NDTV Khabar

Mahatma Gandhi


'Mahatma Gandhi' - 409 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गांधी की भूल से देश का बंटवारा हुआ, दिग्विजय जिन्ना से ज्यादा खतरनाक : प्रोटेम स्पीकर

    गांधी की भूल से देश का बंटवारा हुआ, दिग्विजय जिन्ना से ज्यादा खतरनाक : प्रोटेम स्पीकर

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के प्रोटेम स्पीकर और बीजेपी (BJP) के विधायक रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma) अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में बने रहते हैं. इस बार भी उनके एक विवादित बयान से मध्यप्रदेश की राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. रामेश्वर शर्मा ने कहा कि 1947 में महात्मा गांधी (बापू) की भूल की वजह से ही देश का विभाजन हुआ था. इस दौरान रामेश्वर शर्मा ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वजय सिंह (Digvijay Singh) को लेकर भी काफी विवादित बातें कीं. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह काम और व्यवहार से जिन्ना से ज्यादा खतरनाक हैं.

  • हिन्दू महासभा ने मध्य प्रदेश में शुरू की नाथूराम गोडसे ज्ञानशाला

    हिन्दू महासभा ने मध्य प्रदेश में शुरू की नाथूराम गोडसे ज्ञानशाला

    देश को आज़ाद कराने में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के योगदान को कोई नहीं भुला सकता, लेकिन उनके ही देश में अब भी उनकी हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) के समर्थक मौजूद हैं. अब उन्होंने गोडसे की ज्ञानशाला (Godse Study Centre) भी शुरू कर दी है.

  • 'हिन्दू होते हैं देशभक्त' बयान पर ओवैसी ने RSS प्रमुख से पूछा- 'गांधीजी के हत्यारे पर क्या ख्याल है?'

    'हिन्दू होते हैं देशभक्त' बयान पर ओवैसी ने RSS प्रमुख से पूछा- 'गांधीजी के हत्यारे पर क्या ख्याल है?'

    हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान पर निशाना साधा है, जिसमें भागवत ने गांधी जी का उदाहरण देते हुए कहा था कि हिन्दू स्वत: देशभक्त होते हैं.

  • US में 6 महीने में दूसरी बार गांधी प्रतिमा के साथ अभद्रता, व्हाइट हाउस ने बताया डरावना और दु:खद

    US में 6 महीने में दूसरी बार गांधी प्रतिमा के साथ अभद्रता, व्हाइट हाउस ने बताया डरावना और दु:खद

    तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में विरोध-प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में खालिस्तानी समर्थकों ने 12 दिसंबर को वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था और इस दौरान वहां महात्मा गांधी की प्रतिमा को खालिस्तानी झंडे से ढक दिया था.

  • कृषि कानूनों के विरोध में अमेरिका में गांधीजी की मूर्ति से छेड़छाड़, खालिस्तानी झंडे से ढका

    कृषि कानूनों के विरोध में अमेरिका में गांधीजी की मूर्ति से छेड़छाड़, खालिस्तानी झंडे से ढका

    वॉशिंगटन में महात्मा गांधी की प्रतिमा के अनादर की यह घटना दूसरी बार हुई है. इससे पहले दो और तीन जून की मध्यरात्रि को भी इसी प्रकार की घटना हुई थी.

  • घर की साफ-सफाई के दौरान शख्स को मिली अपने दादा की डायरी, अंदर मिला महात्मा गांधी का ऑटोग्राफ और...

    घर की साफ-सफाई के दौरान शख्स को मिली अपने दादा की डायरी, अंदर मिला महात्मा गांधी का ऑटोग्राफ और...

    विजय बसर (Vijay Basrur) अपनी मां के कमरे की सफाई करते समय बहुत मूल्यवान चीज मिली. उनको कमरे की सफाई के दौरान अपने दादा की डायरी (Grandfather’s Notebook) मिली. जहां महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू जैसे महान लोगों के हस्ताक्षर (Signatures Of Personalities Like Mahatma Gandhi) थे.

  • महात्मा गांधी के प्रपौत्र सतीश धुपेलिया का Covid-19 संक्रमण से निधन

    महात्मा गांधी के प्रपौत्र सतीश धुपेलिया का Covid-19 संक्रमण से निधन

    धुपेलिया की बहन उमा धुपेलिया-मेस्थरी ने इस बात की पुष्टि की कि उनके भाई की कोविड-19 संबंधित जटिलताओं से मौत हो गई है. उन्होंने बताया कि उनके भाई को निमोनिया हो गया था और उसके उपचार के लिए वह एक माह अस्पताल में थे और वहीं वह संक्रमण की चपेट में आ गए.

