NDTV Khabar

विधानसभा चुनाव 2017


'विधानसभा चुनाव 2017' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • BJP की करारी शिकस्त पर मनोज तिवारी से पूछा गया इस्तीफा का सवाल, बोले- पार्टी का अंदरूनी मामला, अगर ऐसा होता है तो

    BJP की करारी शिकस्त पर मनोज तिवारी से पूछा गया इस्तीफा का सवाल, बोले- पार्टी का अंदरूनी मामला, अगर ऐसा होता है तो

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की पूरी जिम्मेदारी लेते हुए दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मंगलवार को कहा कि भविष्य में पार्टी में उनकी भूमिका पार्टी का आतंरिक मामला है. पिछले साल लोकसभा चुनाव और 2017 के निकाय चुनाव में दिल्ली भाजपा का नेतृत्व कर जीत दिलाने वाले तिवारी अग्निपरीक्षा में सफल नहीं हो पाए और उनकी पार्टी को दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के हाथों करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है.

  • Delhi Elections: तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने 16 साल की उम्र में राजनीति में रखा था कदम, जानिए ये बातें

    Delhi Elections: तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने 16 साल की उम्र में राजनीति में रखा था कदम, जानिए ये बातें

    दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Elections 2020) में हरिनगर सीट पर बीजेपी ने तजिंदर पाल सिंह बग्गा (Tajinder Pal Singh Bagga) को अपना उम्मीदवार बनाया है. तजिंदर पाल सिंह बग्गा बीजेपी दिल्ली (BJP Delhi) के प्रवक्ता हैं. बग्गा आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और वकील प्रशांत भूषण को थप्पड़ मारने, अरूंधति राय के पुस्तक समारोह को बाधित करने और मणिशंकर अय्यर की टिप्पणी के विरोध में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर चाय बेचने जैसे विवादों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं.

  • चीन के डिप्लोमा को लेकर ट्रोल हुए BJP प्रत्याशी तजिंदर पाल सिंह बग्गा, तो कहा- ताइवान से किया है कोर्स

    चीन के डिप्लोमा को लेकर ट्रोल हुए BJP प्रत्याशी तजिंदर पाल सिंह बग्गा, तो कहा- ताइवान से किया है कोर्स

    उनके चुनावी हलफनामे में 2017 में NDU रिपब्लिक ऑफ चाइना, ताइवान से नेशनल डेवलपमेंट कोर्स में डिप्लोमा करने का उल्लेख किया गया है. बग्गा ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि मेरे डिप्लोमा पर सवाल करने वाले लोग साक्षर हैं या नहीं. वे चीन और ताइवान के बीच अंतर नहीं कर सकते हैं, जो हमेशा एक-दूसरे के खिलाफ रहते हैं.'

  • झारखंड : जुगलसलाई से जीतने वाले मंगल कालिंदी के पास हैं मात्र 30 हजार रुपये

    झारखंड : जुगलसलाई से जीतने वाले मंगल कालिंदी के पास हैं मात्र 30 हजार रुपये

    झारखंड की जुगसलाई विधानसभा सीट से जीतने वाले झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के प्रत्याशी मंगल कालिंदी के पास 30 हजार नगद रुपये हैं. चुनाव आयोग को दिए गए शपथ पत्र के मुताबिक उनके पास 20 हजार रुपये की नगदी है और 10 हजार रुपये बैंक खाते में जमा हैं. मंगल कालिंदी ने बताया है कि साल 2017 में ही उन्होंने माध्यमिक परीक्षा पास की है और उनके पास नाम पर न तो कोई घर है और न कोई प्लॉट है. उनके ऊपर कोई कर्ज भी नहीं है. साल 2019-20 में कुल आय उनको 2 लाख 49 हजार 8 सौ 70 रुपये हुई थी.

  • उन्नाव रेप केस : कुलदीप सेंगर को सजा या राहत, कुछ देर में होगा फैसला, पीड़िता को इंसाफ की आस

    उन्नाव रेप केस : कुलदीप सेंगर को सजा या राहत, कुछ देर में होगा फैसला, पीड़िता को इंसाफ की आस

    पीड़िता को अगवा कर रेप का यह मामला साल 2017 का है. उस समय पीड़िता नाबालिग थी. विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर यह आरोप लगे. शशि सिंह इस केस में सह आरोपी हैं. शशि ही पीड़िता को सेंगर के पास लेकर गई थीं. सेंगर चार बार से उत्तर प्रदेश के बांगरमऊ से विधायक चुने जा रहे हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में वह बीजेपी के टिकट से विधानसभा पहुंचे थे.

