NDTV Khabar

497


'497' - 29 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 80,472 नए COVID-19 केस, कोरोनावायरस से 1,179 की मौत

    भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 80,472 नए COVID-19 केस, कोरोनावायरस से 1,179 की मौत

    Coronavirus in India:  देश में कोरोना संक्रमण का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कुल संक्रमितों का आंकड़ा 62 लाख के चिंताजनक आंकड़े को पार कर चुका है. बुधवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों (मंगलवार सुबह 8 बजे से लेकर बुधवार सुबह 8 बजे तक) में 80,472 नए मामले सामने आए हैं इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 62, 25,763  हो गई है. वहीं इस दौरान 1179 लोगों की मौत हुई है और कुल मृतकों की संख्या 97,497 हो गई है. जबकि पिछले 23 घंटों में बीते 86,428 मरीज़ ठीक हुए हैं. एक बार फिर 24 घंटों में संक्रमितों से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या आई है. 

  • Coronavirus India Updates: मुंबई में एक दिन में कोविड-19 के 2,654 नये मामले, 46 लोगों की मौत

    Coronavirus India Updates: मुंबई में एक दिन में कोविड-19 के 2,654 नये मामले, 46 लोगों की मौत

    Coronavirus India Updates : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 62,25,763 हो गए हैं. जबकि 1,179 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 97,497 हो गई.

  • PUBG Mobile के चक्कर में पोते ने उड़ाए दादा के 2 लाख रुपये

    PUBG Mobile के चक्कर में पोते ने उड़ाए दादा के 2 लाख रुपये

    पुलिस ने युवक के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की है, क्योंकि उसके दादा ने यह जानने के बाद शिकायत वापस ले ली थी।

  • Coronavirus India Updates: महाराष्ट्र में कोविड-19 के 8,369 नये मामले सामने आये, 246 और मरीजों की मौत

    Coronavirus India Updates: महाराष्ट्र में कोविड-19 के 8,369 नये मामले सामने आये, 246 और मरीजों की मौत

    Coronavirus India Updates: स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11,18,043 हो गई है. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 40,425 नए मामले सामने आए हैं. एक दिन में सामने आने वालों मामलों की यह अभी तक की सबसे बड़ी संख्या है. इस दौरान देश में 681 कोरोना संक्रमितों की मौत भी हुई है. 7,00087 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं और कुल 27,497 लोगों की मौत हुई है.

  • पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 40,425 नए COVID-19 मामले सामने आए, 681 की मौत

    पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 40,425 नए COVID-19 मामले सामने आए, 681 की मौत

    Coronavirus in India: कुल संक्रमितों की संख्या 11 लाख के आंकड़े को पार करते हुए 11,18043 पर पहुंच गई है. वहीं बात करें मृतकों की संख्या की तो आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में 681 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या 27,497 पर पहुंच गई है. इस वायरस को मात देने वाले लोगों की संख्या में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है, अब तक 7,00087 लोग इस खतरनाक बीमारी को हराकर ठीक हो चुके हैं. रिकवरी रेट 62.61 फीसदी पर बरकरार है तो वहीं पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 15.79 फीसदी हो गया है. 

  • Coronavirus India Updates: कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,648 नए मामले, 72 और लोगों की मौत

    Coronavirus India Updates: कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,648 नए मामले, 72 और लोगों की मौत

    Coronavirus India Updates: स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11,18,043 हो गई है. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 40,425 नए मामले सामने आए हैं. एक दिन में सामने आने वालों मामलों की यह अभी तक की सबसे बड़ी संख्या है. इस दौरान देश में 681 कोरोना संक्रमितों की मौत भी हुई है. 7,00087 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं और कुल 27,497 लोगों की मौत हुई है.

  • Coronavirus Updates: देश में बढ़ा कोरोना का प्रकोप, 2 लाख से अधिक लोग हो चुके हैं संक्रमित

    Coronavirus Updates: देश में बढ़ा कोरोना का प्रकोप, 2 लाख से अधिक लोग हो चुके हैं संक्रमित

    Coronavirus Cases in India Updates: स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 1,01,497 लोगों का उपचार चल रहा है और अब तक 1,00,302 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं एक व्यक्ति देश से बाहर जा चुका है. मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि अब तक 48.31 फीसदी मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

  • China Coronavirus: कोरोना वायरस का कहर, चीन में अब तक 2,744 मौतें

    China Coronavirus: कोरोना वायरस का कहर, चीन में अब तक 2,744 मौतें

    चीन में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) से बुधवार को 29 और लोगों की मौत से इससे मरने वालों की संख्या (Death Toll) बढ़कर 2,744 हो गई है. देश में अभी इसके कुल 78,497 मामले हैं.

