NDTV Khabar

Madhya Pradesh Farmers


'Madhya Pradesh Farmers' - 134 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बाजरा की सरकारी खरीद के बीच विवाद, एक किसान ने की अंधाधुंध फायरिंग, देखें VIDEO

    बाजरा की सरकारी खरीद के बीच विवाद, एक किसान ने की अंधाधुंध फायरिंग, देखें VIDEO

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बाजरा खरीदी में हो रही देरी अब किसानों के बीच आपसी संघर्ष का कारण बनने लगी है. रविवार की शाम को मुरैना (Muraina) जिले के पड़ावली खरीद केंद्र पर बाजरा तुलवाने की बात पर किसानों में विवाद हो गया. यह विवाद इतना बढ़ा कि एक किसान ने अंधाधुंध फायरिंग (Firing) करके दहशत फैला दी. हालांकि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ. 

  • मध्यप्रदेश: खंडवा जिले में ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुनावी जनसभा में किसान की मौत

    मध्यप्रदेश: खंडवा जिले में ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुनावी जनसभा में किसान की मौत

    मध्यप्रदेश के खंडवा (Khandwa) में बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की सभा में भाषण सुनने आए बुजुर्ग किसान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. खंडवा जिले के मूंदी में यह चुनावी जनसभा थी. बुजुर्ग किसान की कुर्सी पर बैठे-बैठे ही मौत हो गई. सभा में सिंधिया के आने से पहले ही किसान की मौत हो गई थी. उन्हें अस्पताल भी लेकर चले गए थे. सिंधिया जब मंच पर आए तब उन्हें सूचना दी गई. फिर उन्होंने मौन रखा और श्रद्धांजलि दी.

  • किसानों की कर्जमाफी पर शिवराज सरकार का U-टर्न, बोली- सिर्फ प्रमाणपत्र बांटे, पैसे नहीं

    किसानों की कर्जमाफी पर शिवराज सरकार का U-टर्न, बोली- सिर्फ प्रमाणपत्र बांटे, पैसे नहीं

    मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में किसानों के कर्जमाफी के मामले में विधानसभा में एक सवाल के जवाब में शिवराज सरकार (Shivraj Govt) ने माना है कि लगभग 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया गया है, लेकिन बाहर कांग्रेस (Congress) के हमलावर होने के बाद सरकार ने यू-टर्न ले लिया. सरकार ने कहा कि सिर्फ प्रमाण पत्र बंटे हैं. विधानसभा के एक दिन के सत्र में कांग्रेस विधायकों के सवाल पर मध्य प्रदेश सरकार ने लिखित जवाब में बताया कि राज्य में 'जय किसान फसल ऋण' माफी के तहत कुल 51 लाख 53 हजार से ज्यादा किसानों ने फार्म भरा था.

  • कृषि सुधार के लिए लाए गए विधेयकों पर मध्यप्रदेश के किसानों की राय बंटी हुई

    कृषि सुधार के लिए लाए गए विधेयकों पर मध्यप्रदेश के किसानों की राय बंटी हुई

    केंद्र सरकार खेती-किसानी के क्षेत्र में सुधार के लिए तीन विधेयक (Agri Reform Bills) लाई है, जो लोकसभा-राज्यसभा से पारित हो चुके हैं. इन विधेयकों से पंजाब और हरियाणा समेत कुछ राज्यों में किसान नाराज हैं. उन्हें अपनी उपज पर मिलने वाले न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)  की चिंता है. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री कह चुके हैं कि जो विरोध कर रहे हैं वो जबरन किसानों को भड़का रहे हैं. ऐसे में मध्यप्रदेश के किसान क्या सोचते हैं? 

