NDTV Khabar

Ladakh


'Ladakh' - 471 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मौसम विभाग ने कहा- मानूसन के जाने की शुरुआत अगले सप्ताह से होने की संभावना, ओडिशा में भारी वर्षा के आसार

    मौसम विभाग ने कहा- मानूसन के जाने की शुरुआत अगले सप्ताह से होने की संभावना, ओडिशा में भारी वर्षा के आसार

    भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून के जाने की शुरुआत अगले सप्ताह के अंत तक होने की संभावना है. वहीं ओडिशा में भारी वर्षा के आसार बन रहे हैं क्योंकि 20 सितंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का एक क्षेत्र बनने की संभावना है.

  • सरकार ने पूर्वी लद्दाख में संपूर्ण स्थिति, अभियानगत तैयारियों की व्यापक समीक्षा की

    सरकार ने पूर्वी लद्दाख में संपूर्ण स्थिति, अभियानगत तैयारियों की व्यापक समीक्षा की

    थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने बैठक में पैंगोंग झील के उत्तर एवं दक्षिण किनारे पर भारतीय एवं चीनी बलों के फिर से आमने-सामने होने के संबंध में जानकारी दी और इस प्रकार की कोशिशों से प्रभावशाली तरीके से निपटने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में बताया.

  • भारत ने कहा: चीन को पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने पर उसके साथ काम करना चाहिए

    भारत ने कहा: चीन को पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने पर उसके साथ काम करना चाहिए

    भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि चीन को पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील क्षेत्र सहित टकराव वाले सभी इलाकों से सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने के लिये प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहिए. साथ ही, उसे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिशें नहीं करने को भी कहा.वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दुनिया की कोई ताकत भारतीय सैनिकों को लद्दाख क्षेत्र में हमारी सीमा पर गश्त लगाने से नहीं रोक सकती है.

  • राहुल गांधी का केंद्र पर फिर हमला, पूछा सवाल- मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के साथ?

    राहुल गांधी का केंद्र पर फिर हमला, पूछा सवाल- मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के साथ?

    लद्दाख में भारत-चीन सीमा विवाद के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. बुधवार को उन्होंने पूछा कि मोदी सरकार  भारतीय सेना के साथ है या चीन के साथ? इसके साथ ही उन्होंने लिखा है कि इतना डर किस बात का है?

  • पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर नहीं हुई कोई घुसपैठ : सरकार ने संसद में कहा

    पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर नहीं हुई कोई घुसपैठ : सरकार ने संसद में कहा

    पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत-चीन के बीच लगातार बने तनाव और चीन की ओर यथास्थिति बदलने की कोशिशों के बीच केंद्र सरकार ने बुधवार को संसद में कहा है कि पिछले छह महीनों में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं हुई है.

  • 'भारत ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां सवाल करने की अनुमति नहीं', मोदी सरकार पर बरसे चिदंबरम

    'भारत ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां सवाल करने की अनुमति नहीं', मोदी सरकार पर बरसे चिदंबरम

    कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने मंगलवार को कहा कि भारत एक ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां कोई प्रश्न नहीं पूछा जाता है और कोई बहस नहीं होती है. लद्दाख में जारी गतिरोध (India China Clash off Ladakh) के मुद्दे पर लोकसभा में पार्टी को नहीं बोलने देने के बाद चिदंबरम ने यह टिप्पणी की. पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के बयान देने के बाद कांग्रेस को बोलने की अनुमति नहीं दिए जाने से नाराज कांग्रेस के सदस्यों ने लोकसभा वॉकआउट किया और संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने एकत्र होकर विरोध-प्रदर्शन किया. चिदंबरम (P Chidambaram) ने ट्वीट किया, ''आज भारत एक ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां कोई प्रश्न नहीं पूछा जाता सकता है और जहां बहस की अनुमति नहीं है.''

