NDTV Khabar

PM Modi Address to the Nation


'PM Modi Address to the Nation' - 11 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Unlock2: कोरोना से जंग के बीच PM मोदी की गरीबों को बड़ी सौगात, पढ़ें 10 अहम बातें

    Unlock2: कोरोना से जंग के बीच PM मोदी की गरीबों को बड़ी सौगात, पढ़ें 10 अहम बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए गरीब कल्याण योजना का विस्तार नवंबर अंत तक करने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि अब दिवाली और छठ तक 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज मिलेगा. इस पर 90,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माना कि अनलॉक-1 के बाद लापरवाही बढ़ी है. उन्होंने कहा कि हमें लापरवाही बरतने वालों को समझना होगा. कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते हुए अब हम Unlock2 में प्रवेश कर रहे हैं और हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जहां सर्दी-जुखाम, खांसी-बुखार ये सारे न जाने क्या क्या होता है, इनके मामले बढ़ जाते हैं. ऐसे में लोगों को सावधान रहने की जरूरत है.

  • Updates: जब से देश में अनलॉक वन हुआ है तब से लापरवाही कुछ बढ़ती जा रही है: पीएम मोदी

    Updates: जब से देश में अनलॉक वन हुआ है तब से लापरवाही कुछ बढ़ती जा रही है: पीएम मोदी

    PM Modi Address to the Nation: पीएम मोदी ने एक बार फिर कोरोनावायरस महामारी को लेकर देश के सामने अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, 'कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते-लड़ते अब हम अनलॉक-2 में प्रवेश कर रहे हैं.

  • आज शाम चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे PM मोदी

    आज शाम चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे PM मोदी

    देश में जारी कोरोना संकट (Coronavirus) और चीन के साथ तनातनी के बीच मंगलवार शाम 4 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

  • Coronavirus Pandemic: लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं, क्‍या मिलेंगी रियायत, पीएम नरेंद्र मोदी आज देश को करेंगे संबोधित, 10 खास बातें..

    Coronavirus Pandemic: लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं, क्‍या मिलेंगी रियायत, पीएम नरेंद्र मोदी आज देश को करेंगे संबोधित, 10 खास बातें..

    Coronavirus Pandemic: कोरोना वायरस (Coronavirus)की महामारी के कारण पूरे देश में जारी लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मंगलवार यानी आज रात 8:00 बजे देश को संबोधित करेंगे. सूत्रों के अनुसार, इस संबोधन में वे लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर सकते हैं. देश में इस समय 17 मई तक लॉकडाउन जारी है लेकिन कोरोना वायरस के केसों में जिस तरह से इजाफा हो रहा है, उसे देखते हुए जरूरत लॉकडाउन को कुछ और समय जारी रखने की है. पीएम की राज्‍यों के सीएम के साथ हुई बैठक से संबंधित 10 खास बातें..

  • देश के नाम संबोधन में बोले PM मोदी, आज के दिन का संदेश जोड़ने का है-जुड़ने का है और मिलकर जीने का है

    देश के नाम संबोधन में बोले PM मोदी, आज के दिन का संदेश जोड़ने का है-जुड़ने का है और मिलकर जीने का है

    राष्ट्र के नाम संबोधन से पहले पीएम मोदी ने पहली प्रतिक्रिया के तौर पर ट्वीट कर कहा था कि देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है. इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है. देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें.

  • 'मिशन शक्ति' को लेकर राष्‍ट्र के नाम संबोधन मामले में पीएम मोदी को चुनाव आयोग की क्‍लीन चिट

    'मिशन शक्ति' को लेकर राष्‍ट्र के नाम संबोधन मामले में पीएम मोदी को चुनाव आयोग की क्‍लीन चिट

    'मिशन शक्ति' को लेकर राष्‍ट्र के नाम संबोधन मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग ने क्‍लीन चिट दे दी है. आयोग ने कहा है कि पीएम ने आचार संहिता का उल्‍लंघन नहीं किया है. चुनाव आयोग ने कहा है कि प्रधानमंत्री कां संबोधन लाइव नहीं था और उसकी फीड एएनआई द्वारा उपलब्‍ध कराई गई थी. इसलिए आधिकारिक रूप से मास मीडिया के दुरुपयोग के नियम यहां लागू नहीं होते.

  • अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथी अंतरिक्ष महाशक्ति बना भारत, 'मिशन शक्ति' सफल: पीएम मोदी

    अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथी अंतरिक्ष महाशक्ति बना भारत, 'मिशन शक्ति' सफल: पीएम मोदी

    भारत ने अंतरिक्ष में एक और कामयाबी का परचम लहराया है और मिशन शक्ति की सफलता के साथ अमेरिका, चीन, रूस के बाद भारत दुनिया का चौथा सबसे शक्तिशाली देश बन गया है.

  • राष्ट्रपति के विदाई भाषण में दिखा 'भीड़ की हिंसा' का दर्द, कहा- हिंसा की जड़ में अज्ञानता, भय और अविश्वास

    राष्ट्रपति के विदाई भाषण में दिखा 'भीड़ की हिंसा' का दर्द, कहा- हिंसा की जड़ में अज्ञानता, भय और अविश्वास

    राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार की शाम देशवासियों को आखिरी बार संबोधित किया. उनके विदाई संबोधन में एक तरफ जहां भीड़ द्वारा की जा रही हिंसा का दर्द साफ दिखाई दिया, वहीं प्रदूषण और जयवायु परिवर्तन को लेकर भी वे चिंतित दिखाई दिए. भीड़ की हिंसा पर प्रणब मुखर्जी ने कहा कि हमें अपने जन संवाद को शारीरिक और मौखिक, सभी तरह की हिंसा से मुक्त करना होगा. पर्यावरण का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि पर्यावरण की सुरक्षा हमारे अस्तित्व के लिए बहुत जरूरी है. प्रदूषण और जयवायु परिवर्तन जैसी समस्याओं से निपटने के लिए उन्होंने सभी को साथ मिलकर काम करने का आह्वान करते हुए कहा कि हम सबको मिलकर कार्य करना होगा क्योंकि भविष्य में हमें दूसरा मौका नहीं मिलेगा. राष्ट्रपति के विदाई भाषण के कुछ मुख्य अंश-

  • विकास के लिए समानता जरूरी है : राष्ट्र के नाम विदाई संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    विकास के लिए समानता जरूरी है : राष्ट्र के नाम विदाई संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    वर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल का आज अंतिम दिन है. इस मौके पर राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने विदाई संबोधन में कहा, 'मैं पद मुक्त होने की पूर्व संध्या पर मेरे प्रति व्यक्त किए गए विश्वास और भरोसे के लिए भारत की जनता, उनके निर्वाचित प्रतिनिधियों और राजनीतिक दलों के हार्दिक आभार से अभिभूत हूं.

  • नववर्ष 2017 पर पीएम मोदी ने छोटे कारोबारियों, किसानों, गर्भवती महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों के लिए ऐलान किए

    नववर्ष 2017 पर पीएम मोदी ने छोटे कारोबारियों, किसानों, गर्भवती महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों के लिए ऐलान किए

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नववर्ष की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में आम आदमी, किसानों, वरिष्ठ नागरिकों व गर्भवती महिलाओं के लिए योजनाओं की घोषणा की.

  • नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश की 10 खास बातें...

    नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश की 10 खास बातें...

    टीवी पर प्रसारित राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर उनके और उनकी सरकार के साथ सहयोग करने के लिए देश की जनता का धन्यवाद किया. उन्होंने इस अवसर पर किसानों और गरीबों के लिए कई योजनाओं की भी घोषणा की. प्रधानमंत्री ने नोटबंदी की वजह से हुई नकदी की किल्लत से हुई कठिनाइयों को झेलने के लिए देशवासियों की तारीफ की, और कहा कि नए साल में उनका ध्यान बैंकों के कामकाज को, खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में, जल्द से जल्द सामान्य करने पर रहेगा. आइए, पढ़ते हैं उनके भाषण की 10 खास बातें...

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com