'ISRO' - 455 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | रविवार फ़रवरी 28, 2021 12:32 PM IST
    इसरो के मुताबिक, इस रॉकेट को चेन्नई से करीब 100 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपित किया जाएगा. इस रॉकेट को प्रक्षेपित करने का समय 28 फरवरी सुबह 10 बजकर 24 मिनट है, जो मौसम की स्थिति पर निर्भर करता है. इसकी उल्टी गिनती शनिवार को सुबह आठ बजकर 54 मिनट पर शुरू हो गई. 
  • India | शनिवार फ़रवरी 27, 2021 02:36 PM IST
    अमेजोनिया-1 के बारे में बयान में बताया गया है कि यह उपग्रह अमेज़न क्षेत्र में वनों की कटाई की निगरानी और ब्राजील के क्षेत्र में विविध कृषि के विश्लेषण के लिए उपयोगकर्ताओं को दूरस्थ संवेदी आंकड़े मुहैया कराएगा तथा मौजूदा ढांचे को और मजबूत बनाएगा.
  • India | सोमवार फ़रवरी 22, 2021 07:38 AM IST
    गगनयान परियोजना के तहत 2022 तक तीन भारतीयों को अंतरिक्ष में भेजने की योजना है. इस मिशन के लिए चार ‘टेस्ट पायलट’ चुने गए हैं जो इस समय रूस में प्रशिक्षण ले रहे हैं. इस परियोजना के तहत तीसरे मॉड्यूल-मानव मिशन के प्रक्षेपण के बारे में पूछे जाने पर सिवन ने कहा, ‘‘काफी प्रौद्योगिकी प्रदर्शन की आवश्यकता है. यह परखने के बाद कि सभी प्रौद्योगिकी एकदम सही है, हम मानव मिशन के प्रक्षेपण समय के बारे में निर्णय करेंगे.’’
  • India | शनिवार फ़रवरी 20, 2021 12:11 AM IST
    अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) के रोवर ‘पर्सिवियरन्स’ के शुक्रवार तड़के मंगल ग्रह की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुंसधान संगठन (ISRO) के प्रमुख के. सिवन (K Sivan) ने देर शाम कहा कि ‘लाल ग्रह’ के लिए भारत का मंगलयान-2 एक ‘ऑर्बिटर’ होने की संभावना है. इसरो प्रमुख ने मंगलयान-2 के लिए कोई सटीक समय सीमा नहीं बताई. हालांकि, उन्होंने कहा कि मंगल ग्रह पर भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी का अगला अभियान चंद्रयान-3 के बाद भेजा जाएगा.
  • India | बुधवार जनवरी 6, 2021 06:39 AM IST
    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एक शीर्ष वैज्ञानिक ने मंगलवार को दावा किया कि उन्हें तीन साल से अधिक समय पहले जहर दिया गया था.तपन मिश्रा ने आरोप लगाया कि उन्हें 23 मई, 2017 को यहां इसरो मुख्यालय में पदोन्नति साक्षात्कार के दौरान घातक आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड जहर दिया गया था.
  • India | शनिवार दिसम्बर 26, 2020 08:27 PM IST
    ISRO ने दिसंबर 2021 तक अपने पहले मानव अंतरिक्ष उड़ान मिशन ‘गगनयान’ को प्रक्षेपित करने की योजना बनाई थी. लेकिन इस महीने के शुरू में इसरो ने संकेत दिए कि कोरोना महामारी के प्रभाव के कारण इसमें एक वर्ष का विलंब हो सकता है.
  • India | शुक्रवार दिसम्बर 25, 2020 08:56 AM IST
    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation) ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने चंद्रयान-2 मिशन (Chandrayaan-2 Mission) के शुरुआती आंकड़े आम लोगों के लिए जारी किए हैं. चंद्रयान-2 आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से 22 जुलाई, 2019 को रवाना किया गया था.
  • India | गुरुवार दिसम्बर 17, 2020 06:37 PM IST
    आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) को एसएचएआर भी कहा जाता है. सीएमएस-01, इसरो का 42 वां संचार उपग्रह है और इसे भारत की मुख्य भूमि, अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप को कवर करने वाले फ्रीक्वेंसी स्पेक्ट्रम के विस्तारित सी बैंड में सेवाएं मुहैया करने के लिए तैयार किया गया है.
  • India | शनिवार नवम्बर 7, 2020 04:06 PM IST
    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शनिवार शाम को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से PSLV-C49 प्रक्षेपण यान से पृथ्वी अवलोकन उपग्रह (EOS-01) और साथ ही नौ अंतर्राष्ट्रीय उपग्रह सफलतापूर्वक लॉन्च किए हैं.