  • बिहार विधानसभा में भी गरजा महाराष्ट्र का राजनीतिक घटनाक्रम, सुशील मोदी को इशारा कर बोले तेजस्वी- ये अंधेरे वाली सरकार

    बिहार विधानसभा में भी गरजा महाराष्ट्र का राजनीतिक घटनाक्रम, सुशील मोदी को इशारा कर बोले तेजस्वी- ये अंधेरे वाली सरकार

    तेजस्वी ने सुशील कुमार मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार में 2015 के चुनाव में सरकार बनाने का जनाधार नहीं प्राप्त होने के बावजूद 2017 में भाजपा को प्रदेश की सत्ता में लाने के लिए यहां भी तो रात ही में खेल हुआ था.

  • Uttar Pradesh By Election 2019: राज्य की 11 विधानसभा सीटों के लिए जारी है मतदान

    Uttar Pradesh By Election 2019: राज्य की 11 विधानसभा सीटों के लिए जारी है मतदान

    उपचुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए पर्याप्त संख्या में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है. वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में इन 11 सीटों में से आठ पर भाजपा तथा एक-एक पर सपा, बसपा और भाजपा के सहयोगी अपना दल के विधायक जीते थे. घोसी को छोड़कर जिन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है, वे उन पर चुने गए विधायकों के पिछले लोकसभा चुनाव में विजय हासिल करने के बाद विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा देने की वजह से रिक्त हुई हैं.

  • केंद्र में NDA की सहयोगी अकाली दल ने हरियाणा में नहीं मिलाया BJP से हाथ, INLD के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव

    केंद्र में NDA की सहयोगी अकाली दल ने हरियाणा में नहीं मिलाया BJP से हाथ, INLD के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव

    2014 के विधानसभा चुनाव भी अकाली दल ने इनेलो के साथ गठबंधन में लड़े थे. बाद में 2017 में सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर दोनों के संबंध टूट गये.

  • दिल्ली : नरेला में वीरेंद्र मान की हत्या की वारदात का सीसीटीवी फुटेज सामने आया

    दिल्ली : नरेला में वीरेंद्र मान की हत्या की वारदात का सीसीटीवी फुटेज सामने आया

    आठ सितम्बर को दिल्ली के नरेला में पूर्व में विधानसभा चुनाव लड़ चुके वीरेंद्र मान की 26 गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी. इस वारदात का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है. उसमें साफ दिख रहा है कि सुबह 10 बजे नरेला में वीरेंद्र मान अपनी फॉर्च्यूनर कार से चौराहे पर आता है. तभी तीन-चार हमलावर ताबड़तोड़ गोलियां चलाते हैं. वीरेंद्र मान को 26 गोलियां मारी गई थीं जिसमे उसकी मौके पर मौत हो गई थी.

  • लखनऊ कैंट सीट के उपचुनाव में सपा ने मुलायम सिंह की छोटी बहू का टिकट काटा

    लखनऊ कैंट सीट के उपचुनाव में सपा ने मुलायम सिंह की छोटी बहू का टिकट काटा

    लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी ने मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव का टिकट काट दिया है. लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट पर बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी के इस्तीफे के बाद उपचुनाव होना है. सन 2017 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में अपर्णा यादव ही यहां से समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार थीं. रीता जोशी यहां से चुनाव जीती थीं जबकि अपर्णा दूसरे नंबर पर थीं. चूंकि रीता जोशी इलाहबाद से पिछला लोकसभा चुनाव जीत गई हैं इसलिए विधानसभा सीट से उनके इस्तीफे के बाद यह सीट खाली हो गई है.

  • गुजरात के मंत्री ने न्यायाधीश की निष्पक्षता पर सवाल उठाने को लेकर मांगी माफी, यह था मामला

    गुजरात के मंत्री ने न्यायाधीश की निष्पक्षता पर सवाल उठाने को लेकर मांगी माफी, यह था मामला

    चुनाव याचिका के जरिए 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में चूडासमा की जीत पर सवाल उठाया गया था. ढोलका विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अश्विन राठौड द्वारा दायर चुनाव याचिका में एक गवाह के तौर पर बयान देते हुए चूडासमा ने डाक मतपत्रों के पुन:सत्यापन पर आपत्ति दर्ज कराई थी.

  • गोवा विधानसभा में कांग्रेस के पास बचे सिर्फ 5 विधायक, कांग्रेस किसे बनाएगी विपक्ष का नेता

    गोवा विधानसभा में कांग्रेस के पास बचे सिर्फ 5 विधायक, कांग्रेस किसे बनाएगी विपक्ष का नेता

    कांग्रेस विधायक दिगंबर कामत ने मंगलवार को कहा कि गोवा विधानसभा में विपक्ष का नेता कौन होगा, इसका फैसला पार्टी आलाकमान करेगा.  पिछले सप्ताह नेता प्रतिपक्ष चन्द्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस के 10 विधायकों ने भाजपा में विलय कर लिया था जिससे पार्टी को बड़ा झटका लगा है. राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने आयी कांग्रेस के पास अब महज पांच विधायक बचे हैं.

