NDTV Khabar

LK Advani Blog


'LK Advani Blog' - 14 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • लालकृष्ण आडवाणी ने ब्लॉग लिखकर BJP के तौरतरीकों पर उठाए सवाल तो PM मोदी ने किया यह Tweet

    लालकृष्ण आडवाणी ने ब्लॉग लिखकर BJP के तौरतरीकों पर उठाए सवाल तो PM मोदी ने किया यह Tweet

    बीजेपी (BJP) के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी (LK Advani) ने ब्लॉग लिखकर मौजूदा बीजेपी (BJP) के तौर-तरीके पर सवाल उठाए. लालकृष्ण आडवाणी (LK Advani Blog) ने कहा कि बीजेपी ने शुरू से ही राजनीतिक विरोधियों को दुश्मन नहीं माना. जो हमसे राजनीतिक तौर पर सहमत नहीं हैं इन्हें देश विरोधी नहीं कहा. इस पर पीएम मोदी (PM Modi) ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि आडवाणी जी ने बीजेपी की मूल भावना को व्‍यक्‍त किया है.

  • लालकृष्ण आडवाणी ने ब्लॉग लिखकर तोड़ी चुप्पी, BJP के तौरतरीकों पर उठाए सवाल

    लालकृष्ण आडवाणी ने ब्लॉग लिखकर तोड़ी चुप्पी, BJP के तौरतरीकों पर उठाए सवाल

    बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी (LK Advani) ने ब्लॉग लिखकर मौजूदा बीजेपी (BJP) के तौर-तरीके पर सवाल उठाए. लालकृष्ण आडवाणी (LK Advani Blog) ने कहा कि बीजेपी ने शुरू से ही राजनीतिक विरोधियों को दुश्मन नहीं माना. जो हमसे राजनीतिक तौर पर सहमत नहीं हैं इन्हें देश विरोधी नहीं कहा. उन्होंने आगे लिखा, 'पार्टी नागरिकों के व्यक्तिगत और राजनीति पसंद की स्वतंत्रता के पक्ष में रही है.

  • प्रियदर्शन की बात पते की : कब होते हैं इमरजेंसी जैसे हालात

    प्रियदर्शन की बात पते की : कब होते हैं इमरजेंसी जैसे हालात

    यह सच है कि इमरजेंसी की पहली चोट के साथ वह सहम कर चुप हो गई। लेकिन इमरजेंसी के पहले और बाद इसी सोई-सोई दुनिया ने ऐसी अंगड़ाई ली थी, जिससे सत्ताएं थरथरा गई थीं

  • आपातकाल को लेकर आडवाणी की आशंका कितनी वाजिब?

    आपातकाल को लेकर आडवाणी की आशंका कितनी वाजिब?

    सवाल पूछा जा रहा है कि ललित मोदी को भारत सरकार को न बताए जाने की शर्त पर हलफनामा क्यों दिया गया मगर जवाब आ रहा है कि वसुंधरा राजे के साथ कौन-कौन खड़ा है।

  • मनीष शर्मा की नजर से : बीजेपी की रामभक्ति पर सवाल

    मनीष शर्मा की नजर से : बीजेपी की रामभक्ति पर सवाल

    राम मंदिर बनाने का मुद्दा कहीं फीका न पड़ जाए, हिन्दू वोट बैंक कहीं छिटक न जाए, इसके लिए हिन्दू संगठन और खासकर बीजेपी नेता समय-समय पर मंदिर के निर्माण को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दोहराते रहते हैं।

  • प्रियदर्शन की बात पते की : आडवाणी युग का अंत

    प्रियदर्शन की बात पते की : आडवाणी युग का अंत

    इसमें शक नहीं कि भारतीय राजनीति में आडवाणी की शख्सियत कई विडंबनाओं से बनी शख्सियत है। अपनी ऊर्जा और अपने आंदोलन से उन्होंने बीजेपी को शिखर तक पहुंचाया, लेकिन कभी ख़ुद शिखर तक नहीं पहुंच पाए। तब माना गया कि वाजपेयी की उदार छवि ने उन्हें आडवाणी से बड़ा नेता बना दिया।

  • चुनाव डायरी : अपनों से ही जूझता बीजेपी नेतृत्व

    चुनाव डायरी : अपनों से ही जूझता बीजेपी नेतृत्व

    बीजेपी में इस वक्त 'फ्री फॉर ऑल' क्यों है? ऐसा क्यों लग रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व कमजोर पड़ रहा है? क्यों पार्टी के नेता आगे निकलने के चक्कर में एक-दूसरे के पैरों पर अपने पैर रख रहे हैं? अगर सरकार बनने से पहले ही आपसी लड़ाई का ये हाल है, तो सरकार बनने पर क्या होगा?

