NDTV Khabar

Political Crisis


'Political Crisis' - 172 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NDTV से बोले अखिलेश यादव, BJP ताली और थाली बजाकर लॉकडाउन का फायदा उठाना चाहती थी

    NDTV से बोले अखिलेश यादव, BJP ताली और थाली बजाकर लॉकडाउन का फायदा उठाना चाहती थी

    NDTV से बातचीत में अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने कोरोना संकट का पहले ताली और थाली बजाकर फायदा उठाने की कोशिश की लेकिन बाद में इन्हें लॉकडाउन का सहारा लेना पड़ा. उन्होंने कहा कि BJP को गरीबों की संवेदना के बारे में समझना चाहिए. बिना किसी तैयारी की वजह से लॉकडाउन ने गरीबों का बहुत नुकसान किया है.

  • मोदी सरकार लॉकडाउन और कोरोना संकट के मोर्चे पर हर तरह से नाकाम साबित : सोनिया गांधी

    मोदी सरकार लॉकडाउन और कोरोना संकट के मोर्चे पर हर तरह से नाकाम साबित : सोनिया गांधी

    कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार लॉकडाउन और कोरोना संकट के मोर्चे पर हर तरह से नाकाम साबित हुई है. वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग में सोनिया गांधी ने विपक्षी नेताओं की एक अहम बैठक के दौरान ये बात कही. देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और चिंता के बीच 22 विपक्षी दलों के नेताओं ने वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए चार घंटे की चर्चा के बाद एक साझा बयान जारी करके सरकार के सामने 11 मांगे रख दीं.

  • मध्य प्रदेश की सियासी जंग पर SC ने कहा, "ये हफ्ते खरीद-फरोख्त के लिए सोने की खान जैसे"

    मध्य प्रदेश की सियासी जंग पर SC ने कहा,

    MP Political Row: न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने कहा, "हम उनकी इच्छा सचमुच स्वेच्छा से व्यक्त किए जाने की स्थितियां सुनिश्चित कर सकते हैं... हम बेंगलुरू या किसी भी और स्थान पर पर्यवेक्षक नियुक्त कर सकते हैं... वे आपसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये संपर्क कर सकते हैं, और आप तब फैसला ले सकते हैं..."

  • MP : पूर्व CM शिवराज सिंह बोले- दिग्विजय से मिलना तो दूर देखना भी पसंद नहीं करते बागी विधायक

    MP : पूर्व CM शिवराज सिंह बोले- दिग्विजय से मिलना तो दूर देखना भी पसंद नहीं करते बागी विधायक

    MP Political Crisis: शिवराज सिंह ने कहा, "दिग्विजय सिंह बेंगलुरू गए विधायकों से मिलना चाहते हैं. जबकि वही विधायक कह रहे हैं कि हम दिग्विजय सिंह से बात करना तो दूर देखना भी पंसद नहीं करते हैं."

  • मध्य प्रदेश में 'कमल' या 'कमलनाथ'? SC में लगातार तीसरा दिन, आज हो सकता है फैसला, 10 बड़ी बातें

    मध्य प्रदेश में 'कमल' या 'कमलनाथ'? SC में लगातार तीसरा दिन, आज हो सकता है फैसला, 10 बड़ी बातें

    सुप्रीम कोर्ट में मध्य प्रदेश में शक्ति परीक्षण मामले को लेकर आज फिर से सुनवाई होनी है. बुधवार को हुई सुनवाई के दौरान, कोर्ट ने बागी विधायकों से न्यायाधीशों के चैंबर में मुलाकात करने की पेशकश को ठुकराते हुये कहा कि विधानसभा जाना या नहीं जाना विधायकों पर निर्भर है, लेकिन उन्हें बंधक बनाकर नहीं रखा जा सकता. न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के इस्तीफे की वजह से मध्य प्रदेश में उत्पन्न राजनीतिक संकट को लेकर दायर याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की और कहा कि वह विधानसभा द्वारा यह निर्णय करने के बीच में नहीं पड़ेगी कि किसके पास सदन का विश्वास है लेकिन उसे यह सुनिश्चित करना है कि ये 16 विधायक स्वतंत्र रूप से अपने अधिकार का इस्तेमाल करें. पीठ ने इन विधायकों का चैंबर में मुलाकात करने की पेशकश यह कहते हुये ठुकरा दी कि ऐसा करना उचित नहीं होगा.