  • Gujarat Election Results 2019: गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

    Gujarat Election Results 2019: गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

    Gujarat Election Results 2019 Updates, News: पिछली बार बीजेपी ने गुजरात की सभी 26 सीटों (Gujarat Lok Sabha Seats) पर जीत दर्ज की थी और पार्टी को 60 फीसद वोट मिले थे, लेकिन इस बार स्थिति बदली नजर आ रही है. खासकर 2017 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस गुजरात में मजबूती के साथ सामने आई है. वोटों की गिनती कुछ देर में

  • CM योगी की सिफारिश पर राज्यपाल ने ओपी राजभर को UP कैबिनेट से किया बर्खास्त तो बोले- हक मांगना बगावत तो समझो हम बागी हैं

    CM योगी की सिफारिश पर राज्यपाल ने ओपी राजभर को UP कैबिनेट से किया बर्खास्त तो बोले- हक मांगना बगावत तो समझो हम बागी हैं

    सुभासपा उत्तरप्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है और 2017 के विधानसभा चुनाव में उसने चार सीटें जीती थीं. लेकिन लोकसभा चुनाव राजभर की पार्टी ने भाजपा के साथ मिलकर नहीं लड़ा. राजभर की पार्टी ने खुद 39 उम्मीदवार चुनाव में उतारे थें. वहीं कुछ सीटों पर उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया था. हालही राजभर के पुत्र सुभासपा महासचिव अरूण राजभर ने स्पष्ट किया था कि भाजपा के साथ विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन था ना कि लोकसभा चुनाव के लिए.

  • चुनाव 2019: मणिशंकर अय्यर ने 'नीच' वाली टिप्पणी को ठहराया सही तो PM मोदी बोले- ये गालियां मेरे लिए गिफ्ट, मैं नहीं जनता देगी जवाब

    चुनाव 2019: मणिशंकर अय्यर ने 'नीच' वाली टिप्पणी को ठहराया सही तो PM मोदी बोले- ये गालियां मेरे लिए गिफ्ट, मैं नहीं जनता देगी जवाब

    कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा है. इस बार अय्यर ने एक लेख के जरिए पीएम के खिलाफ की गई पुरानी टिप्पणी को सही ठहराया है. अय्यर ने 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के समय पीएम मोदी को 'नीच किस्म का आदमी' कहा था. वहीं अब उन्होंने पीएम मोदी को अब तक का सबसे बदजुबान पीएम कहा है.

  • कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

    कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

    गुजरात कांग्रेस इकाई प्रमुख अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) की एक विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के नेता 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर राधनपुर सीट से निर्वाचित हुए थे. उन्होंने गत 10 अप्रैल को यह दावा करते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था कि वह और उनके ठाकोर समुदाय को कांग्रेस की ओर से अपमान और धोखा मिला है.

  • लोकसभा चुनाव : क्या गढ़वाघाट आश्रम बीजेपी की नई 'प्रयोगशाला' है?

    लोकसभा चुनाव : क्या गढ़वाघाट आश्रम बीजेपी की नई 'प्रयोगशाला' है?

    गढ़वाघाट आश्रम वाराणसी में है. इस आश्रम के अनुयायियों की संख्या करोड़ों में है, जिनमें ज्यादातर दलित और पिछड़े समाज, खासकर यादवों की हैं. इसकी बड़ी वजह ये है कि इस आश्रम को भगवान कृष्ण के वंशजों का माना जाता है. लिहाजा यहां पर समय-समय पर लगभग सभी पार्टियों के नेताओं का आना जाना लगा रहा. यही नहीं इस पीठ से कई बड़े राजनेताओं की आस्था भी जुड़ी हुई है. राहुल गांधी से लेकर राजनाथ सिंह जैसे नेता यहां आ चुके हैं. सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव अक्सर यहां आते रहे हैं तो 2017 में विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी पहली बार गढ़वाघाट आश्रम पहुंचे थे और यहीं से अपने चुनाव प्रचार के अभियान की शुरुआत भी की थी. 

  • BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    सूत्रों के मुताबिक, सुजय के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता तो उन्हें एक राजनीतिक रणनीतिकार मानते हैं जिन्होंने 2014 में विधानसभा चुनावों में पिता की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम किया था. सुजय ने 2017 में हुए जिला परिषद चुनावों में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com