NDTV Khabar

सरदार पटेल


'सरदार पटेल' - 181 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अशोक गहलोत ने कहा- पीएम मोदी और उनकी टीम ने महात्मा गांधी को कभी नहीं अपनाया, केवल वोट पाने के लिए लेते हैं नाम

    अशोक गहलोत ने कहा- पीएम मोदी और उनकी टीम ने महात्मा गांधी को कभी नहीं अपनाया, केवल वोट पाने के लिए लेते हैं नाम

    अशोक गहलोत ने गुरुवार को कहा कि नई पीढ़ी को महात्मा गांधी के बारे में शिक्षित करने के लिए राज्य में अगले एक साल तक महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाई जाएगी. गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समर्थक महज वोट हासिल करने के लिए ही महात्मा गांधी के नाम का जिक्र करते हैं. गहलोत ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान महात्मा गांधी, सरदार पटेल और अन्य नेताओं द्वारा किए गए कार्यों को कभी स्वीकार नहीं किया. उन्होंने कहा, "अब हमें उन्हें बेनकाब करने की जरूरत है. नई पीढ़ी को इस बात से अवगत कराया जाना चाहिए कि सरदार पटेल, जिनका नाम मोदी ने बार-बार लिया है, उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या के बाद आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया था."

  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बोले पीएम मोदी, कहा- यह निर्णय तो सरदार पटेल से...

    जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बोले पीएम मोदी, कहा- यह निर्णय तो सरदार पटेल से...

    बता दें कि मोदी सरकार ने पिछले महीने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म कर दिया था, जिनके आधार पर राज्य को विशेष दर्जा मिला था. इसके साथ ही राज्य को दो हिस्सों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट कर उन्हें केंद्र शासित राज्य बनाने का निर्णय भी लिया गया है.

  • कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले, 'जम्मू्-कश्मीर मुद्दे से निबटने में पटेल सही थे जबकि नेहरू गलत'

    कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले, 'जम्मू्-कश्मीर मुद्दे से निबटने में पटेल सही थे जबकि नेहरू गलत'

    केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को अतीत में जम्मू-कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के मामले में देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को गलत ठहराया है. साथ ही उन्होंने धारा 370 हटाने के कदम के लिए अपनी पार्टी की सरकार की तारीफ की है.

  • लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के बीच इस तरह बंटेंगी संपत्तियां, केंद्र सरकार ने शुरू की प्रक्रिया

    लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के बीच इस तरह बंटेंगी संपत्तियां, केंद्र सरकार ने शुरू की प्रक्रिया

    दो केंद्र शासित प्रदेशों के बीच संपत्तियों का बंटवारा 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जाएगा. इसमें व्यापक वित्तीय व प्रशासनिक कार्य शामिल होंगे. संयोग से देश के प्रथम गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती भी इसी दिन होगी.

  • आयुष्‍मान कार्ड धारकों से पैसा मांग रहे थे अस्‍पताल के कर्मचारी, अस्‍पताल को ही योजना से बाहर कर दिया गया

    आयुष्‍मान कार्ड धारकों से पैसा मांग रहे थे अस्‍पताल के कर्मचारी, अस्‍पताल को ही योजना से बाहर कर दिया गया

    सरदार वल्‍लभ भाई पटेल अस्‍पताल का उद्घाटन इसी साल जनवरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. इस अस्‍पताल के निर्माण में तकरीबन 750 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे. अहमदाबाद नगरपालिका का यह अस्‍पताल हाई प्रोफाइल सरकारी अस्‍पताल है. अभी 15 दिन पहले ही इस अस्‍पताल के चार ऑपरेशन थियेटर को बंद करना पड़ा था. बताया जा रहा है कि वहां बारिश का पानी भर गया था. एक सप्‍ताह तक वह ऑपरेशन थियेटर बंद रहा था.

  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- हमने सरदार पटेल का सपना पूरा किया 

    जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- हमने सरदार पटेल का सपना पूरा किया 

    इस मौके पर अमित शाह ने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि काम करते हुए आपके सामने कई तरह की चुनौतियां आएंगी. इन चुनौतियों को लेकर आपके दिमाग संदेह भी हो सकता है. हो सकता है कि कई बार आपको ऐसे आदेश मिले जो संविधान के अनुरूप न हों लेकिन मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि ऐसे आदेश के बाद भी आप संविधान के तहत ही काम करें. 