  • भारत-चीन विवाद पर लोकसभा में राजनाथ सिंह के भाषण की 5 प्रमुख बातें

    भारत-चीन विवाद पर लोकसभा में राजनाथ सिंह के भाषण की 5 प्रमुख बातें

    भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच आज देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में इस मुद्दे पर बयान दिया. राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार की विभिन्न खुफिया एजेंसियों के बीच समन्वय का एक विस्तृत और समय परीक्षण तंत्र (Time Tested Mechanism) है, जिसमें केंद्रीय केंद्रीय पुलिस बल (Central Police Forces) और तीनों सशस्त्र बल की खुफिया एजेंसियां शामिल हैं. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी (Narendra Modi) ने हाल ही में लद्दाख का दौरा कर हमारे बहादुर जवानों से मुलाकात की और उन्होंने यह संदेश भी दिया था कि समस्त देशवासी अपने वीर जवानों के साथ खड़े हैं.

  • चीन के साथ गतिरोध पर मोदी सरकार संसद में दे सकती है बयान: सूत्र

    चीन के साथ गतिरोध पर मोदी सरकार संसद में दे सकती है बयान: सूत्र

    Eastern Ladakh Standoff: सूत्रों की मानें तो मोदी सरकार भारत-चीन गतिरोध (India-China stand-off) पर संसद (Parliament) में बयान दे सकती है. कल शुरू हो रहे मानसून सत्र से पहले ये जानकारी सामने आई है. आगामी सत्र के एजेंडे पर आज संसद की समिति की बैठक में यह मामला उठाया गया. वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ गतिरोध को लेकर राहुल गांधी द्वारा समेत कांग्रेस नेताओं द्वारा लगातार मोदी सरकार पर हमले हो रहे हैं.

  • रक्षा मामलों की बैठक में शरद पवार की मांग- LAC पर क्या हैं हालात, बताए सरकार

    रक्षा मामलों की बैठक में शरद पवार की मांग- LAC पर क्या हैं हालात, बताए सरकार

    रक्षा मामलों से जुड़ी पार्लियामेंट स्टैंडिंग कमेटी (Parliamentary Standing Committee) की आज (शुक्रवार) मीटिंग हुई. पार्लियामेंट एनेक्सी में इस मीटिंग का आयोजन किया गया. बैठक में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) व कई अन्य दलों के नेता मौजूद रहे. बैठक का आधिकारिक एजेंडा विशेष रूप से सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षाबलों के लिए राशन और अन्य वस्तुओं की गुणवत्ता की निगरानी था. इस दौरान NCP सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) ने लद्दाख में LAC के हालातों को लेकर एक मांग की.

  • विदेश मंत्रियों की बैठक में चीन ने भारत से कहा - जवानों, उपकरणों को वापस ले जाएं

    विदेश मंत्रियों की बैठक में चीन ने भारत से कहा - जवानों, उपकरणों को वापस ले जाएं

    मॉस्को में गुरुवार को हुई भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक में दोनों देशों ने पूर्वी लद्दाख में सेना के बीच बने तनाव को खत्म करने के लिए पांच सूत्रीय समझौते पर हस्ताक्षर किया है. चीन ने इस बैठक को लेकर एक बयान जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि चीन ने इस बैठक में भारत से कहा है कि 'यह जरूरी है कि सीमा पार आए जवानों और उपकरणों को वापस लिया जाए.'

  • भारत-चीन LAC विवाद सुलझाने को इन 5 मुद्दों पर करेंगे काम, विदेश मंत्रियों की बैठक में बनी सहमति

    भारत-चीन LAC विवाद सुलझाने को इन 5 मुद्दों पर करेंगे काम, विदेश मंत्रियों की बैठक में बनी सहमति

    विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी की मॉस्को में हुई बातचीत के दौरान भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर विवाद खत्म करने के लिए पांच बिंदुओं पर काम करने को लेकर सहमति जताई है. बता दें कि मॉस्को में चल रहे शंघाई सहयोग संगठन की शिखर वार्ता में हिस्सा लेने के लिए दोनों देशों के विदेश मंत्री वहां गए हुए थे. इस दौरान गुरुवार की रात शिखर वार्ता से इतर दोनों देशों ने बैठक ली. ढाई घंटे चली यह बैठक ऐसे वक्त में हुई है, जब पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है.

  • भारत ने कहा- चीनी फौज की "उकसावे वाली कार्रवाई" द्विपक्षीय समझौतों का अनादर : सूत्र

    भारत ने कहा- चीनी फौज की

    सूत्रों के मुताबिक, भारत ने चीन से कहा कि LAC पर चीनी सेना की "उकसावे वाली कार्रवाई" की कई घटनाएं द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल के प्रति उपेक्षा दर्शाती है. विदेश मंत्रियों के बीच हुई बातचीत के बाद LAC पर जारी तनाव को कम करने के लिए पांच बिंदुओं पर सहमति बनी है.