  • चुनाव डायरी : बीजेपी में नरेंद्र मोदी या फिर कोई नहीं

    चुनाव डायरी : बीजेपी में नरेंद्र मोदी या फिर कोई नहीं

    बीजेपी के बारे में कहा जा रहा है कि उसमें दो धड़े हैं। एक '170 ग्रुप' जो चाहता है, पार्टी की सीटें 170 के ऊपर न जाएं, ताकि मोदी की जगह कोई और पीएम बन सके। दूसरा '270 ग्रुप', जो मोदी को प्रधानमंत्री बनाना चाहता है। जाहिर है ये काल्पनिक प्रश्न हैं, लेकिन राजनीति में कुछ भी हो सकता है।

  • चुनाव डायरी : बीजेपी के 'सागर' में बनता 'टापू'

    चुनाव डायरी : बीजेपी के 'सागर' में बनता 'टापू'

    गुजरात और मध्य प्रदेश की मिलती सीमाएं, विदिशा-भोपाल की नजदीकियां और आडवाणी-सुषमा की करीबियां... यहीं पर खड़े मिलते हैं सुषमा-आडवाणी के करीबी कर्नाटक के अनंत कुमार, जो मध्य प्रदेश के स्थायी प्रभारी कहे जाते हैं और इन सबके बीच हैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान।

  • चुनाव डायरी : क्यों मचा है बीजेपी में घमासान?

    चुनाव डायरी : क्यों मचा है बीजेपी में घमासान?

    सुषमा स्वराज ने कुछ विवादास्पद लोगों को साथ जोड़ने की पार्टी की कोशिशों का सार्वजनिक रूप से विरोध किया है। बीजेपी में सुषमा के इस कदम से हैरानी है। पार्टी नेताओं को यह समझ नहीं आया है कि सुषमा ने अपनी बातें संसदीय बोर्ड में रखने के बजाए सार्वजनिक रूप से क्यों कहीं?

  • लालकृष्ण आडवाणी : सफल नेता, असफल बागी?

    लालकृष्ण आडवाणी : सफल नेता, असफल बागी?

    बीजेपी के सबसे बड़े नेता उस सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं, जिसका प्रतिनिधित्व वह 1991 से करते आ रहे हैं, इसमें खबर क्या है? पार्टी के मार्गदर्शक के रूप में उन्हें अपनी इच्छा को सार्वजनिक रूप से प्रकट करने की आवश्यकता क्यों पड़ी?

  • बाल ठाकरे का हमला : बोले, हिम्मत उधार ले जाएं लालकृष्ण आडवाणी

    बाल ठाकरे का हमला : बोले, हिम्मत उधार ले जाएं लालकृष्ण आडवाणी

    उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 का पहला लक्ष्य कांग्रेस को हटाना है, लेकिन अगर 'सेनापति' ही कहने लगे कि जीत के मौके नहीं हैं, तो एनडीए के बाकी घटकों का क्या होगा।

  • दरअसल, डरे हुए नहीं हैं आडवाणी, चेता रहे हैं कांग्रेस को...

    दरअसल, डरे हुए नहीं हैं आडवाणी, चेता रहे हैं कांग्रेस को...

    जो कांग्रेसी आडवाणी के ब्लॉग के आधार पर कह रहे हैं कि उन्होंने हार कबूल कर ली है, उन्हें ब्लॉग को पढ़ना चाहिए, क्योंकि हार का डर कम से कम मुझे तो उनके आलेख में नहीं दिखाई दिया...

  • मेरी राजनीतिक यात्रा अभी खत्म नहीं हुई : आडवाणी

    मेरी राजनीतिक यात्रा अभी खत्म नहीं हुई : आडवाणी

    अपने ब्लॉग में आडवाणी ने जिन्ना को सेकुलर बताए जाने की बात पर कायम रहते हुए लिखा है कि पाकिस्तान यात्रा के दौरान उन्हें गलत समझा गया और विश्वासघात का आरोप लगाया गया।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com