  • जम्मू-कश्मीर में पूर्ण राज्य की बहाली और कानूनी चुनौतियां

    जम्मू-कश्मीर में पूर्ण राज्य की बहाली और कानूनी चुनौतियां

    संविधान में अनुच्छेद 370 का प्रावधान भी अल्पकालिक था, जिसे ख़त्म करने में 70 वर्ष लग गए, तो अब UT से पूर्ण राज्य का दर्ज़ा कब और कैसे मिलेगा...? राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार शांति बहाली के बाद पूर्ण राज्य के दर्जे की वापसी हो सकती है, परंतु मणिशंकर अय्यर और वाइको जैसे नेता कश्मीर घाटी में फिलस्तीन जैसी अराजक स्थिति और अलगाव का अंदेशा जताने से बाज़ नहीं आ रहे. नए केंद्रशासित प्रदेशों का जन्म 31 अक्टूबर (सरदार पटेल की जयंती) को होगा, लेकिन उससे पहले नए कानून पर सरकार को सुप्रीम कोर्ट में भी चुनौती का सामना करना पड़ेगा.

  • जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 क्यों हटा, पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में बताई वजह; पढ़ें- पूरा भाषण

    जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 क्यों हटा, पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में बताई वजह; पढ़ें- पूरा भाषण

    मेरे प्यारे देशवासियों, एक राष्ट्र के तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है. एक ऐसी व्यवस्था, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे, जो उनके विकास में बड़ी बाधा थी, वो अब दूर हो गई है. जो सपना सरदार पटेल का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वो अब पूरा हुआ है.

  • राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी ने क्या कहा? पढ़ें- 7 बड़ी बातें

    राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी ने क्या कहा? पढ़ें- 7 बड़ी बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) ने गुरुवार को राष्ट्र को संबधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमने पूरे देश में एक ऐतिहासिक फैसला किया. आर्टिकल 370 एक ऐसी व्यवस्था थी जिससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोग विकास से वंचित थे, वह समस्या अब दूर हो गई है. पीएम ने कहा कि जो सपना सरदार पटेल का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वो अब पूरा हुआ है. समाज और जीवन में कुछ बातें समय के साथ इतनी घुल-मिल जाती हैं कि कई बार उन चीजों को स्थाई मान लिया जाता है. ये भाव आ जाता है कि, कुछ बदलेगा नहीं, ऐसे ही चलेगा. अनुच्छेद 370 के साथ भी ऐसा ही भाव था. उससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहनों की जो हानि हो रही थी, उसकी चर्चा ही नहीं होती थी. हैरानी की बात ये है कि किसी से भी बात करें, तो कोई ये भी नहीं बता पाता था कि अनुच्छेद 370 से जम्मू-कश्मीर के लोगों के जीवन में क्या लाभ हुआ. अब यह समस्या दूर हो गई है. आइये आपको बताते हैं पीएम मोदी के संबोधन की सात बड़ी बातें. 

  • जम्मू-कश्मीर अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और भ्रष्टाचार से मुक्त हुआ : पीएम नरेंद्र मोदी

    जम्मू-कश्मीर अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और भ्रष्टाचार से मुक्त हुआ : पीएम नरेंद्र मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) ने गुरुवार को देश के नागरिकों को टेलीविजन के जरिए संबधित किया. उन्होंने कहा कि हमने पूरे देश में एक ऐतिहासिक फैसला किया. आर्टिकल 370 एक ऐसी व्यवस्था थी जिससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोग विकास से वंचित थे, वह समस्या अब दूर हो गई है.

  • आर्टिकल 370 पर संसद में निराश किया कांग्रेस ने

    आर्टिकल 370 पर संसद में निराश किया कांग्रेस ने

    जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक लोकसभा में भी पास हो गया. राज्यसभा में सोमवार को पास हो गया था. गृह मंत्रालय का विधेयक था इसलिए दोनों ही दिन अमित शाह के रहे. प्रधानमंत्री दोनों दिन मौजूद रहे मगर वे सुनते ही रहे. खबर है कि वे देश को संबोधित करेंगे. अमित शाह ने पूरी तैयारी के साथ भाषण दिया. दोनों दिनों का भाषण एक जैसा ही था फिर भी विपक्ष उन्हें प्रभावशाली तरीके से घेर नहीं सका. शशि थरूर ने सरदार पटेल को लेकर अपनी बात रखी कि धारा 370 पर नेहरू और पटेल सबके दस्तखत थे. कांग्रेस भीतर से बंटती चली गई है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ज़रूर संवैधानिक प्रक्रियाओं का सवाल उठाया है लेकिन उन्होंने भी सरकार के विधेयक का समर्थन किया है.

