NDTV Khabar

Constitution


'Constitution' - 246 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • J&K हाईकोर्ट में भारत के संविधान की शपथ लेने वाले पहले जज बने जस्टिस रजनीश ओसवाल

    J&K हाईकोर्ट में भारत के संविधान की शपथ लेने वाले पहले जज बने जस्टिस रजनीश ओसवाल

    जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट में भारत के संविधान की शपथ लेने वाले नियुक्त जस्टिस रजनीश ओसवाल पहले जज बने. इससे पहले हाईकोर्ट जज J&K संविधान की शपथ लेते थे.

  • सरकारी संस्थाओं की स्थिति पर पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने जताई चिंता, कहा- देश में खतरनाक प्रक्रिया चल रही है

    सरकारी संस्थाओं की स्थिति पर पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने जताई चिंता, कहा- देश में खतरनाक प्रक्रिया चल रही है

    अंसारी ने कहा कि लोग ‘‘मुश्किल समय’’ में जी रहे हैं और प्रतिक्रिया करना जरूरी है क्योंकि यदि यह जारी रहा तो ‘‘बहुत देर हो जाएगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम बहुत मुश्किल समय में जी रहे हैं. मुझे इसके विस्तार में जाने की जरूरत नहीं है लेकिन सच्चाई यह है कि भारत के गणतंत्र की संस्थाएं बहुत खतरे में हैं.''उन्होंने कहा कि जिन सिद्धांतों पर संविधान की प्रस्तावना तैयार की गई उसकी अवहेलना की जा रही है. 

  • शादी के दिन संविधान की किताब लेकर दुल्हन के घर पहुंचा दूल्हा, बिना 7 फेरे लिए ऐसे किया विवाह...

    शादी के दिन संविधान की किताब लेकर दुल्हन के घर पहुंचा दूल्हा, बिना 7 फेरे लिए ऐसे किया विवाह...

    मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में एक अनोखी शादी हुई. इसमें ना तो फेरे हुए, न ही अन्य वैवाहिक रस्में हुईं. बल्कि नवयुगल ने संविधान की शपथ लेकर जीवन भर एक-दूसरे के साथ रहने का संकल्प लिया.

  • Mahatma Gandhi Death Anniversary: गांधीजी ने हत्या से पहले किया था ये काम, अचानक पहुंच गए थे दरगाह

    Mahatma Gandhi Death Anniversary: गांधीजी ने हत्या से पहले किया था ये काम, अचानक पहुंच गए थे दरगाह

    Mahatma Gandhi Death Anniversary: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) 18 जनवरी 1948 को अपना अंतिम उपवास समाप्त करने के बाद दिल्ली में शांति लाने के उद्देश्य से महरौली स्थित कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी दरगाह गए थे.

  • Oxford Hindi Word of the Year 2019: 'संविधान' बना वर्ष 2019 का हिंदी शब्द, जानिए क्या रही वजह

    Oxford Hindi Word of the Year 2019: 'संविधान' बना वर्ष 2019 का हिंदी शब्द, जानिए क्या रही वजह

    ऑक्सफ़ोर्ड (Oxford) द्वारा 'संविधान' (Constitution) को साल 2019 का हिन्दी शब्द चुना गया है. 'संविधान' शब्द को साल के हिन्दी शब्द का (Oxford Hindi Word of the Year 2019) स्थान देने के पीछे खास वजह है. यह शब्द बीत साल की प्रकृति, मिजाज़, माहौल और मानसिकता को व्यक्त कर सकता है, और इसे इसके स्थायी सांस्कृतिक महत्त्व के कारण चुना गया है. Oxford Languages की वेबसाइट पर दी गए जानकारी के मुताबिक साल के हिन्दी शब्द के चुनाव के लिए ऑक्सफ़ोर्ड ने हिन्दी बोलने वालों से अपने फ़ेसबुक पृष्ठ के माध्यम से सुझाव मांगे थे.

  • कांग्रेस ने 'अमेजन' से PM मोदी को भेजी संविधान की कॉपी, कहा- जब देश को बांटने से वक्त मिल जाए तो इसे पढ़ें

    कांग्रेस ने 'अमेजन' से PM मोदी को भेजी संविधान की कॉपी, कहा- जब देश को बांटने से वक्त मिल जाए तो इसे पढ़ें

    बीते दिन जब देश 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा था, राजपथ पर विदेशी मेहमानों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) कार्यक्रमों में शिरकत कर रहे थे, तब दूसरी ओर कांग्रेस (Congress) देश के प्रधानमंत्री को भारत के संविधान की प्रति भेजने की तैयारी कर रही थी.

