NDTV Khabar

सुरक्षा व्यवस्था


'सुरक्षा व्यवस्था' - 290 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अनंत चतुर्दशी पर मुंबई में कड़े सुरक्षा इंतजाम, 40 हजार पुलिस जवानों की तैनाती

    अनंत चतुर्दशी पर मुंबई में कड़े सुरक्षा इंतजाम, 40 हजार पुलिस जवानों की तैनाती

    गुरुवार को अनंत चतुर्दशी को गणेश विसर्जन के दिन मुंबई पुलिस की तरफ से कड़ा सुरक्षा बंदोबस्त किया गया है. सभी पुलिस वालों की साप्ताहिक छुट्टी रद्द कर दी गई है. तकरीबन 40 हजार पुलिस फोर्स शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सड़कों पर होगी. इसके अलावा SRPF, QRT, FORCE ONE, RAF और होम गॉर्ड भी तैनात रहेंगे. 5000 सीसीटीवी कैमरों के साथ भीड़ पर निगरानी के लिए 3 ड्रोन का भी इस्तेमाल किया जाएगा.

  • असम में NRC सूची जारी करने के बाद अब मुंबई के पास हिरासत केंद्र बनाने की तैयारी में सरकार: सूत्र

    असम में NRC सूची जारी करने के बाद अब मुंबई के पास हिरासत केंद्र बनाने की तैयारी में सरकार: सूत्र

    असम में कड़ी सुरक्षा के बीच 31 अगस्त को एनआरसी लिस्ट जारी कर दी गई थी. एनआरसी के समन्वयक प्रतीक हजेला ने बताया था कि 3,11,21,004 लोगों को लिस्ट में शामिल किया गया है. जबकि 19,06,657 लोगों को लिस्ट में जगह नहीं दी गई है. इसमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोई दावा नहीं किया है. उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोग इससे सहमत नही हैं वे ट्रिब्युनल में अपील कर सकते हैं. सुरक्षा के मद्देनज़र राज्य के कई इलाक़ों में धारा 144 भी लगाई गई है. जिन लोगों के नाम अंतिम सूची में नहीं होंगे उनकी सुरक्षा की भी व्यवस्था की गई है.

  • असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 19.06 लाख लोग हुए बाहर, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 19.06 लाख लोग हुए बाहर, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    Assam NRC List 2019: असम में कड़ी सुरक्षा के बीच एनआरसी लिस्ट (Assam NRC list) जारी कर दी गई है. एनआरसी के समन्वयक प्रतीक हजेला ने बताया है कि 3,11,21,004 लोगों को लिस्ट में शामिल किया गया है. जबकि 19,06,657 लोगों को लिस्ट में जगह नहीं दी गई है. इसमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोई दावा नहीं किया है. उन्होंने यह भी कहा है कि जो लोग इससे सहमत नही हैं वे ट्रिब्युनल में अपील कर सकते हैं. सुरक्षा के मद्देनज़र राज्य के कई इलाक़ों में धारा 144 भी लगाई गई है. जिन लोगों के नाम अंतिम सूची में नहीं होंगे उनकी सुरक्षा की भी व्यवस्था की गई है. पिछले साल आई एनआरसी की ड्राफ़्ट सूची में क़रीब 40 लाख लोगों के नाम नहीं थे. जिसके बाद एक कमेटी बनाई गई और आज फ़ाइनल लिस्ट जारी की गई. इस नई लिस्ट में ड्राफ़्ट सूची से बाहर किए गए क़रीब 21 लाख लोगों के नाम जोड़ दिए गए हैं. इस लिस्ट में जिनका नाम है वही देश के नागरिक माने जाएंगे और जिनका नाम नहीं होगा वो विदेशी माने जाएंगे.

  • असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 3.11 करोड़ लोगों के नाम शामिल, जबकि 19.06 लाख लोग हुए बाहर

    असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 3.11 करोड़ लोगों के नाम शामिल, जबकि 19.06 लाख लोग हुए बाहर

    इसमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोई दावा नहीं किया है. उन्होंने यह भी कहा है कि जो लोग इससे सहमत नही हैं वे ट्रिब्युनल में अपील कर सकते हैं. सुरक्षा के मद्देनज़र राज्य के कई इलाक़ों में धारा 144 भी लगाई गई है. जिन लोगों के नाम अंतिम सूची में नहीं होंगे उनकी सुरक्षा की भी व्यवस्था की गई है.

  • पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने श्रीलंका, न्यूजीलैंड और अजरबेजान के सामने कश्मीर मुद्दा उठाया

    पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने श्रीलंका, न्यूजीलैंड और अजरबेजान के सामने कश्मीर मुद्दा उठाया

    विदेश मंत्रालय ने कहा कि कुरैशी ने कहा कि कश्मीर में भारत द्वारा उठाए गए कदम क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा हैं. इस बीच, पाकिस्तानी सेना की मीडिया इकाई ने भारत के साथ तनाव के बीच नियंत्रण रेखा पर विदेशी मीडिया के दौरे की बृहस्पतिवार को व्यवस्था की. 

