NDTV Khabar

FINAL YEAR EXAMS


'FINAL YEAR EXAMS' - 59 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कलकत्ता विश्वविद्यालय का फैसला, घर से दी जाने वाली ऑनलाइन परीक्षा के लिए दिया जाएगा दो घंटे का समय

    कलकत्ता विश्वविद्यालय का फैसला, घर से दी जाने वाली ऑनलाइन परीक्षा के लिए दिया जाएगा दो घंटे का समय

    Calcutta University Final Semester UG Exam: कलकत्ता विश्वविद्यालय (CU) ने सोमवार को कहा कि स्नातक के अंतिम सेमेस्टर के छात्रों को अपने घर से ही ऑनलाइन परीक्षा के दौरान प्रश्नपत्र का जवाब देने के लिए दो घंटे का समय दिया जाएगा. सीयू (CU) से संबद्ध कॉलेजों के प्रधानाचार्यों के साथ हुई बैठक के बाद कुलपति सोनाली चक्रवर्ती बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा कि परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले संबंधित संस्थान द्वारा छात्रों को व्हाट्सऐप/ईमेल के माध्यम से सवाल भेजे जाएंगे और उन्हें इसका जवाब देने के लिए दो घंटे का समय दिया जाएगा.

  • Final Year Exams: मुंबई विश्वविद्यालय ने परीक्षा के लिए जारी की गाइडलाइन्स, जानिए कब से शुरू होंगे एग्जाम

    Final Year Exams: मुंबई विश्वविद्यालय ने परीक्षा के लिए जारी की गाइडलाइन्स, जानिए कब से शुरू होंगे एग्जाम

    Final Year Exams: मुंबई विश्वविद्यालय ने अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित कराने से पहले परीक्षा के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. विभिन्न प्रोग्राम्स के लिए आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाओं के लिए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. दिशानिर्देशों के अनुसार, थ्योरी परीक्षा 1 से 17 अक्टूबर तक आयोजित की जाएंगी, जबकि बैकलॉग परीक्षाएं 25 सितंबर से आयोजित की जाएंगी. सभी परीक्षा मल्टीपल च्वॉइस की फॉर्म में आयोजित की जाएंगी. 

  • परीक्षा पर सरकार ने जारी किए दिशा निर्देश, निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों, कर्मचारियों को परीक्षा केंद्रों में जाने की अनुमति नहीं

    परीक्षा पर सरकार ने जारी किए दिशा निर्देश, निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों, कर्मचारियों को परीक्षा केंद्रों में जाने की अनुमति नहीं

    केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान परीक्षा कराने के संबंध में दिशा निर्देशों जारी किए हैं जिनके अनुसार निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों और कर्मचारियों को परीक्षा केन्द्रों में जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी,मास्क लगाना और साथ ही स्व घोषणा पत्र देना अनिवार्य होगा. बुधवार को इस संबंध में जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के अनुसार कलम और कागज आधारित परीक्षाओं में इंविजिलेटर प्रश्नपत्रों अथवा उत्तर पुस्तिकाओं के वितरण से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करेगा और परीक्षार्थी भी इन्हें प्राप्त करने या जमा करने से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करेंगे.एसओपी के अनुसार, ‘‘शीट की गिनती और वितरण के लिए थूक अथवा लार के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जाएगी.’’

  • Final Year Exams: हरियाणा के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कब होंगी अंतिम वर्ष की परीक्षाएं, अधिकारी ने बताया

    Final Year Exams: हरियाणा के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कब होंगी अंतिम वर्ष की परीक्षाएं, अधिकारी ने बताया

    Final Year Exams: हरियाणा में राज्य सरकार से सहायता प्राप्त कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की लंबित परीक्षाएं सितंबर अंत तक आयोजित होंगी. अधिकारियों ने मंगलवार को इस बारे में बताया. राज्य के सरकारी सहायता प्राप्त सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और परीक्षा नियंत्रकों की एक बैठक में यह फैसला किया गया. हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष प्रोफेसर बृज किशोर कुथिआला की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया. अधिकारियों ने बताया कि इन परीक्षाओं में दो लाख छात्रों के हिस्सा लेने का अनुमान है. परिणाम की घोषणा 31 अक्टूबर तक कर दी जाएगी.

