NDTV Khabar

Rafale Fighter Aircraft


'Rafale Fighter Aircraft' - 26 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • IAF की शान राफेल विमान: जानिए, कौनसी खासियत बनाती हैं इसे घातक लड़ाकू विमान

    IAF की शान राफेल विमान: जानिए, कौनसी खासियत बनाती हैं इसे घातक लड़ाकू विमान

    आखिरकार भारत के नए-नवेले विदेश निर्मित लड़ाकू विमान राफेल जेट्स को आज आधिकारिक तौर पर भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया गया है. फ्रांस के साथ 36 राफेल विमानों को लेकर हुई डील में से पहले पांच विमान जुलाई में भारत आ चुके हैं. गुरुवार को राफेल के इंडक्शन में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और उनकी फ्रेंच समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली मौजूद रहे. यहां पर राफेल की बकायदा सर्वधर्म पूजा की गई. राफेल को वॉटर कैनन से सलामी दी गई. बता दें कि राफेल को वायुसेना की 17वीं स्क्वॉड्रन में शामिल किया गया है, जिसे Golden Arrows भी कहते हैं. राफेल अपनी शक्ति और क्षमता में तो बढ़-चढ़कर आगे है ही, ये विमान इसलिए भी खास हैं क्योंकि 18 सालों बाद भारतीय वायुसेना में विदेशी लड़ाकू विमान शामिल हुआ है.

  • भारतीय वायुसेना में कल शामिल होगा लड़ाकू विमान राफेल, अंबाला एयरबेस पर होगा समारोह

    भारतीय वायुसेना में कल शामिल होगा लड़ाकू विमान राफेल, अंबाला एयरबेस पर होगा समारोह

    भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के लिए गेम चेंजर कहा जाने वाला राफेल (Rafale) लड़ाकू विमान गुरुवार को अंबाला एयरबेस (Ambala airbase) पर वायुसेना में शामिल हो जाएगा. सुबह 10 बजे से होने वाले इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनााथ सिंह (Rajnath Singh), फ्रांस के रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली, सीडीएस जनरल विपिन रावत और एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया मौजूद रहेंगे. अंबाला में फ्रांस से पांच राफेल विमान 27 जुलाई को पहुंचे थे. अगले दो सालों में वायुसेना में राफेल के दो स्क्वाड्रन में 36 विमान शामिल होंगे. राफेल का पहला स्क्वाड्रन अंबाला में और दूसरा पश्चिम बंगााल के हाशिमारा में होगा. राफेल अंबाला से पाकिस्तान पर और हाशिमारा से चीन पर नजर रखेगा.

  • राफेल विमानों के भारत आने पर गृह मंत्री शाह ने किया ट्वीट , कहा- ''ये पीएम मोदी के संकल्प को दिखाता है''

    राफेल विमानों के भारत आने पर गृह मंत्री शाह ने किया ट्वीट , कहा- ''ये पीएम मोदी के संकल्प को दिखाता है''

    राफेल विमानों के भारत आने पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया है. शाह ने कहा राफेल को वायुसेना में शामिल करने के लिए पीएम के प्रति आभार जताया. अमित शाह ने ट्वीट किया, ''राफेल विमानों को वायुसेना में शामिल करना पीएम नरेंद्र मोदी के भारत को एक शक्तिशाली और सुरक्षित राष्ट्र बनाने के संकल्प को दिखाता है. मोदी सरकार भारत की रक्षा क्षमताओं के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी भारतीय वायुसेना को यह अभूतपूर्व ताकत प्रदान करने के लिए मैं माननीय पीएम को धन्यवाद देता हूं.''

  • भारत पहुंचे 5 राफेल लड़ाकू विमान, अंबाला एयरबेस पर हुई लैंडिंग

    भारत पहुंचे 5 राफेल लड़ाकू विमान, अंबाला एयरबेस पर हुई लैंडिंग

    Rafale Jets:  फ्रांस से भारत के लिए रवाना हुई राफेल (Rafale) लड़ाकू विमान की पहली खेप अंबाला एयरबेस पर पहुंच गई है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि विमान अंबाला में सुरक्षित तरीके से उतर गए हैं. राफेल लड़ाकू विमानों का भारत में आना हमारे सैन्य इतिहास में नए युग की शुरूआत है. इन बहुआयामी (Multirole) विमानों से वायुसेना की क्षमताओं के क्रांतिकारी बदलाव आएंगे. 

