NDTV Khabar

सुखबीर सिंह बादल


'सुखबीर सिंह बादल' - 101 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • नए कृष‍ि कानूनों के ख‍िलाफ प्रदर्शन कर रहीं हरसिमरत बादल चंडीगढ़ में प्रवेश करते वक्त गिरफ्तार

    नए कृष‍ि कानूनों के ख‍िलाफ प्रदर्शन कर रहीं हरसिमरत बादल चंडीगढ़ में प्रवेश करते वक्त गिरफ्तार

    अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल अमृतसर से एक मार्च का नेतृत्व किया, जबकि हरसिमरत कौर बादल बठिंडा से आई हैं. तीसरा जुलूस अकाली दल के नेताओं प्रेम सिंह चंदूमाजरा और दलजीत सिंह चीमा के नेतृत्व में आनंदपुर साहिब से शुरू हुआ था.

  • 'शर्मनाक राजनीतिक नौटंकी' अमरिंदर सिंह के धरने को लेकर सुखबीर सिंह बादल की तीखी टिप्पणी

    'शर्मनाक राजनीतिक नौटंकी' अमरिंदर सिंह के धरने को लेकर सुखबीर सिंह बादल की तीखी टिप्पणी

    शिरोमणि अकाली दल (SAD) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने सोमवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा खट्टर कलां में किए जा रहे विरोध प्रदर्शन को 'शर्मनाक राजनीतिक नौटंकी' करार दिया. बादल ने ट्विटर के माध्यम से कहा कि  "शहीद भगत सिंह स्मारक के लिए चर्चित खट्टर कलां में पंजाब के मुख्यमंत्री का धरना, शर्मनाक राजनीतिक नौटंकी है. यह बिलकुल अपमानजनक! उन्होंने कहा कि ये वही लोग थे जब वो ज़िंदा थे, तब  शहीद-ए-आज़म का विरोध करते थे. क्या अमरिंदर और कंपनी उनकी विचारधारा का कोई हिस्सा साझा करते हैं? या फिर यह केवल भावनाओं का ही शोषण कर रहे हैं,” 

  • दुखद, निराशाजनक है कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी मिलना : सुखबीर बादल

    दुखद, निराशाजनक है कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी मिलना : सुखबीर बादल

    बादल ने कहा, ‘किसानों के संपूर्ण हित में हम हर संघर्ष के लिए तैयार हैं.’’मालूम हो कि संसद से पारित कृषि संबंधित विधेयकों को किसान विरोधी बताते हुए भाजपा का सबसे पुराना सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (शिअद) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग हो गया है. पार्टी की वरिष्ठ नेता हरसिमरत कौर ने कैबिनेट मंत्री के पद से पहले ही इस्तीफा दे दिया था.

  • शिवसेना ने कृषि विधेयकों पर एनडीए छोड़ने पर शिरोमणि अकाली दल की सराहना की

    शिवसेना ने कृषि विधेयकों पर एनडीए छोड़ने पर शिरोमणि अकाली दल की सराहना की

    उन्होंने कहा शिवसेना और शिअद "राजग के स्तंभ" थे जो अब वहां नहीं हैं. राउत ने कहा कि केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन को राजग नहीं कहा जा सकता है. यह एक अलग गठबंधन है. भाजपा का लोकसभा में स्पष्ट बहुमत है.

  • बीजेपी शासित गठबंधन छोड़ने के बाद अकाली दल ने संयुक्त विपक्ष का किया आह्वान

    बीजेपी शासित गठबंधन छोड़ने के बाद अकाली दल ने संयुक्त विपक्ष का किया आह्वान

    तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट किया. "हम किसानों के लिए बादल और अकाली दल के समर्थन का समर्थन करते हैं. किसानों के लिए लड़ाई तृणमूल डीएनए का हिस्सा है. 2006 में, ममता बनर्जी ने किसानों के अधिकारों के लिए 26 दिन के उपवास पर अपना जीवन जोखिम में डाल दिया. हम कृषि बिलों का विरोध करते हैं क्योंकि वे न्यूनतम समर्थन मूल्य, सार्वजनिक वितरण प्रणाली और खरीद की राज्यों की भूमिका को खतरे में डालते हैं."