  • कश्मीर को लेकर उर्मिला मातोंडकर ने जताई चिंता, कहा- अनुच्छेद 370 अमानवीय तरीके से हटाया गया

    कश्मीर को लेकर उर्मिला मातोंडकर ने जताई चिंता, कहा- अनुच्छेद 370 अमानवीय तरीके से हटाया गया

    अभिनेत्री से नेता बनीं उर्मिला मातोंडकर ने अनुच्छेद-370 हटाए जाने के बाद जम्मू कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी किए जाने पर केंद्र पर निशाना साधा है.  उन्होंने बताया कि उनके पति पिछले 22 दिनों से कश्मीर में रह रहे अपने माता-पिता से बात नहीं कर पाए हैं.

  • गृहमंत्री अमित शाह बोले- भारत को 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में सुरक्षा अहम

    गृहमंत्री अमित शाह बोले- भारत को 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में सुरक्षा अहम

    उन्होंने कहा कि देशभर में लगभग 34,000 पुलिसकर्मियों ने कानून व्यवस्था कायम रखने में अपने प्राण गंवाए हैं, जिससे पुलिस बल पर विश्वास बढ़ा है. उन्होंने पुलिसकर्मियों से उनके साथियों द्वारा किए गए अच्छे कामों को आगे ले जाने का आग्रह किया.

  • 19 साल पहले दिया गया था ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ’ का प्रस्ताव, आज PM मोदी ने किया लाल किले से ऐलान

    19 साल पहले दिया गया था ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ’ का प्रस्ताव, आज PM मोदी ने किया लाल किले से ऐलान

    वर्ष 1999 में हुए कारगिल युद्ध के बाद देश की सुरक्षा व्यवस्था में कमियों का पता लगाने के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की नियुक्ति की पैरवी की थी. राष्ट्रीय सुरक्षा व्यवस्था में जरूरी सुधारों का विश्लेषण कर रहे एक मंत्री समूह ने भी चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की नियुक्ति की पैरवी की थी. वर्ष 2012 में ‘नरेश चंद्र टास्क फोर्स’ ने चीफ्स ऑफ स्टॉफ कमेटी के स्थायी प्रमुख का पद सृजित करने की अनुशंसा की थी.

  • भारी सुरक्षा बंदोबस्त और आतंकी खतरे के बीच स्वतंत्रता दिवस के लिए तैयार है जम्मू कश्मीर

    भारी सुरक्षा बंदोबस्त और आतंकी खतरे के बीच स्वतंत्रता दिवस के लिए तैयार है जम्मू कश्मीर

    घाटी में करीब एक से डेढ़ लाख सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है. तनाव की स्थिति के मद्देनजर घाटी को हाई अलर्ट पर रखा गया है. सभी अधिकारियों को घाटी में चिह्नित क्षेत्र दे दिए गए हैं. जहां उन्हें अगले 24 घंटों में पैनी निगाह बनाए रखनी है. एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने एनडीटीवी से बात करते हुए बताया कि राज्य के हर जिले में स्वतंत्रता दिवस मनाने की व्यवस्था की गई है.

  • ईद के मद्देनजर जम्मू कश्मीर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, प्रशासन ने किए ये खास इंतजाम

    ईद के मद्देनजर जम्मू कश्मीर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, प्रशासन ने किए ये खास इंतजाम

    देशभर में आज ईद की खुशियां मनाई जा रही हैं. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में ईद-उल-अजहा (Eid Ul Adha) के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है. ईद पर नमाज के दौरान कड़ी सुरक्षा रहेगी.

  • कश्मीर में अगले 3 दिन रुकेंगे NSA अजीत डोभाल, आम लोगों से मिलते नजर आए

    कश्मीर में अगले 3 दिन रुकेंगे NSA अजीत डोभाल, आम लोगों से मिलते नजर आए

    इसके साथ ही सरकार सोमवार को आने वाले बकरीद पर मौजूदा सुरक्षा व्यवस्था पर ही भरोसा कर रही है. डोभाल के लिए व्यक्तिगत रूप से और आधिकारिक रूप से बहुत कुछ दांव पर लगा है. अब तक लॉकडाउन एक बड़ी सफलता रही है और स्थानीय आबादी और पाकिस्तान के बीच संपर्क को तोड़कर भारत ने एक बड़ी राजनीतिक और कूटनीतिक जीत हासिल की है.

  • जम्मू-कश्मीर में लगे कर्फ्यू के बीच राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दिया बड़ा बयान, कहा- ईद पर तो हम....

    जम्मू-कश्मीर में लगे कर्फ्यू के बीच राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दिया बड़ा बयान, कहा- ईद पर तो हम....

    बता दें कि इससे पहले मोदी सरकार द्वारा संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार रात सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की थी. इस दौरान उन्होंने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए निरंतर सतर्कता बरतने और तैयारी की आवश्यकता पर जोर दिया था. राजभवन के प्रवक्ता ने बताया था कि सरकार ने शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की और राज्य में मौजूदा सुरक्षा और कानून व्यवस्था की समीक्षा की.