  • कितना ताकतवर है हमारा Rafale? जानें, दुनिया के 'सबसे ताकतवर' लड़ाकू विमान की खूबियां

    कितना ताकतवर है हमारा Rafale? जानें, दुनिया के 'सबसे ताकतवर' लड़ाकू विमान की खूबियां

    भारतीय एयरफोर्स में अगले महीने शामिल हो रहे बहुचर्चित राफेल फाइटर जेट (Rafale Fighter Jets) का पहला बैच बुधवार को भारत पहुंच रहा है. दुनिया का सबसे ताकतवर फाइटर जेट (Powerful Jets in the World) माना जाने वाला राफेल विमान भारतीय वायुसेना की क्षमता को अगले स्तर पर ले जा सकता है. राफेल अपनी मारक क्षमता के लिए जाना जाता है, ऐसे में वायुसेना में इस विमान के बेड़े को शामिल किया जाना बहुत अहम है. लेकिन आम उत्सुकता का विषय है कि आखिर राफेल कितना ताकतवर है और वायुसेना की क्षमता को किस स्तर तक बढ़ाएगा.

  • राफेल पहुंचेगा भारत, अंबाला में आबादी को घरों की छतों पर जाने से रोका गया

    राफेल पहुंचेगा भारत, अंबाला में आबादी को घरों की छतों पर जाने से रोका गया

    Rafale Jets: चीन के साथ विवाद के बीच भारत की ताकत कई गुना बढ़ने वाली है. दरअसल, फ्रांस से रवाना हुई राफेल (Rafale) विमानों की पहली खेप आज अम्बाला पहुंचेगी. सूत्रों के मुताबिक, राफेल लड़ाकू विमान आज अम्बाला एयरफ़ोर्स स्टेशन पर दोपहर 1 बजे से लेकर 3 बजे के बीच लैंड करेगा.

  • आज दोपहर अंबाला एयरफ़ोर्स स्टेशन लैंड करेंगे राफेल लड़ाकू विमान : सूत्र

    आज दोपहर अंबाला एयरफ़ोर्स स्टेशन लैंड करेंगे राफेल लड़ाकू विमान : सूत्र

    राफेल लड़ाकू विमान बुधवार को अम्बाला एयरफ़ोर्स स्टेशन पर दोपहर 1 बजे से लेकर 3 बजे के बीच लैंड करेगा. सूत्रों ने ऐसी जानकारी दी है. सयुंक्त अरब अमीरात में फ्रांस के अल धफरा एयरबेस से ये 5 राफेल विमान उड़ान भरेंगे और अंबालाअम्बाला में इनकी लैंडिंग होगी.

  • 7,000 km की उड़ान भरकर कल भारत आ रहा है Rafale Jets का पहला बैच, जानिए क्या है पूरा शेड्यूल

    7,000 km की उड़ान भरकर कल भारत आ रहा है Rafale Jets का पहला बैच, जानिए क्या है पूरा शेड्यूल

    पहले बैच में फ्रांस से पांच राफेल विमान भारत आ रहे हैं. ये विमान बुधवार को हरियाणा के एयरफोर्स स्टेशन पहुंचेंगे. अगले महीने इनका भारतीय वायुसेना में इंडक्शन किया जाना है,

  • चीन से सीमा पर तनातनी के बीच अगले महीने फ्रांस से मिलेगी राफेल की पहली खेप : सूत्र

    चीन से सीमा पर तनातनी के बीच अगले महीने फ्रांस से मिलेगी राफेल की पहली खेप : सूत्र

    भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है. सूत्रों ने बताया कि 27 जुलाई को अंबाला में पहली चार राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Aircraft) लैंड हो सकते हैं.

  • देश में लड़ाकू विमान राफेल आएंगे लेकिन खुले आसमान के नीचे खड़े रहेंगे, क्योंकि...

