NDTV Khabar

विधानसभा चुनाव 2014


'विधानसभा चुनाव 2014' - 494 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • छत्रपति शिवाजी के वंशज उदयन राजे भोसले भाजपा में हुए शामिल, अमित शाह ने किया स्वागत

    छत्रपति शिवाजी के वंशज उदयन राजे भोसले भाजपा में हुए शामिल, अमित शाह ने किया स्वागत

    भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र से जो परिणाम आए थे, उससे भी अच्छे परिणाम विधानसभा चुनाव में आएंगे. महाराष्ट्र का खोया हुआ गौरव लौटाने का काम देवेंद्र फडणवीस जी की सरकार ने किया है.

  • महाराष्ट्र में 3 एनसीपी और 1 कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा, बीजेपी में जाने की अटकलें

    महाराष्ट्र में 3 एनसीपी और 1 कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा, बीजेपी में जाने की अटकलें

    महाराष्ट्र में भी कांग्रेस को करारा झटका लगा है कि पार्टी के चार विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है और उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकले हैं.  महाराष्ट्र में भाजपा में शामिल होने की अटकलों के बीच विपक्ष के चार विधायकों ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया है.  कांग्रेस के विधायक कालिदास कोलाम्बकर और राकांपा के विधायक शिवेन्द्र सिंह भोसले, वैभव पिचाड और संदीप नाइक ने अपने इस्तीफे दक्षिण मुंबई में स्थित विधान भवन में स्पीकर हरिभाऊ बागड़े को सौंपे. बागड़े को ये इस्तीफे अलग-अलग सौंपे गए. कोलाम्बकर मुंबई से सात बार विधायक रह चुके हैं. शिवेन्द्र सिंह भोसले ने 2014 में सतारा विधानसभा सीट से चुनाव 47,813 मतों से जीता था. सूत्रों ने बताया कि चारों विधायक बुधवार को भाजपा में शामिल हो सकते हैं. महाराष्ट्र में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. 

  • 'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं', मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं',  मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    लोकसभा चुनाव से पहले जब सपा और बीएसपी के गठबंधन का ऐलान हो रहा था तो उस दिन मायावती और अखिलेश यादव के हावभाव को देखकर ऐसा लग रहा था कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी. अंकगणित भी उनके पक्ष में था और गोरखपुर-फूलपुर-कैराना के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साह चरम पर था. लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों ही नेता जमीनी हकीकत को भांप नहीं पाए और करारी हार का सामना करना पड़ गया. इस हार के साथ ही गठबंधन भी बिखर गया है. सपा को जहां 5 सीटें मिली हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें. एक तरह से देखा जाए तो बीएसपी को ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी को एक भी सीट नहीं मिली थी. दूसरी ओर सारे समीकरणों को ध्वस्त करते हुए बीजेपी 62 सीटें कामयाब हो गई. इस हार के साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर ले लिया और कहा कि सपा अपने कोर वोट यादवों का भी समर्थन नहीं पा सकी और यही वजह है कि उनकी पत्नी चुनाव हार गईं. इतना ही नहीं मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने का ऐलान कर डाला. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव से उनके रिश्ते पर व्यक्तिगत तौर पर अच्छे हैं. वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव अभी तक पूरी तरह से सधे और रक्षात्मक बयान दे रहे हैं. लेकिन रविवार को हुई बीएसपी की एक अहम बैठक में मायावती ने रही-सही कसर भी पूरी कर डाली और उन्होंने अपने बयान से जाहिर कर दिया कि उनकी नजर में अब अखिलेश यादव की कोई अहमियत नहीं है.

  • दिल्ली कांग्रेस में आंतरिक कलह? प्रभारी पर पार्टी नेता ने लगाया बदसलूकी का आरोप, कहा- किसी और को दिया जाए प्रभार

    दिल्ली कांग्रेस में आंतरिक कलह? प्रभारी पर पार्टी नेता ने लगाया बदसलूकी का आरोप, कहा- किसी और को दिया जाए प्रभार

    चाको को नवंबर, 2014 में दिल्ली का प्रभारी बनाया गया था. दिल्ली कांग्रेस के नेता रोहित मनचंदा ने कहा, 'चाको के नेतृत्व में पार्टी सभी चुनाव हारी है. चाहें लोकसभा चुनाव हो, चाहे विधानसभा चुनाव हो या फिर एमसीडी चुनाव. अगर नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी इस्तीफा देने के बारे में सोच सकते हैं तो फिर चाको को इस्तीफा क्यों नहीं देना चाहिए?'

