NDTV Khabar

सपा


'सपा' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Top 5 News: लोकसभा में पीएम मोदी से कांग्रेस ने पूछा सवाल, मायावती ने सपा से नाता तोड़ा

    Top 5 News: लोकसभा में पीएम मोदी से कांग्रेस ने पूछा सवाल, मायावती ने सपा से नाता तोड़ा

    लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पीएम मोदी से पूछा, आप सोनिया-राहुल को 'चोर' कहते हुए सत्ता में आए तो अब वे संसद में कैसे बैठे हैं. उन्होंने इस मामले को उठाकर दिखा दिया है कि कांग्रेस किसी भी कीमत पर इन मुद्दों पर जवाब देने से पीछे नहीं हटेगी. झारखंड के सरायकेला जिले के खरसावां में चोरी के शक में भीड़ ने 24 साल के मुस्लिम युवक को जमकर पीटा, जिसकी बाद में मौत हो गई. राजस्थान के बाड़मेर में रामकथा के दौरान आंधी तूफान की वजह से पंडाल गिरने से 14 लोगों की मौत हो गई और करीब 50 लोग घायल हो गए हैं.

  • मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव BSP अपने बूते लड़ेगी

    मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव BSP अपने बूते लड़ेगी

    बसपा प्रमुख मायावती ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा, 'लोकसभा आम चुनाव के बाद सपा का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है. इसलिए पार्टी और मूवमेंट के हित में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी.'

  • 'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं', मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं',  मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    लोकसभा चुनाव से पहले जब सपा और बीएसपी के गठबंधन का ऐलान हो रहा था तो उस दिन मायावती और अखिलेश यादव के हावभाव को देखकर ऐसा लग रहा था कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी. अंकगणित भी उनके पक्ष में था और गोरखपुर-फूलपुर-कैराना के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साह चरम पर था. लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों ही नेता जमीनी हकीकत को भांप नहीं पाए और करारी हार का सामना करना पड़ गया. इस हार के साथ ही गठबंधन भी बिखर गया है. सपा को जहां 5 सीटें मिली हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें. एक तरह से देखा जाए तो बीएसपी को ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी को एक भी सीट नहीं मिली थी. दूसरी ओर सारे समीकरणों को ध्वस्त करते हुए बीजेपी 62 सीटें कामयाब हो गई. इस हार के साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर ले लिया और कहा कि सपा अपने कोर वोट यादवों का भी समर्थन नहीं पा सकी और यही वजह है कि उनकी पत्नी चुनाव हार गईं. इतना ही नहीं मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने का ऐलान कर डाला. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव से उनके रिश्ते पर व्यक्तिगत तौर पर अच्छे हैं. वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव अभी तक पूरी तरह से सधे और रक्षात्मक बयान दे रहे हैं. लेकिन रविवार को हुई बीएसपी की एक अहम बैठक में मायावती ने रही-सही कसर भी पूरी कर डाली और उन्होंने अपने बयान से जाहिर कर दिया कि उनकी नजर में अब अखिलेश यादव की कोई अहमियत नहीं है.

  • Exclusive: गठबंधन से अलग होने के बाद मायावती का अखिलेश पर बड़ा हमला, चुनाव में मिली हार के कई कारण भी गिनाए

    Exclusive: गठबंधन से अलग होने के बाद मायावती का अखिलेश पर बड़ा हमला, चुनाव में मिली हार के कई कारण भी गिनाए

    लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Election) के लिए उत्तर प्रदेश में किया गया सपा-बसपा का गठबंधन (SP-BSP Alliance) सफल नहीं होने के बाद मायावती (Mayawati) ने हाल ही में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) से दूरी बना ली थी. इसके बाद उन्होंने गठबंधन भी तोड़ने का ऐलान कर दिया था. अब मायावती (Mayawati) ने एक बार फिर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर जमकर हमला बोला है.