  • MP: बागी विधायकों की सुरक्षा को लेकर स्पीकर के खत पर राज्यपाल का जवाब- यह कार्यपालिका का दायित्व, गलती से मुझे भेजा दिया पत्र

    MP: बागी विधायकों की सुरक्षा को लेकर स्पीकर के खत पर राज्यपाल का जवाब- यह कार्यपालिका का दायित्व, गलती से मुझे भेजा दिया पत्र

    MP Political Crisis: राज्यपाल लालजी टंडन ने स्पीकर के 17 तारीख को भेजे गए पत्र पर कहा, "मैं माननीय सदस्यों की अनुपस्थिति के कारण उनकी सुरक्षा में आपकी चिंता की मैं प्रशंसा करता हूं. विधायकों की चिंता के संबंध में विगत 8-10 दिनों से आप जिस पीड़ा से गुजर रहें होंगे, उसका भी मुझे अंदाजा हो रहा है.

  • Madhya Pradesh Crisis: राज्यपाल ने सीएम कमलनाथ से फ्लोर टेस्ट में हाथ उठाकर मतदान कराने के लिए क्यों कहा

    Madhya Pradesh Crisis: राज्यपाल ने सीएम कमलनाथ से फ्लोर टेस्ट में हाथ उठाकर मतदान कराने के लिए क्यों कहा

    मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को रविवार को पत्र लिखकर सोमवार को सदन में सरकार के विश्वास मत पर विधायकों के हाथ उठाकर मत विभाजन कराने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री को शनिवार देर रात को लिखे पहले पत्र में राज्यपाल टंडन ने निर्देश दिया था कि विश्वासमत पर मत विभाजन बटन दबाकर ही होगा और अन्य किसी तरीके से नहीं किया जाएगा. इसके बाद रविवार को भाजपा नेताओं ने राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात कर शक्ति परीक्षण पर मत विभाजन विधायकों का हाथ उठाकर कराने की मांग की है क्योंकि विधानसभा का इलेक्ट्रानिक वोटिंग सिस्टम कार्य नहीं कर रहा है. रविवार के पत्र में टंडन ने नए निर्देश जारी किए कि विश्वास मत पर मतदान केवल हाथ उठाने के माध्यम से किया जाना चाहिए और कोई अन्य विधि से नहीं. लेकिन सवाल इस बात का है कि फ्लोर आज ही होगा कि नहीं इस पर अभी तक असमंजस बना हुआ है क्योंकि विधानसभा की कार्यसूची में आज फ्लोर टेस्ट का कोई जिक्र नहीं है.

  • सिंधिया खेमे के 16 बागी विधायकों ने स्पीकर को फिर से भेजे इस्तीफे, कहा- मंजूर कीजिए, क्योंकि...

    सिंधिया खेमे के 16 बागी विधायकों ने स्पीकर को फिर से भेजे इस्तीफे, कहा- मंजूर कीजिए, क्योंकि...

    मध्यप्रदेश कांग्रेस (MP Congress) के ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) खेमे के 16 बागी विधायकों ने एक बार फिर विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) को अपने इस्तीफे भेजे हैं. इन विधायकों ने स्पीकर से कहा है कि व्यक्तिगत तौर पर मिलना संभव नहीं है. जैसे छह विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए हैं, वैसे ही हमारे इस्तीफे भी स्वीकार करें. गौरतलब है कि विधानसभा स्पीकर ने शनिवार को मध्यप्रदेश के छह मंत्रियों के विधानसभा सदस्यता से त्याग पत्र मंजूर कर लिए हैं.