  • इंदौर : टोल बूथ पर नकोबपोशों ने जमकर तोड़फोड़ की, आसपास के किसानों से टैक्स वसूली का विरोध

    इंदौर : टोल बूथ पर नकोबपोशों ने जमकर तोड़फोड़ की, आसपास के किसानों से टैक्स वसूली का विरोध

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में एक टोल बूथ पर लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की. इंदौर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे 59 के मेठवाड़ा टोल टैक्स बूथ (Toll tax booth) पर शुक्रवार को रात में करीब 35 नकबपोशों ने जमकर तोड़फोड़ का और उत्पात मचाया. घटना की सूचना टोल बूथ संचालकों ने बेटमा पुलिस थाने को दी. इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची. जैसे पुलिस के सायरन की आवाज सुनाई दी, उपद्रवी वहां से भाग गए. 

  • भूमि अधिग्रहण का मामला: विधायक ने किसानों के समर्थन में अर्धनग्न होकर शीर्षासन करके विरोध जताया

    भूमि अधिग्रहण का मामला: विधायक ने किसानों के समर्थन में अर्धनग्न होकर शीर्षासन करके विरोध जताया

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के श्योपुर में केंद्र सरकार के अटल एक्सप्रेस वे प्रोजेक्ट (Atal Expressway Project) में जारी भूमि अधिग्रहण (Land acquisition) को लेकर किसानों और प्रशासन में टकराव बढ़ता नज़र आ रहा है. भूमि अधिग्रहण में भूमि के बजाय चार गुना मुआवजे की मांग को लेकर किसानों के प्रदर्शन के दौरान आज हालात उस वक्त बेकाबू हो गए जब डीएम दफ्तर पर प्रदर्शन कर ज्ञापन सौपने पहुंचे किसानों के बीच डीएम ने आने में देरी कर दी. स्थानीय कांग्रेस एमएलए के नेतृत्व में पहुंचे किसानों ने डीएम दफ्तर पर डेरा डालकर अर्धनग्न प्रदर्शन कर प्रशासन और शासन के खिलाफ आक्रोश जाहिर किया. कांग्रेस एमएलए ने अर्धनग्न होकर सरकार के खिलाफ शीर्षासन भी कर डाला. करीब 3 घंटे तक चले हंगामे के बाद किसान कलेक्ट्रेट पर ज्ञापन चस्पा करके लौट आए. उन्होंने जाते हुए बड़े उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दे डाली.

  • मध्यप्रदेश में बीमे की रकम प्राप्त करने के लिए बैंक के लाइन में खड़े किसान की मौत

    मध्यप्रदेश में बीमे की रकम प्राप्त करने के लिए बैंक के लाइन में खड़े किसान की मौत

    मध्यप्रदेश में आगर मालवा में बैंक की लाइन में ही दिल का दौरा पड़ने से एक किसान की मौत हो गई. साथ में आए किसानों का आरोप है कि किसान बीमे की रकम के लिये 3-4 दिन से बैंक के चक्कर काट रहा था.

  • उपज का पैसा नहीं मिलने पर खुदकुशी करने वाले किसान के परिवार को दो साल बाद भी मुआवजा नहीं मिला

    उपज का पैसा नहीं मिलने पर खुदकुशी करने वाले किसान के परिवार को दो साल बाद भी मुआवजा नहीं मिला

    किसान और खेती के मामले में मध्यप्रदेश में सब कुछ रिकॉर्ड होता है, रिकॉर्ड उत्पादन, खरीद भंडारण सब कुछ कम से कम कागजों पर, तभी तो राज्य को कई साल कृषि कर्मण पुरस्कार मिले. लेकिन एक सच्चाई ये भी है कि किसान परेशान है. आंकड़े स्पष्ट नहीं आते लेकिन देर सवेर एनसीआरबी हो या राज्य सरकार कुछ बातें मानती हैं उससे भी तस्वीर भयावह बनती है. सिवनी ज़िले का मामला तो ऐसा है जहां मृतक किसान के परिजनों को दिया गया सरकारी मुआवजे का वादा भी दो सालों से पूरा नहीं हुआ है.