  • देश का संविधान और गणतंत्र खतरे में, देश को दोबारा नहीं बंटने देंगे : यशवंत सिन्हा

    देश का संविधान और गणतंत्र खतरे में, देश को दोबारा नहीं बंटने देंगे : यशवंत सिन्हा

    मुंबई से गांधी शांति यात्रा लेकर निकले पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा रविवार को उत्तरप्रदेश के सैफई पहुंचे. इस दौरान उन्होंने यहां पर आयोजित गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में भाग लिया. उन्होंने कहा कि देश को दोबारा नहीं बंटने देंगे. यशवंत सिन्हा ने समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव के साथ 158 फुट ऊंचा तिरंगा झंडा फहराया. यशवंत सिन्हा ने कहा, "हम लोग गांधीजी का सत्य, शांति और अहिंसा का संदेश लेकर यात्रा पर निकले हैं. इस यात्रा पर निकलने की इसलिए आवश्यकता पड़ी, क्योंकि आज देश का संविधान और गणतंत्र खतरे में है."

  • Happy Republic Day 2020: इस गणतंत्र दिवस पर बनाए एगलेस आटा केक, स्वाद के साथ मनेगा जश्न

    Happy Republic Day 2020: इस गणतंत्र दिवस पर बनाए एगलेस आटा केक, स्वाद के साथ मनेगा जश्न

    Happy Republic Day 2020: भारतवासियों के लिए 26 जनवरी 1950 बेहद महत्वपूर्ण दिन है. गणतंत्र दिवस (Republic Day) हर साल 26 जनवरी January (26 ) को बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. 26 जनवरी के दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान (Constitution Of India) लागू किया गया था.

  • भोपाल गैस त्रासदी मामला : केंद्र की क्यूरेटिव याचिका पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ सुनवाई करेगी

    भोपाल गैस त्रासदी मामला : केंद्र की क्यूरेटिव याचिका पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ सुनवाई करेगी

    भोपाल गैस त्रासदी मामले में केंद्र की क्यूरेटिव याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ सुनवाई करेगी. सुनवाई 28 जनवरी से होगी. दरअसल केंद्र सरकार ने 2011 में सुप्रीम कोर्ट में भोपाल गैस त्रासदी पीड़ितों के लिए अतिरिक्त मुआवजे के लिए क्यूरेटिव याचिका दाखिल की थी. केंद्र ने कहा है कि अमेरिका की यूनियन कार्बाइड कंपनी, जो अब डॉव केमिकल्स के स्वामित्व में है, को 7413 करोड़ रुपये का अतिरिक्त मुआवजा देने के निर्देश दिए जाएं. दिसंबर 2010 में दायर याचिका में शीर्ष अदालत के 14 फरवरी, 1989 के फैसले की फिर से जांच करने की मांग की गई है जिसमें 470 मिलियन अमेरिकी डॉलर (750 करोड़ रुपये) का मुआवजा तय किया गया था.

  • अब राजस्थान के स्कूलों में भी बच्चों से हर रोज कराया जाएगा संविधान की प्रस्तावना का पाठ

    अब राजस्थान के स्कूलों में भी बच्चों से हर रोज कराया जाएगा संविधान की प्रस्तावना का पाठ

    महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान के स्कूलों में भी प्रार्थना सभा के दौरान बच्चों से भारतीय संविधान की प्रस्तावना पढ़वाई जाएगी. राजस्थान के शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि 26 जनवरी से प्रदेश के विद्यालयों में प्रार्थना सभा में भारतीय संविधान की प्रस्तावना का भी वाचन कराया जाएगा.

  • इस राज्य के स्कूलों में हर सोमवार को प्रार्थना के बाद संविधान पर होगी चर्चा

    इस राज्य के स्कूलों में हर सोमवार को प्रार्थना के बाद संविधान पर होगी चर्चा

    छत्तीसगढ़ के सभी शैक्षणिक संस्थाओं में अब हर सोमवार को प्रार्थना के बाद संविधान से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. राज्य के स्कूल शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी किए हैं. स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि माह के प्रथम सप्ताह में संविधान की प्रस्तावना पर चर्चा होगी, वहीं दूसरे सप्ताह में संविधान में उल्लेखित मौलिक अधिकार, तीसरे सप्ताह में मौलिक कर्तव्य और चौथे सप्ताह में राज्य के नीतिनिर्देशक तत्वों पर चर्चा आयोजित की जाएगी.

  • जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म करने के खिलाफ याचिकाओं को बड़ी बेंच को भेजने के मामले में फैसला सुरक्षित

    जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म करने के खिलाफ याचिकाओं को बड़ी बेंच को भेजने के मामले में फैसला सुरक्षित

    जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में संसद द्वारा अनुच्छेद 370 (Article 370) के प्रावधानों को खत्म करने को चुनौती देने वाली याचिकाओं को बड़ी बेंच के पास भेजने की मांग पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि मामले को सात जजों की संविधान पीठ के पास भेजा जाए या नहीं. सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की संविधान पीठ ने गुरुवार को मामले की सुनवाई पूरी कर ली. केंद्र सरकार ने 370 के प्रावधान हटाने को सही ठहराया और मामले को सात जजों की पीठ में भेजे जाने का विरोध किया.

