NDTV Khabar

हिन्दी भाषा


'हिन्दी भाषा' - 74 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • हिन्दी दिवस 2020 : क्या इस भाषा के इन शब्दों के अर्थ जानते हैं आप?

    हिन्दी दिवस 2020 : क्या इस भाषा के इन शब्दों के अर्थ जानते हैं आप?

    Hindi Diwas 2020: आज के बदलते दौर में अलग-अलग भाषाओं का अपना महत्व है. अंग्रेजी भाषा को लोग आजकल ज्यादा महत्व देते हैं, लेकिन इस बीच हिन्दी भाषा अपनी पहचान बनाए हुए है. खास बात तो ये है कि अंग्रेजी की रोमन लिपि में शामिल कुछ वर्णों की संख्‍या 26 है, जबकि हिन्दी की देवनागरी लिपि के वर्णों की संख्‍या इससे दोगुनी यानी 52 है. हिंदी भाषा का अपना महत्व है. हिंदी के महत्व को बनाए रखने के लिए भारत में हर साल 14 सितंबर (14 September) को हिन्‍दी दिवस मनाया जाता है. हिन्‍दी भारत की राजभाषा है, जिसे आधिकारिक रूप से आजादी के दो साल बाद मान्‍यता मिली. बता दें कि 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में एक मत से यह फैसला लिया गया कि भारत की राजभाषा हिन्‍दी होगी. इसके बाद हिन्‍दी के प्रचार-प्रसार और जनमानस की मान्‍यता के लिए वर्धा स्थित राष्‍ट्र भाषा प्रचार समित‍ि ने हिन्‍दी दिवस मनाने का अनुरोध किया.

  • Hindi Diwas 2020: आज है हिंदी दिवस, जानिए कब और कैसे शुरू हुआ 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का सिलसिला

    Hindi Diwas 2020: आज है हिंदी दिवस, जानिए कब और कैसे शुरू हुआ 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का सिलसिला

    Hindi Diwas 2020 History and Facts: भारत में हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है. साल 1947 में देश के आजाद होने के बाद संविधान में नियमों और कानून के अलावा नए राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का मुद्दा भी अहम था, जिसके बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. हिंदी को देश की राजभाषा घोषित किए जाने के दिन ही हर साल हिंदी दिवस मनाने का फैसला किया गया. पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया. तब से अभी तक हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है. आपको बता दें कि हिन्‍दी दिवस के अलावा हर साल 10 जनवरी को विश्‍व हिन्‍दी दिवस भी मनाया जाता है. 

  • इस हिन्दी दिवस पर एण्डटीवी के हप्पू सिंह बतायेंगे विश्व स्तर पर कुछ खास हिन्दी शब्द

    इस हिन्दी दिवस पर एण्डटीवी के हप्पू सिंह बतायेंगे विश्व स्तर पर  कुछ खास हिन्दी शब्द

    इन शब्दों का इस्तेमाल दुनिया भर में किया जाता है और अब इन्हें ऑक्सफॉर्ड डिक्शनरी में भी शामिल किया जा चुका है. इन शब्दों के अंग्रेजी अर्थ हो सकते हैं, लेकिन कहते हैं ना कि कुछ शब्दों का मजा उसकी भाषा में आता है. आईये नजर डालते हैं हप्पू के कुछ पसंदीदा हिन्दी शब्दों पर, जिसे अनुवाद करने की जरूरत ही नहीं है. इनमें से कुछ प्रचलित शब्द हैं नमस्ते या नमस्कार, जुगाड़, मसाला, मंत्र, गुरू, चटनी, अवतार और यार.

  • कनिमोझी के साथ हिन्दी को लेकर भेदभाव पर बोले चिदम्बरम, 'नया कुछ नहीं, मैंने भी झेला है...'

    कनिमोझी के साथ हिन्दी को लेकर भेदभाव पर बोले चिदम्बरम, 'नया कुछ नहीं, मैंने भी झेला है...'

    डीएमके नेता कनिमोझी ने रविवार को ट्विटर पर हिंदी भाषा को लेकर अपने साथ हुए भेदभाव पर सवाल उठाया था, जिसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने इस मुद्दे पर उनका समर्थन किया है. कनिमोझी ने अपने साथ चेन्नई एयरपोर्ट पर हुई एक घटना साझा करते हुए सवाल पूछा था कि 'क्या हिंदी आना ही भारतीय होने की निशानी है?'

