NDTV Khabar

Rajasthan News


'Rajasthan News' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • चंबल नदी पार करते समय डूबी नाव, 7 लोगों के निकाले गए शव, 14 अभी भी लापता

    चंबल नदी पार करते समय डूबी नाव, 7 लोगों के निकाले गए शव, 14 अभी भी लापता

    बूंदी जिले की सीमा पर गोठड़ा कला गांव के नजदीक चंबल नदी में एक नाव आज पलट गई. इस नाव में करीब 25 से 30 लोग सवार थे. इसके अलावा इसमें कुछ सामान और वाहन भी रखे हुए थे. यह लोग नाव के जरिए कमलेश्वर धाम बूंदी एरिया में जा रहे थे. अचानक से जब नाव पलट गई तो, इसमें सवार महिलाएं बच्चे और लोग नदी में डूबने लग गए. नाव पलटने से करीब 10 से 12 लोग डूबने की सूचना है. जिनमें से 7 शवों को निकाला जा चुका है. इनमें 2 महिला और 4 पुरुष हैं.

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अगले एक महीने के सभी व्यक्तिगत मुलाकात कार्यक्रम स्थगित किए 

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अगले एक महीने के सभी व्यक्तिगत मुलाकात कार्यक्रम स्थगित किए 

    कोरोना वायरस संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अगले एक महीने तक किसी से भी व्यक्तिगत रूप से मुलाकात नहीं करने का फैसला किया है. गहलोत के एक महीने के सभी मुलाकात कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं. 

  • जोधपुर में NLU के छात्र की मौत की जांच CBI को सौंपने की याचिका पर फैसला सुरक्षित

    जोधपुर में NLU के छात्र की मौत की जांच CBI को सौंपने की याचिका पर फैसला सुरक्षित

    जोधपुर (Jodhpur) में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (NLU) के छात्र विक्रांत नगाइच (Vikrant Nagaich) की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने केस को सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर करने की छात्र की मां की याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा है. कोर्ट ने मामले की जांच करने वाली राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) की केस को बंद करने के लिए फाइनल रिपोर्ट पर नाराजगी जताई.

  • राजस्थान : नजदीकी होटलों को भी कोविड देखभाल केंद्र के रूप में इस्तेमाल कर सकेंगे निजी अस्पताल

    राजस्थान : नजदीकी होटलों को भी कोविड देखभाल केंद्र के रूप में इस्तेमाल कर सकेंगे निजी अस्पताल

    कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए बिस्तर संख्या बढ़ाने के लिए राजस्थान सरकार ने निजी अस्पतालों को अपने निकटवर्ती होटलों का इस्तेमाल कोविड देखभाल केंद्र के रूप में करने की अनुमति शनिवार को दे दी. इस तरह के केंद्रों में लक्षणमुक्त मरीजों को रखा जा सकेगा.

  • राजस्थान में कोविड-19 के गंभीर मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों में मिलेगा मुफ्त में इलाज

    राजस्थान में कोविड-19 के गंभीर मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों में मिलेगा मुफ्त में इलाज

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के गंभीर रोगियों को जरूरत होने पर निजी अस्पतालों में भी मुफ्त में इलाज मिल सकेगा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राजकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड की उचित व्यवस्थाएं की हैं. इसके बाद भी भविष्य में और बेड की आवश्यकता होने पर निजी अस्पतालों से सहयोग लिया जाए.

  • बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    Weather News Today: देश के कई हिस्से इस वक्त भयंकर बारिश और बाढ़ जैसी आपदाओं का सामना कर रहे हैं. लगातार होने वाली बारिश ने लोगों की जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. गुजरात में लगातार बारिश की वजह से नदिया उफान पर हैं, बांधों के किनारे बसे इलाकों को रेड अलर्ट कर दिया गया है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार में भी कई नदियां खतरे के निशान से से ऊपर बह रही है, कई इलाके बाढ़ की जद में आ चुके हैं तो कुछ पर इसकी चपेट में आने की संभावना नजर आ रही है.

  • पायलट की वापसी के बाद बड़ा फेरबदल, राजस्थान के प्रभारी महासचिव से अविनाश पांडे की छुट्टी 

    पायलट की वापसी के बाद बड़ा फेरबदल, राजस्थान के प्रभारी महासचिव से अविनाश पांडे की छुट्टी 

    Rajasthan Congress News: पायलट खेमे ने आरोप लगाया था अविनाश पांडे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के काफी करीबी हैं और दूसरे पक्ष की बात को ठीक तरीके से तवज्जो नहीं देते थे. पायलट खेमे ने राज्य में नेतृत्व परिवर्तन और पायलट के करीबियों को पर्याप्त मात्रा में मंत्री पद देने के अलावा पांडे को हटाने की भी पुरजोर तरीके से मांग की थी. 

