NDTV Khabar

Rajasthan Crisis


'Rajasthan crisis' - 276 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • पायलट की वापसी के बाद बड़ा फेरबदल, राजस्थान के प्रभारी महासचिव से अविनाश पांडे की छुट्टी 

    पायलट की वापसी के बाद बड़ा फेरबदल, राजस्थान के प्रभारी महासचिव से अविनाश पांडे की छुट्टी 

    Rajasthan Congress News: पायलट खेमे ने आरोप लगाया था अविनाश पांडे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के काफी करीबी हैं और दूसरे पक्ष की बात को ठीक तरीके से तवज्जो नहीं देते थे. पायलट खेमे ने राज्य में नेतृत्व परिवर्तन और पायलट के करीबियों को पर्याप्त मात्रा में मंत्री पद देने के अलावा पांडे को हटाने की भी पुरजोर तरीके से मांग की थी. 

  • सचिन पायलट की मांग पूरी? तीन सदस्यीय कमेटी गठित, अजय माकन बने राजस्थान के प्रभारी महासचिव  

    सचिन पायलट की मांग पूरी? तीन सदस्यीय कमेटी गठित, अजय माकन बने राजस्थान के प्रभारी महासचिव  

    राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व के इस फैसले पर आभार जताया है. पायलट में अपने ट्वीट में लिखा- "राजस्थान में समन्वय स्थापित करने के लिए आज अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल और अजय माकन के रूप में तीन सदस्यीय कमेटी नियुक्त करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व का आभार. मुझे पूर्ण विश्वास है कि कमेटी के मार्गदर्शन में राजस्थान में संगठन को एक नई दशा और दिशा मिलेगी." 

  • पायलट की "घर वापसी" से बढ़ी गहलोत की ताकत, राजस्थान सरकार ने हासिल किया विश्वास मत; 10 अहम बातें

    पायलट की

    Rajasthan Floor Test: करीब एक महीने तक चली सियासी खींचतान (Rajasthan Crisis) और बगावत के थमने के बाद राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के नेतृत्‍व वाली कांग्रेस सरकार ने आज बहुमत साबित कर दिया है. मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सुलह के बाद विश्वास प्रस्ताव (Confidence Motion) पेश किया गया. शुक्रवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से ठीक पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, "विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया है. इसमें राजस्थान के लोगों और कांग्रेस विधायकों की एकता की जीत होगी. यह सच की जीत होगी. सत्यमेव जयते." 

  • राजस्थान फ्लोर टेस्ट : BJP पर जमकर बरसे CM गहलोत, बोले- 100 चूहे खाकर बिल्ली हज को चली 

    राजस्थान फ्लोर टेस्ट : BJP पर जमकर बरसे CM गहलोत, बोले- 100 चूहे खाकर बिल्ली हज को चली 

    Rajasthan Floor Test News: गहलोत ने बहस का जवाब देते हुए कहा कि राजस्थान में फोन टैपिंग की परम्परा नहीं रही. गहलोत ने बीजेपी पर बरसते हुए कहा, "आपकी पार्टी और आपके हाईकमान का षड्यंत्र था, सरकार गिराने का षड्यंत्र था, पूरे देश में नंगा नाच चल रहा, देश में लोकतंत्र खतरे में, केवल 2 लोग राज कर रहे हैं.

  • राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    सरकार की ओर से संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने विश्‍वास प्रस्ताव पेश किया किया. प्रस्ताव पर बहस की शुरुआत करते हुए धारीवाल ने कहा कि केंद्र की सरकार के इशारों पर मध्य प्रदेश व गोवा में चुनी हुई सरकारों को गिराया गया है. धारीवाल ने कहा कि धन बल व सत्ता बल से सरकारें गिराने की यह साजिश राजस्थान में कामयाब नहीं हो पाई.

  • मुझे विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया, क्योंकि सीमा पर सबसे ताकतवर योद्धा को भेजा जाता है : सचिन पायलट

    मुझे विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया, क्योंकि सीमा पर सबसे ताकतवर योद्धा को भेजा जाता है : सचिन पायलट

    सचिन पायलट ने अपनी सीट में हुए बदलाव के बारे में बोलते हुए कहा, 'इस सरहद पर कितनी भी गोलीबारी हो, मैं कवच और भाला लेकर सरकार को बचाने के लिए खड़ा हूं. मुझे सरहद पर बैठाया गया है, सरहद पर सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है.' पायलट ने राजेंद्र राठौड़ को उनके भाषण के बीच में रोककर यह कहा है.

  • राजस्थान : CM अशोक गहलोत बोले- 19 विधायकों के बगैर भी बहुमत साबित कर देते लेकिन...