  • अकाली दल के NDA छोड़ने पर बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह, 'यह सिर्फ उनकी राजनीतिक मजबूरी थी'

    अकाली दल के NDA छोड़ने पर बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह, 'यह सिर्फ उनकी राजनीतिक मजबूरी थी'

    सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि अकाली दल भाजपा का सबसे पुराना सहयोगी था, लेकिन केंद्र ने किसानों की भावनाओं का सम्मान करने में उसकी बात नहीं सुनी.

  • शिरोमणि अकाली दल ने कहा-रबी की छह फसलों के लिए घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य अपर्याप्त

    शिरोमणि अकाली दल ने कहा-रबी की छह फसलों के लिए घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य अपर्याप्त

    शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने सोमवार को केंद्र सरकार द्वारा गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में की गई प्रति क्विंटल 50 रूपये की वृद्धि को खारिज कर दिया.

  • सुखबीर सिंह बादल ने कहा- बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों की चिंताओं पर विचार नहीं किया गया

    सुखबीर सिंह बादल ने कहा- बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों की चिंताओं पर विचार नहीं किया गया

    शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने शुक्रवार को कहा कि यह ‘‘बहुत दुभाग्यपूर्ण’’है कि भाजपा नीत केंद्र सरकार ने कृषि से संबंधित तीन विधेयकों पर किसानों की चिंताओं पर विचार नहीं किया.

  • किसान विधेयकों को लेकर केजरीवाल ने विपक्षी पार्टियों से की अपील- वॉकआउट का ड्रामा नहीं, राज्यसभा में...

    किसान विधेयकों को लेकर केजरीवाल ने विपक्षी पार्टियों से की अपील- वॉकआउट का ड्रामा नहीं, राज्यसभा में...

    लोकसभा में पास हो चुके तीन किसान विधेयकों को लेकर अरविंद केजरीवाल भी मैदान में आ गए हैं. केजरीवाल ने किसानों के विरोध-प्रदर्शन के समर्थन में उतरते हुए कहा कि केंद्र सरकार के ये विधेयक किसानों को बड़ी कंपनियों के हाथों शोषण के लिए छोड़ देंगे. उन्होंने सभी विपक्षी पार्टियों से राज्यसभा में एकजुट होकर इसका विरोध करने को कहा. 

  • BJP का सबसे पुराना सहयोगी अकाली दल क्यों है नाराज़...? समझिए, किसान विधेयक से जुड़े विवाद को

    BJP का सबसे पुराना सहयोगी अकाली दल क्यों है नाराज़...? समझिए, किसान विधेयक से जुड़े विवाद को

    भारतीय जनता पार्टी की पुरानी सहयोगी शिरोमणि अकाली दल पार्टी से जबरदस्त नाराज चल रही है. यहां तक कि अकाली दल की नेता और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कृषि से जुड़े तीन विधेयकों के विरोध में गुरुवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा तक दे दिया. उन्होंने लोकसभा में इन विधेयकों के पारित होने से महज कुछ ही घंटे पहले ट्वीट किया, ‘मैंने किसान विरोधी अध्यादेशों और विधेयकों के विरोध में केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है. किसानों की बेटी और बहन के तौर पर उनके साथ खड़े होने पर गर्व है.’ वहीं दल के प्रमुख और उनके पति सुखबीर सिंह बादल लगातार इन विधेयकों को लेकर कड़ा विरोध कर रहे हैं. यहां तक कि उन्होंने यह भी कहा है कि उनकी पार्टी एनडीए में बने रहने पर बाद में फैसला करेगी. लेकिन आखिर मामला इतना बढ़ क्यों गया है और क्या हैं वो विधेयक, जिन पर पार्टी इस कदर विरोध पर उतर आई है.