  • Top 5 News : छत्तीसगढ़ में माओवादियों ने की सपा नेता की हत्या, बिहार में चमकी बुखार का कहर जारी

    Top 5 News : छत्तीसगढ़ में माओवादियों ने की सपा नेता की हत्या, बिहार में चमकी बुखार का कहर जारी

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर में समाजवादी पार्टी के एक नेता की हत्या कर दी गई. माओवादियों ने घटनास्थल पर वाहनों में आगजनी भी की, एक बोलेरो कार और तीन ट्रकों में आग लगा दी गई है. वहीं, मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत का सिलसिला अब भी थमता नहीं दिख रहा है.

  • छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों ने SP नेता का किया मर्डर, परिजनों को शव देने से किया मना

    छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों ने SP नेता का किया मर्डर, परिजनों को शव देने से किया मना

    माओवादियों ने घटनास्थल पर वाहनों में आगजनी भी की, एक बोलेरो कार और तीन ट्रकों में आग लगा दी गई है. इसके साथ ही नक्सलियों ने संतोष पुनेम नाम के सपा नेता का शव उनके परिजनों को देने इनकार कर दिया. पुलिस भी अब तक मौके पर नहीं पहुंची है. इलाके में दहशत का माहौल है.

  • लोकसभा चुनाव में हार के बाद क्या सपा का कुनबा दोबारा होगा एकजुट? शिवपाल यादव ने दिया बड़ा बयान

    लोकसभा चुनाव में हार के बाद क्या सपा का कुनबा दोबारा होगा एकजुट? शिवपाल यादव ने दिया बड़ा बयान

    लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद समाजवादी कुनबे के दोबारा एकजुट होने की खबरें आ रही थीं, लेकिन अब सपा से अलग होकर अपनी अलग पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने इन खबरों पर विराम लगा दिया है. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने शुक्रवार को यहां कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ अब उनका चैप्टर बंद हो गया है. 

  • दोबारा अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल यादव? कौन बन रहा है राह में रोड़ा

    दोबारा अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल यादव? कौन बन रहा है राह में रोड़ा

    लगातार दो लोकसभा चुनाव और एक विधानसभा चुनाव हारने के बाद अखिलेश पर परिवार को एक करने का दबाव बढ़ा है. खासकर सपा संस्थापक मुलायम सिह यादव चाहते हैं कि पार्टी को खड़ा करने में योगदान देने वाले छोटे भाई शिवपाल सिह यादव को दोबारा साथ लाया जाए. लेकिन अखिलेश राजी नहीं हैं. उन्हें लगता है कि शिवपाल की एन्ट्री से पार्टी में उनके एकाधिकार और वर्चस्व को खतरा पैदा हो जाएगा.

  • सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की फिर बिगड़ी तबीयत, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में कराया गया भर्ती  

    सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की फिर बिगड़ी तबीयत, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में कराया गया भर्ती  

    मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) को हाई शुगर की समस्या से चलते भर्ती किया गया था. हालांकि बाद में उनकी अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. मेदांता अस्पताल की तरफ से अभी तक मुलायम सिंह यादव की सेहत को लेकर कोई भी जानकारी साझा नहीं की गई है.

  • सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ के राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती

    सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ के राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती

    सपा (SP) संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया है.

  • मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

    मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

    हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने बेटे अखिलेश (Akhilesh Yadav) और भाई शिवपाल (Shivpal Yadav) के बीच सुलह कराने की एक बार फिर कोशिश की.

  • अकेला हाथी किसका साथी...

    अकेला हाथी किसका साथी...

    मायावती ने एकला चलो रे का एलान कर दिया है मतलब उत्तर प्रदेश में जो 11 उपचुनाव होन वाले हैं उसमें बीएसपी अपने उम्मीदवार खड़े करेगी मगर जो तर्क मायावती ने दिए उसकी जांच पड़ताल करनी जरूरी है. मायावती ने कहा कि उनके एकला चलो रे के पीछे वजह है कि समाजवादी पार्टी के वोट बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवारों को नहीं मिले.

  • मायावती से गठबंधन टूटने पर बोले अखिलेश यादव- मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं और यह एक प्रयोग था जो फेल हुआ...

    मायावती से गठबंधन टूटने पर बोले अखिलेश यादव- मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं और यह एक प्रयोग था जो फेल हुआ...

