Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

1984


'1984' - 287 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या में शामिल सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी के दिन ही फांसी दी गई थी. सतवंत सिंह और बेअंत सिंह इंदिरा गांधी के सुरक्षा कर्मी थे, जिन्होंने 31 अक्टूबर, 1984 को सरकारी आवास पर उन्हें गोली मार दी थी. इस षड्यंत्र में केहर सिंह भी शामिल था.

  • Delhi Polls: BJP का 'संकल्प पत्र जारी', जानिए दिल्ली वालों से भारतीय जनता पार्टी ने किए क्या-क्या वादे

    Delhi Polls: BJP का 'संकल्प पत्र जारी', जानिए दिल्ली वालों से भारतीय जनता पार्टी ने किए क्या-क्या वादे

    BJP Manifesto: दिल्ली में विधानसभा चुनाव (Delhi Polls) की सरगर्मियों के बीच सभी पार्टियां पूरे दमखम के साथ चुनावी मुद्दों को भुनाने में जुटी हैं. सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) चुनाव जीतने के लिए पूरा जोर लगा रही है. इन सबके बीच भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को अपना 'संकल्प पत्र' जारी किया. घोषणापत्र जारी करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कुछ चंद चीजें फ्री में बांटकर दिल्ली का भविष्य नहीं बन सकता है. उन्होंने कहा कि दिल्ली का कंक्रीट भविष्य बनाने के लिए दूरगामी प्लानिंग लगेगी और वो सोच और विजन भाजपा ने बताई है. उन्होंने कहा कि पार्टी दिल्ली की तकदीर बदल देगी. नितिन गडकरी ने कहा कि हम गांव, गरीब, मजदूर, किसान और देश का भविष्य बदलना चाहते हैं और इसी बात पर भारत सरकार कार्य कर रही है. विश्व के सबसे बड़े दिल्ली- मुंबई हाइवे पर हमने कार्य शुरू कर दिया है, ये गुरुग्राम के नजदीक सोहना से शुरू होकर मुंबई तक जाएगा. इस पर 1 लाख 3 हजार करोड़ रुपये का खर्च आएगा और आज से 3 साल के अंदर मात्र 12 घंटे में दिल्ली की जनता अपनी गाड़ी से मुंबई पहुंच जाएगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दिव्यांग, विधवा, बुजुर्ग और 1984 के दंगा पीड़ितों की पेंशन में वृद्धि की जाएगी.

  • आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी बनीं थीं देश की पहली महिला प्रधानमंत्री

    आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी बनीं थीं देश की पहली महिला प्रधानमंत्री

    साल के पहले महीने का 19वां दिन भारत के राजनीतिक इतिहास में एक बड़ी जगह रखता है. 1966 में वह 19 जनवरी का ही दिन था, जब इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) को देश का प्रधानमंत्री बनाया गया. तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मौत के बाद इंदिरा गांधी ने वह कुर्सी संभाली जो स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार उनके पिता जवाहर लाल नेहरू ने संभाली थी. वह 1967 से 1977 और फिर 1980 से 1984 तक इस पद पर रहीं.

  • सन 1984 की सिख विरोधी हिंसा : पुलिस ने सही समय पर रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल नहीं की, रिकॉर्ड नष्ट हो गए

    सन 1984 की सिख विरोधी हिंसा : पुलिस ने सही समय पर रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल नहीं की, रिकॉर्ड नष्ट हो गए

    सन 1984 के सिख विरोधी हिंसा मामले में जस्टिस ढींगरा ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राज्य सरकार, अभियोजन पक्ष और पुलिस ने सही समय पर अपनी रिपोर्ट अपील अदालत में दाखिल नहीं की. इसकी वजह से केसों के रिकॉर्ड नष्ट हो गए. जस्टिस ढींगरा ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 10 मामलों में राज्य सरकारें अपील दाखिल करें. दस वे FIR हैं जिसमें सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया था. जस्टिस ढींगरा ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि तत्कालीन एसएचओ कल्याणपुरी ने दंगाइयों की सहायता की थी.

  • मुसलमान को ‘तुम लोग’ कहने वाली पुलिस हिंदू को ‘चोर’ बना देती है

    मुसलमान को ‘तुम लोग’ कहने वाली पुलिस हिंदू को ‘चोर’ बना देती है

    मनोज साह 1984 से खिलौना बेच रहे हैं. बुलाया तो पहले कहा दाम नहीं चाहिए, ऐसे ही ले लीजिए. इतना बोलते ही रोने लगे. दोनों आंखों से लोर टपकने लगा. तभी लोग गेंद खरीदने आ गए तो उनसे अपनी आंखें छिपाने लगे. उनके जाने के बाद उनका रोना फिर शुरू हो गया. मनोज ने बताया कि उनके दादा की दो बीघा जमीन थी, किसी ने अपने नाम से जमाबंदी करा ली. मतलब अपने नाम से करा ली. जब मनोज ने विरोध किया तो पुलिस से मिलकर चोरी के आरोप में जेल में बंद करा दिया. किसी तरह जमानत पर बाहर आए. मगर पुलिस वाला उनके परिवार को तंग करता है. बच्चों को मारता है.

  • आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या में शामिल सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी के दिन ही फांसी दी गई थी. सतवंत सिंह और बेअंत सिंह इंदिरा गांधी के सुरक्षा कर्मी थे, जिन्होंने 31 अक्टूबर, 1984 को सरकारी आवास पर उन्हें गोली मार दी थी. इस षड्यंत्र में केहर सिंह भी शामिल था. बेअंत सिंह को उसी वक्त मौके पर मौजूद अन्य सुरक्षा कर्मियों ने मार गिराया था.

  • आज का इतिहास: राजीव गांधी के नेतृत्व में 1984 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली थींं 400 से ज्यादा सीटें

    आज का इतिहास: राजीव गांधी के नेतृत्व में 1984 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली थींं 400 से ज्यादा सीटें

    स्वतंत्र भारत के चुनावी इतिहास में 29 दिसंबर (December 29) का दिन एक अभूतपूर्व घटना के साथ दर्ज है. 1984 में 29 दिसंबर के दिन कांग्रेस (Congress) ने लोकसभा की 508 में से 400 से ज्यादा सीटें जीतकर स्वतंत्र भारत के संसदीय चुनाव के इतिहास में उस समय की सबसे बड़ी विजय दर्ज की.

  • 84 के दंगे वाले बयान पर नरसिम्हा राव के पोते का डॉ. मनमोहन सिंह पर पलटवार, कहा- उन्हें पता होना चाहिए कि...

    84 के दंगे वाले बयान पर नरसिम्हा राव के पोते का डॉ. मनमोहन सिंह पर पलटवार, कहा- उन्हें पता होना चाहिए कि...

    पीवी नरसिम्हा राव के पोते ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के उस बयान की आलोचना की है जिसमें उन्होंने कहा था कि 1984 के सिख विरोधी दंगों को रोका जा सकता था यदि राव ने सेना को बुला लिया होता.

  • पूर्व PM मनमोहन सिंह का खुलासा, अगर नरसिम्हा राव ने मान ली होती गुजराल की ये सलाह तो रुक सकते थे 84 के दंगे

    पूर्व PM मनमोहन सिंह का खुलासा, अगर नरसिम्हा राव ने मान ली होती गुजराल की ये सलाह तो रुक सकते थे 84 के दंगे

    डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर तत्कालीन गृह मंत्री नरसिम्हा राव ने इंद्र कुमार गुजराल की सलाह मानी होती और तत्परता दिखाई होती तो नरसंहार को रोका जा सकता था.

  • भोपाल गैस त्रासदी : पीढ़ियों को निगल रहा जहर, सरकारें यूनियन कार्बाइड के हितों की रक्षक

    भोपाल गैस त्रासदी : पीढ़ियों को निगल रहा जहर, सरकारें यूनियन कार्बाइड के हितों की रक्षक

    सन 1984 में गैस रिसी और एक शहर तबाह हो गया...तीन दशक से ज्यादा वक्त बीत गया.. लेकिन लाखों लोगों के लिए वक्त 84 में ही ठहर गया. हजारों लोगों को मौत के मुंह में धकेलने वाली भोपाल गैस त्रासदी दुनिया की सबसे बड़ी औद्योगिक दुर्घटनाओं में से एक है, लेकिन अब इस पर कोई बहस नहीं होती. आरोप लगते रहे हैं कि केन्द्र और राज्य सरकारें आज भी पीड़ितों के बजाए यूनियन कार्बाइड और उसके वर्तमान मालिक डाव केमिकल के हितों की रक्षा कर रही हैं. इन सबके बीच इन पीड़ितों की दमदार आवाज़ अब्दुल जब्बार कुछ दिनों पहले गुजर गए. इस बीच गैस पीड़ितों के लिए काम कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक और बड़ा आरोप लगाया है कि शोध के ऐसे नतीजे को दबा दिया, जिससे कंपनियों से पीड़ितों को अतिरिक्त मुआवजा देने के लिए दायर सुधार याचिका को मजबूती मिल सकती थी.

  • Bhopal Gas tragedy: 35 साल पहले की वो त्रासदी जिसने खत्म कर दी हजारों जिंदगियां

    Bhopal Gas tragedy: 35 साल पहले की वो त्रासदी जिसने खत्म कर दी हजारों जिंदगियां

    Bhopal Gas Tragedy: 3 दिसंबर 1984 को भोपाल में कई लोगों को खांसी, आंखों में जलन, सांस लेने में परेशानी आदि समस्याएं आने लगी.