  • Shah Rukh Khan ने किया ट्वीट, तो एक्ट्रेस बोलीं-'गांधी जी ने हमें ये भी सिखाया है कि सत्य के लिए बोलें'

    Shah Rukh Khan ने किया ट्वीट, तो एक्ट्रेस बोलीं-'गांधी जी ने हमें ये भी सिखाया है कि सत्य के लिए बोलें'

    शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) ने अपने ट्वीट में बुरा ना बोलो, बुरा ना देखो और बुरा ना सुनो की नसीहत देते हुए लिखा था: "इस गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) अगर हम अपने बच्चों को बताना या सिखाना चाहे तो कुछ ऐसा बताएं जो उनके अच्छे और बुरे समय में काम आए. वो ये है कि बुरा मत सुनो, बुरा मत कहो और बुरा मत सुनो. गांधीजी की 151वीं जयंती पर सत्य के महत्व को याद रखें."

  • Gandhi Jayanti 2020: मिनिएचर आर्टिस्ट का कमाल, मछलियों के टैंक के अंदर बनाया महात्मा गांधी का चित्र

    Gandhi Jayanti 2020: मिनिएचर आर्टिस्ट का कमाल, मछलियों के टैंक के अंदर बनाया महात्मा गांधी का चित्र

    Gandhi Jayanti 2020: राष्ट्रपिता (Father Of Nation) महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की जयंती आज 2 अक्टूबर (2 October) को देश भर में मनाई जा रही है. अहिंसा आंदोलन के दम पर देश को आज़ादी दिलाने वाले बापू आज भी लोगों के दिलों में जिंदा हैं. यही वजह है कि आज महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर तमिलनाडु के कोयम्बटूर में रहने वाले एक मीनिएचर कलाकार ने मछली के टैंक के अंदर महात्मा गांधी के चित्र बनाए हैं. मीनिएचर कलाकार का कहना है कि उन्होंने महात्मा गांधी का चित्र मछली के टैंक के अंदर उगने वाले काई की मदद से बनाए हैं. 

  • लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि, बोले- 'उन्होंने भारत के लिए जो कुछ भी किया..'

    लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि, बोले- 'उन्होंने भारत के लिए जो कुछ भी किया..'

    मोदी ने एक ट्वीट कर लिखा, ‘लाल बहादुर शास्त्री जी विनम्र और दृढ़ व्यक्ति थे. वह सादगी के प्रतीक थे और उन्होंने राष्ट्र के कल्याण के लिए जीवन जिया. हम उन्हें उनकी जयंती पर याद करते हैं और उन्होंने भारत के लिए जो कुछ भी किया, उसके कारण उनके प्रति बहुत आभारी हैं.’

  • महात्मा गांधी-लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर सोनिया गांधी का किसान बिल को लेकर मोदी सरकार पर निशाना

    महात्मा गांधी-लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर सोनिया गांधी का किसान बिल को लेकर मोदी सरकार पर निशाना

    सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने भी देश की दो महान विभूतियों को उनकी जयंती पर नमन करते हुए कहा, 'मेरे प्यारे कांग्रेस के साथियों व किसान-मजदूर भाईयों और बहनों, आज किसानों, मजदूरों और मेहनतकशों के सबसे बड़े हमदर्द, महात्मा गांधी जी की जयंती है. गांधी जी कहते थे कि भारत की आत्मा भारत के गांव, खेत और खलिहान में बसती है. आज ‘जय जवान, जय किसान’ का नारा देने वाले हमारे पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती भी है.'

  • ITBP के जवानों ने बैंड पर 'रघुपति राघव राजा राम' की धुन से महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि, देखें Video

    ITBP के जवानों ने बैंड पर 'रघुपति राघव राजा राम' की धुन से महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि, देखें Video

    आज 2 अक्टूबर है और पूरा देश महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) को उनकी 151वीं जयंती पर याद कर रहा है. गांधी जयंती(Gandhi Jayanti) के मौके पर पूरा देश महात्मा गांधी को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है.

  • Lal Bahadur Shastri Jayanti 2020: लाल बहादुर शास्त्री ने गरीबों की सेवा में समर्पित किया पूरा जीवन, जानिए उनके 8 अनमोल विचार

    Lal Bahadur Shastri Jayanti 2020: लाल बहादुर शास्त्री ने गरीबों की सेवा में समर्पित किया पूरा जीवन, जानिए उनके 8 अनमोल विचार

    Lal Bahadur Shastri Jayanti 2020: देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) की जयंती 2 अक्टूबर (2 October) को मनाई जाती है. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म एक ओर जहां दो अक्टूबर 1869 को हुआ था, तो वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म दो अक्टूबर 1904 को हुआ था. इसलिए 2 अक्टूबर को हर साल महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती मनाई जाती है और यही वजह है कि भारत के इतिहास में दो अक्टूबर के दिन का एक खास महत्व है. स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की तरह दो अक्टूबर को भी राष्ट्रीय पर्व का दर्जा हासिल है. 