  • मध्‍यप्रदेश: साहूकारी कर्ज से परेशान किसान ने कथित तौर पर फांसी लगाई, सुसाइड नोट में है कर्ज का जिक्र

    मध्‍यप्रदेश: साहूकारी कर्ज से परेशान किसान ने कथित तौर पर फांसी लगाई, सुसाइड नोट में है कर्ज का जिक्र

    दिनेश के छोटे भाई सुजीत परमार ने कहा कि कर्जे को लेकर वे परेशान थे, बार बार फोन आता था, दो महीने पहले पापा शांत हुए, फिर भी इंदौर वाले का बार बार फोन आता था. पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर जांच शुरु कर दी है. बड़वानी के एसपी निमिष अग्रवाल ने बताया कि सुसाइड नोट पाया गया है कर्ज के लिये दो लोगों को परेशान करना बताया है हमने मामला दर्ज कर लिया है

  • मध्यप्रदेश में किसानों को नहीं मिल रहा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ...

    मध्यप्रदेश में किसानों को नहीं मिल रहा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ...

    मध्य प्रदेश में बीमा प्रीमियम भरने के बावजूद हजारों किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ नहीं मिल रहा है. मध्य प्रदेश की राजधानी से करीब 200 किलोमीटर दूर आगर मालवा जिला मुख्यालय पर रूपनारायण, अपने परिवार के नाम से पांच कृषि खातों की करीब 60 बीघा जमीन पर हर साल सहकारी संस्था से ऋण लेते हैं, और हर फसल में फसल बीमा योजना का प्रीमियम भी भरते हैं, लेकिन कहते हैं बीमा आजतक नहीं मिला.

  • मध्यप्रदेश में बोवनी के बाद यूरिया हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहे किसान

    मध्यप्रदेश में बोवनी के बाद यूरिया हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहे किसान

    कोरोना काल में किसान ने पहले उगी फसल बेचने के लिए संघर्ष किया, अब मध्यप्रदेश में उसे बोवनी के बाद यूरिया के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. सोसायटी के बाहर लंबी कतारें लगी हुई हैं, कई जगहों पर थाने से यूरिया बांटा जा रहा है जबकि निजी दुकानों में दोगुने दामों पर यूरिया आसानी से मिल रहा है.

  • गुना में पुलिस के डंडे बजते रहे और कई सवाल पीछे छूट गए ...

    गुना में पुलिस के डंडे बजते रहे और कई सवाल पीछे छूट गए ...

    कुछ दिनों पहले मध्यप्रदेश में साहूकारी संशोधन विधेयक एवं अनुसूचित जनजाति ऋण मुक्ति विधेयक 2020 को कैबिनेट की स्वीकृति दे दी गई जिसमें अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत अनुसूचित जनजाति वर्ग के सभी व्यक्तियों के 15 अगस्त 2020 तक के सभी ऋण ब्याज सहित माफ किए जाने का प्रावधान किया जा रहा है. दूसरे वर्गों को भी साहूकारों के चंगुल से छुड़ाने के लिए मध्यप्रदेश साहूकार (संशोधन विधेयक 2020) लाया जा रहा है.

  • गुना में पुलिस के डंडे बजते रहे और कई सवाल पीछे छूट गए ...

    गुना में पुलिस के डंडे बजते रहे और कई सवाल पीछे छूट गए ...

    कुछ दिनों पहले मध्यप्रदेश में साहूकारी संशोधन विधेयक एवं अनुसूचित जनजाति ऋण मुक्ति विधेयक 2020 को कैबिनेट की स्वीकृति दे दी गई जिसमें अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत अनुसूचित जनजाति वर्ग के सभी व्यक्तियों के 15 अगस्त 2020 तक के सभी ऋण ब्याज सहित माफ किए जाने का प्रावधान किया जा रहा है. दूसरे वर्गों को भी साहूकारों के चंगुल से छुड़ाने के लिए मध्यप्रदेश साहूकार (संशोधन विधेयक 2020) लाया जा रहा है.

