NDTV Khabar

2019 election


'2019 election' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • झारखंड : नौकरशाह से नेता बने कांग्रेस के रामेश्वर उरांव राष्ट्रपति से पा चुके हैं पुलिस मेडल

    झारखंड : नौकरशाह से नेता बने कांग्रेस के रामेश्वर उरांव राष्ट्रपति से पा चुके हैं पुलिस मेडल

    झारखंड में नौकरशाह से नेता बने रामेश्वर उरांव कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं. झारखंड में मौजूदा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन का दारोमदार इस दिग्गज नेता के कंधों पर है. पिछले लोकसभा चुनाव में टिकट से वंचित रहे 72 वर्षीय रामेश्वर उरांव अब विधानसभा चुनाव में भाग्य आजमाएंगे. कांग्रेस ने इस बार उन्हें लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतारा है. यहां पर उनका मुकाबला बीजेपी के सुखदेव भगत और झारखंड विकास मोर्चा के पवन तिग्गा से है.

  • झारखंड के खूंटी में 10,000 लोगों पर देशद्रोह का केस?

    झारखंड के खूंटी में 10,000 लोगों पर देशद्रोह का केस?

    झारखंड में एक तरफ पहले चरण का चुनाव प्रचार ज़ोर पकड़ रहा है. तो वहीं, राज्य के खूंटी ज़िले में दस हज़ार लोगों के ख़िलाफ़ देशद्रोह के मामले दर्ज करने की खबर है.

  • भाजपा को मां मानकर झारखंड में 'डबल इंजन' की सरकार बनवाएं : अरुण सिंह

    भाजपा को मां मानकर झारखंड में 'डबल इंजन' की सरकार बनवाएं : अरुण सिंह

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने गुरुवार को विधानसभा चुनाव वाले राज्य झारखंड के डाल्टनगंज में रैली कर पार्टी के पक्ष में माहौल बनाया.

  • बरहेट विधानसभा सीट : हमेशा से JMM का मज़बूत गढ़ रही है संथाल क्षेत्र की यह सीट

    बरहेट विधानसभा सीट : हमेशा से JMM का मज़बूत गढ़ रही है संथाल क्षेत्र की यह सीट

    बरहेट सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Barhait Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड विकास मोर्चा (JVM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस उम्मीदवार चौथे तथा मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) का प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे.

  • दुमका विधानसभा सीट : JMM के 'गढ़' को पिछली बार BJP ने कर लिया था फतह

    दुमका विधानसभा सीट : JMM के 'गढ़' को पिछली बार BJP ने कर लिया था फतह

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के हेमंत सोरेन ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), कांग्रेस, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के प्रत्याशी रहे थे.

  • झारखंड में नक्सलवाद पर गृहमंत्री अमित शाह के दावे की मुख्य चुनाव आयुक्त ने हवा निकाल दी

    झारखंड में नक्सलवाद पर गृहमंत्री अमित शाह के दावे की मुख्य चुनाव आयुक्त ने हवा निकाल दी

    जब से झारखंड में चुनाव आयोग ने झारखंड में पांच चरण में मतदान कराने की घोषणा की हैं तब से रघुबर दास सरकार के 'नक्‍सलवाद उन्मूलन' के सारे दावे धरे के धरे रह गये. बृहस्पतिवार को तो जहां केंद्रीय गृह मंत्री अमित साह झारखंड के चुनावी सभाओं में राज्य में नक्‍सलवाद पर अंकुश लगाने के लिए मुख्यमंत्री रघुबर दास का पीठ थपथपा रहे थे वहीं रांची में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने साफ़ कहा कि झारखंड के आला अधिकारियों ने उन्हें नक्‍सलवाद में कमी की कभी जानकारी नहीं दी.

  • जगन्नाथपुर विधानसभा सीट : मधु कोड़ा के बाद उनकी पत्नी गीता कोड़ा को भी दो बार बनाया है विधायक

    जगन्नाथपुर विधानसभा सीट : मधु कोड़ा के बाद उनकी पत्नी गीता कोड़ा को भी दो बार बनाया है विधायक

    जगन्नाथपुर सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Jaganathpur Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस का उम्मीदवार चौथे तथा निर्दलीय प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे. पिछले चुनाव में इस सीट के मतदाताओं में से 4,919, यानी 4.3 फीसदी ने NOTA, यानी 'इनमें से कोई नहीं' का विकल्प चुना था.

  • महेशपुर विधानसभा सीट : हमेशा नया विधायक भेजती रही है विधानसभा में

    महेशपुर विधानसभा सीट : हमेशा नया विधायक भेजती रही है विधानसभा में

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर झारखंड विकास मोर्चा (JVM) के मिस्त्री सोरेन ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), तृणमूल कांग्रेस (TMC), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) और निर्दलीय प्रत्याशी रहे थे.

  • जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा सीट : सरयू राय की वजह से अहम है मध्य झारखंड की यह सीट

    जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा सीट : सरयू राय की वजह से अहम है मध्य झारखंड की यह सीट

    वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस के बन्ना गुप्ता ने जीत हासिल की थी, जबकि दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर क्रमशः भारतीय जनता पार्टी (BJP), झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM), राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और निर्दलीय प्रत्याशी रहे थे.

  • नीतीश के झारखंड चुनाव में बीजेपी से गठबंधन न करने के सवाल पर सुशील मोदी ने दिया जवाब

    नीतीश के झारखंड चुनाव में बीजेपी से गठबंधन न करने के सवाल पर सुशील मोदी ने दिया जवाब

    सुशील मोदी ने झारखंड में नीतीश कुमार की पार्टी का अलग लड़ने को मतभेद बताने वालों को जवाब दिया है. भाजपा ने साफ़ किया कि बिहार के बाहर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड अलग चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है. झारखंड में भाजपा के वरिष्ठ नेता और अब बागी होकर मुख्यमंत्री रघुबर दास के ख़िलाफ़ चुनाव मैदान में डटे सरयू राय को जनता दल यूनाइटेड के समर्थन के बाद अटकलों पर विराम लगाते हुए सुशील मोदी ने कहा कि बिल्लियों के भाग्य से छींके नहीं टूटते.