  • Gandhi Jayanti: PM मोदी ने राजघाट पर दी श्रद्धांजलि, कहा- बापू ने 'आत्मनिर्भर भारत' का सपना देखा था

    Gandhi Jayanti: PM मोदी ने राजघाट पर दी श्रद्धांजलि, कहा- बापू ने 'आत्मनिर्भर भारत' का सपना देखा था

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को महात्मा गांधी की 151वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. प्रधानमंत्री बापू को पुष्पांजलि देने के लिए राजघाट पर गए. यहां उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने ऐसे 'आत्मनिर्भर भारत' का सपना देखा था, जहां हर गांव आत्मनिर्भर है. पीएम ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनके जीवन एवं विचारों से बहुत कुछ सीखने को मिलता है.

  • 2 अक्टूबर का दिन: आज है महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती

    2 अक्टूबर का दिन: आज है महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती

    October 2 In History: भारत के इतिहास में दो अक्टूबर के दिन का एक खास महत्व है. स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की तरह दो अक्टूबर को भी राष्ट्रीय पर्व का दर्जा हासिल है. यह दिन देश की दो महान विभूतियों के जन्मदिन के तौर पर इतिहास के पन्नों में दर्ज है. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म दो अक्टूबर 1869 को हुआ था और उनके कार्यों एवं विचारों ने देश की स्वतंत्रता और इसके बाद आजाद भारत को आकार देने में बड़ी भूमिका निभाई. पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म दो अक्टूबर 1904 को हुआ था. उनकी सादगी और विनम्रता के लोग कायल थे.1965 के भारत पाक युद्ध के दौरान दिया गया ‘जय जवान जय किसान' का उनका नारा आज के परिप्रेक्ष्य में भी सटीक और सार्थक है.

  • दो अक्टूबरः महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन

    दो अक्टूबरः महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन

    भारत के इतिहास में दो अक्टूबर के दिन का एक खास महत्व है. स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की तरह दो अक्टूबर को भी राष्ट्रीय पर्व का दर्जा हासिल है. यह दिन देश की दो महान विभूतियों के जन्मदिन के तौर पर इतिहास के पन्नों में दर्ज है. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म दो अक्टूबर 1869 को हुआ था और उनके कार्यों एवं विचारों ने देश की स्वतंत्रता और इसके बाद आजाद भारत को आकार देने में बड़ी भूमिका निभाई. पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म दो अक्टूबर 1904 को हुआ था. उनकी सादगी और विनम्रता के लोग कायल थे. 1965 के भारत पाक युद्ध के दौरान दिया गया ‘जय जवान जय किसान’ का उनका नारा आज के परिप्रेक्ष्य में भी सटीक और सार्थक है.

  • Gandhi Jayanti 2020: 2 अक्टूबर का दिन क्यों है खास? जानिए गांधी जयंती का इतिहास

    Gandhi Jayanti 2020: 2 अक्टूबर का दिन क्यों है खास? जानिए गांधी जयंती का इतिहास

    2nd October Gandhi Jayanti Importance, History:  राष्ट्रपिता (Father Of Nation) महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की जयंती 2 अक्टूबर (2 October) को देश भर में बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है. गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था. बापू का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी (Mohandas Karamchand Gandhi) था. गांधी जी सत्य और अहिंसा के पूजारी थे. महात्मा गांधी को विश्व पटल पर अहिंसा के प्रतीक के तौर पर जाना जाता है. अहिंसा आंदोलन के दम पर देश को आजादी दिलाने वाले बापू आज भी लोगों के दिलों में जिंदा हैं. 

  • Gandhi Jayanti 2020: ''ऐसे जिएं जैसे कल मरना है और सीखें ऐसे जैसे हमेशा जीवित रहना है.'' ये हैं गांधी जी के 8 अनमोल विचार

    Gandhi Jayanti 2020: ''ऐसे जिएं जैसे कल मरना है और सीखें ऐसे जैसे हमेशा जीवित रहना है.'' ये हैं गांधी जी के 8 अनमोल विचार

    Gandhi Jayanti 2020 Quotes: महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की जयंती 2 अक्टूबर ( 2 October) को मनाई जाती है. गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था. गांधी जयंती (Gandhi Jayanti 2020) के दिन लोग नई दिल्ली के राजघाट पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं. गांधी जी सत्य और अहिंसा के पूजारी थे. महात्मा गांधी को विश्व पटल पर अहिंसा के प्रतीक के तौर पर जाना जाता है. गांधी जी (Mahatma Gandhi) ने अपना पूरा जीवन सत्य की खोज में समर्पित कर दिया था और उन्होंने अपनी आत्मकथा को भी सत्य के प्रयोग का नाम दिया था. महात्मा गांधी के विचार (Mahatma Gandhi Quotes) देश ही नहीं, बल्कि दुनिया भर के लोगों को प्रेरित करते हैं. गांधी जी के विचारों को अपनाकर हम भी सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चल सकते हैं और अपने जीवन को बदल सकते हैं. आइए गांधी जयंती के मौके पर जानते हैं गांधी जी के अनमोल विचार.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com