NDTV Khabar

Bihar News


'Bihar News' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे जेडीयू में हुए शामिल, हाल ही में लिया था वीआरएस

    बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे जेडीयू में हुए शामिल, हाल ही में लिया था वीआरएस

    Bihar Assembly Election 2020: बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) रविवार की शाम राज्य की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइडेड (JDU) में शामिल हो गए. गुप्तेश्वर पांडे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर पार्टी में शामिल हुए.

  • बिहार चुनाव : CM नीतीश कुमार से मिले पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय, JDU में जल्द शामिल होने के आसार

    बिहार चुनाव : CM नीतीश कुमार से मिले पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय, JDU में जल्द शामिल होने के आसार

    Bihar Election 2020: पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय शनिवार को जनता दल यूनाइटेड के दफ्तर गए. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात भी की, लेकिन अभी पार्टी में शामिल नहीं हुए हैं. हालांकि, कहा जा रहा है कि पांडेय जल्द ही नीतीश की पार्टी में शामिल होंगे.

  • Bihar Election Date: 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 10 नवंबर को नतीजों का ऐलान

    Bihar Election Date: 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 10 नवंबर को नतीजों का ऐलान

    Bihar Election Date: बिहार में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो गया है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कांफ्रेंस करते बताया कि कोविड काल में तीन चरणों में चुनाव कराए जाएंगे. पहला चरण 28 अक्टूबर को होगा, जहां 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान होगा. विधान सभा चुनावों के नतीजों का ऐलान 10 नवंबर को किया जाएगा. दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान और तीसरे चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदाता अपने अधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. 

  • BPSC Recruitment 2020: फैकल्टी के 231 पदों पर भर्ती की घोषणा, जानिए कब और कैसे करें आवेदन

    BPSC Recruitment 2020: फैकल्टी के 231 पदों पर भर्ती की घोषणा, जानिए कब और कैसे करें आवेदन

    BPSC Faculty Recruitment 2020: बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने असिस्टेंट प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर भर्ती के लिए एक अधिसूचना जारी की है. असिस्टेंट प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर की भर्ती बिहार सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में की जाएगी. इस प्रक्रिया के जरिए भर्ती कुल 231 पदों पर की जाएगी.

  • रघुवंश प्रसाद के निधन से दुखी हुए लालू यादव, बोले- परसों ही कहा था कहीं नहीं जा रहे हैं...ये आपने क्या किया?

    रघुवंश प्रसाद के निधन से दुखी हुए लालू यादव, बोले- परसों ही कहा था कहीं नहीं जा रहे हैं...ये आपने क्या किया?

    लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया, 'प्रिय रघुवंश बाबू! ये आपने क्या किया? मैनें परसों ही आपसे कहा था आप कहीं नहीं जा रहे है लेकिन आप इतनी दूर चले गए. नि:शब्द हूँ. दुःखी हूँ. बहुत याद आएँगे.' रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी दुख जताया है. उन्होंने बिहार की परियोजनाओं का लोकार्पण करते हुए अपने भाषण की शुरूआत रघुवंश प्रसाद को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए की.

  • विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को 16000 करोड़ की सौगात देंगे PM मोदी : सूत्र

    विधानसभा चुनाव से पहले बिहार को 16000 करोड़ की सौगात देंगे PM मोदी : सूत्र

    बिहार (Bihar Assembly Elections 2020) में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. सत्ता पर काबिज होने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां पूरा दमखम लगा रही हैं. सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बिहार को 16000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की भेंट देंगे. अगले 10 दिनों में पीएम बिहार के लिए विभिन्न परियोजनाओं को शुरू करेंगे. ये बुनियादी ढांचे के विकास के लिए और बिहार के लोगों का जीवन स्तर सुधारने के लिए होंगे.

