NDTV Khabar

PPF Account Interest


'PPF Account Interest' - 7 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • क्या आप पोस्ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं को जानते हैं, आपका पैसा भी सुरक्षित और ब्याज भी बढ़िया

    क्या आप पोस्ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं को जानते हैं, आपका पैसा भी सुरक्षित और ब्याज भी बढ़िया

    बहुत-से लोग ऐसे हैं, जिन्हें आज भी नहीं मालूम कि किस योजना में निवेश से मिलने वाला रिटर्न टैक्सफ्री होगा और किस-किस योजना में निवेश करने पर कितना-कितना ब्याज हासिल होगा. हम आपको बता रहे हैं कि भारतीय डाक विभाग की किस बचत योजना में निवेश करने पर आपको कितना ब्याज हासिल हो सकता है.

  • PPF Account: पूरी तरह Tax Free 28 लाख रुपये की कमाई करवाता है एक PPF खाता

    PPF Account: पूरी तरह Tax Free 28 लाख रुपये की कमाई करवाता है एक PPF खाता

    PPF Account Interest Rate: कोई शख्स अपने PPF खाते में हर साल पूरी रकम, यानी 1,50,000 रुपये जमा कराता है, और ब्याज दर में कोई परिवर्तन नहीं होता है, तो उसे खाते की परिपक्वता के समय थोड़ा-बहुत नहीं, 43,60,517 रुपये हासिल होंगे.

  • महिलाएं इनवेस्ट करना चाहती हैं PPF में पैसा, तो जान लें इससे जुड़ी ये 7 जरूरी बातें

    महिलाएं इनवेस्ट करना चाहती हैं PPF में पैसा, तो जान लें इससे जुड़ी ये 7 जरूरी बातें

    पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (Public Provident Fund) के बारे में जानिए सभी जरूरी बातें जिससे हर महिला इस स्कीम को पूरी तरह से समझ सकेगी.

  • जमा पूंजी बढ़ाने के लिए FD या PPF में बेहतर कौन?

    जमा पूंजी बढ़ाने के लिए FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की एक महीने से लेकर एक साल या 5 साल या कुछ भी हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन यादे रहे, एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरियड होने पर ही छूट मिलती है, इससे कम अवधि की एफडी पर नहीं. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

  • किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की अवधि 5 साल या अलग-अलग हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरड होने पर ही छूट मिलती है. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

  • जानें सरकार की छोटी बचत योजनाओं में कितना मिल रहा है ब्याज, आप भी उठाएं लाभ

    जानें सरकार की छोटी बचत योजनाओं में कितना मिल रहा है ब्याज, आप भी उठाएं लाभ

    सुरक्षित निवेश के लिए लोग अकसर सरकारी योजनाओं में निवेश करते हैं. सबसे ज्यादा इस्तेमाल पोस्ट ऑफिस का होता है. बहुत सारे लोग सरकार की छोटी बचत योजनाओं में निवेश करते हैं. इसके लिए अकसर वह यही सोचते रहते हैं कि आखिर कहां और किस योजना में निवेश किया जाए. उन्हें इस बात की जानकारी चाहिए होती है कि किस योजना में कितना ब्याज मिलेगा.

  • जल्दी करें निवेश, सरकार की छोटी बचत योजनाओं में मिल रहा है इतना ब्याज

    जल्दी करें निवेश, सरकार की छोटी बचत योजनाओं में मिल रहा है इतना ब्याज

    सरकार की स्माल सेविंग्स स्कीम (छोटी बचत योजनाोओं) पर क्या ब्याज दर चल रहा है. ऐसी ही जानकारी यहां पर दी जा रही है. गौरतलब है कि इन सभी योजनायों पर सरकार हर तिमाही ब्याज दर (इंटरेस्ट रेट) बदल सकती है. यह सरकार पर निर्भर करता है कि वह कब इसमें बदलाव करे. स्पष्ट कर दें कि यह जरूरी नहीं कि सरकार हर तिमाही में बदलाव करे.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com