NDTV Khabar

सीमा पूनिया


'सीमा पूनिया' - 9 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Commonwealth Games 2018: पहला प्रयास बना सीमा पूनिया के रजत का सबब, नवजीत ढिल्लन की आखिरी कोशिश ने दिलाया कांस्य

    Commonwealth Games 2018: पहला प्रयास बना सीमा पूनिया के रजत का सबब, नवजीत ढिल्लन की आखिरी कोशिश ने दिलाया कांस्य

    भारत की अनुभवी चक्का फेंक एथलीट सीमा पूनिया ने जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में आठवें दिन वीरवार  को रजत पदक अपने नाम किया. इसके अलावा, इसी स्पर्धा में भारत की एक अन्य एथलीट नवजीत ढिल्लन ने कांस्य पदक अपने नाम किया है. स्वर्ण पदक ऑस्ट्रेलिया की डानी स्टीवंस ने जीता. स्टीवंस ने 20 साल पुराना गेम रिकार्ड तोड़ते हुए सोना अपने नाम किया. सीमा ने शानदार शुरुआत की और पहले ही प्रयास में 60.41 मीटर की दूरी तय की. हालांकि इसके बाद, उनके प्रदर्शन में लगातार गिरावट आई. सीमा ने दूसरे प्रयास में 59.97 मीटर की दूरी तय की

  • सीमा पूनिया रचना चाहती हैं राष्ट्रकुल खेलों में इतिहास, इस बात का आज तक है गम

    सीमा पूनिया रचना चाहती हैं राष्ट्रकुल खेलों में इतिहास, इस बात का आज तक है गम

    सीमा पूनिया भले ही पूर्व में डोपिंग के कारण चर्चा में रही हो लेकिन अगले महीने होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में वह भारतीय एथलीटों में पदक की सर्वश्रेष्ठ दावेदार हैं और चक्का फेंक की यह खिलाड़ी भी इन खेलों के अपने अभियान का शानदार अंत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में सीमा भारत की सबसे सफल एथलीट रही हैं. उन्होंने जब भी इन खेलों में हिस्सा लिया तब पदक जरूर जीता. सेकिन अब सीमा पूनिया डिस्कस-थ्रो में नया इतिहास लिखना चाहती हैं.

  • एथलेटिक्‍स: राष्‍ट्रमंडल खेलों से पहले सीमा पूनिया का होगा डोप टेस्‍ट, यह है कारण...

    एथलेटिक्‍स: राष्‍ट्रमंडल खेलों से पहले सीमा पूनिया का होगा डोप टेस्‍ट, यह है कारण...

    सीमा ने यहां पांच मार्च को प्रतियोगिता के पहले दिन डिस्‍कस थ्रो में 61.05 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया था लेकिन नाडा अधिकारियों के नहीं पहुंचने के कारण उनका डोप टेस्ट नहीं हो सका था. नाडा अधिकारी छह मार्च को पहुंचे लेकिन तब तक सीमा यहां से जा चुकी थीं.

  • कुछ ऐसे फाइनल में हार गईं मैरी कॉम और सीमा पूनिया

    कुछ ऐसे फाइनल में हार गईं मैरी कॉम और सीमा पूनिया

    भारत की स्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम और समी पूनिया को 69वें स्ट्रैंड्जा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा. इन दोनो को रजत पदक से संतोष करना पड़ा. लंदन ओलम्पिक में कांस्य पदक जीतने वाली और पांच बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम को 48 किलोग्राम वर्ग में बुल्गारिया की सेवदा एसेनोवा के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा जबकि सीमा को 89 किलोग्राम से अधिक भार वर्ग में रूस की एना इवानोवा ने मात दी.

  • मुक्‍केबाजी: भारत के अमित फंगल और सीमा पूनिया अपने-अपने वर्ग के फाइनल में पहुंचे

    मुक्‍केबाजी: भारत के अमित फंगल और सीमा पूनिया अपने-अपने वर्ग के फाइनल में पहुंचे

    एशियाई चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले अमित ने रूस के सोइयान आर्तिश को हराकर फाइनल में प्रवेश किया जहां उनका सामना मोरक्को के सैद मोर्दाजी से होगी. इससे पहले एशियाई चैम्पियनशिप की कांस्य पदकधारी पूनिया फाइनल में पहुंची थीं जबकि दो अन्य महिला मुक्केबाजों ने कांस्य पदक पक्के किए.

  • रियो ओलिंपिक : इंचियोन एशियाड की गोल्‍ड मेडलिस्‍ट सीमा पूनिया क्वालिफाइंग दौर से बाहर...

    रियो ओलिंपिक : इंचियोन एशियाड की गोल्‍ड मेडलिस्‍ट सीमा पूनिया क्वालिफाइंग दौर से बाहर...

    एथलेटिक्स में भारत का खराब प्रदर्शन बदस्तूर जारी रहा और आज महिला डिस्‍कस थ्रो में सीमा पूनिया ग्रुप बी में क्वालिफाइंग दौर में 20वें स्थान पर रहकर रियो ओलिंपिक से बाहर हो गईं जिन्‍होंने कठिन परिस्थितियों में 57.58 मीटर का थ्रो फेंका.

  • भारतीय डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया ने रियो ओलिंपिक के लिए सीट हासिल की

    भारतीय डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया ने रियो ओलिंपिक के लिए सीट हासिल की

    32 साल की सीमा अंतिल पूनिया डिस्कस थ्रो में रियो ओलिंपिक के लिए क्वालिफ़ाई कर लिया है। हरियाणा की इस एथलीट ने अमेरिका के केलिफोर्निया में चल रहे यंग थ्रोअर्स क्लासिक में स्वर्ण पदा जीतकर रियो के लिए टिकट हासिल कर लिया है।

  • एशियाई खेल : चक्का फेंक में सीमा ने दिलाया स्वर्ण

    भारतीय एथलीट सीमा पूनिया ने सोमवार को 17वें एशियाई खेलों की चक्का फेंक स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत लिया, वहीं कृष्णा पूनिया चौथे स्थान पर रहते हुए कांस्य पदक से चूक गईं।

  • राष्ट्रमंडल खेल : सीमा पूनिया को चक्का फेंक में रजत, कृष्णा ने किया निराश

    राष्ट्रमंडल खेल : सीमा पूनिया को चक्का फेंक में रजत, कृष्णा ने किया निराश

    सीमा पूनिया ने इस सत्र का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के चक्का फेंक में रजत पदक जीता, लेकिन पिछली बार की चैंपियन कृष्णा पूनिया निराशाजनक प्रदर्शन करके पांचवें स्थान पर रही।