  • जब रवीश कुमार ने अमित शाह का किया था इंटरव्यू, देखें Video

    जब रवीश कुमार ने अमित शाह का किया था इंटरव्यू, देखें Video

    उन्होंने बताया कि 2007 का साल था. मैं नया नया रिपोर्टर था. गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आ रहे थे. मेरी तैनाती अमित शाह के घर पर हुई थी. 2014 के बाद से मेरी अमित शाह से कोई मुलाकात नहीं.

  • पश्चिम बंगाल में BJP की जबरदस्त सफलता से हैरान ममता बनर्जी ने TMC की बैठक बुलाई, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

    पश्चिम बंगाल में BJP की जबरदस्त सफलता से हैरान ममता बनर्जी ने TMC की बैठक बुलाई, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

    पश्चिम बंगाल लोकसभा चुनाव (West Bengal Election Result 2019)  में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का साल 2014 जैसा प्रदर्शन नहीं रहा. तृणमूल कांग्रेस (TMC) को इस बार 42 सीटों में से 22 सीटें ही मिलीं, जबकि साल 2014 में ममता बनर्जी की पार्टी को 34 सीटें मिली थीं.

  • मोदी लहर के बावजूद ओडिशा में बीजेपी को कैसे मात दे दी नवीन पटनायक ने..

    मोदी लहर के बावजूद ओडिशा में बीजेपी को कैसे मात दे दी नवीन पटनायक ने..

    Odisha Assembly Elections 2019 : सन 1997 में नवीन पटनायक (Naveen Patnaik) जब राजनीति में आए थे तब उनके पास कोई अनुभव नहीं था. कई लोगों को लग रहा था कि नवीन राजनीति में सफल नहीं होंगे और पिता की विरासत को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे, लेकिन नवीन पटनायक ने सबको झूठा साबित किया. 2014 में ,पूरी देश में जब मोदी लहर चल रही थी तब नवीन पटनायक अपने राज्य में बीजेपी को रोकने में कामयाब रहे थे. इस बार ओडिशा में हुए विधानसभा और लोकसभा चुनाव में नवीन की बीजू जनता दल ने शानदार जीत हासिल की है.

  • Results 2019: मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को मिला करारी हार, अब खतरे में कांग्रेस की राज्य सरकार

    Results 2019: मध्य प्रदेश में  दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को मिला करारी हार, अब खतरे में कांग्रेस की राज्य सरकार

    विधानसभा चुनावों में जीत के बावजूद, लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्य प्रदेश में बड़ा झटका लगा. लगभग सारे आला नेता चुनाव हार गए. अब बीजेपी कह रही है कि राज्य सरकार का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है. मध्यप्रदेश में गुरुवार को बीजेपी दफ्तर में 2014 की तस्वीरों का रीप्ले दिखा, हर तरफ भगवा लहर.

  • Lok Sabha Election 2019: प्रशांत किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस की धमाकेदार जीत के साथ की शानदार वापसी

    Lok Sabha Election 2019: प्रशांत किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस की धमाकेदार जीत के साथ की शानदार वापसी

    वीरवार को जगमोहन रेड्डी  ने हैदराबाद स्थित अपने निवास पर रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ अपने निवास पर ही लगातार आ रहे परिणामों को देखा. उनकी पार्टी ने राज्य में 25 लोकसभा और 175 में से 150 से भी ज्यादा विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था.

  • West Bengal Loksabha Elections 2019: इन वजहों से पश्चिम बंगाल में दिखी मोदी लहर!

    West Bengal Loksabha Elections 2019: इन वजहों से पश्चिम बंगाल में दिखी मोदी लहर!

    West Bengal Loksabha Elections 2019 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने इन वजहों से तृणमूल कांग्रेस के केंद्र के किले में लगाई सेंध...

