NDTV Khabar

हुकुम सिंह


'हुकुम सिंह' - 26 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मध्य प्रदेश के मंदसौर में बाढ़ पीड़ितों पर भड़के मंत्री, कहा- मुआवजा बांटने आया हूं, दूध नहीं, देखें- VIDEO

    मध्य प्रदेश के मंदसौर में बाढ़ पीड़ितों पर भड़के मंत्री, कहा- मुआवजा बांटने आया हूं, दूध नहीं, देखें- VIDEO

    मध्यप्रदेश के मंदसौर (Madhya Pradesh) जिले में बारिश ने भारी तबाही मचाई है. कई लोगों की मौत हुई. मवेशी मारे गये. लोग बेघर हो गये लेकिन इन सबके बीच बाढ़ग्रस्त इलाके में लोगों की तकलीफ बांटने गए जिले के प्रभारी मंत्री का असंवेदनशील बयान सामने आया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है.

  • NDTV Exclusive: BJP से टिकट कटने पर छलका मृगांका सिंह का दर्द- 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ' के तहत मेरे खिलाफ हुई साजिश

    NDTV Exclusive: BJP से टिकट कटने पर छलका मृगांका सिंह का दर्द- 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ'  के तहत मेरे खिलाफ हुई साजिश

    मृगांका सिंह (Mriganka Singh) की चौपाल पर लगे हैं बैनरों में विरोध के सुर दिखाई दे रहे हैं. वहां लगे बैनर पर, 'ना कोई शक ना कोई शंका कैराना से बहन मृगांका' 'बेटी के सम्मान में कैराना मैदान में' और 'कैराना में भाजपा से कोई और बर्दाश्त नहीं' जैसे नारे लिखे हुए हैं. 2018 में सांसद पिता के निधन के बाद कैराना उपचुनाव में मृगांका महागठबंधन के उम्मीदवार से हार गई थीं. मृगांका के पिता हुकुम सिंह कैराना से सात बार विधायक रहे और 2014 में लोकसभा चुनाव भी जीता था. टिकट काटे जाने से दुखी मृगांका सिंह का दर्द छलका है. एनडीटीवी इंडिया से खास बातचीत में मृगांका सिंह ने बताया कि उनका टिकट 'षड्यंत्र करके कटवाया गया'. उनका कहना है कि साजिशकर्ताओं ने तय कर लिया था, 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ'. एनडीटीवी इंडिया के संवाददाता शरद शर्मा ने मृगांका सिंह से विशेष बातचीत की.

  • कैराना चुनाव परिणाम : आरएलडी प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने बीजेपी की मृगांका सिंह को हराया

    कैराना चुनाव परिणाम : आरएलडी प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने बीजेपी की मृगांका सिंह को हराया

    भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद खाली हुई कैराना लोकसभा  सीट पर हुये उपचुनाव में आरएलडी की तबस्सुम हसन ने जीत दर्ज कर ली है. उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी मृगांका सिंह को हरा दिया है. पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के क्षेत्र गोरखपुर और फूलपुर में हार के बाद भाजपा की काफी किरकिरी हुई थी. ऐसे में पार्टी कैराना में अपनी साख बचाने के लिए पूरा दमखम लगा रही थी. लेकिन संयुक्त विपक्ष की ताकत बीजेपी पर भारी पड़ गई.

  • NEWS FLASH : बिहार में डुमरा के कैलाश पुरी में सीतामढ़ी जिला कल्‍याण अधिकारी की गोली मारकर हत्‍या : ANI

    NEWS FLASH : बिहार में डुमरा के कैलाश पुरी में सीतामढ़ी जिला कल्‍याण अधिकारी की गोली मारकर हत्‍या : ANI

    उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र और नगालैंड में हुए चार लोकसभा उपचुनाव और देश के विभिन्न राज्यों में हुए 10 विधानसभा उपचुनावों के लिये मतदान की गिनती थोड़ी देर में शुरू हो जाएगी. इन उपचुनाव के नतीजों से वोटरों का मिजाज पता चलेगा. आज आने वाले परिणामों में सबकी नजर उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा सीट पर है. यहां पर कांग्रेस, सपा, बीएसपी और आम आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रीय लोकदल की प्रत्याशी तबस्सुम को समर्थन दिया है. वहीं बीजेपी ने सांसद रहे हुकुम सिंह की बेटी मृगांका को मैदान में उतारा है. देखने वाली बात यह होगी कि संयुक्त विपक्ष के अंकगणित का सामना बीजेपी कैसे कर पायेगी. उधर महाराष्ट्र में सभी चार बड़ी पार्टियां- बीजेपी, कांग्रेस, शिवसेना और राकांपा (एनसीपी) भी इन चुनाव के लिये पूरा जोर लगा रखा है. 

  • कैराना उपचुनाव : क्या बीजेपी गोरखपुर-फूलपुर में विपक्ष को मिली जीत को साबित कर पायेगी तुक्का? 20 बड़ी बातें

    कैराना उपचुनाव : क्या बीजेपी गोरखपुर-फूलपुर में विपक्ष को मिली जीत को साबित कर पायेगी तुक्का? 20 बड़ी बातें

    2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर अभी तक जो तस्वीर उभर रही है. उससे साफ है कि बीजेपी की अगुवाई में चल रहे एनडीए के सामने अच्छी-खासी मुश्किल खड़ी हो सकती है. गोरखपुर-फुलपुर में जहां बीएसपी और सपा ने मिलकर बीजेपी को हरा दिया तो कर्नाटक में जेडीएस के साथ मिलकर कांग्रेस ने सरकार बना ली और अब इस गठबंधन को 2019 तक ले जाने की तैयारी है. उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस, सपा, बीएसपी और आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशी तबस्सुम को पूरा समर्थन दिया है. सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद खाली हुई इस सीट पर उनकी बेटी मृगांका सिंह को बीजेपी ने उम्मीदवार बनाया है.

  • भाजपा के लिए क्यों महत्वपूर्ण है कैराना का 'याराना', 5 बड़ी बातें 

    भाजपा के लिए क्यों महत्वपूर्ण है कैराना का 'याराना', 5 बड़ी बातें 

    भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद खाली हुई कैराना लोकसभा सीट पर आज चुनाव हो रहा है. भाजपा की तरफ से मृगांका सिंह मैदान में हैं. तो वहीं विपक्ष ने साझा उम्मीदवार के रूप में तबस्सुम हसन को मैदान में उतारा है.कैराना का चुनाव आर-पार की लड़ाई जैसा हो गया है. पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के क्षेत्र गोरखपुर और फूलपुर में हार के बाद भाजपा की काफी किरकिरी हुई थी. ऐसे में पार्टी कैराना में अपनी साख बचाने के लिए पूरा दमखम लगा रही है.भाजपा की चुनौती इसलिये और बढ़ गई है क्योंकि कैराना में सपा, बसपा, आरएलडी, कांग्रेस जैसे विपक्षी दल एक साथ ताल ठोंक रहे हैं. गोरखपुर और फूलपुर में विपक्षी एकता की जीत के बाद कहा जा रहा था कि भाजपा की रणनीति कहीं न कहीं नाकामयाब हुई है. हालांकि अब भाजपा का दावा है कि कैराना में विपक्षी एकता को ध्यान में पार्टी ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है.पार्टी का दावा है कि हर हाल में जीत उसे ही मिलेगी. बहरहाल, ये तो मतगणना के बाद ही तय होगा कि कैराना का 'याराना' किस दल के उम्मीदवार के साथ है, लेकिन आइये आपको बताते हैं भाजपा के लिए क्यों महत्वपूर्ण है कैराना.