  • अयोध्या में लगाई जाएगी विश्व की सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा, योजना शुरू

    अयोध्या में लगाई जाएगी विश्व की सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा, योजना शुरू

    वर्तमान में गुजरात में स्थित सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा अभी तक विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है, जिसकी ऊंचाई 183 मीटर है. चीन में स्थापित गौतम बुद्घ की प्रतिमा की ऊंचाई 128 मीटर है, जबकि न्यूयार्क में स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी की ऊंचाई 93 मीटर है. मुंबई में निर्माणाधीन डॉ. आंबेडकर की प्रतिमा 137.2 मीटर और निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी महराज की प्रतिमा की ऊंचाई 212 मीटर है.

  • जम्मू-कश्मीर पर चर्चा के दौरान जब विपक्ष ने अमित शाह को टोका, नाराज क्यों हो रहे हैं

    जम्मू-कश्मीर पर चर्चा के दौरान जब विपक्ष ने अमित शाह को टोका, नाराज क्यों हो रहे हैं

    जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने के सांविधिक प्रस्ताव पर लोकसभा में हुई चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर समस्या को लेकर देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के दोषी ठहराया है. उनके बयान पर कांग्रेस की ओर से हंगामा भी हुआ. चर्चा पर जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा 'जम्मू कश्मीर की जनता का कल्याण हमारी ‘‘प्राथमिकता’’ है और उन्हें ज्यादा भी देना पड़ा तो दिया जाएगा क्योंकि उन्होंने बहुत दुख सहा है.’’गृह मंत्री ने कश्मीर की वर्तमान स्थिति को लेकर प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि उन्होंने (पंडित नेहरू) तब के गृह मंत्री एवं उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को भी इस विषय पर विश्वास में नहीं लिया

  • सरदार पटेल की मूर्ति के सामने गुटखा थूकते हुए CCTV में कैद हुआ शख्स, पुलिस ने पकड़ा और....

    सरदार पटेल की मूर्ति के सामने गुटखा थूकते हुए CCTV में कैद हुआ शख्स, पुलिस ने पकड़ा और....

    गुजरात (Gujarat) के अहमदाबाद (Ahmedabad) में कुछ ऐसा हुआ जिसने हर किसी को हैरान कर दिया है. अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने सार्वजनिक स्थान पर पान मसाला थूकने के लिए एक आदमी का चालान कर दिया.

  • तेजस्वी यादव बोले- नीतीश के सिद्धांतों की धज्जियां उड़ा रहे हैं गिरिराज सिंह, अब चाचा पर तरस आने लगा है

    तेजस्वी यादव बोले- नीतीश के सिद्धांतों की धज्जियां उड़ा रहे हैं गिरिराज सिंह, अब चाचा पर तरस आने लगा है

    तेजस्वी ने इस ट्वीट के साथ ही बेगूसराय से भाजपा उम्मीदवार गिरिराज सिंह का वीडियो भी शेयर किया है. वीडियो में गिरिराज सिंह अपने आपको भगवान कृष्ण और सरदार पटेल का वंशज बताया है. गिरिराज सिंह ने कहा, 'बड़े भाई का कुर्ता और छोटे भाई का पायजमा पहनाकर लोग धार्मिक उन्माद फैलाने का काम कर रहे हैं. मैं आपसे निवेदन करता हूं कि भगवान कृष्ण के वंशज और सरदार पटेल के वंशज एक साथ हाथ उठाकर कहें कि इस धर्म युद्ध में लड़ाई लड़ेंगे. मैं खुद भी सरदार पटेल को मानता हूं. मैं श्री कृष्ण को भी मानता हूं.'

