NDTV Khabar

Assembly election 2014


'Assembly election 2014' - 412 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार की बेगूसराय सीट पर पूरे देश की नजरें थीं. यहां से बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और अपने बयानों के लिए मशहूर गिरिराज सिंह का मुकाबला वामपंथी राजनीति के इस समय पोस्टर ब्बॉय और सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से था. लेकिन बाजी आखिरकार गिरिराज सिंह के ही हाथ लगी और कन्हैया कुमार को हार का सामना करना पड़ा. यह सीट अपने आप में कई ऐतिहासिक और राजनीतिक नामकरणों को लिए भी मशहूर है. बेगूसराय को पूरब का लेनिनग्राद भी कहा जाता है. 2019 के चुनाव से पहले ही कन्हैया के भाषण सोशल मीडिया पर खूब देखे जा रहे थे. बिहार की राजनीति में एक युवा नेता का उभार एक समय तो तेजस्वी यादव के लिए भी बड़ा खतरा बनते देखा गया. कहा तो यह भी जाता है कि कन्हैया कुमार को हराने के लिए ही आरजेडी ने तनवीर हसन को लोकसभा चुनाव में उतार दिया था. हालांकि आरजेडी का कहना था साल 2014 में तनवीर हसन सिर्फ 60 हजार वोटों से हारे थे इसलिए कार्यकर्ताओं के मनोबल के लिए उनको चुनाव में उतारा गया है. फिलहाल इस सच्चाई से नकारा नहीं जा सकता है कि इसका फायदा गिरिराज सिंह को ही मिला था. 

  • Delhi Election Results 2020: 'वेलेंटाइन डे' से है केजरीवाल का खास कनेक्शन, क्या 14 फरवरी को ही लेंगे शपथ?

    Delhi Election Results 2020: 'वेलेंटाइन डे' से है केजरीवाल का खास कनेक्शन, क्या 14 फरवरी को ही लेंगे शपथ?

    आम आदमी पार्टी (AAP) की सीटें जरूर कुछ कम हुई हैं, लेकिन इसके बावजूद AAP आसानी से बहुमत हासिल कर लेगी. केजरीवाल ही दिल्ली के अगले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. सवाल यह है कि क्या अरविंद केजरीवाल 14 फरवरी को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. दरअसल केजरीवाल का 14 फरवरी की तारीख से एक खास नाता है.

  • CM योगी ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- अगर दिल्ली सरकार जिम्मेदारी निभाती तो यमुना भी गंगा की तरह...

    CM योगी ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- अगर दिल्ली सरकार जिम्मेदारी निभाती तो यमुना भी गंगा की तरह...

    मुख्यमंत्री ने गंगा पूजन के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब 2014 में काशी चुनाव लड़ने गये थे तो उन्होंने कहा था कि मुझे मां गंगा ने बुलाया है. उन्होंने गंगा को स्वच्छ करने के लिए अपना वादा निभाते हुए नमामि गंगे परियोजना बनाई जिसकी वजह से कानपुर मे भी गंगा निर्मल हो गई. उन्होंने कहा कि कानपुर में सीवेज का इतना गंदा पानी गिरता था कि पानी में ऑक्सीजन स्तर बहुत कम हो गया था और इससे वहां जलीय जीवों का अस्तित्व ही नहीं रहा था.

  • पृथ्वीराज चव्हाण के खुलासे के बाद BJP ने जताई नाराजगी, फडणवीस बोले- शिवसेना का 'असली चेहरा' हुआ उजागर

    पृथ्वीराज चव्हाण के खुलासे के बाद BJP ने जताई नाराजगी, फडणवीस बोले- शिवसेना का 'असली चेहरा' हुआ उजागर

    विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा कि चव्हाण का बयान बेहद चौंकाने वाला है और इससे उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी का "असली चेहरा" उजागर हुआ है. शिवसेना ने नवंबर में कांग्रेस और राकांपा के साथ मिलकर राज्य में सरकार बनाई. 

  • भाजपा के रघुवर दास और लक्ष्मण गिलुवा को छोड़कर अन्य सभी पार्टियों के बड़े नेता चुनाव जीते

    भाजपा के रघुवर दास और लक्ष्मण गिलुवा को छोड़कर अन्य सभी पार्टियों के बड़े नेता चुनाव जीते

    भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा भी चक्रधरपुर की सीट से झामुमो प्रत्याशी सुखराम उरांव से 12,234 मतों से पराजित हो गए. इसके विपरीत झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और विजयी गठबंधन के नेता हेमंत सोरेन ने बरहेट और दुमका दोनों सीटों से जीत दर्ज की. हेमंत ने जहां बरहेट सीट पर भाजपा के साइमन माल्टो को 25,740 मतों से पराजित किया वहीं दुमका में उन्होंने भाजपा की मंत्री लुईस मरांडी को 13,188 मतों से पराजित कर दिया.