    यूपी में हुए लोकसभा चुनावों के लिए किया गया सपा और बसपा का गठबंधन सफल नहीं हुआ. इस वजह से बसपा सुप्रीमो मायावती ने अखिलेश यादव से दूरी बना ली और गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया. अब अखिलेश ने इस मामले में बयान दिया है.

  • मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    झाबुआ-रतलाम लोकसभा सीट से चुनाव जीते बीजेपी के जीएस डामोर सांसद बने रहेंगे. उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा देने का फैसला किया है. डामोर झाबुआ सीट से विधायक थे. उनके इस ऐलान के साथ ही मध्यप्रदेश में अब झाबुआ विधानसभा सीट पर उप चुनाव होना तय है.

  • एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उप चुनाव को लेकर सपा-बसपा गठबंधन टूट गया है. लोकसभा चुनाव में बड़े जोर-शोर से बने इस गठबंधन में आरएलडी भी शामिल थी. जिस दिन गठबंधन हुआ था उस दिन ऐसा लग रहा था कि अब यह महागठबंधन उत्तर प्रदेश की राजनीति ही नहीं पूर देश में असर डालेगा और बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की बातों से ऐसा लग रहा था कि दोनों के बीच अच्छा समन्वय है और लोकसभा चुनाव में दोनों मिलकर पीएम मोदी के विजय रथ को रोक देंगे.

  • मायावती को अखिलेश यादव का जवाब, गठबंधन नहीं तो अकेले लड़ेंगे उप चुनाव, रास्ते अलग-अलग तो सबको बधाई

    मायावती को अखिलेश यादव का जवाब,  गठबंधन नहीं तो अकेले लड़ेंगे उप चुनाव, रास्ते अलग-अलग तो सबको बधाई

    बीएसपी सुप्रीमो मायावती के विधानसभा उप चुनाव में अकेले लड़न के ऐलान पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि  गठबंधन टूटा है या जो गठबंधन पर जो भी कहा गया है उस पर सोच समझ कर विचार करेंगे. समाजवादी पार्टी भी उपचुनाव के लिए तैयार है. सपा अकेली लड़ेगी उस पर हम विचार करेंगे.

  • मायावती ने कहा- रिश्‍ता वही, गठबंधन नहीं; विधानसभा उपचुनाव अपने दम पर

    मायावती ने कहा- रिश्‍ता वही, गठबंधन नहीं; विधानसभा उपचुनाव अपने दम पर

    मायावती ने कहा कि समीक्षा बैठक में जो बात निकलकर सामने आई उस पर हमें सोचने को मजबूर होना पड़ा. इसके बाद से यह साफ हो गया कि उत्‍तर प्रदेश में अब बसपा और सपा के बीच का गठबंधन खत्‍म हो गया है. मायावती ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी पुष्टि भी कर दी. हालांकि मायावती ने साफ कहा कि अखिलेश यादव से हमारे रिश्‍ते हमेशा बने रहेंगे. अखिलेश यादव और डिम्‍पल यादव ने मुझे बहुत इज्‍जत दी है और मैंने भी उन लोगों को परिवार की तरह माना है.

  • मायावती ने दोबारा अखिलेश से हाथ मिलाने के दिए संकेत, पर उसके लिए रखी एक शर्त

    मायावती ने दोबारा अखिलेश से हाथ मिलाने के दिए संकेत, पर उसके लिए रखी एक शर्त

    अखिलेश यादव के साथ दोबारा से हाथ मिलाने का संकेत देते हुए मावायती ने कहा, 'सपा और बसपा स्थाई तौर पर अलग-अलग नहीं हुए हैं. यदि हम भविष्य में महसूस करते हैं कि सपा प्रमुख अपने राजनीतिक कार्य में सफल होते हैं, तो हम फिर से एक साथ काम करेंगे. लेकिन अगर वह सफल नहीं होते हैं, तो हमारे लिए अलग से काम करना अच्छा रहेगा. इसलिए हमने अकेले उपचुनाव लड़ने का फैसला किया है."