    देश में लड़ाकू विमान राफेल आएंगे लेकिन खुले आसमान के नीचे खड़े रहेंगे, क्योंकि...

    एमईएस में काम करने वाले ठेकेदारों को दो साल से पैसों की कमी से जूझना पड़ रहा है. यह दावा है कि एमईएस बिल्डर एसोसिएशन ऑफ इंडिया का. एसोसिएशन के सदस्यों का दावा है कि उनके लगभग दो हजार करोड़ का भुगतान अटका हुआ है. हालात ये है कि राफेल आने को तैयार है लेकिन उनके लिए हैंगर बनाने को पैसा नहीं है. नतीजतन करोड़ों के राफेल खुले में पड़े रहेंगे.

  • भारत को आज मिलेगा पहला राफेल जेट विमान, रक्षामंत्री Rajnath Singh फ्रांस में ही करेंगे 'शस्त्र पूजन', पढ़ें 10 बड़ी बातें

    भारत को आज मिलेगा पहला राफेल जेट विमान, रक्षामंत्री Rajnath Singh फ्रांस में ही करेंगे 'शस्त्र पूजन', पढ़ें 10 बड़ी बातें

    रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) विजयादशमी के शुभ अवसर पर मंगलवार को फ्रांस (France) की राजधानी पेरिस में भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा करेंगे. विधिवत शस्त्र पूजा के बाद रक्षामंत्री फ्रांस की कंपनी दसॉ से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल (Rafale Aircraft) का अधिग्रहण करेंगे और विमान में उड़ान भी भरेंगे. राफेल उन्नत प्रौद्योगिकी से लैस लड़ाकू विमान है. दसॉ के साथ हुए सौदे की पहली खेप में भारत विजयादशमी के मौके पर 36 राफेल विमान हासिल करेगा. भारत में शस्त्र पूजा की परंपरा अनादिकाल से चली आ रही है. महाराणा प्रताप की इस धरती पर राजपूत राजा दुश्मनों को रणभूमि में छक्के छुड़ाने से पहले अस्त्र-शस्त्र की पूजा करते रहे हैं. इसी परंपरा का पालन करते हुए भारतीय सेना में भी विजयादशमी के दिन शस्त्र पूजा की जाती है. शायद इसी परंपरा को निभाने के लिए राफेल विमान का अधिग्रहण विजया दशमी के दिन हो रहा है.

  • एयरफोर्स का अंबाला एयरबेस बनेगा अत्याधुनिक राफेल विमान का ठिकाना

    एयरफोर्स का अंबाला एयरबेस बनेगा अत्याधुनिक राफेल विमान का ठिकाना

    भारत पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर से 220 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इंडियन एयर फोर्स का अंबाला एयरबेस अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल का ठिकाना होने जा रहा है. राफेल की पहली स्क्वाड्रन की तैनाती अंबाला में की जाएगी. इस बात के आसार हैं कि पहला राफेल विमान आठ अक्टूबर की इंडियन एयर फोर्स को फ्रांस की कंपनी दासो सौंप देगी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहला राफेल विमान लेने के लिए फ्रांस जाएंगे.

  • राफेल सौदे में एफआईआर या सीबीआई जांच का कोई सवाल ही नहीं है : केंद्र

    राफेल सौदे में एफआईआर या सीबीआई जांच का कोई सवाल ही नहीं है : केंद्र

    केंद्र सरकार ने कहा है कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) रिपोर्ट ने इन लड़ाकू विमानों की कथित 'अत्यधिक कीमत' के बारे में याचिकाकर्ताओं की मुख्य दलीलों को झूठा साबित कर दिया है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के पिछले साल 14 दिसंबर के उस फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग करने वाली याचिकाओं को केंद्र सरकार ने खारिज करने की मांग की है, जिस फैसले में फ्रांसीसी कंपनी दासौल्ट (Dassault) से 36 लड़ाकू विमानों की खरीद पर सरकार को क्लिन चिट दी गई थी.