  • घोटाला: ट्रैक्टर की जगह 'चाइना माल', NDTV को मिली रिपोर्ट पढ़कर हर कोई हैरान

    घोटाला:  ट्रैक्टर की जगह 'चाइना माल', NDTV को मिली रिपोर्ट पढ़कर हर कोई हैरान

    मध्यप्रदेश में उद्यानिकी विभाग में करोड़ों रुपए का घोटाला सामने आया है, जिसमें सामान खरीदे बिना ही भुगतान कर दिया गया. आरोप ये भी है कि नेताओं-अफसरों की मिलीभगत से घोटाला करने के लिए अफसरों ने न सिर्फ नियम बदले, बल्कि किसानों को घटिया उपकरण मुहैया कराए. किसानों की सब्सिडी का हिस्सा भी सीधा निजी कंपनी को भुगतान कर दिया गया है. वहीं एक दूसरे मामले में करोड़ों के पौधे सिर्फ कागजों पर ही लगा दिये गये. इस घोटाले के तार गुजरात, छत्तीसगढ़ होते मध्यप्रदेश से जुड़े हैं. 

  • Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    Bihar Election 2020: पूरब के 'लेनिनग्राद' में बदलते समीकरणों के बीच अब 'साख' दांव पर

    लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार की बेगूसराय सीट पर पूरे देश की नजरें थीं. यहां से बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और अपने बयानों के लिए मशहूर गिरिराज सिंह का मुकाबला वामपंथी राजनीति के इस समय पोस्टर ब्बॉय और सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से था. लेकिन बाजी आखिरकार गिरिराज सिंह के ही हाथ लगी और कन्हैया कुमार को हार का सामना करना पड़ा. यह सीट अपने आप में कई ऐतिहासिक और राजनीतिक नामकरणों को लिए भी मशहूर है. बेगूसराय को पूरब का लेनिनग्राद भी कहा जाता है. 2019 के चुनाव से पहले ही कन्हैया के भाषण सोशल मीडिया पर खूब देखे जा रहे थे. बिहार की राजनीति में एक युवा नेता का उभार एक समय तो तेजस्वी यादव के लिए भी बड़ा खतरा बनते देखा गया. कहा तो यह भी जाता है कि कन्हैया कुमार को हराने के लिए ही आरजेडी ने तनवीर हसन को लोकसभा चुनाव में उतार दिया था. हालांकि आरजेडी का कहना था साल 2014 में तनवीर हसन सिर्फ 60 हजार वोटों से हारे थे इसलिए कार्यकर्ताओं के मनोबल के लिए उनको चुनाव में उतारा गया है. फिलहाल इस सच्चाई से नकारा नहीं जा सकता है कि इसका फायदा गिरिराज सिंह को ही मिला था. 

  • 'मिले ना मिले हम' : चिराग पासवान के 'ढाई घर' वाले दांव के पीछे कौन?

    'मिले ना मिले हम' : चिराग पासवान के 'ढाई घर' वाले दांव के पीछे कौन?

    बिहार विधानसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी इस समय काफी चर्चा में है. एनडीए की सहयोगी पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता और पार्टी अध्यक्ष के पिता रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान लाइमलाइट में हैं. दरअसल बिहार में एनडीए के नेता सीएम नीतीश कुमार हैं और उन्हीं की अगुवाई में चुनाव लड़ा जाएगा. इस बात का ऐलान गृहमंत्री अमित शाह कई महीनों पहले कर चुके हैं. इसी बीच महागठबंधन से रिश्ता तोड़ जीतनराम मांझी भी एनडीए में आने का ऐलान कर चुके हैं. जीतनराम मांझी की पार्टी 'हम' की राजनीति भी दलितों के आसपास ही है. जबकि एनडीए में एलजेपी इस वोटबैंक पर पहले ही दावा करती आई है. एलजेपी नेताओं का कहना है कि सिर्फ एनडीए में आने का ऐलान कर देने से भर से जीतनराम मांझी गठबंधन का हिस्सा नहीं बन जाएंगे.