  • JEE-NEET परीक्षा पर बोले सीएम योगी- यूपी सरकार करती है परीक्षाओं का समर्थन

    JEE-NEET परीक्षा पर बोले सीएम योगी- यूपी सरकार करती है परीक्षाओं का समर्थन

    JEE Main AND NEET 2020: जेईई मेन (JEE Main) और नीट (NEET) परीक्षाओं को लेकर विरोध बढ़ता ही जा रहा है. कई राजनीतिक हस्तियां जेईई मेन और नीट परीक्षा को स्थगित करने की मांग कर रही हैं. वहीं, दूसरी ओर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने जेईई (JEE Main) और नीट (NEET) परीक्षाओं के आयोजन को टालने की विपक्षी राजनीतिक दलों की मांग के बीच शुक्रवार को स्पष्ट किया कि राज्य सरकार इन परीक्षाओं के आयोजन का समर्थन करती है. सीएम योगी ने लोकभवन में आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में कहा, ''प्रदेश सरकार नीट और जेईई परीक्षाओं के आयोजन का समर्थन करती है.''

  • Final Year Exams 2020: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- देना ही होगा एग्जाम, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    Final Year Exams 2020: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- देना ही होगा एग्जाम, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    Final Year Exams 2020: यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई जाएंगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देशभर के लाखों स्टूडेंट्स और उनके अभिभावक जानना चाहते थे. हर किसी को परीक्षाओं पर सुप्रीम कोर्ट के अंतिम फैसले का इंतजार था. लेकिन अब छात्रों और अभिभावकों का इंतजार खत्म हो गया है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने अंतिम ईयर की परीक्षाओं को लेकर अपना अंतिम फैसला आज सुना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के फाइनल ईयर के एग्जाम आयोजित कराए जाएंगे. 

  • विश्वविद्यालयों के फाइनल ईयर के एग्जाम होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई हरी झंडी

    विश्वविद्यालयों के फाइनल ईयर के एग्जाम होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई हरी झंडी

    यूजीसी ने दलील दी थी कि विश्वविद्यालय के कुलपतियों को मई में महाराष्ट्र सरकार द्वारा बैठक के लिए बुलाया गया था. इस बैठक में फैसला लिया गया कि पहले और दूसरे वर्ष के छात्रों को पास किया जा सकता है, लेकिन अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए परीक्षा की जरूरी है.

  • Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर आज होगी सुनवाई, SC सुनाएगा अंतिम फैसला

    Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर आज होगी सुनवाई, SC सुनाएगा अंतिम फैसला

    Final Year Exams 2020: लंबे इंतजार के बाद सुप्रीम कोर्ट आज यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम ईयर की परीक्षाओं को लेकर आज अपना अंतिम फैसला सुनाएगा. अदालत यूजीसी (UGC) मामले में अपना अंतिम आदेश या निर्णय आज 10:30 बजे सुनाएगी. यूजीसी के 6 जुलाई के दिशानिर्देशों के खिलाफ 31 छात्रों द्वारा परीक्षा रद्द करने की याचिका को कोर्ट में पेश करने वाले वकील ने इस बात की जानकारी दी है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के परीक्षाओं पर अंतिम फैसले का इंतजार लाखों छात्र कर रहे हैं, लेकिन आज छात्रों का इंतजार खत्म हो जाएगा. 

  • हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के VC ने कहा- शेड्यूल के अनुसार होंगी UG की परीक्षाएं

    हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के  VC ने कहा- शेड्यूल के अनुसार होंगी UG की परीक्षाएं

    हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (Himachal Pradesh University) के कुलपति सिकंदर कुमार ने मंगलवार को कहा कि स्नातक कक्षाओं की अंतिम परीक्षाएं निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आयोजित की जाएंगी. राज्य के उच्च न्यायालय ने इसके लिए मंजूरी प्रदान कर दी. इससे पहले सोमवार को विश्वविद्यालय ने उच्च न्यायालय के एक आदेश पर असमंजस के बीच मंगलवार को होने वाली परीक्षा को स्थगित कर दिया था. अदालत ने 14 अगस्त को आदेश दिया था कि विश्वविद्यालय तय समय के अनुसार परीक्षा नहीं करवाए. अदालत ने कोरोना वायरस खतरे के कारण परीक्षाएं स्थगित करने के अनुरोध वाली एक याचिका पर आदेश जारी किया था.

