NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई


'सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • जम्‍मू-कश्‍मीर : SG ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- 70 साल के बाद अधिकार छीने नहीं गए बल्कि प्रदान किए गए

    जम्‍मू-कश्‍मीर : SG ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- 70 साल के बाद अधिकार छीने नहीं गए बल्कि प्रदान किए गए

    Jammu Kashmir : मामले पर सुनवाई के दौरान SG ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि मैं उन अधिकारों को उन्‍हें दिखाना चाहता हूं जो छीने नहीं गए बल्कि पहली बार प्रदान किए गए. यह उनकी सुरक्षा और देश की सुरक्षा के लिए है.

  • कश्मीर में लगी पाबंदियों पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मुद्दे की गंभीरता के बारे में जानते हैं

    कश्मीर में लगी पाबंदियों पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मुद्दे की गंभीरता के बारे में जानते हैं

    पीठ ने इन याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान जम्मू कश्मीर प्रशासन का प्रतिनिधित्व कर रहे सालिसीटर जनरल तुषार मेहता अथवा किसी भी अतिरिक्त सालिसीटर जनरल के न्यायालय में उपस्थित नहीं रहने पर अप्रसन्नता व्यक्त की. पीठ ने कहा, ‘हम यह स्पष्ट कर रहे हैं कि किसी भी आधार पर मामले को स्थगित नहीं किया जाएगा. बेहतर होगा कि सालिसीटर जनरल इस मामले में पेश हों और बहस करें.'

  • INX मीडिया मामला: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम, जल्द सुनवाई के लिए तैयार हुआ कोर्ट

    INX मीडिया मामला: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम, जल्द सुनवाई के लिए तैयार हुआ कोर्ट

    INX मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में जमानत की अर्जी दी है और दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है. इस मामले में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और वकील कपिल सिब्बल ने जल्द सुनवाई की मांग की है. सिब्बल ने कहा कि चिदंबरम पहले से 90 दिनों से जेल में हैं. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द सुनवाई को तैयार है.

  • आरे में पेड़ कटाई का मामला अब 16 दिसंबर को होगी सुनवाई, फिलहाल मेट्रो कारशेड का निर्माण कार्य चलता रहेगा

    आरे में पेड़ कटाई का मामला अब 16 दिसंबर को होगी सुनवाई, फिलहाल मेट्रो कारशेड का निर्माण कार्य चलता रहेगा

    मुंबई नगर निगम की ओर से मुकुल रोहतगी ने बताया कि पेड़ों की कटाई और पौधे लगाने व उनके बचने की संभावना समेत विस्तृत ब्योरा अदालत को सौंपा गया. कोर्ट को इससे जुड़े तस्वीर भी उपलब्ध करवाए गए. वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि अब तक 20900 पौधे लगाए जा चुके हैं.

  • झारखंड: विधानसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे पूर्व सीएम मधु कोड़ा, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

    झारखंड: विधानसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे पूर्व सीएम मधु कोड़ा, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

    झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को बड़ा झटका लगा है. अब वह झारखंड विधानसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अभी उनकी अयोग्यता का एक साल और बकाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अभी मधु कोड़ा चुनाव नहीं लड़ सकते. हालांकि चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया गया है. कोर्ट ने कहा कि आपकी याचिका पर मेरिट पर सुनवाई करेंगे. कोर्ट ने यह भी कहा कि आप खुद ही देरी के जिम्मेदार हैं. मधु कोड़ा की अयोग्यता के खिलाफ अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट ने ये बात कही है. बता दें कि झारखंड में 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक चुनाव होने हैं.

  • महाराष्ट्र: शिवसेना, NCP-कांग्रेस द्वारा सरकार बनाने के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई से SC का इंकार

    महाराष्ट्र: शिवसेना, NCP-कांग्रेस द्वारा सरकार बनाने के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई से SC का इंकार

    कोर्ट ने कहा कि इस मामले में जल्द सुनवाई की ज़रूरत नहीं है, और कोर्ट ने कहा कि सामान्य लिस्ट के हिसाब से ही मामला सुनवाई पर आएगा. दरसअल अखिल भारत हिन्दू महासभा के नेता प्रमोद जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा है कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच चुनाव के नतीजे के बाद का गठबंधन असंवैधानिक है. 

  • सबरीमाला के साथ मुस्लिम और पारसी महिलाओं से भेदभाव पर भी होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

    सबरीमाला के साथ मुस्लिम और पारसी महिलाओं से भेदभाव पर भी होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

    सुप्रीम कोर्ट की सात सदस्यीय संविधान पीठ अब केवल सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश से जुड़े मामले की सुनवाई ही नहीं, बल्कि मस्जिदों और दरगाहों में मुस्लिम महिलाओं का प्रवेश और विवाहित पारसी महिलाओं के साथ भेदभाव जैसी प्रथा पर भी सुनवाई करेगी.