  • NEWS FLASH : दिल्ली-एनसीआर में सीएनजी हुई महंगी, 1.36 से 1.55 रुपये प्रति किलो बढ़ी कीमत

    NEWS FLASH : दिल्ली-एनसीआर में सीएनजी हुई महंगी, 1.36 से 1.55 रुपये प्रति किलो बढ़ी कीमत

    भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन से खाली हुई कैराना लोकसभा सीट पर आज होने जा रहे उपचुनाव के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. कैराना लोकसभा सीट पर 662 मतदान केंद्र 1333 मतदय स्थल बनाए गए. बिहार के जोकिहाट विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए मतदान आज है. यहां राजद और जनता दल (यू) के उम्मीदवार के बीच सीधा मुकाबला है. वहीं मुंबई के पालघर लोकसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना आमने सामने है. इस सीट के चुनाव के लिए आज ही मतदान होना है. दिल्ली मेट्रो की मेजेंटा लाइन का जनकपुरी पश्चिम से कालकाजी मंदिर खंड की सेवा को केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज हरी झंडी दिखाएंगे.  सुनंदा पुष्कर मामले का केस पटियाला हाउस कोर्ट की स्पेशल फास्ट ट्रैक कोर्ट में ट्रांसफर किया गया. आज इस मामले की सुनवाई होनी है. इसके अलावा देश-दुनिया, बिज़नेस जगत और खेल की दुनिया में हो रही हर बड़ी गतिविधियों के बारे में एक साथ एक ही पेज पर जानें.

  • कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव आज, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

    कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव आज, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

    सहारनपुर के डीआईजी शरद सचान ने बताया कि सोमवार को होने वाले उपचुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है.

  • क्‍या कैराना में विपक्षी एकता के सामने बीजेपी होगी चित?

    क्‍या कैराना में विपक्षी एकता के सामने बीजेपी होगी चित?

    क्या फूलपुर और गोरखपुर की हार से बीजेपी उबरने में कामयाब हो पाएगी? क्या इन दो चुनावों की हार का बदला कैराना और नूरपुर में ले पाएगी बीजेपी? दरअसल, कैराना के बीजेपी सांसद हुकुम सिंह और नूरपुर के बीजेपी विधायक लोकेंद्र सिंह की मृत्यु के बाद इन दो सीटों पर 28 मई को चुनाव होना है.

  • यूपी के कैराना क्षेत्र के बीजेपी सांसद हुकुम सिंह का नोएडा में निधन

    यूपी के कैराना क्षेत्र के बीजेपी सांसद हुकुम सिंह का नोएडा में निधन

    उत्तर प्रदेश से भाजपा सांसद हुकुम सिंह का शनिवार को नोएडा के एक अस्पताल में निधन हो गया. वह 79 साल के थे. वह कैराना सीट से निर्वाचित हुए थे. उनकी पांच बेटियां हैं.

  • यूपी चुनाव: बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका पहली बार चुनावी मैदान में, भाई से है टक्कर

    यूपी चुनाव: बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका पहली बार चुनावी मैदान में, भाई से है टक्कर

    बीजेपी ने कैराना सीट से मृगांका सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है. मृगांका सिंह पहली बार चुनावी मैदान में हैं और बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी हैं. हुकुम सिंह अपने विवादास्पद बयानों को लेकर चर्चा में रहे हैं. बीजेपी सांसद ने मेरठ के कैराना से हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाया था. आरोप लगाया था कि हिंदुओं को मजबूर कर यहां से पलायन करवाया जा रहा है. इस पर मीडिया में कई तरह की खबरें आईं. राजनीतिक दलों ने बीजेपी में सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप भी लगाया.