  • मध्य प्रदेश के गुना में किसान परिवार के साथ मारपीट पर भड़के बॉलीवुड एक्टर, बोले- बना लिया हमने देश को Superpower

    मध्य प्रदेश के गुना में किसान परिवार के साथ मारपीट पर भड़के बॉलीवुड एक्टर, बोले- बना लिया हमने देश को Superpower

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के गुना (Guna) में मंगलवार को अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंची पुलिस ने किसान दंपति की लाठियों से पिटाई की. इसके साथ ही किराए की जमीन पर खेती कर रहे किसान पति-पत्नी ने आत्महत्या करने का भी प्रयास किया. इससे जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसपर बॉलीवुड कलाकार भी लगातार रिएक्शन दे रहे हैं.

  • मध्य प्रदेश : किसान पति-पत्नी ने की खुदकुशी की कोशिश, कलेक्टर और एसपी हटाए गए

    मध्य प्रदेश : किसान पति-पत्नी ने की खुदकुशी की कोशिश, कलेक्टर और एसपी हटाए गए

    मध्यप्रदेश के गुना जिले में किराए की जमीन पर खेती कर रहे किसान पति-पत्नी ने आत्महत्या करने का प्रयास किया. स्थानीय प्रशासन पुलिस वालों के साथ सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाने पहुंचे था. परिजनों के मुताबिक परिवार पर तीन लाख रूपये से अधिक का कर्जा है, वो किराए पर खेत लेकर कर्ज की रकम चुकाना चाहते थे. दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. महिला की हालत नाजुक है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की उच्च स्तरीय जांच का आदेश दे दिया है.

  • कोरोना काल में किसान परेशान : कभी 100 रुपए/किलो बिकने वाला प्याज अब 2 से 6 रुपए तक प्रति किलो बिकने पर मजबूर

    कोरोना काल में किसान परेशान : कभी 100 रुपए/किलो बिकने वाला प्याज अब 2 से 6 रुपए तक प्रति किलो बिकने पर मजबूर

    रोडमल मेघवाल छोटे किसान है, 2 बीघा में प्याज की उपज तो अच्छी आई है मगर भाव महज 2 रुपये किलो तक ही मिल पा रहा है, 6 सदस्यों का परिवार, कर्ज और बच्चों की पढ़ाई जैसी जिम्मेदारियों के चलते इन दिनों परेशान हैं क्योंकि खर्चा भी नहीं निकल पा रहा है.

  • किसानों ने शुरू किया ऑनलाइन सत्याग्रह, नाराज होकर बोले- रेट पहले अच्छे थे, लेकिन अब तो मिट्टी के मोल बेचना पड़ेगा...

    किसानों ने शुरू किया ऑनलाइन सत्याग्रह, नाराज होकर बोले- रेट पहले अच्छे थे, लेकिन अब तो मिट्टी के मोल बेचना पड़ेगा...

    कोरोनावायरस (Coronavirus) काल में नेता डिजिटल हो रहे हैं, तो अब अपनी मांगों के लिए किसानों ने भी ऑनलाइन सत्याग्रह शुरू किया है. मध्यप्रदेश में सिवनी जिले के किसानों ने मक्के के समर्थन मूल्य के लिये किसान ऑनलाइन सत्याग्रह शुरु किया है. देशभर से कई किसान इस मुहीम में और मांग के साथ जुड़ते जा रहे हैं. युवा किसानों के अपनी तरह के इस पहले ऑनलाइन आंदोलन का फौरी उद्देश्य मक्का का समर्थन मूल्य बढ़वाना नहीं, मक्का का समर्थन मूल्य पाना है.

  • केंद्र सरकार ने चने दाल में दो प्रतिशत तक खेसारी दाल मिलाने की दी अनुमति, मध्यप्रदेश के लाखों किसानों को होगा फायदा

    केंद्र सरकार ने चने दाल में दो प्रतिशत तक खेसारी दाल मिलाने की दी अनुमति, मध्यप्रदेश के लाखों किसानों को होगा फायदा

    केंद्र सरकार ने किसानों के हित में एक और फैसला लिया है. इसके तहत, मध्यप्रदेश में चने में दो प्रतिशत तक खेसारी दाल को मान्य किया गया है. केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि इससे मध्यप्रदेश के चना उत्पादक लाखों किसानों को फायदा होगा.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com