  • राफेल, राहुल और सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, पढ़ें- 10 खास बातें

    राफेल, राहुल और सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, पढ़ें- 10 खास बातें

    सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने गुरुवार को तीन अहम मामलों पर सुनवाई की और फैसला सुनाया. एक तरफ कोर्ट ने सबरीमाला में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे (Sabarimala Case) को लेकर दाखिल की गई पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई की और इस मामले को 7 जजों की संविधान पीठ के पास भेज दिया. कोर्ट ने यह फैसला 3-2 के बहुमत किया. तो, दूसरी तरफ कोर्ट ने केंद्र सरकार को राफेल मामले में बड़ी राहत दी. कोर्ट ने राफेल डील पर सरकार को क्लीन चिट देने के अपने निर्णय पर पुनर्विचार की मांग कर रही सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया. ये याचिकाएं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी तथा कार्यकर्ता-वकील प्रशांत भूषण समेत कुछ अन्य लोगों ने दाखिल की थी. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भी बड़ी राहत दी और उनके खिलाफ चल रहे अवमानना मामले को बंद कर दिया. हालांकि SC ने राहुल को सख़्त लहजे में चेतावनी भी दी और कहा कि कोर्ट को किसी भी राजनीतिक बयानबाजी में शामिल न करें. आइये आपको बताते हैं सबरीमाला, राफेल और राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से जुड़ी 10 खास बातें....

  • माफीनामा देने के बाद SC ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना का मामला बंद किया, भविष्य में सतर्क रहने की चेतावनी दी

    माफीनामा देने के बाद SC ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना का मामला बंद किया, भविष्य में सतर्क रहने की चेतावनी दी

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का मामला बंद हो गया है. जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी का माफीनामा स्वीकार कर लिया और इसके बाद मामला बंद कर दिया. मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को चेतावनी दी और कहा कि राजनीतिक बयानबाजी में कोर्ट को न घसीटें.

  • सुप्रीम कोर्ट आज सबरीमाला और राफेल डील पर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनाएगा फैसला

    सुप्रीम कोर्ट आज सबरीमाला और राफेल डील पर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनाएगा फैसला

    सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) आज सबरीमाला में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे को लेकर दाखिल की गई पुनर्विचार याचिकाओं और राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर शीर्ष अदालत के 2018 के आदेश पर पुनर्विचार के लिए दाखिल याचिका पर फैसला सुनाएगी.

  • अयोग्य घोषित किए गए कर्नाटक के विधायकों पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला, 10 बड़ी बातें

    अयोग्य घोषित किए गए कर्नाटक के विधायकों पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला, 10 बड़ी बातें

    सुप्रीम कोर्ट आज कर्नाटक के उन 17 विधायकों की किस्मत का फैसला कर सकता है जिन्हें पहले अयोग्य घोषित कर दिया गया था. बता दें कि इन विधायकों के विद्रोह की वजह से उस समय जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार गिर गई थी. और बाद में बीजेपी ने बीएस येदियुरप्पा की अगुवाई में राज्य में सरकार बनाई थी.  कोर्ट आज की सुनवाई में यह फैसला करेगा कि क्या स्पीकर द्वारा इन विधायकों को अयोग्य घोषित करना सही है या नहीं. और क्या इन्हें आगे चुनाव लड़ने से रोकना उचित है या नहीं. 

  • Bigg Boss से बाहर आते ही अयोध्या मामले पर तहसीन पूनावाला का आया रिएक्शन, बोले- मैं बहस करूंगा...

    Bigg Boss से बाहर आते ही अयोध्या मामले पर तहसीन पूनावाला का आया रिएक्शन, बोले- मैं बहस करूंगा...

    अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में बीते 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया. इसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि राम मंदिर (Ram Mandir) विवादित स्थल पर बनेगा और मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या में पांच एकड़ जमीन अलग से दी जाएगी.

  • 26 नवंबर को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अयोध्या में 5 एकड़ जमीन लेने पर फैसला करेगा

    26 नवंबर को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अयोध्या में 5 एकड़ जमीन लेने पर फैसला करेगा

    Ayodhya News: सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड उत्तर प्रदेश सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर अयोध्या में 5 एकड़ जमीन लेने के मामले पर 26 नवंबर को प्रस्तावित अपनी बैठक में फैसला करेगा. बोर्ड के अध्यक्ष जफर फारूकी ने रविवार को बातचीत में कहा कि बोर्ड की सामान्य बैठक आगामी 26 नवंबर को संभावित है. उसमें ही यह निर्णय लिया जाएगा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार अयोध्या में सरकार द्वारा दी जाने वाली पांच एकड़ जमीन ली जाए या नहीं.