  • भारत ने चीन से कहा- चीनी फौज की "उकसावे वाली कार्रवाई" द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन : सूत्र

    भारत ने चीन से कहा- चीनी फौज की

    भारत चीन के बीच जारी तनाव के बीच दोनों ही देशो के विदेश मंत्री के बीच हुई बातचीत के बाद LAC पर जारी तनाव को कम करने के लिए पांच बिंदुओं पर सहमति बन गई है.

  • भारत व फ्रांस ने हिंद महासागर क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने का फैसला किया - रिपोर्ट

    भारत व फ्रांस ने हिंद महासागर क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने का फैसला किया - रिपोर्ट

    सूत्रों ने कहा कि दोनों मंत्रियों ने हिंद महासागर क्षेत्र में भारत-फ्रांस सहयोग के संयुक्त सामरिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए मिलकर काम करने की आवश्यकता पर जोर दिया.  दोनों नेताओं की यह वार्ता पांच राफेल लड़ाकू विमानों को अंबाला वायुसेना अड्डे पर भारतीय वायु सेना (आईएएफ) में औपचारिक रूप से शामिल किए जाने के बाद हुयी.  दोनों मंत्रियों ने बृहस्पतिवार सुबह दिल्ली के पालम वायु सेना स्टेशन में भी संक्षिप्त मुलाकात की थी.    

  • LAC पर तनाव के बीच मॉस्‍को में मिले भारत और चीन के विदेश मंत्री

    LAC पर तनाव के बीच मॉस्‍को में मिले भारत और चीन के विदेश मंत्री

    विदेश मंत्री जयशंकर ने हाल ही में पूर्वी लद्दाख के हालात को ‘बहुत गंभीर' करार दिया था और कहा था कि ऐसे हालात में दोनों पक्षों के बीच राजनीतिक स्तर पर ‘बहुत बहुत गहन विचार-विमर्श' की जरूरत है. जयशंकर और वांग के बीच यह बातचीत ऐसे वक्त में हुई है जब सीमा पर तनाव अपने चरम पर है.

  • लद्दाख में तनातनी के बीच भारत और चीन के विदेश मंत्री आज कर सकते हैं मुलाकात

    लद्दाख में तनातनी के बीच भारत और चीन के विदेश मंत्री आज कर सकते हैं मुलाकात

    LAC पर तनाव को कम करने के इरादे से दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय वार्ता होने की संभावना जताई जा रही है. बता दें कि एस जयशंकर इन दिनों मॉस्को में हैं, जहां शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के तहत विदेश मंत्रियों की बैठक हो रही है.  एस जयशकंर और वांग के बीच यह बातचीत ऐसे वक्त में हो रही है जब सीमा पर तनाव अपने चरम पर है.

  • चीन का पैंगोंग प्लान : उत्तरी किनारे पर कर रहा निर्माण, दक्ष‍िणी किनारे पर भेजे सैनिक

    चीन का पैंगोंग प्लान : उत्तरी किनारे पर कर रहा निर्माण, दक्ष‍िणी किनारे पर भेजे सैनिक

    पूर्वी लद्दाख (Ladakh ) क्षेत्र की सैटेलाइट तस्वीरों से मालूम चल रहा है कि पैंगोंग झील (Pangong Lake ) के उत्तरी किनारे पर चीनी निर्माण गतिविधि चल रही है. साथ ही झील के दक्षिणी किनारे पर वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास नई चीनी चौकियों का निर्माण किया जा रहा है. ये वही जगह है जहां भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई है.

  • कोई भी मोड़ ले सकता है भारत और चीन के बीच का मौजूदा गतिरोध : सूत्र

    कोई भी  मोड़ ले सकता है भारत और चीन के बीच का मौजूदा गतिरोध : सूत्र

    India-china Border Dispute: भारत और चीन के बीच जारी मौजूदा गतिरोध कोई भी मोड़ ले सकता है. सरकार के शीर्ष अधिकारियों ने NDTV से यह बात कही. यह बात करते हुए उन्‍होंने स्‍थानीय या आरपार के संघर्ष की आशंका से इनकार नहीं किया.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com