  • Election Results 2019: पीएम मोदी ने बीजेपी को दिलाई 2014 से भी बड़ी जीत (बढ़त) - 10 बातें

    Election Results 2019: पीएम मोदी ने बीजेपी को दिलाई 2014 से भी बड़ी जीत (बढ़त) - 10 बातें

    पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में भारतीय जनता पार्टी ने अपने 2014 लोकसभा चुनावों की जीत को और बड़ा कर दिया है. पीएम मोदी वहां भी कामयाब होते दिख रहे हैं जहां दिसंबर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने सरकार बनाई थी. मध्‍यप्रदेश, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत हुई थी और उम्‍मीद की जा रही थी कि इसका असर लोकसभा चुनाव में भी होगा लेकिन ऐसा दिख नहीं दिख रहा है. मध्‍यप्रदेश में बीजेपी को फायदा दिख रहा है जबकि राजस्‍थान में स्‍थ‍िति बरकरार है. छत्‍तीसगढ़ में भी बीजेपी 2014 वाली अपनी स्‍थि‍ति को बरकरार रखने में कामयाब होती दिख रही है. कांग्रेस को पंजाब और तमिलनाडु में फायदा दिख रहा है. तमिलनाडु में डीएमके के साथ होने का कांग्रेस को फायदा मिला.

  • तीन राज्यों की विधानसभा की जीत को नहीं भुना पाई कांग्रेस, जानें- राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ के आंकड़े

    तीन राज्यों की विधानसभा की जीत को नहीं भुना पाई कांग्रेस, जानें- राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ के आंकड़े

    राजस्थान की बात करें तो वहां भी मध्य प्रदेश जैसा ही कांग्रेस का हाल है. राजस्थान की 25 सीटों में से 24 पर भाजपा आगे हैं, वहीं कांग्रेस ने सिर्फ टोंक-सवाई माधोपुर सीट पर बढ़त बनाई हुई है. इस सीट से कांग्रेस के टिकट पर नमो नारायण मीणा चुनाव लड़ रहे हैं. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां सभी 25 सीटों पर जीत हासिल की थी. इसके अलावा छत्तीसगढ़ की 11 में से 9 सीटों पर भाजपा ने बढ़त बना रखी है. जबकि कांग्रेस केवल दो सीटों पर आगे दिख रही है. ये दो सीटें महासमुंद और बस्तर हैं. महासमुंद से कांग्रेस के धनेंद्र साहू और बस्तर से दीपक बैज कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

  • Election Results Live Updates : कांग्रेस के मजबूत गढ़ अमेठी में राहुल गांधी ने हार स्वीकारी, स्मृति ईरानी बोली-कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता ...

    Election Results Live Updates : कांग्रेस के मजबूत गढ़ अमेठी में राहुल गांधी ने हार स्वीकारी, स्मृति ईरानी बोली-कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता ...

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी  उत्तर प्रदेश की अपनी परंपरागत अमेठी लोकसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी से हार स्वीकार कर ली है. उन्होंने कहा है कि अमेठी की जनता ने फैसला दे दिया है.  मैं चाहता हूं कि स्मृति ईरानी अमेठी की प्यार से देखभाल करें. हालांकि अभी तक जिला निर्वाचन की ओर से अंतिम परिणाम जारी नहीं किया गया है. लेकिन आखिरी राउंड की मतगणना में स्मृति ईरानी 20 हजार वोटों से आगे चल रही हैं. अमेठी लोकसभा सीट में पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं . अमेठी, जगदीशपुर, सलोन, तिलोई और गौरीगंज विधानसभा क्षेत्रों के अलग अलग नतीजे घोषित किये जा रहे हैं . अमेठी सीट पर स्मृति का सीधा मुकाबला राहुल गांधी से है. स्मृति को 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा था. म

  • Punjab Election Results 2019: पंजाब में फिर दिखा कांग्रेस का दबदबा, 8 सीटों पर हुई जीत

    Punjab Election Results 2019: पंजाब में फिर दिखा कांग्रेस का दबदबा, 8 सीटों पर हुई जीत