  • महाराष्ट्र के स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का पाठ करना अनिवार्य किया गया

    महाराष्ट्र के स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का पाठ करना अनिवार्य किया गया

    महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के सभी प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना पढ़ना अनिवार्य कर दिया है. सरकार का यह आदेश 26 जनवरी से लागू होगा. किसी भी देश की आत्मा उसके संविधान में निहित होती है इसलिए बहुत जरूरी होता है कि उस देश का प्रत्येक नागरिक उसे जाने और आत्मसात करे. देर से ही सही महाराष्ट्र सरकार ने अब राज्य के सभी प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना पढ़ना अनिवार्य कर दिया है.

  • 26 जनवरी से महाराष्ट्र के स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का पाठ होगा अनिवार्य

    26 जनवरी से महाराष्ट्र के स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का पाठ होगा अनिवार्य

    महाराष्ट्र में 26 जनवरी से सभी स्कूलों में प्रतिदिन सुबह की प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना का पाठ अनिवार्य रूप से किया जाएगा. राज्य मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने मंगलवार को यह जानकारी दी. राज्य सरकार के एक परिपत्र में कहा गया है कि प्रस्तावना का पाठ संविधान की संप्रभुत्ता, सबका कल्याण अभियान का हिस्सा है.

  • Happy Republic Day 2020: मनाइए 71वें गणतंत्र दिवस का जश्न, दोस्तों को WhatsApp और Facebook पर भेजिए ये मैसेज

    Happy Republic Day 2020: मनाइए 71वें गणतंत्र दिवस का जश्न, दोस्तों को WhatsApp और Facebook पर भेजिए ये मैसेज

    Happy Republic Day 2020: हर साल की तरह इस साल भी देश 26 जनवरी (26 January)  को गणतंत्र दिवस(Republic Day) का जश्न मनाएगा. 26 जनवरी के दिन ही देश में संविधान (Indian Constitution)  लागू किया गया था. तभी से हर साल इस दिन को गणतंत्र दिवस के तौर पर मनाया जाता है. बता दें कि भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के बदौलत 15 अगस्त 1947 को भारत एक आजाद देश बन गया था. आजादी के बाद भारत के पास खुद का कोई स्थायी संविधान नहीं था. 29 अगस्त 1947 को संविधान की ड्राफ्टिंग कमेटी का गठन किया गया जिसका अध्यक्ष डॉ बीआर अंबेडकर (Dr. BR Ambedkar) को बनाया गया.

  • India Republic Day Speech: गणतंत्र दिवस पर दें ये शानदार भाषण, तालियों से गूंज उठेगी सभा

    India Republic Day Speech: गणतंत्र दिवस पर दें ये शानदार भाषण, तालियों से गूंज उठेगी सभा

    गणतंत्र दिवस (Republic Day) हर साल 26 जनवरी (26 January) को बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. 26 जनवरी के दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान (Constitution Of India) लागू किया गया था.

  • पूर्व SC जज, शर्मिला टैगोर समेत 8 हस्तियों ने लिखा खुला खत, पूछा- क्या संविधान निरी नियमावली है?

    पूर्व SC जज, शर्मिला टैगोर समेत 8 हस्तियों ने लिखा खुला खत, पूछा- क्या संविधान निरी नियमावली है?

    इस पत्र में भारत के गणतंत्र बनने के 70 साल पूरे होने पर खुशी जताते हुए आत्म विश्लेषण करने को भी कहा गया है. साथ ही सवाल किया गया है कि क्या ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के लिए सर्वोपरि सत्य और अहिंसा की विचारधारा आज भी हमारे सार्वजनिक जीवन का मार्ग प्रशस्त कर रही है.’

  • संविधान में किए गए संशोधन को लेकर देश भर के एंग्लो-इंडियन समुदाय की बैठक

    संविधान में किए गए संशोधन को लेकर देश भर के एंग्लो-इंडियन समुदाय की बैठक

    देश भर के आंग्ल भारतीय (एंग्लो-इंडियन) समुदाय के सदस्यों ने संविधान में किए गए हालिया संशोधन के संबंध में अपना जवाब तैयार करने के लिए सोमवार की शाम को कोलकाता में बैठक की. इस संशोधन के जरिए लोकसभा के साथ ही राज्य विधानसभाओं में समुदाय के सदस्यों के लिए सीट आरक्षण की व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com