  • आज का इतिहास: 10 जनवरी को हुई थी विश्व हिन्दी दिवस मनाने की घोषणा

    आज का इतिहास: 10 जनवरी को हुई थी विश्व हिन्दी दिवस मनाने की घोषणा

    यूं तो हर तारीख का कोई न कोई इतिहास होता है, लेकिन 10 जनवरी का इतिहास कई मायनों में, खासतौर पर हिन्दी प्रेमियों के लिए काफी अहम है, क्योंकि इस दिन विश्व हिन्दी दिवस मनाया जाता है. पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए 2006 में प्रति वर्ष 10 जनवरी को हिन्दी दिवस मनाने की घोषणा की थी. विश्व में हिन्दी का विकास करने और एक अंतरराष्ट्रीय भाषा के तौर पर इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलनों की शुरुआत की गई और प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित हुआ था.

  • UPSC Civil Services: 2018 में सफल हुए आधे से ज्यादा हिन्दी और क्षेत्रीय भाषा के उम्मीदवार, 485 अभ्यर्थियों का हुआ चयन

    UPSC Civil Services: 2018 में सफल हुए आधे से ज्यादा हिन्दी और क्षेत्रीय भाषा के उम्मीदवार, 485 अभ्यर्थियों का हुआ चयन

    सरकार ने बृहस्पतिवार को बताया कि मातृ भाषा के तौर पर हिन्दी या अन्य क्षेत्रीय भाषा चुनने वाले 485 अभ्यर्थियों का 2018 में सिविल सेवा में चयन हुआ. कार्मिक, लोक शिकायत तथा पेंशन राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी. Hindi and other regional language

  • अमित शाह का बड़ा बयान- हिन्दी को थोपने की बात कभी नहीं की, जिन्हें राजनीति करनी है करें- मैंने तो सिर्फ...'

    अमित शाह का बड़ा बयान- हिन्दी को थोपने की बात कभी नहीं की, जिन्हें राजनीति करनी है करें- मैंने तो सिर्फ...'

    हिन्दी पर जारी विवाद के बीच अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि उन्होंने कभी भी हिन्दी को क्षेत्रीय भाषाओं पर थोपने की बात नहीं की है. न्यूज एजेंसी ANI ने अमित शाह के हवाले से कहा, 'मैंने केवल हिन्दी को दूसरी भाषा के तौर पर सीखने का अनुरोध किया था. उन्होंने कहा कि मैं खुद एक गैर-हिन्दी राज्य गुजरात से आता हूं. अगर इस पर किसी को राजनीति करनी है तो वह करता रहे.'

  • 'हिन्दी' की बहस में राहुल गांधी भी हुए शामिल, कहा- कई भाषाएं होना हमारी कमजोरी नहीं

    'हिन्दी' की बहस में राहुल गांधी भी हुए शामिल, कहा- कई भाषाएं होना हमारी कमजोरी नहीं

    गौर है कि हिन्दी दिवस के मौके पर गृहमंत्री अमित शाह ने हिंदी के माध्यम से पूरे देश को जोड़ने की अपील की थी. अमित शाह ने कहा था कि विभिन्न भाषाएं और बोलियां हमारे देश की ताकत हैं. लेकिन अब देश को एक भाषा की जरूरत है ताकि यहां पर विदेशी भाषाओं को जगह न मिल पाए. गृहमंत्री अमित शाह ने इस दौरान हिन्दी को राष्ट्रीय भाषा बनाने की अपील की थी.

  • हिन्दी पर अमित शाह के बयान से मचे घमासान के बीच BJP के अंदर से ही उठने लगीं आवाजें, बीएस येदियुरप्पा ने कही यह बात

    हिन्दी पर अमित शाह के बयान से मचे घमासान के बीच BJP के अंदर से ही उठने लगीं आवाजें, बीएस येदियुरप्पा ने कही यह बात

    गृहमंत्री अमित शाह ने इस दौरान हिन्दी को राष्ट्रीय भाषा बनाने की अपील की थी. अब इसके विरोध में बीजेपी की तरफ से ही आवाजें उठनी शुरू हो गई हैं. दक्षिण भारत में बीजेपी के सबसे कद्दावर नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने पार्टी प्रमुख अमित शाह की 'देश भर में हिन्दी भाषा को एक आम भाषा के रूप में इस्तेमाल' करने की अपील को अप्रत्यक्ष रूप से 'ना' कह दिया.