  • दिल्ली में हवा चलने से प्रदूषण के स्तर में थोड़ा कमी, जानें कैसे मापते हैं वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी AQI

    दिल्ली में हवा चलने से प्रदूषण के स्तर में थोड़ा कमी, जानें कैसे मापते हैं वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी AQI

    राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को हवा की गति में मामूली वृद्धि होने से प्रदूषण के स्तर में कुछ कमी आई है लेकिन वायु गुणवत्ता अब भी 'बेहद गंभीर' की श्रेणी में बनी हुई है.  सुबह चार बजकर 38 मिनट पर दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 438 रहा, वहीं अलीपुर, नरेला और बवाना में एक्यूआई क्रमश: 493, 486 और 472 रहा. रविवार को दिल्ली का औसत एक्यूआई 494 रहा. यह छह नवंबर 2016 के बाद से सर्वाधिक है. उस वक्त एक्यूआई 497 था. एक्यूआई 0-50 के बीच 'अच्छा', 51-100 के बीच 'संतोषजनक', 101-200 के बीच 'मध्यम', 201-300 के बीच 'खराब', 301-400 के बीच 'अत्यंत खराब', 401-500 के बीच 'गंभीर' और 500 के पार 'बेहद गंभीर' माना जाता है.

  • सनराइजर्स हैदराबाद का साथ छोड़ेंगे शिखर धवन, अगले IPL सीजन में इस टीम के लिए खेलेंगे..

    सनराइजर्स हैदराबाद का साथ छोड़ेंगे शिखर धवन, अगले IPL सीजन में इस टीम के लिए खेलेंगे..

    32 वर्षीय धवन आईपीएल में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स और सनराइजर्स हैदराबाद के अलावा मुंबई इंडियंस की टीम की ओर से भी खेल चुके हैं. धवन आईपीएल के 2008 सीजन में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के लिए खेले थे, बाद में वे मुंबई इंडियंस की ओर से खेले और बाद में हैदराबाद की फ्रेंचाइजी से जुड़े.

  • क्योंकि संपत्ति नहीं है स्त्री

    क्योंकि संपत्ति नहीं है स्त्री

    व्यभिचार कानून को रद्द करने का सुप्रीम कोर्ट का फैसला बस इतना नहीं है कि स्त्री और पुरुष के विवाहेतर संबंधों को अब जुर्म नहीं माना जाएगा. दुर्भाग्य से हमारे लगातार सतही-सपाट होते समय में ज़्यादातर लोग इस फैसले की इतनी भर व्याख्या करेंगे. लगातार चुटकुलेबाज होते जा रहे हमारे समाज को यह फैसला अपने लिए स्त्री-पुरुष संबंधों के खुलेपन पर कुछ छींटाकशी का अवसर भर लग सकता है, लेकिन यह एक ऐतिहासिक फैसला है.

  • सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ ने दूसरी बार पलटा अपने पिता का फैसला

    सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ ने दूसरी बार पलटा अपने पिता का फैसला

    जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ ने एक बार फिर अपने पिता जस्टिस वाईवी चंद्रचूड़ के 33 साल पुराने फैसले को पलट दिया. सन 1985 में जस्टिस वाईवी चंद्रचूड़ ने व्यभिचार की धारा को बरकरार रखा था और कहा था कि यह असंवैधानिक नहीं है. अब जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ ने कहा है कि यह कानून असंवैधानिक है और रद्द किया जाता है.

  • सुप्रीम कोर्ट बोला: व्यभिचार अपराध नहीं, पति, पत्नी का मालिक नहीं, पढ़ें इस मामले की पूरी टाइमलाइन

    सुप्रीम कोर्ट बोला: व्यभिचार अपराध नहीं, पति, पत्नी का मालिक नहीं, पढ़ें इस मामले की पूरी टाइमलाइन

    सुप्रीम कोर्ट ने व्यभिचार कानून को रद्द कर दिया और अब से यह अपराध नहीं रहा. सुप्रीम कोर्ट की प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सर्वसम्मति से व्यभिचार से संबंधित दंडात्मक प्रावधान को असंवैधानिक करार देते हुए उसे मनमाना और महिलाओं की व्यक्तिकता को ठेस पहुंचाने वाला बताते हुए निरस्त किया. मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा ने कहा, "व्यभिचार अपराध नहीं हो सकता. यह निजता का मामला है. पति, पत्नी का मालिक नहीं है. महिलाओं के साथ पुरूषों के समान ही व्यवहार किया जाना. इस मामले में हुई सुनवाई से संबंधित घटनाक्रम कुछ इस प्रकार रहा.