  • सुखबीर बादल ने कहा - किसानों के लिए कोई भी कुर्बानी देंगे, NDA में बने रहने पर बाद में लेंगे फैसला

    सुखबीर बादल ने कहा - किसानों के लिए कोई भी कुर्बानी देंगे, NDA में बने रहने पर बाद में लेंगे फैसला

    कृषि अध्‍यादेशों को लेकर राजनीति तेज हो गयी है. राष्‍ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (NDA) में बीजेपी के सबसे पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के कोटे से मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने इस मुद्दे पर इस्‍तीफा दे दिया है.

  • पंजाब में अकाली नेता की गोली मारकर हत्या, सुखबीर सिंह बादल बोले- लॉकडाउन में राजमीतिक हत्याएं बेरोक-टोक जारी...

    पंजाब में अकाली नेता की गोली मारकर हत्या, सुखबीर सिंह बादल बोले- लॉकडाउन में राजमीतिक हत्याएं बेरोक-टोक जारी...

    पुलिस के मुताबिक, यह घटना रविवार शाम चक कुलियां गांव में हुई, जब मंजोत (24) और उनके दो दोस्तों ने जोगिंदर सिंह नाम के एक व्यक्ति को रेत से एक तालाब भरने से रोकने की कोशिश की. इस मुद्दे को लेकर मंजोत और जोगिंदर के बीच कहा-सुनी हो गई. इस बीच, जोगिंदर का बेटा गुरदीप सिंह अपने घर से एक पिस्तौल लेकर आया और उसने मंजोत एवं उसके दोस्तों पर कथित तौर पर गोली चला दी. मृतक के एक रिश्तेदार ने यह आरोप लगाया है. 

  • 2022 में BJP-SAD अलग-अलग लड़ेंगी पंजाब विधानसभा चुनाव? सुखबीर सिंह बादल ने दिया ये जवाब...

    2022 में BJP-SAD अलग-अलग लड़ेंगी पंजाब विधानसभा चुनाव? सुखबीर सिंह बादल ने दिया ये जवाब...

    सीएए के मुद्दे पर बादल ने कहा कि उनकी पार्टी इस कानून के पक्ष में है इसलिए उसने उसके पक्ष में वोट दिया लेकिन साथ ही वह यह भी चहती है कि मुसलमानों को भी उसमें शामिल किया जाए. जब भाजपा ने SAD से इस कानून पर अपना रूख बदलने को कहा था तब उसने ऐलान किया था कि वह आगामी दिल्ली चुनाव नहीं लड़ेगा.

  • CM अमरिंदर ने CAA को लेकर अकाली दल को दी NDA छोड़ने की चुनौती, तो SAD ने ऐसे किया पलटवार

    CM अमरिंदर ने CAA को लेकर अकाली दल को दी NDA छोड़ने की चुनौती, तो SAD ने ऐसे किया पलटवार

    पंजाब में कांग्रेस प्रमुख सुनील जाखड़ ने कहा कि दिल्ली में SAD और भाजपा के बीच गठबंधन न होना भाजपा की SAD के मौजूदा नेतृत्व से दूरी बनाने की ‘सोची-समझी रणनीति’ का हिस्सा है. जाखड़ ने आरोप लगाया कि SAD के मौजूदा नेतृत्व से दूरी बरतने की यह भाजपा की सोची समझी रणनीति है, क्योंकि मादक पदार्थों की तस्करी और बेअदबी के दाग के चलते यह उन पर बोझ बन गए हैं.

  • NDA के एक और दल ने जाहिर की नाराजगी, कहा- CAA-NRC को लेकर गठबंधन की ज्यादातर पार्टियां नाखुश

    NDA के एक और दल ने जाहिर की नाराजगी, कहा- CAA-NRC को लेकर गठबंधन की ज्यादातर पार्टियां नाखुश

    जेडीयू और लोजपा के बाद अब शिरोमणि अकाली दल ने भी इस बिल में मुसलमानों को शामिल करने की मांग की है.  शिरोमणि अकाली दल के नेता नरेश गुजराल ने NDTV से बातचीत में कहा कि हम एनआरसी के पक्ष में नहीं है और सुखबीर सिंह बादल ने सदन में भी इस बात को रखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री से अपील की है कि इस संशोधित नागरिकता कानून में मुसलमानों को भी शामिल किया जाए. 