  • अशोक गहलोत ने कहा- पीएम मोदी हर बार पाकिस्तान का नाम लेकर जनता को गुमराह नहीं कर सकते

    अशोक गहलोत ने कहा- पीएम मोदी हर बार पाकिस्तान का नाम लेकर जनता को गुमराह नहीं कर सकते

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि कश्मीर मुद्दे पर पूरा देश एक साथ है और कोई भी भारतीय कश्मीर पर पाकिस्तान की बुरी नजर को बर्दाश्त नहीं कर सकता जो भारत का अभिन्न अंग है. गहलोत शनिवार को बिड़ला सभागार में विश्व हिन्दी दिवस के अवसर पर राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी हर बार पाकिस्तान का नाम लेकर जनता को गुमराह नहीं कर सकते.

  • पीएम मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा ने दी हिन्दी दिवस पर देशवासियों को शुभकामनाएं

    पीएम मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा ने दी हिन्दी दिवस पर देशवासियों को शुभकामनाएं

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) और भाजपा अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को हिन्दी दिवस (Hindi Diwas) के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी और कहा कि हिन्दी देश को एकता की डोर में बांधने का काम कर सकती है. मोदी ने टि्वटर पर कहा, 'हिंदी दिवस पर आप सभी को बहुत-बहुत बधाई. भाषा की सरलता, सहजता और शालीनता अभिव्यक्ति को सार्थकता प्रदान करती है. हिंदी ने इन पहलुओं को खूबसूरती से समाहित किया है.

  • Hindi Diwas 2019: क्‍यों मनाया जाता है हिंदी दिवस, जानिए इसका इतिहास और 8 दिलचस्प बातें

    Hindi Diwas 2019: क्‍यों मनाया जाता है हिंदी दिवस, जानिए इसका इतिहास और 8 दिलचस्प बातें

    हिंदी दिवस (Hindi Diwas) हर साल 14 सितंबर (14 September) को मनाया जाता है. हिंदी विश्व की प्राचीन, समृद्ध और सरल भाषा है. हिंदी (Hindi) भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों में बोली जाती हिंदी हिन्दी हमारी 'राजभाषा' (Hindi Rajbhasha) है. दुनिया की भाषाओं का इतिहास रखने वाली संस्था एथ्नोलॉग (Ethnologue) के मुताबिक हिंदी दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली तीसरी भाषा है. हिंदी हमें दुनिया भर में सम्मान दिलाती है.

  • जल संकट के प्रति युवा पीढ़ी को सचेत करने की जरूरत है: डॉ. जांगिड

    जल संकट के प्रति युवा पीढ़ी को सचेत करने की जरूरत है: डॉ. जांगिड

    प्रो. जांगिड पूरे एशिया में ऐसे पहले और अकेले मीडिया शिक्षक हैं, जिनके दो छात्रों अंश गुप्ता और रवीश कुमार को ‘एशिया का नोबेल पुरस्कार’माने जाने वाले रैमन मैग्सेस सम्मान मिला है. हिन्दी भाषा में पत्राकारिता के लिए यह पुरस्कार पाने वाला रवीश कुमार पहले व्यक्ति हैं. भारतीय जन संचार संस्थान, नई दिल्ली में वर्ष 1979 में डॉ. रामजीलाल जांगिड ने देश का जो पहला और एकमात्रा पूर्णकालिक स्नातकोत्तर हिन्दी पत्राकारिता डिप्लोमा पाठ्यक्रम शुरू किया था.

  • इस्राइल के PM ने Friendship Day पर कहा- 'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे' तो PM मोदी ने किया यह Tweet...

    इस्राइल के PM ने Friendship Day पर कहा- 'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे' तो PM मोदी ने किया यह Tweet...

    फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) पर बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने पीएम मोदी (PM Modi) को हिन्दी में ट्वीट कर विश किया. जवाब में पीएम मोदी ने भी हिब्रू भाषा में ट्वीट कर नेतन्याहू को बधाई दी.

  • पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बयान पर विवाद, कहा-अगर बंगाल में रहना है तो...

    पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बयान पर विवाद, कहा-अगर बंगाल में रहना है तो...

    प्रधानमंत्री की कटुआलोचक मानी जाने वाली ममता ने कहा कि हमें बांग्ला (भाषा) को आगे लाना होगा. ममता बनर्जी ने कहा कि जब हम दिल्ली जाते हैं तो हम हिन्दी में बोलते हैं, जब हम पंजाब जाते हैं तो पंजाबी में बोलते हैं. मैं भी ऐसा करती हूं. जब मैं तमिलनाडु जाती हूं तो मैं तमिल भाषा नहीं जानती लेकिन मैं कुछ शब्द जानती हूं. इसलिए इसी तरह से अगर आप बंगाल आते हैं तो आपको बांग्ला बोलनी होगी... हम यह नहीं होने देंगे कि बाहर से लोग आएं और बंगालियों को पीट दें.

  • दक्षिण रेलवे का यू-टर्न - सिर्फ हिन्दी या अंग्रेज़ी में बात करने का सर्कुलर वापस लिया

    दक्षिण रेलवे का यू-टर्न - सिर्फ हिन्दी या अंग्रेज़ी में बात करने का सर्कुलर वापस लिया

    सर्कुलर में कहा गया है, स्टेशन मास्टरों को कंट्रोल ऑफिस से सिर्फ अंग्रेज़ी या हिन्दी में बात करनी चाहिए. किसी भी क्षेत्रीय भाषा का इस्तेमाल करने से बचा जाना चाहिए, ताकि किसी भी पक्ष को समझ नहीं आने की स्थिति से बचा जा सके. सर्कुलर के मुताबिक, सर्कुलर में दिए गए सुझाव का पालन मनोनीत अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा. सर्कुलर में कहा गया है कि कंट्रोल ऑफिस तथा स्टेशन मास्टरों के बीच संपर्क को बेहतर बनाना इस सर्कुलर का उद्देश्य है.

  • क्या हिंदी को लेकर हमारा समाज उदासीन हुआ?

    क्या हिंदी को लेकर हमारा समाज उदासीन हुआ?

    अगले तीन चरण के चुनाव मुख्य रूप से हिन्दी भाषी प्रदेशों में ही हो रहे हैं. लेकिन इन प्रदेशों में हिन्दी की ही हालत ख़राब है. हिन्दी बोलने वाले नेताओं के स्तर पर क्या ही चर्चा की जाए, उनके भाषणों में करुणा तो जैसे लापता हो गई है. आक्रामकता के नाम पर गुंडई के तेवर नज़र आते हैं. सांप्रदायिकता से लैस हिन्दी ऐसे लगती है जैसे चुनावी रैलियों में बर्छियां चल रही हों. चुनाव के दौरान बोली जाने वाली भाषा का मूल्यांकन हम बेहद सीमित आधार पर करते हैं. यह देखने के लिए कि आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है या नहीं. मगर भाषा की भी तो आचार संहिता होती है. उसका अपना संसार होता है,संस्कार होता है. ज्ञान का भंडार होता है. उन सबका क्या.

  • आलोक वर्मा के घर किसकी सिफ़ारिश करने गए थे केंद्रीय सतर्कता आयुक्त चौधरी?

    आलोक वर्मा के घर किसकी सिफ़ारिश करने गए थे केंद्रीय सतर्कता आयुक्त चौधरी?

    हिन्दी अख़बारों के संपादकों ने अपने पाठकों की हत्या का प्लान बना लिया है. अख़बार कूड़े के ढेर में बदलते जा रहे हैं. हिन्दी के अख़बार अब ज़्यादातर प्रोपेगैंडा का ही सामान ढोते नज़र आते हैं. पिछले साढ़े चार साल में हिन्दी अख़बारों या चैनलों से कोई बड़ी ख़बर सामने नहीं आई. साहित्य की किताबों से चुराई गई बिडंबनाओं की भाषा और रूपकों के सहारे हिन्दी के पत्रकार पाठकों की निगाह से बच कर निकल जाते हैं. ख़बर नहीं है. केवल भाषा का खेल है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com