  • इस राज्य की यूनिवर्सिटी ने स्थगित किए UG के फाइनल ईयर एग्जाम, यह है वजह

    इस राज्य की यूनिवर्सिटी ने स्थगित किए UG के फाइनल ईयर एग्जाम, यह है वजह

    हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के परीक्षा शेड्यूल को स्थगित करने के आदेश के बीच हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (HPU) ने 18 अगस्त को होने वाली अंडरग्रेजुएट कोर्स की अंतिम वर्ष की परीक्षा को स्थगित कर दिया. 14 अगस्त को HC की एक खंडपीठ ने माना था कि विश्वविद्यालय परीक्षा शेड्यूल के साथ आगे बढ़ नहीं सकता है. कोर्ट ने कोरोनावायरस खतरे के कारण परीक्षाओं को स्थगित करने की याचिका पर आदेश जारी किया था. हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (HPU) के परीक्षा के नियंत्रक जे एस नेगी ने सोमवार को कहा कि 18 अगस्त को होने वाली परीक्षा 14 अगस्त को जारी हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश के आधार पर स्थगित कर दी गई है. 

  • फाइनल ईयर की परीक्षा रद्द होगी या नहीं? सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

    फाइनल ईयर की परीक्षा रद्द होगी या नहीं? सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

    Final Year Exam 2020: सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर की परीक्षाएं (Final Year Exams) आयोजित कराने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर सुनवाई हुई है. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अशोक भूषण की अगुआई वाली बेंच ने अंतिम वर्ष की परीक्षा टालने वाली याचिका पर सुनवाई की. यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द करने पर सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल अपना फैसला सुरक्षित रखा है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तथ्य स्पष्ट हैं. जस्टिस अशोक भूषण की अगुवाई वाली बेंच ने सुनवाई के दौरान सरकार से पूछा कि क्या यूजीसी के आदेश और निर्देश में सरकार दखल दे सकती है. इसके अलावा कोर्ट ने ये भी कहा कि छात्रों का हित किसमें है? ये छात्र तय नहीं कर सकते, इसके लिए वैधानिक संस्था है, छात्र ये सब तय करने के काबिल नहीं हैं. 

  • Final Year Exams: शिक्षा मंत्री ने कहा- छात्रों के भविष्य को ध्यान में रख कर लिया गया परीक्षाएं कराने का फैसला

    Final Year Exams: शिक्षा मंत्री ने कहा- छात्रों के भविष्य को ध्यान में रख कर लिया गया परीक्षाएं कराने का फैसला

    केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' (Union Minister Of Education Ramesh Pokhriyal 'Nishank') ने सोमवार को कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने अंतिम वर्ष की परीक्षाएं (Final Year Exams) आयोजित कराने का फैसला छात्रों के भविष्य को ध्यान में रख कर लिया है. उन्होंने विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ बातचीत के दौरान कहा, ‘‘छात्रों के भविष्य को ध्यान में रख कर यह फैसला लिया गया. यह इसलिए किया गया कि छात्रों को भविष्य में किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन, ऑफलाइन या इन दोनों के मिश्रित माध्यम से परीक्षा संचालित कराने का विकल्प दिया गया है.'' मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति वैश्विक स्तर पर एक नेतृत्वकर्ता के रूप में भारत की स्थिति मजबूत करेगी.

  • फाइनल ईयर एग्जाम पर SC में आज फिर सुनवाई, लिया जाएगा अंतिम फैसला?

    फाइनल ईयर एग्जाम पर SC में आज फिर सुनवाई, लिया जाएगा अंतिम फैसला?

    Final Year Exams 2020: यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की फाइनल ईयर की परीक्षाओं (Final Year Exams) को लेकर अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है. सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर की परीक्षाएं (Final Year Exams) आयोजित कराने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर सुनवाई होने वाली है. परीक्षा देने वाले छात्र उम्मीद कर रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से परीक्षाओं को लेकर आज कोई अंतिम घोषणा की जा सकती है. परीक्षा देने वाले छात्रों को सुप्रीम कोर्ट के अहम फैसले का इंतजार है. इस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है. 

  • फाइनल ईयर की परीक्षाओं के मामले में सुनवाई SC में 18 अगस्त तक टली

    फाइनल ईयर की परीक्षाओं के मामले में सुनवाई SC में 18 अगस्त तक टली

    Final Year Exams 2020:  सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर की परीक्षाएं (Final Year Exams) आयोजित कराने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर से सुनवाई हुई. परीक्षा देने वाले छात्र उम्मीद कर रहे थे कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से परीक्षाओं को लेकर आज कोई अहम घोषणा की जा सकती है. लेकिन यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की फाइनल ईयर की परीक्षाओं (Final Year Exams) को लेकर अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है. अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द करने की मांग वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 18 अगस्त  तक के लिए टल गई है. सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई पूरी नहीं हो पाई.