  • 'बिहार में बेरोज़गारी दर 46.6% सबसे अधिक क्यों है'... तेजस्वी के CM नीतीश से 10 तीखे सवाल

    'बिहार में बेरोज़गारी दर 46.6% सबसे अधिक क्यों है'... तेजस्वी के CM नीतीश से 10 तीखे सवाल

    बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान से पहले ही अब राजनीति गरमाने लगी है. कांग्रेस जहां गुरुवार को अपने डिजिटल प्रचार अभियान की शुरुआत करने जा रही है तो नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली से पहले आरजेडी नेता तेजस्वी यादव सीएम नीतीश और राज्य सरकार से सवाल पूछने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं. तेजस्वी यादव ने अब सवालों के जरिए सीएम नीतीश कुमार को घेरना शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा, ' नीतीश कुमार की विगत 1 मार्च को गाँधी मैदान की Actual रैली का हश्र पूरे देश ने देखा था। ख़ैर वर्चुअल के बहाने हम उन्हें ऐक्चूअल मुद्दों से भागने नहीं देंगे. आशा है आज मुख्यमंत्री हमारे इन सवालों का जवाब देंगे.

  • बिहार में चुनाव से पहले नीतीश कुमार और चिराग में बढ़ती तल्खी के क्या हैं मायने ?

    बिहार में चुनाव से पहले नीतीश कुमार और चिराग में बढ़ती तल्खी के क्या हैं मायने ?

    Bihar Assembly Election 2020: बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की अगुवाई वाला NDA दो फाड़ नजर आ रहा है. एक की कमान खुद नीतीश कुमार संभाल रहे हैं और उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री, जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) हैं तो वहीं दूसरी तरफ़ BJP है, जिसके साथ लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) है.

  • LJP के विज्ञापन में नीतीश कुमार पर तंज? बचाव में उतरे मांझी ने चिराग पासवान को दिया जवाब

    LJP के विज्ञापन में नीतीश कुमार पर तंज? बचाव में उतरे मांझी ने चिराग पासवान को दिया जवाब

    पार्टी ने अपने विज्ञापन में बताया है कि बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो हम पर राज करने के लिए लड़ रहे है लेकिन मात्र लोक जनशक्ति पार्टी है जो बिहार पर नाज़ करने की लड़ाई लड़ रही है. इस विज्ञापन से युवा बिहारी चिराग पासवान की अपेक्षा है कि सभी बिहारी, बिहार को 1st और बिहारी को 1st बनाने के लिए साथ आएं और नया बिहार और युवा बिहार के बनाने में योगदान दें.

  • कट्टर संघी और BJP के दूसरे मोदी को कितना जानते हैं आप

    कट्टर संघी और BJP के दूसरे मोदी को कितना जानते हैं आप

    1952 में जन्में बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बीएस कॉलेज, पटना से बीएससी की डिग्री ली है.  पटना विश्वविद्यालय के छात्र नेता रहे सुशील मोदी 1973 में पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के चुनाव में महासचिव पद का चुनाव जीत चुके हैं. इसी दौरान लालू यादव  पटना विश्वविद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष  थे. इस लिहाज से उन दिनों लालू यादव सुशील मोदी के बॉस थे.  सुशील मोदी बिहार प्रदेश छात्र संघर्ष समिति के भी सदस्य बने. ये वही संगठन है जिसने 1974 में लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में बिहार के प्रसिद्ध छात्र आंदोलन को पूरे देश में फैलाया. तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 1975 में घोषित आपालकाल के दौरान सुशील मोदी मीसा कानून के तहत 5 बार गिरफ्तार किये गये और इस दौरान उन्हें 24 महीने जेल में रहना पड़ा. 

  • तेज प्रताप यादव, तेजस्वी के लिए क्यों हैं चुनाव में बड़ा फैक्टर?

    तेज प्रताप यादव, तेजस्वी के लिए क्यों हैं चुनाव में बड़ा फैक्टर?

    लालू यादव परिवार के सबसे अलबेले सदस्य हैं तेज प्रताप यादव. वो कब क्या बयान दे देगें कोई नहीं जानता लेकिन उसका असर कितना होगा इसका अंदाजा खुद तेज प्रताप भी नहीं लगा पाते हैं. लेकिन तेज और तेजस्वी यादव दोनों की तुलना करें तो कई बार तेज प्रताप के भाषणों में लालू प्रसाद यादव का असर दिख जाता है. उनके भाषणों में तंज लालू प्रसाद यादव जैसे ही होते हैं. लेकिन तेज प्रताप के साथ दिक्कत ये है कि उनके साथ विवादों की एक लंबी फेरहिस्त भी जुड़ती चली जा रही है.