  • मोहम्मद अली जिन्ना वाले बयान पर अब शत्रुघ्न सिन्हा ने दी सफाई

    मोहम्मद अली जिन्ना वाले बयान पर अब शत्रुघ्न सिन्हा ने दी सफाई

    बिहार के पटना साहिब सीट से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे शत्रुघ्न सिन्हा ने मोहम्मद अली जिन्ना को कांग्रेस परिवार का हिस्सा बताने वाले बयान पर कहा है कि उनकी जुबान फिसल गई थी. सिन्हा ने कहा कि वह मौलाना आजाद कहना चाहते थे लेकिन वह मोहम्मद अली जिन्ना कह गए. सिन्हा ने शुक्रवार को दिए अपने बयान में कहा था, 'कांग्रेस महात्मा गांधी से लेकर सरदार पटेल, मोहम्मद अली जिन्ना से लेकर जवाहर लाल नेहरू तक एक परिवार है. यह उनकी पार्टी है जिनका देश की आजादी और विकास में योगदान रहा है. इसलिए मैं इसमें आया हूं'. इससे पहले कि कोई कि कोई विवाद बन जाए शत्रुघ्न सिन्हा ने सफाई देने में ही भलाई समझी. 

  • अब शत्रुघ्न सिन्हा ने गांधी जी, नेहरू और पटेल के साथ-साथ जिन्ना को भी 'कांग्रेस परिवार' का बताया

    अब शत्रुघ्न सिन्हा ने गांधी जी, नेहरू और पटेल के साथ-साथ जिन्ना को भी 'कांग्रेस परिवार' का बताया

    अपने बयानों से बीजेपी के लिए परेशानी खड़ी करते रहे शत्रुघ्न सिन्हा ने ऐसा बयान दे दिया है जो चुनाव में कांग्रेस के लिए खड़ी मुश्किल कर सकता है. मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में एक सभा को संबोधित करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने भारत के बंटवारे की मांग करने वाले मोहम्मद अली जिन्ना को 'कांग्रेस परिवार' का सदस्य बता डाला. हालांकि उन्होंने जिन्ना के अलावा महात्मा गांधी, सरदार पटेल और जवाहर लाल नेहरू का भी नाम लिया और कहा कि यह ऐसे लोगों की पार्टी है जिनका देश की आजादी और विकास में योगदान रहा है. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, ' कांग्रेस महात्मा गांधी से लेकर सरदार पटेल, मोहम्मद अली जिन्ना से लेकर जवाहर लाल नेहरू तक एक परिवार है. यह उनकी पार्टी है जिनका देश की आजादी और विकास में योगदान रहा है. इसलिए मैं इसमें आया हूं'. आपको बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा हाल ही में बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए हैं और उनको पटना साहिब से ही लोकसभा का टिकट दिया है. सिन्हा अभी तक इसी सीट से बीजेपी के सांसद रहे हैं. लेकिन साल 2015 से उनका पार्टी के अंदर मनमुटाव शुरू हो गया था और वह हमेशा अपनी ही सरकार की नीतियों पर निशाना साधते रहे. लेकिन बाद में उन्होंने हमले और तेज कर दिया और सीधे पीएम मोदी पर सवाल दागने लगे. हालांकि इस दौरान पार्टी के नेता उन पर बयान देने से बचते रहे. लेकिन शत्रुघ्न सिन्हा ने नोटबंदी, जीएसटी और सर्जिकल स्ट्राइक पर पार्टी के रुख के खिलाफ बयानबाजी जारी रखी. 

  • नक्सली हमले के बाद बदली नम्रता जैन की जिंदगी, फिर UPSC में हासिल की 12वीं रैंक

    नक्सली हमले के बाद बदली नम्रता जैन की जिंदगी, फिर UPSC में हासिल की 12वीं रैंक

    UPSC सिविल सर्विसेज में 12वीं रैंक हासिल करने वाली नम्रता जैन (Namrata Jain) छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले से आती हैं. नक्सलियों का गढ़ कहे जाने वाले दंतेवाड़ा में पली-बढ़ी नम्रता के लिए UPSC की तैयारी करना आसान नहीं था, लेकिन अपने बुलंद हौसले और मेहनत के बलबूते पर उन्होंने यूपीएससी में 12वीं रैंक हासिल कर अपने जिले के साथ पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है. नम्रता जैन (UPSC Namrata Jain) ने 2016 की सिविल सेवा परीक्षा में 99वीं रैंक हासिल की थी. उन्हें भारतीय पुलिस सेवा मिली थी और वह सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी, हैदराबाद में प्रशिक्षण ले रही हैं.