  • UP Polls 2017: पश्चिमी यूपी में इन 5 हस्तियों के इर्द-गिर्द घूमता चुनावी ताना-बाना

    UP Polls 2017: पश्चिमी यूपी में इन 5 हस्तियों के इर्द-गिर्द घूमता चुनावी ताना-बाना

    जातीय गणित, वोटबैंक और सियासी रसूख के लिहाज से यहां की पांच हस्तियों का असर इस क्षेत्र में सबसे ज्‍यादा है और इस चरण में इन्‍हीं की सियासी प्रतिष्‍ठा दांव पर हैं:

  • कैराना : सांप्रदायिक माहौल के नाम पर राजनीतिक फायदा उठाने की चाहत

    कैराना : सांप्रदायिक माहौल के नाम पर राजनीतिक फायदा उठाने की चाहत

    कैराना को लगातार सुलगाया जा रहा है। शुक्रवार को बीजेपी के सरधना से विधायक संगीत सोम ने कैराना में हिन्‍दुओं के कथित पलायन को लेकर पैदल निर्भय यात्रा निकालने की कोशिश की। इकठ्ठा की गई इस भीड़ को संगीत सोम सरधना से कैराना तक ले जाना चाह रहे थे। लेकिन 2 किमी बाद ही इसे रोक लिया गया।

  • कैराना मामला: शिवपाल बोले, जाली नोटों, जमीन पर कब्‍जे जैसे कामों में शामिल हैं कुछ BJP नेता

    कैराना मामला: शिवपाल बोले, जाली नोटों, जमीन पर कब्‍जे जैसे कामों में शामिल हैं कुछ BJP नेता

    उत्तर प्रदेश सरकार ने भाजपा पर आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सांप्रदायिक माहौल खराब करने का आरोप लगाते हुए आज दावा किया कि शामली के कैराना से कोई पलायन नहीं हुआ है।

  • कैराना मुद्दा : 15 दिन में यहां से गए लोगों को वापस लाएं, वरना सड़कों पर उतरेंगे- संगीत सोम

    कैराना मुद्दा : 15 दिन में यहां से गए लोगों को वापस लाएं, वरना सड़कों पर उतरेंगे- संगीत सोम

    सांसद हुकुम सिंह के मना करने के बावजूद बीजेपी विधायक संगीत सोम ने करीब 2000 समर्थकों के साथ अपनी निर्भय यात्रा शुरू की, लेकिन सरधना के 2 किलोमीटर बाद ही यात्रा को रोक दिया गया। पुलिस से संगीत सोम की काफी बहस हुई। उधर, समाजवादी पार्टी ने भी सद्भावना यात्रा निकाली।

  • कैराना में जांच के बाद बोले अधिकारी- अपराधियों की वजह से पलायन करने वाले सिर्फ 9 लोग

    कैराना में जांच के बाद बोले अधिकारी- अपराधियों की वजह से पलायन करने वाले सिर्फ 9 लोग

    अधिकारियों ने बताया कि हुकुम सिंह के आरोपों के बाद शामली जिला प्रशासन का एक दल कैराना में जांच के बाद इस नतीजे पर पहुंचा है। हालांकि कैराना के दौरे पर गए बीजेपी के जांच दल ने जिला प्रशासन के इन दावों को खारिज किया है।

  • हुकुम सिंह, मुनव्वर हसन, राजनीतिक लड़ाई और कैराना (मुजफ्फरनगर)

    हुकुम सिंह, मुनव्वर हसन, राजनीतिक लड़ाई और कैराना (मुजफ्फरनगर)

    कैराना में हिंदुओं के पलायन की दो लिस्ट लाने वाले हुकुम सिंह सुर्खियों में हैं। वह इसलिए भी कि हुकुम सिंह अभी कैराना से बीजेपी के सांसद हैं और मुजफ्फरनगर दंगों में सरकार ने उन्हें नामजद भी कर रखा है। हुकुम सिंह कह चुके हैं कि वे मुजफ्फरनगर दंगों पर किताब लिखकर उसकी सच्चाई सामने लाएंगे।

  • पढ़ें... आखिर कौन हैं कैराना का मुद्दा उठाने वाले 'दल-बदल' हुकुम सिंह...

    पढ़ें... आखिर कौन हैं कैराना का मुद्दा उठाने वाले 'दल-बदल' हुकुम सिंह...

    आज कैराना देश की राजनीति का केंद्र सा बनता जा रहा है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि अचानक यह गुम हो चुका नाम हुकुम सिंह जो हेडलाइन बन रहे हैं कौन हैं... एक नजर...