  • पायलट की "घर वापसी" से बढ़ी गहलोत की ताकत, राजस्थान सरकार ने हासिल किया विश्वास मत; 10 अहम बातें

    पायलट की

    Rajasthan Floor Test: करीब एक महीने तक चली सियासी खींचतान (Rajasthan Crisis) और बगावत के थमने के बाद राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के नेतृत्‍व वाली कांग्रेस सरकार ने आज बहुमत साबित कर दिया है. मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सुलह के बाद विश्वास प्रस्ताव (Confidence Motion) पेश किया गया. शुक्रवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से ठीक पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, "विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया है. इसमें राजस्थान के लोगों और कांग्रेस विधायकों की एकता की जीत होगी. यह सच की जीत होगी. सत्यमेव जयते." 

  • राजस्थान फ्लोर टेस्ट : BJP पर जमकर बरसे CM गहलोत, बोले- 100 चूहे खाकर बिल्ली हज को चली 

    राजस्थान फ्लोर टेस्ट : BJP पर जमकर बरसे CM गहलोत, बोले- 100 चूहे खाकर बिल्ली हज को चली 

    Rajasthan Floor Test News: गहलोत ने बहस का जवाब देते हुए कहा कि राजस्थान में फोन टैपिंग की परम्परा नहीं रही. गहलोत ने बीजेपी पर बरसते हुए कहा, "आपकी पार्टी और आपके हाईकमान का षड्यंत्र था, सरकार गिराने का षड्यंत्र था, पूरे देश में नंगा नाच चल रहा, देश में लोकतंत्र खतरे में, केवल 2 लोग राज कर रहे हैं.

  • सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट सहित उनके कैंप के 18 विधायकों की वापसी के बाद राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास मत हासिल कर लिया है. यानी अब अशोक गहलोत सरकार को अब कोई संकट नहीं है.. आज जब 11 बजे राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई तो बैठने की व्यवस्था की गई कि सचिन पायलट विपक्ष के नेताओं के करीब पहुंच गए. दरअसल अब वो कैबिनेट का हिस्सा नही हैं और उनको उप मुख्यमंत्री पद से भी हटा दिया गया था. वो पहले सत्तापक्ष में सीएम गहलोत की कुर्सी के पास बैठते थे. आज सदन के इस नजारे पर  उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने हालिया राजनीतिक व अन्य घटनाक्रम, पुलिस के विशेष कार्यबल द्वारा नोटिस दिए जाने सहित अनेक बातों में पायलट का जिक्र किया. इस पर सचिन पायलट ने उन्हें बीच में टोकते हुए 'वह (राठौड़) बार- बार मेरा नाम ले रहे हैं. मैंने सोचा कि हमारे अध्यक्ष व मुख्य सचेतक ने मेरी सीट यहां क्यों रखी है? मैंने दो मिनट सोचा और फिर देखा कि यह सरहद है एक तरफ पक्ष है और दूसरी तरफ विपक्ष.... तो सरहद पर किसको भेजा जाता है.  सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है.' पायलट ने कहा, 'आज इस विश्वास मत में जो चर्चा हो रही है...उसमें बहुत से बातें बोली गयीं बहुत सी बातें बोली जाएंगी. समय के साथ साथ सब बातों का खुलासा होगा.'

  • राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    सरकार की ओर से संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने विश्‍वास प्रस्ताव पेश किया किया. प्रस्ताव पर बहस की शुरुआत करते हुए धारीवाल ने कहा कि केंद्र की सरकार के इशारों पर मध्य प्रदेश व गोवा में चुनी हुई सरकारों को गिराया गया है. धारीवाल ने कहा कि धन बल व सत्ता बल से सरकारें गिराने की यह साजिश राजस्थान में कामयाब नहीं हो पाई.

  • राजस्थान सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने कहा- गहलोत ने छठी का दूध याद दिला दिया

    राजस्थान सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने कहा- गहलोत ने छठी का दूध याद दिला दिया

    सचिन पायलट की वापसी के बाद राजस्थान में कांग्रेस का आत्मविश्वास चरम पर है. सरकार की ओर से विश्वास मत का प्रस्ताव सदन में पेश कर दिया गया है. जिस पर चर्चा जारी है. बीजेपी और कांग्रेस की ओर से चार-चार विधायकों को बोलेंगे.  संसदीय कार्यमंत्री और सीएम गहलोत के सबसे करीबियों में से एक शांति धारीवाल ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, हमने यहां मध्य प्रदेश या गोवा की तरह नहीं होने दिया. जिस तरह से महाराणा प्रताप ने हराया था उसी तरह से अशोक गहलोत ने भी हराया  गहलोत ने छठी का दूध याद दिला दिया है.'इसके साथ ही शांति धारीवाल ने कहा गृहमंत्री अमित शाह और पीएम मोदी पर हमला बोला. इससे पहले सदन की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू हुई.