  • राफेल डील: सरकार जिन्हें बता रही है 'चोरी' के दस्तावेज, क्या वे बन सकते हैं सबूत, सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला, 10 बड़ी बातें

    राफेल डील: सरकार जिन्हें बता रही है 'चोरी' के दस्तावेज, क्या वे बन सकते हैं सबूत, सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला, 10 बड़ी बातें

    सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) बुधवार को राफेल डील (Rafale Deal) से जुड़े एक एक विशेष मामले पर फैसला सुनाएगा. सरकार ने दावा किया था कि 14 दिसंबर, 2018 के कोर्ट के फैसले पर पुनर्विचार के लिए दिए गए दस्तावेजों पर उसका विशेषाधिकार है. सरकार ने कहा था कि याचिका की सुनवाई के लिए इन दस्तावेजों पर कोर्ट संज्ञान ना ले. सुप्रीम कोर्ट इस पर ही आज फैसला सुनाएगा कि इन दस्तावेजों को आधार बनाकर मामले की सुनवाई की जाएगी या नहीं. पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा, पत्रकार से नेता बने अरुण शौरी और सामाजिक कार्यकर्ता-वकील प्रशांत भूषण की तरफ से दायर याचिका को खारिज करने की सरकार ने मांग की है.

  • राफेल सौदा : सुप्रीम कोर्ट ने किया फैसले का बचाव, याचिकाकर्ता को लगाई फटकार

    राफेल सौदा : सुप्रीम कोर्ट ने किया फैसले का बचाव, याचिकाकर्ता को लगाई फटकार

    एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता को फटकार लगाई है और राफेल मामले में खुद का बचाव किया. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि राफेल को लेकर संशोधन और पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई और इन याचिकाओं की खूब पब्लिसिटी की गई, लेकिन इन याचिकाओं में खुद ही त्रुटियां हैं और पक्षकारों ने एक महीने बाद भी इन्हें सुधारने के लिए कुछ नहीं किया.

  • झूठ के आसमान में रफाल की कीमतों का उड़ता सच- हिन्दू की रिपोर्ट

    झूठ के आसमान में रफाल की कीमतों का उड़ता सच- हिन्दू की रिपोर्ट

    मोदी सरकार का तर्क रहता है कि भारत और फ्रांस के बीच जो करार हुआ है उसकी गोपनीयता की शर्तों के कारण कीमत नहीं बता सकते. मगर उस करार में कहा गया है कि गोपनीयता की शर्तें रक्षा से संबंधित बातों तक ही सीमित हैं. यानी कीमत बताई जा सकती है. कीमत क्लासिफाइड सूचना नहीं है. विवाद से पहले जब डील हुई थी तब सेना और सिविल अधिकारियों ने मीडिया को ब्रीफ किया था और बकायदा कीमत बताई थी.

  • राफेल डील पर घमासान, सरकार की चुनौती के बाद कांग्रेस 2 जनवरी को चर्चा के लिये तैयार

    राफेल डील पर घमासान, सरकार की चुनौती के बाद कांग्रेस 2 जनवरी को चर्चा के लिये तैयार

    राफेल डील पर मचा विवाद (Rafale Deal) थमने का नाम नहीं ले रहा है. कांग्रेस ने लोकसभा में सोमवार को एक बार फिर राफेल सौदे का मुद्दा उठाया और इसमें कथित तौर पर घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा कि वह इस मुद्दे पर दो जनवरी को चर्चा करने के लिए तैयार है. सरकार की तरफ से कहा गया कि वह पहले से ही राफेल मुद्दे (Rafale Deal) पर चर्चा करने को कह रही है लेकिन कांग्रेस बार-बार ‘झूठ’ बोलकर चर्चा से भागती रही है.

  • 'न खाऊंगा-न खाने दूंगा' का नारा बदलकर 'न बताऊंगा-न बताने दूंगा' कर दो मोदी जी : कपिल सिब्बल

    'न खाऊंगा-न खाने दूंगा' का नारा बदलकर 'न बताऊंगा-न बताने दूंगा' कर दो मोदी जी : कपिल सिब्बल

    राफेल लड़ाकू विमान के सौदे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी को लेकर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं. मंगलवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि मोदी को 'न खाऊंगा-न खाने दूंगा' का नारा बदलकर 'न बताऊंगा-न बताने दूंगा' कर देना चाहिए.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com