    पंजाब में कांग्रेस 8 सीटें मिली हैं. अकाली-बीजेपी गंठबंधन को 4 और आप को सिर्फ 1 सीट मिली हैं. पंजाब में अंतिम दिन 19 मई को एक ही चरण में मतदान हुआ था. पंजाब में 13 लोकसभा सीटें और राज्य में 117 विधानसभा क्षेत्र हैं. साल 2011 की जनगणना के अनुसार, पंजाब की आबादी 27,743,338 करोड़ है जिसमें 14,639,465 पुरुष और 27,743,338 महिलाएं शामिल हैं. सन 2014 के लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections 2019) में, बीजेपी- शिरोमणि अकाली दल राज्य में 6 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी. अकाली दल ने चार सीटें जीती थीं और बीजेपी ने दो संसदीय सीटें जीती थीं. आम आदमी पार्टी (AAP) ने राज्य में चार सीटों पर जीत हासिल करते हुए तीसरे विकल्प के रूप में शानदार शुरुआत की. कांग्रेस को सिर्फ तीन सीटों पर जीत मिल सकी थी.

  • BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    सूत्रों के मुताबिक, सुजय के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता तो उन्हें एक राजनीतिक रणनीतिकार मानते हैं जिन्होंने 2014 में विधानसभा चुनावों में पिता की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम किया था. सुजय ने 2017 में हुए जिला परिषद चुनावों में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

  • कांग्रेस का गंभीर आरोप, प्रधानमंत्री ने हलफनामों में भूखंड की गलत जानकारी दी, कार्रवाई करे चुनाव आयोग

    कांग्रेस का गंभीर आरोप, प्रधानमंत्री ने हलफनामों में भूखंड की गलत जानकारी दी, कार्रवाई करे चुनाव आयोग

    कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपने पहले के चुनावी हलफनामों में गुजरात स्थित गांधीनगर के एक भूखंड के संदर्भ में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया और कहा कि इस मामले का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग को उचित कार्रवाई करनी चाहिए. पार्टी के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दावा किया कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्हें एक भूखंड आवंटित किया गया था जिसको लेकर उन्होंने 2007 और 2012 के विधानसभा चुनावों और 2014 के लोकसभा चुनाव के अपने हलफनामों में विरोधाभासी जानकारियां दी हैं.

  • ओम प्रकाश राजभर के बागी तेवर : बीजेपी की हालत सांप-छछूंदर जैसी, न निगलते बन रहा और न उगलते

    ओम प्रकाश राजभर के बागी तेवर : बीजेपी की हालत सांप-छछूंदर जैसी, न निगलते बन रहा और न उगलते

    लोकसभा चुनाव के बीच में ही उत्तर प्रदेश में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर के  एक बार फिर बगावती  तेवर सामने आये हैं.  इस बार तो इन्होने गठबंधन से अलग पूर्वांचल की 25 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया है.  उनकी इस घोषणा के बाद बीजेपी सकते में हैं वह अपने नफ़ा नुकसान का भी आकलन कर रही है. एक यह भी कयास लगाया जा रहा है कि नाराज़ ओम प्रकाश को बीजेपी आखिरी तक मना लेगी क्योंकि पूर्वांचल में बीजेपी के लिये अपना दल के बाद भासपा यानी ओम प्रकाश राजभर की पार्टी बड़े मायने रखती है. इन्ही दो पार्टियों की कश्ती पर सवार होकर बीजेपी न सिर्फ 2014 में उत्तर प्रदेश में 73 सीट के रिकार्ड आंकड़े तक पहुंची थी बल्कि  2017 के विधानसभा में सूबे की सत्ता तक पहुंचने में भी कामयाब हुई थी.

  • EVM स्ट्रॉन्ग रूम पर खुद का ताला लगाना चाहते हैं BJP उम्मीदवार, जानें क्या है वजह

    EVM स्ट्रॉन्ग रूम पर खुद का ताला लगाना चाहते हैं BJP उम्मीदवार, जानें क्या है वजह

    तेलंगाना की 17 लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को 62.69 प्रतिशत मतदान हुआ. इस चरण में पूर्व केन्द्रीय मंत्री रेणुका चौधरी और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन औवेसी चुनाव लड़ रहे थे. खम्मम में 75.28 जबकि हैदराबाद में 44.75 प्रतिशत मतदान हुआ. औवेसी हैदराबाद से ही चुनाव लड़ रहे थे. निजामाबाद लोकसभा सीट पर 68.33 प्रतिशत मतदान हुआ. 170 किसानों समेत 185 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे. 2014 में अविभाजित आंध्र प्रदेश विधानसभा और लोकसभा चुनाव में 70.75 प्रतिशत मतदान हुआ था.

Advertisement