  • झारखंड : भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार संघर्ष करने वाले नेता सरयू राय

    झारखंड : भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार संघर्ष करने वाले नेता सरयू राय

    बिहार का पशुपालन घोटाला वह घोटाला है जिसने बिहार की राजनीति को नई दिशा दे दी. यह घोटाला जब हुआ तब बिहार और झारखंड संयुक्त प्रदेश थे. भारतीय राजनीति में सबसे अधिक चर्चित घोटालों में से एक पशुपालन घोटाले को उजागर करने वाले नेता का नाम है सरयू राय. बीजेपी के नेता सरयू राय झारखंड में कैबिनेट मंत्री हैं और इस बार पार्टी से टिकट नहीं दिए जाने पर बगावत कर रहे हैं. वे अपनी परंपरागत सीट जमशेदपुर पश्चिम के अलावा जमशेदपुर पूर्व से भी उम्मीदवार हैं जो कि मुख्यमंत्री रघुबर दास की सीट है.

  • Jharkhand Election: झारखंड में BJP प्रत्याशी के वाहन से 30 लाख रुपये जब्त, आरोप-प्रत्यारोप जारी

    Jharkhand Election: झारखंड में BJP प्रत्याशी के वाहन से 30 लाख रुपये जब्त, आरोप-प्रत्यारोप जारी

    केंद्र और झारखंड में भाजपा की भले सरकार हो लेकिन सच्चाई यही है कि चुनाव आते ही पैसे के खेल में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी पीछे नहीं रहना चाहते.

  • सुदेश महतो को झारखंड आंदोलन ने बना दिया जन-जन का नेता, सामाजिक कार्यकर्ता और खिलाड़ी भी

    सुदेश महतो को झारखंड आंदोलन ने बना दिया जन-जन का नेता, सामाजिक कार्यकर्ता और खिलाड़ी भी

    झारखंड के राजनीतिक दल ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) के प्रमुख सुदेश महतो और उनकी पार्टी राज्य के मौजूदा विधानसभा चुनाव में बगैर बीजेपी के समर्थन के मैदान में उतरी है. इससे पहले सुदेश महतो को पहले निरंतर बीजेपी का समर्थन मिलता रहा और पिछले चुनाव में उन्होंने बीजेपी से गठबंधन किया था.

  • बाबूलाल मरांडी : सभी 81 सीटों पर अपना दम दिखा रहे हैं झारखंड के पहले मुख्यमंत्री

    बाबूलाल मरांडी : सभी 81 सीटों पर अपना दम दिखा रहे हैं झारखंड के पहले मुख्यमंत्री

    1999 के लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने शिबू सोरेने की पत्नी रूपी सोरेन को दुमका लोकसभा सीट से चुनाव में हराया था जिसके बाद उन्हें केंद्र के अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री बनाया गया था.  2000 में राज्य अलग होने के बाद 28 महीने तक बाबूलाव मरांडी राज्य के मुख्यमंत्री रहे. सहयोगी दलों के विरोध के बाद उन्हें अपने पद को छोड़ना पड़ा था.

  • कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    पिछली बार वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट पर JP के एनोस एक्का ने जीत हासिल की थी, जिन्हें 39.6 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे. इस सीट, यानी कोलेबीरा सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Kolebira Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस का उम्मीदवार चौथे तथा ABJP का प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे.

  • जमशेदपुर पूर्व विधानसभा सीट : हमेशा से रहा है BJP का दबदबा

    जमशेदपुर पूर्व विधानसभा सीट : हमेशा से रहा है BJP का दबदबा

    पिछले विधानसभा चुनाव (Jamshedpur East Assembly Elections) में जमशेदपुर पूर्व सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड विकास मोर्चा (JVM) का प्रत्याशी तीसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का उम्मीदवार चौथे तथा निर्दलीय प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे. पिछले चुनाव में इस सीट के मतदाताओं में से 1,674, यानी 1.0 फीसदी ने NOTA, यानी 'इनमें से कोई नहीं' का विकल्प चुना था.

  • हेमंत सोरेन: JMM के साथ-साथ महागठबंधन को भी है जीत दिलाने की है जिम्मेदारी

    हेमंत सोरेन:   JMM के साथ-साथ महागठबंधन को भी है जीत दिलाने की है जिम्मेदारी

    जुलाई 2013 में JMM ने  कांग्रेस और RJD के साथ मिलकर झारखंड में सरकार बनाई और हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री बने. वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में JMM ने राज्य में अकेले चुनाव लड़ा और पार्टी को 19 सीटों पर जीत मिली थी.

  • रघुबर दास: झारखंड के पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री क्या कर पाएंगे वापसी...?

    रघुबर दास:  झारखंड के पहले गैर आदिवासी मुख्यमंत्री क्या कर पाएंगे वापसी...?

    वर्ष 1995 में पहली बार रघुबर दास ने जमशेदपुर पूर्व सीट पर जीत दर्ज की थी, जिसके बाद से लगातार पांच चुनावों से वह इस सीट पर चुनाव जीतते रहे हैं. इस सीट पर रघुबर दास ने 2014 में कांग्रेस के प्रत्याशी को लगभग 70,000 मतों से हराया था, जबकि 2009 में उन्होंने JVM प्रत्याशी अभय सिंह को मात दी थी.