्रत्याशी रहे थे.

  • जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा सीट : सरयू राय की वजह से अहम है मध्य झारखंड की यह सीट

    जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा सीट : सरयू राय की वजह से अहम है मध्य झारखंड की यह सीट

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस के बन्ना गुप्ता ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM), राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और निर्दलीय प्रत्याशी रहे थे.

  • क्या उद्धव ठाकरे बनने जा रहे हैं महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री? अब तक की 8 बड़ी बातें

    क्या उद्धव ठाकरे बनने जा रहे हैं महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री? अब तक की 8 बड़ी बातें

    शिवसेना संजय राउत ने कहा है कि कांग्रेस और एनसीपी के साथ सहमति बन गई है और महाराष्ट्र में अब पूरे पांच साल तक शिवसेना का ही सीएम होगा. उन्होंने साथ में यह भी जोड़ा कि शिवसैनिक चाहते हैं कि उद्धव ठाकरे ही सीएम बनें. उनके इस बयान के बाद कयास लगने शुरू हो गए हैं कि क्या ठाकरे परिवार से इस बार कोई महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कोई बैठेगा. हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि आने वाले 2 दिनों में मुख्यमंत्री पद के लिए नाम तय कर लिया जाएगा. आपको बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर बहुमत का 145 का आंकड़ा पार कर लिया था. लेकिन शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले की मांग रख दी जिसके मुताबिक ढाई-ढाई साल सरकार चलाने का मॉडल था. शिवसेना का कहना है कि बीजेपी के साथ समझौता इसी फॉर्मूले पर हुआ था लेकिन बीजेपी का दावा है कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. इसी लेकर मतभेद इतना बढ़ा कि दोनों पार्टियों की 30 साल पुरानी दोस्ती टूट गई.

  • नीतीश के झारखंड चुनाव में बीजेपी से गठबंधन न करने के सवाल पर सुशील मोदी ने दिया जवाब

    नीतीश के झारखंड चुनाव में बीजेपी से गठबंधन न करने के सवाल पर सुशील मोदी ने दिया जवाब

    सुशील मोदी ने झारखंड में नीतीश कुमार की पार्टी का अलग लड़ने को मतभेद बताने वालों को जवाब दिया है. भाजपा ने साफ़ किया कि बिहार के बाहर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड अलग चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है. झारखंड में भाजपा के वरिष्ठ नेता और अब बागी होकर मुख्यमंत्री रघुबर दास के ख़िलाफ़ चुनाव मैदान में डटे सरयू राय को जनता दल यूनाइटेड के समर्थन के बाद अटकलों पर विराम लगाते हुए सुशील मोदी ने कहा कि बिल्लियों के भाग्य से छींके नहीं टूटते.

  • झारखंड : भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार संघर्ष करने वाले नेता सरयू राय

    झारखंड : भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार संघर्ष करने वाले नेता सरयू राय

    बिहार का पशुपालन घोटाला वह घोटाला है जिसने बिहार की राजनीति को नई दिशा दे दी. यह घोटाला जब हुआ तब बिहार और झारखंड संयुक्त प्रदेश थे. भारतीय राजनीति में सबसे अधिक चर्चित घोटालों में से एक पशुपालन घोटाले को उजागर करने वाले नेता का नाम है सरयू राय. बीजेपी के नेता सरयू राय झारखंड में कैबिनेट मंत्री हैं और इस बार पार्टी से टिकट नहीं दिए जाने पर बगावत कर रहे हैं. वे अपनी परंपरागत सीट जमशेदपुर पश्चिम के अलावा जमशेदपुर पूर्व से भी उम्मीदवार हैं जो कि मुख्यमंत्री रघुबर दास की सीट है.

  • Jharkhand Election: झारखंड में BJP प्रत्याशी के वाहन से 30 लाख रुपये जब्त, आरोप-प्रत्यारोप जारी

    Jharkhand Election: झारखंड में BJP प्रत्याशी के वाहन से 30 लाख रुपये जब्त, आरोप-प्रत्यारोप जारी

    केंद्र और झारखंड में भाजपा की भले सरकार हो लेकिन सच्चाई यही है कि चुनाव आते ही पैसे के खेल में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी पीछे नहीं रहना चाहते.

