NDTV Khabar

सुशांत सिन्हा


'सुशांत सिन्हा' - 11 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • GST बिल पास, लेकिन ये तो अंत की शुरुआत है...

    GST बिल पास, लेकिन ये तो अंत की शुरुआत है...

    गुड्स एंड सर्विसेज़ टैक्स बिल यानि जीएसटी बिल की हालत उस रेसलर की तरह रही है जो बार-बार राज्यसभा की रिंग में पटखनी खाता रहा और आख़िरकार सालों के बाद ही सही, लेकिन उसने मैच जीत ही लिया.

  • सुशांत सिन्हा : ट्रेकिंग पर मिले जिंदगी के 6 फ़लसफ़े

    सुशांत सिन्हा : ट्रेकिंग पर मिले जिंदगी के 6 फ़लसफ़े

    यादों का बस्ता खोला तो उन ऊंचे ख़ामोश, स्थिर पहाड़ों और दूर तक फैले मैदानों ने नौ दिन की गुफ्तगू में ज़िंदगी के मायने समझने का जो कुछ भी सामान इकट्ठा हुआ तो उसे पोटली में बांधकर साथ दे दिया था। आज वो पोटली यहां खोलने जा रहा हूं।

  • सुशांत सिन्हा का ब्लॉग : बिहार विधानसभा चुनाव का 'दलित फैक्टर'

    सुशांत सिन्हा का ब्लॉग : बिहार विधानसभा चुनाव का 'दलित फैक्टर'

    बिहार में चुनावी आंच पर मुद्दों की हांडी तो चढ़ा दी गई है लेकिन अभी यही नहीं तय हो पाया है कि पकेगा क्या और हांडी में क्या कितना डलेगा... मतलब बीजेपी और उसके सहयोगी दल न तो सीएम पद के उम्मीदवार का नाम तय कर पाए हैं और न ही यह कि कौन कितनी सीट पर लड़ेगा।

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : डॉ. कलाम को ये कैसी श्रद्धांजलि?

    सुशांत सिन्हा की कलम से : डॉ. कलाम को ये कैसी श्रद्धांजलि?

    रामेश्वरम में जिस वक्त डॉक्टर अब्दुल कलाम को सुपुर्द-ए-ख़ाक करने के पहले प्रधानमंत्री मोदी, राहुल गांधी और दूसरे नेता उन्हें श्रद्धांजली दे रहे थे, कमोबेश उसी वक्त यहां दिल्ली में राज्यसभा की कार्यवाही एक बार फिर पूरे दिन के लिए स्थगित की जा रही थी।

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : बिहार में पिक्चर अभी बाकी है...

    सुशांत सिन्हा की कलम से : बिहार में पिक्चर अभी बाकी है...

    मांझी जानते थे कि वो 117 के जादुई आंकड़े से इतने दूर हैं कि उनके लिए बेहतर है कि वो उनके मुख्यमंत्री आवास के ही नज़दीक मौजूद गवर्नर हाउस जाकर इस्तीफ़ा दे आएं। और हुआ भी यही।

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : 'कौन जीतेगा' सोचने की जगह सोचिए, 'किसे जीतना चाहिए'

    सुशांत सिन्हा की कलम से : 'कौन जीतेगा' सोचने की जगह सोचिए, 'किसे जीतना चाहिए'

    किसी को साफ-साफ नहीं पता कि दिल्ली कौन फतह करने जा रहा है, और इसलिए अब वोटर के लिए वक्त है कि वह 'आपको क्या लगता है, कौन जीतेगा' पूछने कि बजाए खुद से पूछे कि 'मुझे क्या लगता है, किसे जीतना चाहिए'... फैसले की घड़ी आ चुकी है।

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : धोनी क्यों, कोहली क्यों नहीं...?

    सुशांत सिन्हा की कलम से : धोनी क्यों, कोहली क्यों नहीं...?

    ब्रिस्बेन टेस्ट से महेंद्र सिंह धोनी बतौर कप्तान वापसी कर रहे हैं, जो भारत की बल्लेबाज़ी को भी मज़बूत करेगा और बतौर कप्तान धोनी का अनुभव भी टीम के काम आएगा। लेकिन सवाल यह है कि क्या विराट कोहली को कप्तान बनाए रखते हुए बोर्ड को भविष्य की तरफ नहीं देखना चाहिए था...?

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : धर्म परिवर्तन रोकना है तो पहले व्यवस्था परिवर्तन कीजिए...

    सुशांत सिन्हा की कलम से : धर्म परिवर्तन रोकना है तो पहले व्यवस्था परिवर्तन कीजिए...

    जब धर्म परिवर्तन के मसले पर सिर्फ राजनीति होती रहेगी और पार्टियां राजधर्म निभाने से चूकती रहेंगीं, यूं ही लालच और डर के नाम पर धर्मांतरण होता रहेगा... धर्म परिवर्तन रोकना है तो व्यवस्था परिवर्तन करना ही होगा...

  • सुशांत सिन्हा की कलम से : 'आप' को दिल्ली चुनाव में एक विलेन चाहिए

    सुशांत सिन्हा की कलम से : 'आप' को दिल्ली चुनाव में एक विलेन चाहिए

    फ़िल्मों की तरह ही राजनीति में भी हीरो को हीरो बनने के लिए एक विलेन की ज़रूरत पड़ती है। और इस वक्त दिल्ली चुनावों के ऐन पहले आम आदमी पार्टी को भी उसी विलेन की तलाश है। पिछली बार जब दिल्ली में चुनाव हुए थे तो केजरीवाल और उनकी पार्टी को भ्रष्टाचार नाम के विलेन ने वो हीरो बनने का मौका दिया जो जनता ढूंढ़ रही थी।

  • परिणिति चोपड़ा और सुशांत के 'शुद्ध देसी रोमांस' के जलवे

    परिणिति चोपड़ा और सुशांत के 'शुद्ध देसी रोमांस' के जलवे

    फिल्म में सुशांत और परिणिति की प्रेम कहानी के अलावा अनुभवी अभिनेता ऋषि कपूर और नवोदित अभिनेत्री वाणी कपूर की भी प्रेम कहानी है।

  • एनडीटीवी के सुशांत के घर लूट

    एनडीटीवी के सुशांत के घर लूट

    दिल्ली की क़ानून व्यवस्था की में सुधार नहीं हो रहा है। एनडीटीवी इंडिया में एंकर सुशांत सिन्हा बुधवार की दोपहर मयूर विहार में जब अपने घर पहुंचे तो घर में चोरी कर रहे दो बदमाशों से घिर गए। बदमाश उन्हें घायल करने के बाद सामान लूट कर चंपत हो गए।

Advertisement