  • Jharkhand Election Results: पांचवीं बार सरकार बनाने की ओर हेमंत सोरेन की JMM

    Jharkhand Election Results: पांचवीं बार सरकार बनाने की ओर हेमंत सोरेन की JMM

    विधानसभा चुनाव में मोदी की अगुआई में भाजपा ने जहां राष्ट्रीय मुद्दों को हथियार बनाया, वहीं सोरेन ने स्थानीय मुद्दे चुने. साल 2000 में राज्य के गठन के बाद 2019 में यह चौथे विधानसभा चुनाव हैं. राज्य में जेएमएम ने 2005, 2009, 2014 और 2019 में सरकार बनाई.

  • Jharkhand Election Results: आजसू से अलग होकर BJP ने खो दी झारखंड की सत्‍ता?

    Jharkhand Election Results: आजसू से अलग होकर BJP ने खो दी झारखंड की सत्‍ता?

    आजसू 2014 में 5 विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी. इस बार के चुनाव में उसने ज्‍यादा सीटों पर अपनी दावेदारी पेश कर दी जो बीजेपी को स्‍वीकार्य नहीं था. इसका असर ये हुआ कि दोनों दलों के रास्‍ते अलग हो गए.

  • Jharkhand Election Results 2019: दो सीटों से चुनाव लड़ने वाले हेमंत सोरेन क्या बनेंगे मुख्यमंत्री या अधूरा रह जाएगा सपना?

    Jharkhand Election Results 2019: दो सीटों से चुनाव लड़ने वाले हेमंत सोरेन क्या बनेंगे मुख्यमंत्री या अधूरा रह जाएगा सपना?

    झारखंड की दुमका विधानसभा सीट से 2005 के चुनाव में स्टीफन मरांडी ने जीत दर्ज की थी. वह निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरे थे. 2009 में JMM ने इस सीट पर कब्जा जमाया और हेमंत सोरेन विधायक चुने गए. 2014 के विधानसभा चुनाव में हेमंत को हार का सामना करना पड़ा. बीजेपी की लुईस मरांडी ने उन्हें करीब पांच हजार वोटों से मात दी थी.

  • झारखंड विधानसभा चुनाव: अंतिम चरण में 16 सीटों के लिए कुल 70.87 प्रतिशत मतदान

    झारखंड विधानसभा चुनाव: अंतिम चरण में 16 सीटों के लिए कुल 70.87 प्रतिशत मतदान

    अंतिम चरण में 236 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 40,05,287 मतदाताओं ने शाम पांच बजे तक EVM मशीनों में बंद कर दिये. इन सीटों में से सात सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं और वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में इन 16 सीटों में से छह झामुमो ने और 5 बीजेपी ने जीती थीं.

  • Jharkhand Assembly Election 2019: अंतिम चरण के लिए मतदान आज, 16 सीटों पर 237 प्रत्याशी मैदान में

    Jharkhand Assembly Election 2019: अंतिम चरण के लिए मतदान आज, 16 सीटों पर 237 प्रत्याशी मैदान में

    Jharkhand Assembly Election 2019: अंतिम चरण में 40,05,287 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. जिन 16 सीटों पर शुक्रवार को मतदान होगा उनमें सात सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं. साल 2014 के विधानसभा चुनावों में इनमें से 6 झामुमो ने और पांच बीजेपी ने जीती थीं. झारखंड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनय कुमार चौबे ने गुरुवार को यह जानकारी दी. 

  • कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    कोलेबीरा विधानसभा सीट : एनोस एक्का का गढ़ रही है गुमला-सिंहभूम इलाके की यह ग्रामीण सीट

    पिछली बार वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट पर JP के एनोस एक्का ने जीत हासिल की थी, जिन्हें 39.6 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे. इस सीट, यानी कोलेबीरा सीट पर पिछले विधानसभा चुनाव (Kolebira Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उम्मीदवार दूसरे, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) का प्रत्याशी तीसरे, कांग्रेस का उम्मीदवार चौथे तथा ABJP का प्रत्याशी पांचवें स्थान पर रहे थे.

  • हेमंत सोरेन: JMM के साथ-साथ महागठबंधन को भी है जीत दिलाने की है जिम्मेदारी

    हेमंत सोरेन:   JMM के साथ-साथ महागठबंधन को भी है जीत दिलाने की है जिम्मेदारी

    जुलाई 2013 में JMM ने  कांग्रेस और RJD के साथ मिलकर झारखंड में सरकार बनाई और हेमंत सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री बने. वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में JMM ने राज्य में अकेले चुनाव लड़ा और पार्टी को 19 सीटों पर जीत मिली थी.

  • रघुबर दास: झारखंड के पहले गैर-आदिवासी मुख्यमंत्री क्या कर पाएंगे वापसी...?