  • तेजस्वी यादव क्या इस बार बन पाएंगे मुख्यमंत्री?

    तेजस्वी यादव क्या इस बार बन पाएंगे मुख्यमंत्री?

    बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. चुनाव आयोग ने भी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं और माना जा रहा है कि अब जल्द ही तारीखों का ऐलान हो सकता है. क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने भी साफ कह दिया है कि कोरोन संक्रमण की वजह से चुनाव को नहीं टाला जा सकता है. हालांकि विपक्षी दलों का मानना है कि इस महामारी के बीच चुनाव कराना ठीक नहीं है. इसके पीछे विपक्षी दलों की अपनी भी कुछ चिंताए हैं. हालांकि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए और महागठबंधन के बीच मुकाबला है. एनडीए की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले से ही चेहरा घोषित हैं. लेकिन आरजेडी जहां तेजस्वी यादव को इस पद का दावेदार मान रही है लेकिन महागठबंधन की ओर से अभी तक इसकी औपचारिक घोषणा भी नहीं की गई है. एनडीए की तरह ही महागठबंधन में भी सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान है. इतना ही नहीं खुद आरजेडी में भी तेजस्वी से कई बड़े नेता अक्सर नाराज दिख जाते हैं. 

  • बिहार विधानसभा चुनाव : नालंदा के 'मुन्ना' से लेकर 'सुशासन बाबू' तक का सफर

    बिहार विधानसभा चुनाव :  नालंदा के 'मुन्ना' से लेकर 'सुशासन बाबू' तक का सफर

    'नालंदा के मुन्ना' से लेकर बिहार के ‘सुशासन बाबू’ तक का सफर तय कर चुके नीतीश कुमार केंद्रीय रेल मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री पद का सफर तय कर चुके हैं. वैद्य राम लखन सिंह के बेटे नीतीश कुमार का जन्म  एक मई 1950 को पटना के बख्तियारपुर में हुआ था.  पटना इंजीनियरिंग कॉलेज से उन्होंने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की. छात्र जीवन में उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की. वह जयप्रकाश नारायण के सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन में भी शामिल हुए. 1985 में नीतीश कुमार पहली बार बिहार विधानसभा के सदस्य चुने गए थे. 1987 में उन्हें युवा लोकदल का अध्यक्ष बनाया गया था. 1989 में उन्हें बिहार में जनता दल का सचिव चुना गया. इसी साल वह बिहार से दिल्ली की ओर बढ़े और नौंवी लोकसभा के सांसद बने थे. 

  • पिता लालू यादव से मिलने रांची पहुंचे तेजप्रताप को ठहराने के मामले में होटल पर FIR दर्ज

    पिता लालू यादव से मिलने रांची पहुंचे तेजप्रताप को ठहराने के मामले में होटल पर FIR दर्ज

    तेज प्रताप अपने पिता से मिलने बुधवार रात्रि यहां सड़क मार्ग से पहुंचे थे. रात्रि में उन्होंने यहां मुख्य मार्ग स्थित ‘कैपिटल रेजिडेन्सी’ होटल के कमरा संख्या 507 में आराम किया और गुरुवार को वह इसी होटल से अपने पिता से मिलने रिम्स गये थे.

  • बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    Weather News Today: देश के कई हिस्से इस वक्त भयंकर बारिश और बाढ़ जैसी आपदाओं का सामना कर रहे हैं. लगातार होने वाली बारिश ने लोगों की जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. गुजरात में लगातार बारिश की वजह से नदिया उफान पर हैं, बांधों के किनारे बसे इलाकों को रेड अलर्ट कर दिया गया है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार में भी कई नदियां खतरे के निशान से से ऊपर बह रही है, कई इलाके बाढ़ की जद में आ चुके हैं तो कुछ पर इसकी चपेट में आने की संभावना नजर आ रही है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com