  • इस मुद्दे पर ट्विटर पर भिड़े कैप्टन अमरिंदर और सुखबीर सिंह बादल

    इस मुद्दे पर ट्विटर पर भिड़े कैप्टन अमरिंदर और सुखबीर सिंह बादल

    इसकी शुरुआत तब हुई जब शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष बादल ने शुक्रवार को एसवाईएल मुद्दे पर नयी दिल्ली में हुई पंजाब, हरियाणा और केंद्र सरकार के अधिकारियों की बैठक के मद्देनजर अपने ट्विटर हैंडल से मुख्यमंत्री को 'इस विवादास्पद मुद्दे को लेकर किसी भी दबाव में नहीं झुकने' के लिये चेतावनी देनी चाही.

  • Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 बड़े चेहरे जिनकी किस्मत आज EVM में हो जाएगी कैद

    Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 बड़े चेहरे जिनकी किस्मत आज EVM में हो जाएगी कैद

    रविवार यानी आज लोकसभा चुनावों के आखिरी चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है. कुल 59 सीटों पर आज मतदान हो रहा है. वोटों की गिनती 23 मई को होगी. खास बात ये है कि आज पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी वोट डाले जा रहे हैं, जहां से पीएम दोबारा उम्मीदवार हैं. आज के मतदान से कई बड़े नेताओं की किस्मत का चुनाव होगा जिनमें पीएम मोदी, शत्रुघ्न सिन्हा, सुखबीर सिंह बादल, मनीष तिवारी, किरण खेर अभिषेक बनर्जी, सनी देओल, मीसा भारती, रविशंकर प्रसाद और रवि किशन प्रमुख हैं. सातवें चरण में पंजाब में 13, उत्तर प्रदेश में 13, पश्चिम बंगाल में नौ, बिहार और मध्य प्रदेश में आठ-आठ, हिमाचल प्रदेश में चार, झारखंड में तीन और चंडीगढ़ की एकमात्र लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है. इस चरण में 918 उम्मीदवार अपने किस्मत आजमा रहे हैं. रविवार को ही पणजी विधानसभा सीट के लिए वोट डाले जा रहे हैं, जो पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद रिक्त हो गई थी. इसके साथ ही तमिलनाडु की चार विधानसभा सीटों-सुलूर, अरवाकुरुचि, ओत्तापिदरम (सुरक्षित) और तिरुपरंकुंद्रम पर भी रविवार को उपचुनाव होगा. यूपी में वाराणसी के अलावा गाजीपुर, मिर्जापुर, महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, चंदौली और रॉबर्ट्सगंज सीटों के लिये मतदान शुरू हो चुका है.

  • Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 करोड़ से ज्यादा वोटर करेंगे 918 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला, जानिए 11 बड़ी बातें

    Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 करोड़ से ज्यादा वोटर करेंगे 918 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला, जानिए 11 बड़ी बातें

    19 मई यानी आज लोकसभा चुनावों के आखिरी चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है. आज का चुनाव इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि आज पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी वोट डाले जा रहे हैं, जहां से पीएम दोबारा उम्मीदवार हैं. कुल 59 सीटों पर आज मतदान हो रहा है. वोटों की गिनती 23 मई को होगी. सातवें चरण में पंजाब में 13, उत्तर प्रदेश में 13, पश्चिम बंगाल में 9, बिहार और मध्य प्रदेश में 8-8, हिमाचल प्रदेश में 4, झारखंड में 3 और चंडीगढ़ की एक मात्र लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है. रविवार को ही पणजी विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव है जो पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद खाली हो गई थी. आज के मतदान से कई बड़े नेताओं की किस्मत का चुनाव होगा जिनमें केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा, यूपी भाजपा के मुखिया महेंद्र नाथ पांडेय, सुखबीर सिंह बादल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, हरदीप सिंह पुरी, किरण खेर, पवन सिंह बंसल, सनी देओल, शत्रुघ्न सिन्हा और भगवंत मान समेत कई प्रमुख नाम हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com