  • सुदेश महतो को झारखंड आंदोलन ने बना दिया जन-जन का नेता, सामाजिक कार्यकर्ता और खिलाड़ी भी

    सुदेश महतो को झारखंड आंदोलन ने बना दिया जन-जन का नेता, सामाजिक कार्यकर्ता और खिलाड़ी भी

    झारखंड के राजनीतिक दल ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) के प्रमुख सुदेश महतो और उनकी पार्टी राज्य के मौजूदा विधानसभा चुनाव में बगैर बीजेपी के समर्थन के मैदान में उतरी है. इससे पहले सुदेश महतो को पहले निरंतर बीजेपी का समर्थन मिलता रहा और पिछले चुनाव में उन्होंने बीजेपी से गठबंधन किया था.

  • महाराष्ट्र में सत्ता गंवाने वाली बीजेपी को नए समीकरण से अब लग सकता है एक और तगड़ा झटका

    महाराष्ट्र में सत्ता गंवाने वाली बीजेपी को नए समीकरण से अब लग सकता है एक और तगड़ा झटका

    महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद बांटने से इनकार करने पर सबसे बड़ा दल होने के बावजूद विपक्ष में बैठने को मजबूर बीजेपी को विधान परिषद में भी बड़ा झटका लगेगा. विधान परिषद की 26 सीटों पर मौजूदा एमएलसी का कार्यकाल साल 2020 में खत्म हो रहा है. बीजेपी को इन सीटों पर नुकसान हो सकता है. महाराष्ट्र में सत्ता के नए समीकरण से बीजेपी सिर्फ सरकार से ही बाहर नहीं हो रही है उसे विधान परिषद में भी बड़ा झटका लगने वाला है. इसके पीछे कारण यह है कि साल 2020 में रिक्त हो रहीं 26 में से अधिकांश सीटें अब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के हिस्से में जाएंगी.

  • कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    पिछली बार वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट पर JP के एनोस एक्का ने जीत हासिल की थी, जिन्हें 39.6 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे. इस सीट, यानी कोलेबीरा सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Kolebira Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस का उम्मीदवार चौथे तथा ABJP का प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे.

  • ओडिशा में सड़क हादसों में अब तक 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, बीते 4 सालों का आंकड़ा सामने आया

    ओडिशा में सड़क हादसों में अब तक 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, बीते 4 सालों का आंकड़ा सामने आया

    ओडिशा के वाणिज्य एवं परिवहन मंत्री पद्मनाभ बेहरा ने बृहस्पतिवार को राज्य विधानसभा को सूचित किया कि पिछले चार साल में सड़क हादसों में राज्य में 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. बेहरा ने एक सवाल के जवाब में बताया कि 2016 से सितंबर 2019 तक राज्य में 40,852 हादसे हुए. इनमें 18,638 लोगों की मौत हो गई. उन्होंने कहा, ‘‘2016 में सड़क हादसों में 4,463 लोगों की जान गयी जबकि 2017 और 2018 में क्रमश: 4,790 और 5,315 लोगों की मौत हुई. सितंबर 2019 तक सड़क हादसों में 4,115 लोगों की मौत के मामले सामने आए.’’

  • जमशेदपुर पूर्व विधानसभा सीट : हमेशा से रहा है BJP का दबदबा

    जमशेदपुर पूर्व विधानसभा सीट : हमेशा से रहा है BJP का दबदबा

    पिछले विधानसभा चुनाव (Jamshedpur East Assembly Elections) में जमशेदपुर पूर्व सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड विकास मोर्चा (JVM) का प्रत्याशी तीसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का उम्मीदवार चौथे तथा निर्दलीय प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे. पिछले चुनाव में इस सीट के मतदाताओं में से 1,674, यानी 1.0 फीसदी ने NOTA, यानी 'इनमें से कोई नहीं' का विकल्प चुना था.