    रघुबर दास:  झारखंड के पहले गैर-आदिवासी मुख्यमंत्री क्या कर पाएंगे वापसी...?

    वर्ष 1995 में पहली बार रघुबर दास ने जमशेदपुर पूर्व सीट पर जीत दर्ज की थी, जिसके बाद से लगातार पांच चुनावों से वह इस सीट पर चुनाव जीतते रहे हैं. इस सीट पर रघुबर दास ने 2014 में कांग्रेस के प्रत्याशी को लगभग 70,000 मतों से हराया था, जबकि 2009 में उन्होंने JVM प्रत्याशी अभय सिंह को मात दी थी.

  • Jharkhand Assembly Election: राज्य में चुनाव प्रचार करने पर बोले CM नीतीश कुमार, कहा- वहां मेरी जरूरत नहीं

    Jharkhand Assembly Election: राज्य में चुनाव प्रचार करने पर बोले CM नीतीश कुमार, कहा- वहां मेरी जरूरत नहीं

    बिहार में भाजपा के साथ सत्ता में शामिल जद(यू) ने अगस्त में ही स्पष्ट कर दिया था झारखंड विधानसभा चुनाव वह अपने बलबूते चुनाव लडेगी. हालांकि जद(यू) 2009 और 2014 के झारखंड विधानसभा में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी.

  • Jharkhand Assembly Election: BJP ने समझौता नहीं हो पाने के लिए आजसू को ठहराया जिम्मेदार

    Jharkhand Assembly Election: BJP ने समझौता नहीं हो पाने के लिए आजसू को ठहराया जिम्मेदार

    आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने पूर्व में कहा था कि भाजपा के विचार के लिए उनकी पार्टी ने 17 उम्मीदवारों की सूची दी थी. गिलुआ ने आजसू पार्टी के क्षेत्रीय दर्जे का हवाला देते हुए कहा, ‘भाजपा राष्ट्रीय पार्टी है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए. उन्हें आनुपातिक रूप से सीटों पर सहमत होना चाहिए था.’

  • झारखंड में बीजेपी पहली बार आजसू से पूरी तरह जुदा होकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी

    झारखंड में बीजेपी पहली बार आजसू से पूरी तरह जुदा होकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी

    यह पहली बार होगा जब बीजेपी सुदेश महतो के आल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के बिना झारखंड का विधानसभा चुनाव लड़ेगी. जहां तक आंकड़ों का सवाल है तो सन 2000 में झारखंड नया राज्य बना तब भारतीय जनता पार्टी और आजसू गठबंधन एक साथ आए थे. उस समय सुदेश महतो अपनी पार्टी के एकमात्र विधायक थे, लेकिन उन्हें एक साथ कई मंत्रालय मिले थे.

  • बाघ के पंजे में कमल और गले में बंधी घड़ी : शिवसेना ने BJP को दिया एक संदेश, मान जाओ नहीं तो...

    बाघ के पंजे में कमल और गले में बंधी घड़ी : शिवसेना ने BJP को दिया एक संदेश, मान जाओ नहीं तो...

    महाराष्ट्र में ऐसा लग रहा है कि शिवसेना अब बीजेपी से चुन-चुनकर बदला लेने पर उतारू हो गई है. तभी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने अपने ट्विटर पर एक ऐसा कॉर्टून शेयर किया है जिसमें एक शेर के पंजे में कमल का फूल दिखाया गया है. आपको बता दें कि शिवसेना का चिन्ह के साथ कई जगह शेर भी बना होता है. दरअसल साल 2014 में शिवसेना को बीजेपी ने झिड़क दिया था और अकेले चुनाव लड़कर अपनी सरकार भी बना ली थी. बीजेपी उस समय मोदी लहर पर सवार थी और कभी राज्य में शिवसेना की सरकार में सहयोगी बनकर काम चलाने वाली बीजेपी अब बड़े भाई की भूमिका में आ गई थी. शिवसेना उस समय अपने बुरे दौर में पहुंच गई थी. इस चुनाव में बीजेपी को 122  शिवसेना को 63 और कांग्रेस को 42 और एनसीपी को 41 सीटें मिली थीं.

  • Maharashtra Results: चुनाव परिणाम के बाद बोले NCP प्रमुख शरद पवार- 'रिजल्ट ने यह साबित कर दिया कि...'

    Maharashtra Results: चुनाव परिणाम के बाद बोले NCP प्रमुख शरद पवार- 'रिजल्ट ने यह साबित कर दिया कि...'

    NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा कि हमारी भूमिका यह है कि लोगों ने हमें सरकार नहीं बनाने और विपक्ष में बैठने का अवसर दिया है. हम अपना काम कुशलता से करेंगे. बता दें कि 2014 के मुकाबले इस चुनाव में शरद पवार की पार्टी NCP की सीटों में सबसे अधिक वृद्धि हुई है, जबकि भाजपा के सीटों में कमी आई है. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com