NDTV Khabar

सुशील महापात्रा


'सुशील महापात्रा' - 68 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 1999 के सुपर साइक्लोन से मेरा सामना और इस साइक्लोन से क्या सीखा ओडिशा सरकार ने

    1999 के सुपर साइक्लोन से मेरा सामना और इस साइक्लोन से क्या सीखा ओडिशा सरकार ने

    सुबह सुबह साइक्लोन की रफ्तार बढ़ती चली गई और फिर भयंकर रूप धारण कर लिया. उस समय गांव में मेरा पक्का घर था लेकिन मुझे याद है हवा की रफ्तार इतनी तेज थी कि घर के मुख्य दरवाज़े को मेरे परिवार के कई लोग पकड़कर रखे थे. ऐसा लग रहा था जैसे हवा दरवाज़े को उखाड़कर ले जाएगी. हवा की गति 300 किलोमीटर प्रति घंटा से भी ज्यादा थी. कितने घंटों तक हवा का तांडव चलता रहा मुझे याद नहीं लेकिन तीन दिन तक लगातार बारिश हुई थी.

  • मजदूरों की समस्या को लेकर कितनी गंभीर है सरकार और मीडिया

    मजदूरों की समस्या को लेकर कितनी गंभीर है सरकार और मीडिया

    बीते रविवार को दिल्ली रैली की राजधानी बना रहा. देश के अलग हिस्सों से हजारों की संख्या में मजदूर अपनी मांगों को लेकर सड़क पर प्रदर्शन करते हुए नजर आए. संसद मार्ग पर एक तरफ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे तो दूसरी तरफ अलग-अलग राज्यों से आए मजदूर विरोध जता रहे थे. संसद मार्ग से थोड़ी दूर जंतर मंतर पर मिलिट्री फोर्स के रिटायर्ड जवान प्रदर्शन कर रहे थे. दूर-दूर तक इन मजदूरों ली आवाज सुनाई दे रही थी लेकिन इन आवाजों को कैद करने के लिए मीडिया चैनलों के कैमरे नहीं थे.

  • केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के नाम खुला खत...

    केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के नाम खुला खत...

    राजबाई ने बताया कि उनके पति किसी असंगठित क्षेत्र में काम करते थे. तीन साल पहले उनकी मौत हो गई. पेंशन के रूप में राजबाई को सिर्फ 300 रुपये मिलते हैं. 80 साल की उम्र में भी राजबाई दूसरों के खेत में काम करके गुजारा कर रही हैं.

  • अगर पीएम मोदी ओडिशा के पुरी से चुनाव लड़े तो...

    अगर पीएम मोदी ओडिशा के पुरी से चुनाव लड़े तो...

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में ओडिशा की पुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाले हैं. वाराणसी के बाद पुरी. इसके पीछे एक ही वजह हो सकती है, हिंदुत्व का एजेंडा. ओडिशा में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ होने वाले हैं. ऐसे में भगवान जगन्नाथ के नाम पर बीजेपी वोट मांगेगी.

  • एनडीटीवी की रचनात्मक पत्रकारिता को फिर दो-दो सम्मान

    एनडीटीवी की रचनात्मक पत्रकारिता को फिर दो-दो सम्मान

    एनडीटीवी की रचनात्मक पत्रकारिता को फिर से मान्यता मिली है. एनडीटीवी इंडिया की टीम के दो सदस्यों को आज एक ही साथ पत्रकारिता के प्रतिष्ठित रेड इंक सम्मान से नवाज़ा गया है.

  • प्रोटेस्ट@मिडनाइट : जब छात्राओं की जिद के आगे प्रशासन को झुकना पड़ा

    प्रोटेस्ट@मिडनाइट : जब छात्राओं की जिद के आगे प्रशासन को झुकना पड़ा

    छात्राओं का गुस्सा चरम पर था कि हॉस्टल में आग लग जाने के बाद प्रशासन इतनी लापरवाही कैसे कर सकता है. वे प्लानिंग ब्लॉक के सामने धरने पर बैठ गईं. न क्लास जाने के लिए तैयार थीं, न हॉस्टल. कॉलेज के दूसरे छात्रों ने भी उनका साथ दिया.

  • मेट्रो विहार के इन मज़दूरों को कौन परेशान कर रहा है...

    मेट्रो विहार के इन मज़दूरों को कौन परेशान कर रहा है...

    जिस बात पर सबने सरकार की आलोचना की वह है आटा के बढ़ते दाम. सभी का कहना था आटा महंगा हो गया है, जो कुछ लोग नोटबंदी की तारीफ कर रहे थे वे भी आटा की बढ़ी कीमतों को लेकर सरकार की आलोचना कर रहे थे.

  • जस्टिस मार्कंडेय काटजू से सुशील महापात्रा के कुछ सवाल

    जस्टिस मार्कंडेय काटजू से सुशील महापात्रा के कुछ सवाल

    माननीय जस्टिस काटजू, आज मैं आपसे कुछ सवालों का जवाब चाहता हूं. आशा करता हूं कि आप स्पष्ट रूप से अपनी बात रखेंगे क्योंकि आप तो कई राज्यों के कोर्ट में न्यायाधीश रह चुके हैं.

