NDTV Khabar

लुक ईस्ट नीति


' लुक ईस्ट नीति' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गणतंत्र दिवस समारोह में दिखेगी पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' की झलक, इन 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष हैं मुख्य अतिथि

    गणतंत्र दिवस समारोह में दिखेगी पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' की झलक, इन 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष हैं मुख्य अतिथि

    आज भारत का 69वां गणतंत्र दिवस समारोह राजपथ पर मनाया जाएगा. भारत के प्रजातंत्र की ताकत के गवाह 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी होंगे. आसियान में शामिल इन सभी विश्व नेताओं को इस बार भारत सरकार ने मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया है.  उनमें ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं. इस समारोह में इन नेताओं के बुलाने के पीछे पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' भी है. 

  • आसियान सम्‍मेलन से पहले भारत ने 'लुक ईस्ट' की पॉलिसी बदलकर 'एक्ट ईस्ट' की, 10 बातें

    आसियान सम्‍मेलन से पहले भारत ने 'लुक ईस्ट' की पॉलिसी बदलकर 'एक्ट ईस्ट' की, 10 बातें

    राजधानी दिल्ली में गुरुवार से शुरू होने वाले भारत-आसियान वार्ता में शामिल होने के लिए 10 आसियान राष्ट्रों के प्रमुख बुधवार को नई दिल्ली पहुंचने लगे हैं. सभी दस आसियान देशों के प्रमुख 26 जनवरी को नयी दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल होंगे. आसियान के सदस्य देशों में लाओस, कंबोडिया, ब्रुनेई, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम शामिल हैं. यह आयोजन दक्षिणपूर्व एशियाई गुट के साथ भारत के 25 वर्षों के संबंधों को चिह्नित करेगा. इस वक्‍त भारत 'लुक ईस्ट' नीति को 'एक्ट ईस्ट' पॉलिसी में बदलना चाहता है.

  • 'एशिया में एक निर्णायक शक्ति है भारत, पूरे महाद्वीप को जिस तरफ झुकाएंगे, यह झुकेगा'

    'एशिया में एक निर्णायक शक्ति है भारत, पूरे महाद्वीप को जिस तरफ झुकाएंगे, यह झुकेगा'

    केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने भारत को एशिया में एक निर्णायक शक्ति बताते हुए कहा कि भारत इस महाद्वीप को जिस तरफ झुकाएगा, यह उसी तरफ झुकेगा. एशिया में हमारी भूमिका को दुनिया नजरअंदाज नहीं कर सकती है.

  • पीएम नरेंद्र मोदी की 'एक्ट ईस्ट' नीति में अरुणाचल प्रदेश पर खास ध्यान देने की जरूरत क्यों है?

    पीएम नरेंद्र मोदी की 'एक्ट ईस्ट' नीति में अरुणाचल प्रदेश पर खास ध्यान देने की जरूरत क्यों है?

    एनडीए सरकार की 'एक्ट ईस्ट' नीति के रास्ते में कई चुनौतियां हैं. रोड इंफ्रास्ट्रक्चर की मरम्मत इनमें से शायद सबसे बड़ी चुनौती है. अरुणाचल जैसा प्रदेश सामरिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन पूरे देश से उसका संपर्क अभी भी सबसे बुरे हालात में है.