  • Ayodhya Verdict: इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला ‘कानूनी रूप से टिकाऊ’ नहीं था: सुप्रीम कोर्ट

    Ayodhya Verdict: इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला ‘कानूनी रूप से टिकाऊ’ नहीं था: सुप्रीम कोर्ट

    सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में रामलला विराजमान को विवादित जमीन देने का फैसला किया था. इस फैसले के साथ ही रामलला को 2.77 एकड़ जमीन मिलेगी. यह फैसला सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच ने सुनाया था. इस बेंच में CJI रंजन गोगोई भी शामिल थे. फैसले के दौरान कोर्ट ने कहा कि हमारे सामने जो सबूत रखे गए वह बताता है कि विवादित जमीन हिंदुओं की है.

  • सुनवाई के बाद सीट से उठते ही भूल जाता हूं अदालत की बातें : जस्टिस बोबडे

    सुनवाई के बाद सीट से उठते ही भूल जाता हूं अदालत की बातें  : जस्टिस बोबडे

    अयोध्या जैसे अत्यधिक दबाव वाले मामलों में मैराथन सुनवाई करने वाली पीठ में शामिल न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे का कहना है कि इन मामलों की सुनवाई को सहजता से लेते हैं और उनको इन सब चीजों से ज्यादा तनाव नहीं होता है. जब अदालत का माहौल गर्म होता है, दोनों पक्षों के वकीलों की ओर से तर्कों की बौछार हो रही होती है, तो ऐसे में स्वयं को तनाव-मुक्त रखने को लेकर बोबडे ने कहा कि सुनवाई के बाद जब मैं सीट से उठता हूं, तो मैं उस पल को भूल जाता हूं, जिससे मुझे तनाव नहीं होता.

  • अयोध्या पर आए फैसले पर बोले महात्मा गांधी के प्रपौत्र - अगर गांधी की हत्या मामले में आज फैसला आता तो गोड्से हत्यारे लेकिन...

    अयोध्या पर आए फैसले पर बोले महात्मा गांधी के प्रपौत्र - अगर गांधी की हत्या मामले में आज फैसला आता तो गोड्से हत्यारे लेकिन...

    तुषार गांधी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ‘अगर गांधी की हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट आज फिर से सुनवाई करे तो फैसला यही होगा कि नाथूराम गोड्से एक हत्यारे थे लेकिन वह देशभक्त भी थे।’

  • Ayodhya Verdict: अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसने क्या कहा, पढ़ें सबकी प्रतिक्रिया

    Ayodhya Verdict: अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसने क्या कहा, पढ़ें सबकी प्रतिक्रिया

    Ayodhya News: फैसले के बाद राजनेताओं ने अपने ट्विटर अकाउंट प्रतिक्रिया व्यक्त की है. अरविंद केजरीवाल, उमा भारती, नितिन गडकरी, शिवराज सिंह चौहान समेत तमाम नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान और लोगों से भाईचारा बनाए रखने के लिए कहा. बता दें कि 5 जजों की बेंच ने 16 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई पूरी की थी.

  • Ayodhya Case : जमीन के मालिकाना हक पर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला

    Ayodhya Case : जमीन के मालिकाना हक पर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला

    Ayodhya Case: अयोध्या में सारी बहस और तथ्यों के बीच आज सिर्फ इस बात का जवाब मिलेगा कि विवादित जमीन पर मालिकाना हक किसका है. अदालत में फैसला सिर्फ इसी बात का होना है. कोर्ट में बहस के दौरान दलीलें भी इसी बात को लेकर दोनों पक्षों की ओर से दी गई हैं. संविधान सभा का आज का फैसला सिर्फ इसी बात पर टिका हुआ है और इस सवाल का जवाब आते ही इस 100 साल से ज्यादा पुराने इस विवाद से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे. हालांकि यह फैसला इस मामले पर अंतिम फैसला नहीं होगा, इसके बाद रिव्यू पिटीशन दाखिल की जा सकेगी. रिव्यू पिटीशन यानी कि पुनर्विचार याचिका उसी बेंच के पास आती है जो बेंच फैसला सुनाती है. जस्टिस रंजन गोगोई की इस बेंच में उनके अलावा जस्टिस शरद अरविंद बोबडे, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एस अब्दुल नजीर शामिल हैं. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. यदि 17 नवंबर के पहले पुनर्विचार याचिका आती है तो इसे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की बेंच ही सुनेगी. लेकिन यदि यह पिटीशन इसके बाद आई तो अगले चीफ जस्टिस तय करेंगे कि रिव्यू पिटीशन पर सुनवाई के लिए मौजूदा पीठ में जस्टिस गोगोई की जगह पांचवा जज कौन होगा. सुप्रीम कोर्ट यह भी तय करेगा कि रिव्यू पिटीशन पर सुनवाई की जाए या नहीं की जाए.