  • कश्मीर में आंशिक रूप से बहाल की गई फोन और इंटरनेट सेवा, जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील

    कश्मीर में आंशिक रूप से बहाल की गई फोन और इंटरनेट सेवा, जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील

    केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद वहां की स्थिति पर नजर रखने के लिए काफी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं. श्रीनगर में जामा मस्जिद का मुख्य गेट बंद था, इससे लगता है कि शहर की मुख्य मस्जिद में नमाज की संभावना कम है. हालांकि, अधिकारियों ने बताया कि शहर के भीतरी हिस्सों में स्थित छोटी मस्जिदों में नमाज पढ़ने की मंजूरी दी जाएगी. हालांकि, व्यवस्था बनाए रखने के लिए काफी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है.

  • सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को जम्मू कश्मीर और भारत-पाक सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था पर दी जानकारी

    सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को जम्मू कश्मीर और भारत-पाक सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था पर दी जानकारी

    संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने भारत और पाकिस्तान से अत्यधिक संयम बरतने को कहा और शिमला समझौते का जिक्र किया जो इस मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता को नकारता है.  गुतारेस का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया है. पाकिस्तान ने भारत के इस कदम को ‘‘एकपक्षीय और अवैध’’ करार देते हुए कहा है कि वह इस मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ले जाएगा.    गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि महासचिव जम्मू कश्मीर में स्थिति पर नजर रख रहे हैं और अत्यधिक संयम बरतने की मांग करते हैं. दुजारिक ने खास तौर पर कहा कि महासचिव ने भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर 1972 में हुए शिमला समझौते का जिक्र किया जो यह कहता है कि जम्मू कश्मीर पर कोई भी हल संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के मुताबिक शांतिपूर्ण तरीके से निकाला जाएगा.    गुतारेस ने यह भी कहा कि सभी पक्ष ऐसे कदम उठाने से बचें जो जम्मू कश्मीर की स्थिति को प्रभावित करते हों. 

  • कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट रोका गया

    कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट रोका गया

    जम्मू-कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया है. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से वहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है. कई इलाकों में धारा 144 लगाई गई है. केंद्र सरकार ने धारा 370 हटाने के साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांटते हुए जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया.

  • अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद अगले एक हफ्ते में क्‍या होगा कश्‍मीर में?

    अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद अगले एक हफ्ते में क्‍या होगा कश्‍मीर में?

    जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद-370 को हटाये जाने के बाद राज्य में धारा 144 लागू है. फ़ैसले के बाद से ही श्रीनगर में भारी संख्या में सुरक्षाबल नजर आ रहे हैं. उमर अब्‍दुल्‍ला और महबूबा मुफ्ती और सज्‍जाद लोन सहित राज्‍य की मुख्‍यधारा के कई नेताओं सहित करीब 500 लोग अब तक हिरासत में हैं.

  • एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ाने के लिए एडवाइजरी जारी, दिल्ली-मुंबई समेत इन जगहों पर सख्ती

    एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ाने के लिए एडवाइजरी जारी, दिल्ली-मुंबई समेत इन जगहों पर सख्ती

    इन सभी एयरपोर्ट को सुरक्षा जांच बढ़ाने, पेट्रोलिंग बढ़ाने और आतंकी हमलों को रोकने के लिए सुरक्षा व्यवस्था के और कड़े कदम उठाने को कहा गया है. 

  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद दिल्ली मेट्रो, हरियाणा-हिमाचल और मथुरा-नोएडा में हाई अलर्ट

    जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद दिल्ली मेट्रो, हरियाणा-हिमाचल और मथुरा-नोएडा में हाई अलर्ट

    जम्मू-कश्मीर पर केंद्र सरकार के ऐतिहासिक फैसले के बाद किसी भी संभावित अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए गृह मंत्रालय से मिले दिशा-निर्देशों के अनुसार मथुरा में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है तथा पुलिस के आला अफसर खुद सड़कों पर उतरकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं.  इसके अलावा मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पुलिस बलों को सतर्क कर फ्लैग मार्च कराया गया. गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के बाद राज्य के संवेदनशील इलाकों में सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए गए थे. इसके बाद मथुरा के आला अफसरों ने पूरे जनपद में तत्काल अलर्ट जारी कर सभी धर्मस्थलों एवं अधिक भीड़-भाड़ वाले स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद कर दिया है. मथुरा के जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शलभ माथुर ने बताया, ‘देश में बदली परिस्थितियों के बीच जिले भर में अलर्ट किया गया है. श्रीकृष्ण जन्मस्थान समेत सभी प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा बढ़ाई गई है. वहीं मिश्रित आबादी वाले इलाकों में खास कर पुलिस बलों का पैदल मार्च कराया गया.’

Advertisement