  • UGC ने कोर्ट से कहा, छात्रों के अकेडमिक करियर में अंतिम परीक्षा अहम

    UGC ने कोर्ट से कहा, छात्रों के अकेडमिक करियर में अंतिम परीक्षा अहम

    Final Year Exams 2020: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि विद्यार्थी के अकादमिक करियर में अंतिम परीक्षा ‘ महत्वपूर्ण' होती है और राज्य सरकार यह नहीं कह सकती कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर 30 सितंबर तक विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों से परीक्षा कराने को कहने वाले उसके छह जुलाई के निर्देश ‘ बाध्यकारी नहीं' है. यूजीसी ने कहा कि छह जुलाई को उसके द्वारा जारी दिशा-निर्देश विशेषज्ञों की सिफारिश पर अधारित हैं और उचित विचार-विमर्श कर यह निर्णय लिया गया. आयोग ने कहा कि यह दावा गलत है कि दिशा-निर्देशों के अनुसार अंतिम परीक्षा कराना संभव नहीं है. 

  • UGC ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा- परीक्षाएं आयोजित कराने की जिम्मेदारी यूजीसी की है राज्य सरकार की नहीं

    UGC ने SC में दाखिल किया हलफनामा, कहा- परीक्षाएं आयोजित कराने की जिम्मेदारी यूजीसी की है राज्य सरकार की नहीं

    देश भर के विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष की परीक्षा (Final Year Exams) रद्द करने की मांग वाली याचिकाओं के जवाब में यूजीसी (UGC) ने सुप्रीम कोर्ट (SC) में हलफ़नामा दाखिल कर दिया है. यूजीसी ने दिल्ली सरकार और महाराष्ट्र सरकार द्वारा अपने-अपने राज्य की यूनिवर्सिटी में अंतिम वर्ष की परीक्षाएं रद्द करने के फ़ैसले पर विरोध जाहिर किया है. यूजीसी (UGC) ने कहा है कि यूजीसी एक स्वतंत्र संस्था है, विश्वविद्यालयों में परीक्षाओं के आयोजन का ज़िम्मा यूजीसी का है न कि किसी राज्य सरकार का. यूजीसी ने अपने हलफनामे में फिर दोहराया है कि वह सितंबर तक परीक्षाओं के आयोजन के हक़ में हैं, जो कि छात्रों के भविष्य के हित के मद्देनज़र सही है. बता दें कि सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर परीक्षा (Final Year Exams) करवाने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में कल एक बार फिर से सुनवाई होने वाली है.

  • फाइनल ईयर एग्जाम पर SC में आज फिर होगी सुनवाई

    फाइनल ईयर एग्जाम पर SC में आज फिर होगी सुनवाई

    Final Year Exams 2020:  यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की फाइनल ईयर की परीक्षाओं (Final Year Exams) को लेकर अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है. लाखों छात्रों की नजरें इस बात पर टिकी हैं कि क्या फाइनल ईयर की परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी या फिर उन्हें कैंसिल किया जाएगा? सभी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है.  सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर परीक्षा (Final Year Exams) करवाने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर से सुनवाई होने वाली है. उम्मीद की जा रही है कि आज इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट अपना कोई अहम निर्णय दे सकता है. 

  • DU की ऑनलाइन परीक्षाएं छात्रों के लिए बनीं चिंता का सबब, कभी वेबसाइट क्रैश तो कभी इंटरनेट स्लो

    DU की ऑनलाइन परीक्षाएं छात्रों के लिए बनीं चिंता का सबब, कभी वेबसाइट क्रैश तो कभी इंटरनेट स्लो

    DU Online Exams 2020: दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतिम वर्ष की ऑनलाइन परीक्षा (Final Year Online Exams) हजारों छात्रों के लिए मानसिक चिंता का सबब बनी हुई हैं. तकनीकी खामी और इंटरनेट स्लो होने की शिकायतें बड़े पैमाने पर आ रही हैं. दूर दराज या ग्रामीण परिवेश के छात्रों के लिए ऑनलाइन परीक्षा (DU Online Exams) बड़ा सिरदर्द बन गया है.  दरअसल, खराब इंटरनेट की वजह से सबसे ज्यादा दिक्कतें ग्रामीण इलाकों के छात्रों को हो रही हैं. कई छात्रों ने परीक्षा के दौरान वेबसाइट क्रैश होने या इंटरनेट स्लो होने की शिकायत भी की है. बता दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) में करीब 2 लाख से ज्यादा छात्र ऑनलाइन परीक्षा दे रहे हैं. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com