  • मुझे विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया, क्योंकि सीमा पर सबसे ताकतवर योद्धा को भेजा जाता है : सचिन पायलट

    मुझे विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया, क्योंकि सीमा पर सबसे ताकतवर योद्धा को भेजा जाता है : सचिन पायलट

    सचिन पायलट ने अपनी सीट में हुए बदलाव के बारे में बोलते हुए कहा, 'इस सरहद पर कितनी भी गोलीबारी हो, मैं कवच और भाला लेकर सरकार को बचाने के लिए खड़ा हूं. मुझे सरहद पर बैठाया गया है, सरहद पर सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है.' पायलट ने राजेंद्र राठौड़ को उनके भाषण के बीच में रोककर यह कहा है.

  • राजस्थान : CM अशोक गहलोत बोले- 19 विधायकों के बगैर भी बहुमत साबित कर देते लेकिन...

    राजस्थान : CM अशोक गहलोत बोले- 19 विधायकों के बगैर भी बहुमत साबित कर देते लेकिन...

    गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party Meeting) हुई थी. इस दौरान गहलोत ने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा, 'जो बातें हुईं, उन्हें अब भूल जाओ. हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते लेकिन फिर वह खुशी नहीं मिलती क्योंकि अपने तो अपने होते हैं. हम विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाएंगे.'

  • राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान कांग्रेस में चली महीने भर की खींचतान के बाद अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार से शुरू हो रही विधानसभा के विशेष सत्र में भारतीय जनता पार्टी की चुनौती का सामना कर रहे हैं. बीजेपी ने गुरुवार को घोषणा की थी कि पार्टी गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगी. यानी अब गहलोत को सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा. गहलोत शुरू से ही दावा करते रहे हैं कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है. यहां तक कि सचिन पायलट सहित 19 विधायकों के बगावत कर देने के बावजूद भी वो गवर्नर से इस दावे के साथ मिले थे कि उनके पास बहुमत है. लेकिन ये तो तय था कि विधानसभा सत्र शुरू होने के बाद उन्हें अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ सकता है.

  • राजस्थान : BSP ने अपने विधायकों को जारी किया व्हिप, विश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस के खिलाफ वोट करने को कहा

    राजस्थान : BSP ने अपने विधायकों को जारी किया व्हिप, विश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस के खिलाफ वोट करने को कहा

    बीएसपी विधायकों के कांग्रेस में विलय करने के मामले में शीर्ष न्यायालय ने गुरुवार को कहा कि फिलहाल हाईकोर्ट सुनवाई कर रहा है. हम इस मामले में दखल नहीं देंगे. बीएसपी से कांग्रेस में शामिल होने वाले छह विधायक विधानसभा सत्र में भाग ले सकेंगे.

  • राजस्‍थान: जीत की कोई उम्‍मीद नहीं होने के बावजूद बीजेपी इस‍लिए लाना चाहती है अविश्‍वास प्रस्‍ताव..

    राजस्‍थान: जीत की कोई उम्‍मीद नहीं होने के बावजूद बीजेपी इस‍लिए लाना चाहती है अविश्‍वास प्रस्‍ताव..

    जानकारी के अनुसार, बीजेपी ने इस संभावना पर चर्चा की है कि गहलोत विश्‍वास प्रस्‍ताव लगाए और इसे 'वाइस वोट' के आधार पर पास करा लेंगे. ऐसे में विपक्ष के पास अहम मुद्दों को उठाने का मौका ही नहीं बचेगा. बीजेपी से जुड़े सूत्र बताते हैं कि उसकी रणनीति बहस के लिए जोर देकर गहलोत सरकार को कोरोना वायरस सहित अहम मुद्दों पर 'बैकफुट' में लाने की है.

  • राजस्थान : पायलट से मिलकर बोले CM गहलोत - जो बातें हुईं भूल जाओ, क्योंकि अपने तो अपने होते हैं...

    राजस्थान : पायलट से मिलकर बोले CM गहलोत - जो बातें हुईं भूल जाओ, क्योंकि अपने तो अपने होते हैं...

    सीएम ने बैठक में कहा, 'जो बातें हुई उन्हें अब भूल जाओ हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते लेकिन फिर वह खुशी नहीं मिलती क्योंकि अपने तो अपने होते हैं.' इसके पीछे गहलोत का संदेश बीतों बातों यानी कड़वाहट को भुलाकर आगे को ओर देखने का रहा.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com