  • पीवी सिंधु और साक्षी मलिक को पदक लेकिन श्रेय खरीदने की हो रही है कोशिश

    पीवी सिंधु और साक्षी मलिक को पदक लेकिन श्रेय खरीदने की हो रही है कोशिश

    पीवी सिंधु और साक्षी मलिक ने रियो में पदक जीतकर भारत के लिए जो गौरव हासिल किया है, उस गौरव को इनाम के जरिये खरीदने की पूरी तरह कोशिश की जा रही है. कई राज्य सरकारों ने दोनों खिलाड़ियों के लिए इनाम की झड़ी लगा दी है. कॉर्पोरेट भी इस मामले में पीछे नहीं है.

  • कैमरन की नैतिकता... क्या भारतीय नेता सीख लेंगे?

    कैमरन की नैतिकता... क्या भारतीय नेता सीख लेंगे?

    ब्रिटेन के लोगों के यूरोपियन यूनियन छोड़ने के पक्ष में वोट देने के बाद डेविड कैमरन ने प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है। कई देशों के बड़े-बड़े नेता नैतिकता के आधार पर अपने पदों की कुर्बानी दे चुके हैं। लेकिन भारत जैसे देश में ऐसा देखने को नहीं मिलता है।

  • स्टूडियो में खाली कुर्सियों के पीछे की खतरनाक कहानी...

    स्टूडियो में खाली कुर्सियों के पीछे की खतरनाक कहानी...

    अगर प्रवक्ता लोग न्यूज़ चैनलों पर छोटी-छोटी बातों को लेकर आना बंद कर देंगे तो एक समय ऐसा भी आएगा जब न्यूज़ चैनलों को भी प्रवक्ताओं की जरूरत पड़ना बंद हो जाएगी।

  • जब बेगूसराय का एक बबुआ बन गया जेएनयू का 'बाबू'

    जब बेगूसराय का एक बबुआ बन गया जेएनयू का 'बाबू'

    अपने बेगूसराय नाम सुना होगा, लेकिन पिछले कुछ दिनों से यह नाम ज्यादा चर्चा में आया है। शायद कभी कोई सोचा होगा कि बिहार के बेगूसराय का एक गरीब परिवार का लड़का कन्हैया कुमार को ऐसा पब्लिसिटी मिलेगा।

  • सुशील महापात्रा का ब्लॉग - जब रात के अँधेरे में कन्हैया मांगे आज़ादी

    सुशील महापात्रा का ब्लॉग - जब रात के अँधेरे में कन्हैया मांगे आज़ादी

    रात के अंधेरे में कन्हैया आज़ादी मांग रहा था, जातीवाद से, मनुवाद से,भुखमरी से, तोड़फोड़ से, जेएनयू मांगे आज़ादी। सिर्फ कन्हैया नहीं यहां पर खड़े हुए सभी लोग कन्हैया के ताल से ताल मिलाकर आज़ादी की मांग कर रहे थे

  • एक ऐसा खिलाड़ी जिसने खुद पर से बैन ख़त्म होने के बाद मचाया धमाल

    एक ऐसा खिलाड़ी जिसने खुद पर से बैन ख़त्म होने के बाद मचाया धमाल

    कुछ साल पहले पाकिस्तान क्रिकेट में एक 17 साल के खिलाड़ी की एंट्री हुई। इस खिलाड़ी ने पाकिस्तान की पेस बॉलिंग को एक नई पहचान दी। वसीम अकरम के बाद अगर कोई लेफ्ट हैंड बॉलर पाकिस्तानी बॉलिंग को आगे ले जा रहा था तो वह था यह खिलाड़ी।

  • कहीं मेरा यह ख़त आप के नाम तो नहीं?

    कहीं मेरा यह ख़त आप के नाम तो नहीं?

    मेरा यह ख़त उन एंकरों के लिए है जो समझ रहे हैं की यह उन्हीं के लिए ही है। जो समझ रहे है यह उन के लिए नहीं है तो वह समझदार है और मीडिया की मान को समझते है मीडिया की गरिमा को बचा कर रखे हैं।

  • क्या मौत बेकार गई, रोहित को अब भी नहीं समझ पाया समाज?

    क्या मौत बेकार गई, रोहित को अब भी नहीं समझ पाया समाज?

    ये है रोहित वेमुला के लिखे सुसाइड नोट का कुछ अंश। रोहित न कहते-कहते बहुत कुछ कह गया। रोहित ज़िंदा रहते हुए जो ख़त में लिख गया शायद मरने के बाद वह सच हो रहा है।

  • सुशील महापात्रा की कलम से : साउथ अफ्रीका की हार लेकिन टेस्ट क्रिकेट की जीत

    सुशील महापात्रा की कलम से : साउथ अफ्रीका की हार लेकिन टेस्ट क्रिकेट की जीत

    टेस्ट मैचों में धीमी गति की पारियां कई बार देखने को मिल चुकी हैं। चौथे टेस्ट में साउथ अफ्रीका जरूर हार गया हो लेकिन यहां टेस्ट क्रिकेट की जीत हुई है।

  • सुशील महापात्रा की कलम से : दिल्ली के विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी होनी चाहिए?

    सुशील महापात्रा की कलम से : दिल्ली के विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी होनी चाहिए?

    दिल्ली के विधायकों के लिए अच्छे दिन आने वाले हैं। अब आप जब भी अपने विधायक की घर जाइएगा, चाय पीजिएगा और वह भी दूध वाली चाय, एयर कंडीशन कमरे में बैठिएगा। अब आपको बैठने के लिए महंगा फर्नीचर भी मिलने की उम्मीद है। आप यह भी ध्यान रखिएगा कि आप के इलाके विधायक ने कोई दफ्तर किराए पर लिया है या नहीं?

Advertisement