  • मध्य प्रदेश क्या आज बड़े राजनीतिक मोड़ से रूबरू होगा? स्पीकर ने दिए कुछ और ही संकेत

    मध्य प्रदेश क्या आज बड़े राजनीतिक मोड़ से रूबरू होगा? स्पीकर ने दिए कुछ और ही संकेत

    MP Govt Crisis : मध्यप्रदेश में 15 साल बाद, 15 महीने से सत्ता में बैठी कांग्रेस (Congress) का भविष्य आज तय हो सकता है. राज्यपाल के आदेश के मुताबिक आज बहुमत परीक्षण होना है. हालांकि कैबिनेट मंत्रियों के बयान और स्पीकर के इशारों से लग रहा है कि बहुमत परीक्षण टल भी सकता है. इस बीच जयपुर में रुके कांग्रेस के विधायक वापस आ चुके हैं. दूसरी तरफ गुरुग्राम गए बीजेपी (BJP) के विधायक आज देर रात लौट चुके हैं.

  • मध्यप्रदेश : ज्योतिरादित्य के समर्थक छह मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर किए गए, कांग्रेस ने जारी किया व्हिप

    मध्यप्रदेश : ज्योतिरादित्य के समर्थक छह मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर किए गए, कांग्रेस ने जारी किया व्हिप

    मध्यप्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का समर्थन करने वाले छह पूर्व मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं. इन मंत्रियों ने 10 मार्च को इस्तीफे दिए थे. अध्यक्ष ने मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी, प्रद्युम्न तोमर, तुलसीराम सिलावट और इमरती देवी के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं.

  • मध्यप्रदेश : कमलनाथ सरकार के मंत्री ने 'शत्रु' के विनाश के लिए किया यह खास अनुष्ठान

    मध्यप्रदेश : कमलनाथ सरकार के मंत्री ने 'शत्रु' के विनाश के लिए किया यह खास अनुष्ठान

    MP Govt Crisis: मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) पर संकट के बादल छाये हुए हैं. कांग्रेस (Congress) सरकार के पतन के हालात बन चुके हैं. ऐसे समय में राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) ने शनिवार को देवी की शरण में जाकर उन्हें अनुष्ठान करके मनाने की कोशिश की. उन्होंने आगर मालवा जिले के नलखेड़ा में खास किस्म का 'शत्रु विनाशक हवन' किया. यह हवन नलखेड़ा के देवी बगलामुखी के मंदिर में किया गया. ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के कांग्रेस से विदा लेने, बीजेपी (BJP) में शामिल होने और उनके समर्थक मंत्रियों, विधायकों के भी सरकार का साथ छोड़ते हुए इस्तीफे देने से मध्यप्रदेश सरकार डगमगाने लगी है. सरकार को संकट से उबारने के लिए मंत्री गण अपने-अपने तरीके से प्रयास कर रहे हैं.

  • Exclusive : मध्यप्रदेश के बागी विधायकों को चाहिए CRPF की सुरक्षा, विधानसभा स्पीकर को लिखे पत्र

    Exclusive : मध्यप्रदेश के बागी विधायकों को चाहिए CRPF की सुरक्षा, विधानसभा स्पीकर को लिखे पत्र

    कांग्रेस (Congress) की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) से बगावत करने वाले विधायकों ने विधानसभा में केंद्रीय बल की सुरक्षा की मांग की है. उन्होंने इस बारे में विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखे हैं. इन पत्रों को लेकर विधानसभा सचिवालय की ओर से मध्यप्रदेश पुलिस के महानिदेशक को पत्र लिखा गया है. डीजीपी से केंद्रीय सुरक्षा बल का इंतजाम करने के लिए कहा गया है. विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने गुरुवार को बागी विधायकों से शुक्रवार और शनिवार को उनके सामने पेश होने को कहा था. इसके लिए इन विधायकों को नोटिस भेजे गए हैं.

  • मध्यप्रदेश : विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों में से 13 को नोटिस भेजा

    मध्यप्रदेश : विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों में से 13 को नोटिस भेजा

    मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने कांग्रेस के इस्तीफा देने वाले 22 विधायकों में से 13 को नोटिस जारी किया है. उन्हें शुक्रवार और शनिवार को उनके सामने पेश होने को कहा गया है. विधानसभा के प्रिंसिपल सेक्रेटरी एपी सिंह ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने कहा है कि विधायकों से उपस्थित होकर यह स्पष्ट करने के लिए कहा गया है कि उन्होंने इस्तीफा स्वेच्छा से दिया है या किसी दबाव के कारण दिया है.