  • अनुपम खेर को लेकर महेश भट्ट का बड़ा बयान, बोले-वो कुछ भी हासिल करते हैं तो...

    अनुपम खेर को लेकर महेश भट्ट का बड़ा बयान, बोले-वो कुछ भी हासिल करते हैं तो...

    महेश भट्ट ने ही अपनी 1984 में आई फिल्म 'सारांश' के साथ हिंदी फिल्म उद्योग में अभिनेता अनुपम खेर को लॉन्च किया था.

  • 1984 सिख विरोधी दंगे: सज्जन कुमार को SC से राहत नहीं, फिलहाल जेल में ही रहना होगा

    1984 सिख विरोधी दंगे: सज्जन कुमार को SC से राहत नहीं, फिलहाल जेल में ही रहना होगा

    1984 सिख विरोधी दंगों के मामले में पूर्व कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार को कोई राहत नहीं मिली है. अभी कुमार को जेल में रहना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सज्जन कुमार की जमानत याचिका पर सुनवाई की. कोर्ट ने जेल में बंद सज्जन कुमार की मेडिकल जांच के लिए एम्स के निदेशक को डॉक्टरों का मेडिकल बोर्ड बनाने को कहा है. साथ ही कहा है कि चार हफ्ते में बोर्ड रिपोर्ट दाखिल करे. सज्जन कुमार ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देकर जमानत मांगी थी. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने जमानत याचिका पर सुनवाई जून 2020 के लिए सूचीबद्ध की थी. जिसमें सज्जन कुमार ने जल्द सुनवाई की अर्जी लगाई थी. 1984 के सिख विरोधी दंगों के दिल्ली कैंट मामले में सज्जन कुमार उम्रकैद की सजा काट रहे हैं.

  • इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी ने किया उन्हें याद, कहा- 'दादी, आप के फौलादी इरादे और...'

    इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी ने किया उन्हें याद, कहा- 'दादी, आप के फौलादी इरादे और...'

    Indira Gandhi Death Anniversary: इंदिरा गांधी ने 1966 से 1977 के बीच लगातार तीन बार देश की बागडोर संभाली और उसके बाद 1980 में दोबारा इस पद पर पहुंचीं और 31 अक्टूबर 1984 को पद पर रहते हुए ही उनकी हत्या कर दी गई.

  • इस न्यूज एंकर ने दी थी इंदिरा गांधी की हत्या की खबर, बोलीं- थम नहीं रहे थे आंसू, अब वायरल हुआ Video

    इस न्यूज एंकर ने दी थी इंदिरा गांधी की हत्या की खबर, बोलीं- थम नहीं रहे थे आंसू, अब वायरल हुआ Video

    इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) का जन्म 19 नवंबर 1917 को इलाहबाद में हुआ था. वह तीन बार देश की प्रधानमंत्री रहीं. 31 अक्टूबर, 1984 को उनके अंगरक्षकों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी.

  • 'टर्मिनेटर: डार्क फेट' को लेकर जेम्स कैमरुन ने किया खुलासा, कहा- इस बार फिल्म में ज्यादा विज्ञान...

    'टर्मिनेटर: डार्क फेट' को लेकर जेम्स कैमरुन ने किया खुलासा, कहा- इस बार फिल्म में ज्यादा विज्ञान...

    जेम्स कैमरून ने बताया कि उनकी आगामी फिल्म 'टर्मिनेटर : डार्क फेट', जिसकी अब तक की फ्रेंचाइजी फिल्में आर्टिफिशियल सुपर-इंटेलिजेंस के साथ मनुष्यों के टकराव पर आधारित हैं, इस बार इसमें 1984 और 1991 के मुकाबले कम विज्ञान-आधारित फिक्शन को दिखाया जाएगा.

  • Gauri Khan Birthday: शाहरुख खान की सफलता में गौरी खान ने यूं दिया साथ, जीती हैं ऐसी शानदार लाइफ-देखें Photo

    Gauri Khan Birthday: शाहरुख खान की सफलता में गौरी खान ने यूं दिया साथ, जीती हैं ऐसी शानदार लाइफ-देखें Photo

    Gauri Khan Birthday: 1970 में जन्मीं गौरी खान (Gauri Khan) आज अपना 49 वां जन्मदिन मना रही हैं. उनके जन्मदिन के खास मौके पर उन्हें बॉलीवुड की कई मशहूर पर्सनैलिटी ने बधाई दी है.

  • कमलनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 1984 के सिख विरोधी दंगे की फाइल खोलने की गृह मंत्रालय की हरी झंडी

    कमलनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 1984 के सिख विरोधी दंगे की फाइल खोलने की गृह मंत्रालय की हरी झंडी

    मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं, क्योंकि गृह मंत्रालय ने दिल्ली में 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों (1984 Anti Sikh Riots) की फाइलें दोबारा खोलने के लिए हरी झंडी दे दी है.

Advertisement