  • Supreme Court verdict: इटली में रहने वाले इस शख्स ने उठाया था मुद्दा, तो सुप्रीम कोर्ट ने तोड़ा 158 साल पुराना व्यभिचार का कानून

    Supreme Court verdict: इटली में रहने वाले इस शख्स ने उठाया था मुद्दा, तो सुप्रीम कोर्ट ने तोड़ा 158  साल पुराना व्यभिचार का  कानून

    भारतीय मूल के इटली निवासी जोसेफ शाइन (Joseph Shine) ने व्यभिचार के मुद्दे को सबसे पहले उठाया था. व्यभिचार पर सिर्फ पुरुषों को दोषी मानने पर सवाल खड़े करते हुए आठ दिसंबर 2017 को शाइन ने सुप्रीम कोर्ट में आइपीसी की धारा 497 की वैधता को चुनौती दी.

  • सुप्रीम कोर्ट के ये हैं 5 जज, जिन्होंने समलैंगिकता के बाद अब व्यभिचार को किया अपराध से बाहर

    सुप्रीम कोर्ट के ये हैं 5 जज, जिन्होंने समलैंगिकता के बाद अब व्यभिचार को किया अपराध से बाहर

    158 साल पुराने कानून IPC 497 (व्यभिचार) की वैधता  (Adultery under Section 497) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपना फैसला सुना दिया. सुप्रीम कोर्ट के पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने व्यभिचार को आपराधिक कृत्य बताने वाले दंडात्मक प्रावधान को सर्वसम्मति से निरस्त किया. सुप्रीम कोर्ट ने 157 साल पुराने व्यभिचार को रद्द कर दिया और कहा कि किसी पुरुष द्वारा विवाहित महिला से यौन संबंध बनाना अपराध नहीं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि व्यभिचार कानून असंवैधानिक है. सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि व्यभिचार कानून मनमाना और भेदभावपूर्ण है. यह लैंगिक समानता के खिलाफ है. मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस रोहिंटन नरीमन, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदु मल्होत्रा के संविधान पीठ ने यह फैसला सुनाया है. बता दें कि इस पीठ ने ही धारा 377 पर अपना अहम फैसला सुनाया था. इससे पहले इसी बेंच ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से अलग किया था. तो चलिए जानते हैं उन पांचों जजों के बारे में...

  • जानें क्‍या है IPC 497? सुप्रीम कोर्ट ने 158 साल पुराने व्यभिचार कानून को किया खत्‍म

    जानें क्‍या है IPC 497? सुप्रीम कोर्ट ने 158 साल पुराने व्यभिचार कानून को किया खत्‍म

    सुप्रीम कोर्ट ने व्यभिचार-रोधी कानून को रद्द कर दिया है और कहा है कि व्यभिचार अपराध नहीं है. कोर्ट ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि यह तलाक का आधार हो सकता है लेकिन यह कानून महिला के जीने के अधिकार पर असर डालता है.

  • Supreme Court verdict on Adultery : चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा- महिला का मास्टर नहीं होता है पति , फैसले की 10 बातें

    Supreme Court verdict on Adultery : चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा- महिला का मास्टर नहीं होता है पति , फैसले की 10 बातें

    व्यभिचार कानून की वैधता (Supreme Court verdict on Adultery under Section 497) पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अहम फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जो भी कानून महिला को उसकी गरिमा से विपरीत या भेदभाव करता है वो संविधान के कोप को आमंत्रित करता है.  ऐसे प्रावधान असंवैंधानिक है. सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने 9 अगस्त को व्यभिचार की धारा IPC 497 पर फैसला सुरक्षित रखा था. पीठ के सामने मसला उठा था कि आइपीसी की धारा 497  ध अंसवैधानिक है या नहीं, क्योंकि इसमें सिर्फ पुरुषों को आरोपी बनाया जाता है, महिलाओं को नहीं. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा- महिला का मास्टर नहीं होता है पति. जानिए दस बातें

  • 158 साल पुराने व्यभिचार कानून को सुप्रीम कोर्ट ने किया रद्द, संविधान पीठ ने कहा- यह अपराध नहीं

    158 साल पुराने व्यभिचार कानून को सुप्रीम कोर्ट ने किया रद्द, संविधान पीठ ने कहा- यह अपराध नहीं

    157 साल पुराने कानून IPC 497 (व्यभिचार) की वैधता  (Supreme Court verdict on Adultery under Section 497) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)का फैसला गुरुवार को आएगा. सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने 9 अगस्त को व्यभिचार की धारा IPC 497 पर फैसला सुरक्षित रखा था. पीठ तय करेगी कि यह धारा अंसवैधानिक है या नहीं, क्योंकि इसमें सिर्फ पुरुषों को आरोपी बनाया जाता है, महिलाओं को नहीं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com