NDTV Khabar

General Budget 2016


'General Budget 2016' - 23 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आम बजट से पहले जानिए, कैसे बचा सकते हैं 1,92,878 रुपये तक इनकम टैक्स

    आम बजट से पहले जानिए, कैसे बचा सकते हैं 1,92,878 रुपये तक इनकम टैक्स

    यह भी याद रखिए कि इस आलेख में किया गया पूरा हिसाब-किताब मौजूदा वित्तवर्ष (2016-17) में लागू नियमों के अनुसार किया गया है, सो, अगर वितमंत्री अरुण जेटली इस बार के बजट (यानी 2017-18) में कुछ और छूट देते हैं, तो बचाई जा सकने वाली रकम इससे कहीं ज़्यादा हो सकती है...

  • बाय बाय साल 2016 : इस साल बिजनेस जगत की सबसे चर्चित 10 बड़ी खबरें

    बाय बाय साल 2016 : इस साल बिजनेस जगत की सबसे चर्चित 10 बड़ी खबरें

    साल 2016 तमाम हलचलों से पूर्ण रहा. कारोबार-बिजनेस जगत की बात करें तो साल का शुरुआती समय जहां बजट में तमाम तरह की घोषणाओं को लेकर चर्चा में रहा वहीं साल का अंत नोटबंदी (विमुद्रीकरण) और कैशलेस को समर्पित रहा. आइए आपको इस साल की 10 ऐसी खबरों से रूबरू करवाते हैं जो बिजनस सेक्शन में सर्वाधिक पढ़ी गईं :

  • पीएफ पर टैक्स के फैसले से पलटी सरकार! पीएम करेंगे अंतिम फैसला : सूत्र

    पीएफ पर टैक्स के फैसले से पलटी सरकार! पीएम करेंगे अंतिम फैसला : सूत्र

    राजस्व सचिव ने कहा, "मूलधन पर टैक्स नहीं लगेगा, और निकासी के समय वह करमुक्त ही रहेगा... हमने जो कहा था, वह यह है कि 1 अप्रैल के बाद दिए गए अंशदान पर जो ब्याज मिलेगा, उसकी 40 प्रतिशत राशि करमुक्त होगी, तथा शेष 60 प्रतिशत पर टैक्स लगेगा..."

  • बजट 2016 : वादे पूरे करने के लिए नहीं किए गए ठोस उपाय

    बजट 2016 : वादे पूरे करने के लिए नहीं किए गए ठोस उपाय

    यह बीजेपी सरकार का तीसरा बजट है, जो पार्टी के घोषणापत्र तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन का सालाना दस्तावेज भी माना जा सकता है। राजनीतिक आग्रहों से इस बार के बजट के थीम को गांव, गरीब और किसान के लिए रखा गया है...

  • हकीकत को छिपाकर ख्वाब दिखाता बजट 2016

    हकीकत को छिपाकर ख्वाब दिखाता बजट 2016

    विद्वानों के सोच-विचार से ही आसन्न संकट से निकलने का कोई रास्ता पकड़ में आ सकता है, वरना कहीं ऐसा न हो कि आर्थिक दुर्घटना की स्थिति में हम अफसोस मनाएं कि पहले सोचा जाना चाहिए था। वैसे संकट सिर्फ विश्लेषकों को दिख रहा है, और सरकार का काम फीलगुड से चल ही रहा है।

  • आम बजट 2016 : देश भर में 3000 दवा भंडार और डायलिसिस केंद्र खुलेंगे

    आम बजट 2016 : देश भर में 3000 दवा भंडार और डायलिसिस केंद्र खुलेंगे

    दवाओं की समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार देश भर में 3000 नए जेनरिक दवा भंडार खोलेगी। यह बात केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को अपने बजट भाषण के दौरान कही।

  • आम बजट 2016 : जानिए, जेटली के बजट में क्या हुआ महंगा और क्या हुआ सस्ता

    आम बजट 2016 : जानिए, जेटली के बजट में क्या हुआ महंगा और क्या हुआ सस्ता

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज अपने कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया। किसानों और गांवों के लिए सौगातों को छोड़कर यदि रूटीन में उपयोग होने वाली चीजों पर नजर डालें

  • आम बजट 2016 : किसके लिए क्या लाए जेटली, अहम बातों पर खास नजर

    आम बजट 2016 : किसके लिए क्या लाए जेटली, अहम बातों पर खास नजर

    वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश करते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में गंभीर संकट है, लेकिन इस संकट के दौर में भी भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत है। हमें विरासत में खराब अर्थव्यवस्था मिली, लेकिन हम लगातार बढ़ रहे हैं।

  • आम बजट 2016: इनकम टैक्स स्लैब जस का तस, छोटी आय वालों को 3000 की राहत

    आम बजट 2016: इनकम टैक्स स्लैब जस का तस, छोटी आय वालों को 3000 की राहत

    केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को संसद में बजट 2016 पेश करते हुए कहा कि ऐसे समय जब वैश्विक अर्थव्यवस्था गंभीर अवस्था से गुजर रही है, भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति स्थिर बनी हुई है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि अगले पांच साल में किसानों की आय दोगुनी करने का टारगेट है।