  • India | शनिवार अक्टूबर 31, 2020 12:50 PM IST
    बेंगलुरु से संचालित गैर लाभकारी संगठन ने शुक्रवार को वार्षिक रिपोर्ट जारी की. इस संगठन के अध्यक्ष भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन (K Kasturirangan) हैं. पीएसी ने कहा कि राज्यों की रैंकिंग स्थायी विकास के संदर्भ में एकीकृत सूचकांक पर आधारित है.
  • World | शुक्रवार अक्टूबर 30, 2020 02:11 PM IST
    करार के अनुसार, एंट्रिक्स को देवास के लिए दो सैटेलाइट के निर्माण, उनके प्रक्षेपण और संचालन पर सहमत हुई थी. उसने देवास को एस बैंड 70 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम देने को भी कहा था
  • Career | गुरुवार अक्टूबर 15, 2020 01:14 PM IST
    डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने राष्ट्रपति बनने से लेकर विभिन्न क्षेत्रों में देश के विकास में योगदान दिया है. एक एयरोस्पेस वैज्ञानिक के रूप में, कलाम ने भारत के दो प्रमुख अंतरिक्ष अनुसंधान संगठनों - रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के साथ काम किया. हालांकि, स्वदेशी निर्देशित मिसाइलों- AGNI और PRITHVI के विकास और संचालन में उनके काम ने उन्हें ''भारत के मिसाइल मैन '' की उपाधि से नवाज़ा था. इसी के साथ ऐसे कई तरीके हैं, जिनसे कलाम ने साइंस एंड टेक्नोलॉजी में भारत की मदद की.
  • Jobs | गुरुवार अक्टूबर 8, 2020 04:59 PM IST
    ISRO Recruitment 2020: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर 55 पदों पर आवेदन मांगे हैं.  यह भर्ती स्पेस एप्लीकेशन सेंटर (SAC) अहमदाबाद के लिए है. जो उम्मीदवार इस पद पर आवेदन करने के इच्छुक हैं वह 15 अक्टूबर से पहले SAC की आधिकारिक वेबसाइट sac.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं.  आवेदन पूरी तरह से ऑनलाइन होगा. भर्ती प्रक्रिया के तहत साइंटिस्ट, इंजीनियर और टेक्निकल असिस्टेंट समेत कई पदों को सिलेक्शन किया जाएगा. यहां जानें भर्ती से जुड़ी डिटेल्स.
  • India | बुधवार सितम्बर 30, 2020 08:59 PM IST
    इसरो अध्यक्ष के. सिवन और सीएनईएस अध्यक्ष जीन यवेस ले गाल ने आपस में बातचीत की और अंतरिक्ष में भारत तथा फ्रांस के बीच सहयोग वाले क्षेत्रों की समीक्षा की. सीएनईएस ने एक बयान में कहा, ‘‘अंतरिक्ष खोज क्षेत्र में फ्रांस शुक्र ग्रह से संबंधित इसरो के मिशन में शामिल होगा जिसका 2025 में प्रक्षेपण निर्धारित है.
  • Career | बुधवार सितम्बर 23, 2020 04:37 PM IST
    अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (GATE) और नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (NET) में जियोस्पेशियल साइंस और टेक्नोलॉजी (Geospatial Science And Technology) सब्जेक्ट को शामिल करने की मंजूरी दे दी है. NET में जूनियर रिसर्च फेलोशिप (JRF) के लिए और IIT और NIT सहित विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में लेक्चरशिप में शामिल होने वाले उम्मीदवार अब इस नए सब्जेक्ट को पढ़ सकेंगे. 
  • India | शनिवार सितम्बर 12, 2020 12:55 AM IST
    चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच वरिष्ठ अंतरिक्ष वैज्ञानिक जी माधव नायर ने शुक्रवार को कहा कि बदलते वक्त के साथ कदम मिलाने के लिए भारत को अंतरिक्ष में अपनी संपत्तियां बढ़ाने के साथ ही क्षेत्र का कवरेज भी बढ़ाना चाहिए.
  • India | शुक्रवार अगस्त 21, 2020 06:15 AM IST
    अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने कहा कि भारत के दूसरे चंद्र अभियान चंद्रयान-2 ने बृहस्पतिवार को चंद्रमा की कक्षा में चारों ओर परिक्रमा करते हुए एक वर्ष पूरा कर लिया है और इसके सभी उपकरण वर्तमान में अच्छी तरह काम कर रहे हैं. साथ ही कहा कि सात और वर्षों के संचालन के लिए चंद्रयान-2 में पर्याप्त ईंधन मौजूद है.
  • India | सोमवार अगस्त 17, 2020 12:49 AM IST
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो साल पहले अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में मानव अंतरिक्ष मिशन की घोषणा की थी. गगनयान मिशन का उद्देश्य भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर 2022 तक तीन सदस्यीय दल को पांच से सात दिन की अवधि के लिए अंतरिक्ष में भेजना है. उसी हिसाब से इसरो ने मिशन की योजना बनानी शुरू कर दी थी. 
और पढ़ें »
'ISRO' - 197 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com