  • दिग्विजय का राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन, कांग्रेस संकट में, आंकड़ों से बीजेपी जीत सकती है बाजी

    दिग्विजय का राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन, कांग्रेस संकट में, आंकड़ों से बीजेपी जीत सकती है बाजी

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने 26 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए गुरुवार को नामांकन दाखिल किया. उधर बुधवार को बीजेपी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी ज्वाइन करने के चंद घंटों बाद ही राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी का प्रत्याशी घोषित कर दिया था. बीजेपी ने गुरुवार को अपने दूसरे उम्मीदवार का नाम भी घोषित कर दिया. बीजेपी ने सुमेर सिंह सोलंकी को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाकर आदिवासियों को साधने की कोशिश की है.

  • मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों को बीजेपी ने बंधक बनाया, कांग्रेस ने लगाया आरोप; दिखाए वीडियो

    मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों को बीजेपी ने बंधक बनाया, कांग्रेस ने लगाया आरोप; दिखाए वीडियो

    Madhya Pradesh Government Crisis: मध्यप्रदेश कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि उसने उसके विधायकों को बंधक बनाया है. कांग्रेस ने कहा है कि उसके विधायकों के साथ मारपीट की गई. कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी.

  • बीजेपी के 'होते' ही ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य स‍िंध‍िया ने मध्‍यप्रदेश की कमलनाथ सरकार पर यूं बोला हमला...

    बीजेपी के 'होते' ही ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य स‍िंध‍िया ने मध्‍यप्रदेश की कमलनाथ सरकार पर यूं बोला हमला...

    Jyotiraditya Scindia: कांग्रेस पर न‍िशाना साधते हुए उन्‍होंने कहा, पिछले 18-20 वर्षों में मुझे प्रदेश और देश की सेवा करने का मौका मिला है. मैं यह विश्वास के साथ कह सकता हूं कि जन सेवा का लक्ष्य आज उस संगठन के माध्यम से पूरा नहीं नहीं हो पा रहा है ज‍िससे मैं जुड़ा था. कांग्रेस आज वह पार्टी नहीं रही जो पहले थी. तीन मुख्य बिंदु, वास्तविकता से मुंह मोड़ना, नई बातों को समावेश न करना और नए नेतृत्व को सभी मान्यता न मिलने के कारण कांग्रेस जड़ता की स्‍थ‍ित‍ि में आ गई है.

  • राहुल गांधी के ल‍िए खतरा माने जा रहे ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य स‍िंध‍िया के पास नहीं था कोई दूसरा व‍िकल्‍प...

    राहुल गांधी के ल‍िए खतरा माने जा रहे ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य स‍िंध‍िया के पास नहीं था कोई दूसरा व‍िकल्‍प...

    Jyotiraditya Scindia: ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य ने पावर स्‍ट्रक्‍चर में प्रासंग‍िक बने रहने के ल‍िए एक आख‍िरी प्रयास क‍िया. उन्‍होंने राज्‍यसभा में मनोनयन के ल‍िए कहा लेक‍िन गांधी पर‍िवार से इससे भी इनकार कर द‍िया. कांग्रेस पार्टी के र‍िपोर्ट करने वालों के अनुसार, सोन‍िया गांधी नहीं चाहती थीं क‍ि ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य मजबूत हों और कांग्रेस पार्टी में गांधी पर‍िवार के वर्चस्‍व के ल‍िए संभाव‍ित रखना बनें. ऐसे में ज्‍योत‍िराद‍ित्‍य के पास एक रास्‍ता ही बाकी था-वह था कांग्रेस पार्टी को छोड़ना.

  • दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने दिया जवाब, बोले- आपको नई कांग्रेस की जरूरत है...

    दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने दिया जवाब, बोले- आपको नई कांग्रेस की जरूरत है...

    बॉलीवुड डायरेक्टर हंसल मेहता (Hansal Mehta) ने अपने ट्वीट के जरिए दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) को नई कांग्रेस बनाने की सलाह दी.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com