  • शेयर बाजार : आम बजट पर रहेगी निवेशकों की नजर

    शेयर बाजार : आम बजट पर रहेगी निवेशकों की नजर

    देश के शेयर बाजारों में अगले सप्ताह आम बजट 2016-17 पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी। इसके साथ ही प्रमुख आर्थिक आंकड़ों, वैश्विक संकेतों, विदेशी पोर्टफोलियो निवेश (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेश (डीआईआई) के आंकड़ों तथा डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल व तेल की कीमतों पर भी निवेशकों की नजर बनी रहेगी।

  • राजकोषीय घाटा लक्ष्य पर संतुलित रुख अपनाएगी सरकार : अरविंद सुब्रमण्यम

    राजकोषीय घाटा लक्ष्य पर संतुलित रुख अपनाएगी सरकार : अरविंद सुब्रमण्यम

    मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम का कहना है कि सरकार विभिन्न कारकों पर विचार करने के बाद राजकोषीय घाटे के अपने लक्ष्य पर संतुलित रख अपनाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि आर्थिक वृद्धि को बल देने के लिए सरकार आगामी बजट में ऊंचे राजकोषीय घाटे पर भी विचार कर सकती है।

  • कुछ इस तरह शुरू होता है वित्तमंत्री के आम बजट का 'ख़ास' दिन...

    कुछ इस तरह शुरू होता है वित्तमंत्री के आम बजट का 'ख़ास' दिन...

    आम बजट का वह ख़ास दिन जब देश के वित्तमंत्री पर सबकी नज़र रहती है। उन्हीं की घोषणाओं से देश के होने वाले खर्चे और रियायतों पर से पर्दा उठता है। तो कैसे शुरू होता है वित्तमंत्री का यह ख़ास दिन...

  • 29 फरवरी की हड़ताल में SBI और इंडियन बैंक के कर्मचारी भी शामिल होंगे

    29 फरवरी की हड़ताल में SBI और इंडियन बैंक के कर्मचारी भी शामिल होंगे

    सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के अधिकारियों द्वारा सोमवार को हड़ताल पर जाने की चेतावनी के बीच भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कहा कि उसके कर्मचारियों का एक वर्ग 29 फरवरी की हड़ताल में शामिल हो सकता है। इसी दिन वित्त मंत्री अरुण जेटली आम बजट पेश करेंगे।

  • सुरेश प्रभु का रेल बजट 2016 : आम आदमी के लिए 10 बड़ी घोषणाएं

    सुरेश प्रभु का रेल बजट 2016 : आम आदमी के लिए 10 बड़ी घोषणाएं

    रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को रेल बजट 2016 पेश करते हुए यात्रियों के लिए कई घोषणाएं कीं, और कहा, "हमारी सरकार हमेशा आम आदमी के बारे में ही सोचती है..." सो आइए पढ़ते हैं, उनकी 10 बड़ी घोषणाओं के बारे में..."

  • रेल बजट : सुविधा, सफाई, तकनीक और विजन 2020...

    रेल बजट : सुविधा, सफाई, तकनीक और विजन 2020...

    सुरेश प्रभु जैसे पेशेवर और कुशल मंत्री से रेल बजट में विज़न की ठोस शुरुआत की उम्मीद थी, जो राजनीति के बैरियर से रुक गई लगती है। रेलमंत्री ने कहा कि मंदी के दौर से गुज़र रही दुनिया में रेलवे में सुधार की काफी गुंजाइश है, जिसकी शुरुआत करने में प्रभु अपने दूसरे बजट में भी विफल रहे हैं।

  • ट्रेन के जनरल टिकटों के लिए नए नियम एक मार्च से होंगे लागू

    ट्रेन के जनरल टिकटों के लिए नए नियम एक मार्च से होंगे लागू

    सरकार ने बुधवार को बताया कि 199 किलोमीटर तक यात्रा करने के लिए अनारक्षित (जनरल) ट्रेन टिकट खरीदने के तीन घंटे बाद वैध नहीं होगी और इस बारे में रेलवे का नया नियम एक मार्च से प्रभावी होगा।

  • 'प्रभु की रेल' और आम आदमी की पिटती पैसेंजर ट्रेन...

    'प्रभु की रेल' और आम आदमी की पिटती पैसेंजर ट्रेन...

    जनकल्याणकारी बजट वही है, जिसमें आम लोगों के लिए पूरी-पूरी गुंजाइश रखी गई हो, हालांकि अच्छी बात यह है कि इस बार किराया न बढ़ाने का संकेत ही काफी होगा। कम से कम यही काफी होगा कि 'अच्छे दिन' आएं न आएं, बुरे तो नहीं ही आएंगे। जैसे दिन गुज़र रहे हैं, वैसे ही गुज़रते रहेंगे।

  • क्या हमारे देश में अमीरी घटाए बगैर घट सकती है गरीबी...?

    क्या हमारे देश में अमीरी घटाए बगैर घट सकती है गरीबी...?

    जाट आंदोलन से तबाही के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री जब कह रहे थे कि सारे गरीबों को नौकरियां दे देंगे तो इस बात पर हूटिंग हुई। जनता अगर अब अविश्वसनीय वायदों के चक्कर में आने से इंकार कर रही है तो समझ जाना चाहिए कि वाजिब वायदे भी संकोच के साथ करने का समय आ गया है।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com