    राजस्थान : CM अशोक गहलोत बोले- 19 विधायकों के बगैर भी बहुमत साबित कर देते लेकिन...

    गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party Meeting) हुई थी. इस दौरान गहलोत ने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा, 'जो बातें हुईं, उन्हें अब भूल जाओ. हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते लेकिन फिर वह खुशी नहीं मिलती क्योंकि अपने तो अपने होते हैं. हम विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाएंगे.'

  • राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान कांग्रेस में चली महीने भर की खींचतान के बाद अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार से शुरू हो रही विधानसभा के विशेष सत्र में भारतीय जनता पार्टी की चुनौती का सामना कर रहे हैं. बीजेपी ने गुरुवार को घोषणा की थी कि पार्टी गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगी. यानी अब गहलोत को सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा. गहलोत शुरू से ही दावा करते रहे हैं कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है. यहां तक कि सचिन पायलट सहित 19 विधायकों के बगावत कर देने के बावजूद भी वो गवर्नर से इस दावे के साथ मिले थे कि उनके पास बहुमत है. लेकिन ये तो तय था कि विधानसभा सत्र शुरू होने के बाद उन्हें अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ सकता है.

  • सियासी संकट थमने के बीच राजस्थान BJP चीफ बोले- हमारी पर्दे के पीछे की कोई रणनीति नहीं है

    सियासी संकट थमने के बीच राजस्थान BJP चीफ बोले- हमारी पर्दे के पीछे की कोई रणनीति नहीं है

    पूनिया ने कहा, "हम कोरोना जैसे आम आदमी से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करना चाहते हैं. कम से कम इन मुद्दों पर विश्वास प्रस्ताव से पहले चर्चा होनी चाहिए. हमारे पास संख्या बल नहीं है. यह स्पष्ट है. हम मजबूत विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं. हमारी पर्दे के पीछे की कोई रणनीति नहीं है.

  • राजस्थान : BSP ने अपने विधायकों को जारी किया व्हिप, विश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस के खिलाफ वोट करने को कहा

    राजस्थान : BSP ने अपने विधायकों को जारी किया व्हिप, विश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस के खिलाफ वोट करने को कहा

    बीएसपी विधायकों के कांग्रेस में विलय करने के मामले में शीर्ष न्यायालय ने गुरुवार को कहा कि फिलहाल हाईकोर्ट सुनवाई कर रहा है. हम इस मामले में दखल नहीं देंगे. बीएसपी से कांग्रेस में शामिल होने वाले छह विधायक विधानसभा सत्र में भाग ले सकेंगे.

  • राजस्‍थान: जीत की कोई उम्‍मीद नहीं होने के बावजूद बीजेपी इस‍लिए लाना चाहती है अविश्‍वास प्रस्‍ताव..

    राजस्‍थान: जीत की कोई उम्‍मीद नहीं होने के बावजूद बीजेपी इस‍लिए लाना चाहती है अविश्‍वास प्रस्‍ताव..

    जानकारी के अनुसार, बीजेपी ने इस संभावना पर चर्चा की है कि गहलोत विश्‍वास प्रस्‍ताव लगाए और इसे 'वाइस वोट' के आधार पर पास करा लेंगे. ऐसे में विपक्ष के पास अहम मुद्दों को उठाने का मौका ही नहीं बचेगा. बीजेपी से जुड़े सूत्र बताते हैं कि उसकी रणनीति बहस के लिए जोर देकर गहलोत सरकार को कोरोना वायरस सहित अहम मुद्दों पर 'बैकफुट' में लाने की है.

  • राजस्‍थान: कांग्रेस में सुलह के बाद गहलोत और पायलट साथ, मिलाए हाथ, बिखरी मुस्कुराहटें..

    राजस्‍थान: कांग्रेस में सुलह के बाद गहलोत और पायलट साथ, मिलाए हाथ, बिखरी मुस्कुराहटें..

    केसी वेणुगोपाल की मौजूदगी में सीएम अशोक गहलोत और उनकी पूर्व डिप्‍टी सचिन पायलट की मुलाकात हुई. दोनों नेताओं ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया और दोनों नेता मुस्‍कुराए. पायलट इस बैठक के लिए सीएम गहलोत के आधिकारिक आवास (CM Ashok Gehlot's residence) पहुंचे थे .

  • राजस्थान विधानसभा में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ कल अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP : नेता प्रतिपक्ष

    राजस्थान विधानसभा में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ कल अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP : नेता प्रतिपक्ष

    राजस्‍थान विधानसभा का विधानसभा सत्र 14 अगस्‍त से प्रारंभ होने जा रहा है. राजस्थान विधानसभा में बीजेपी ने अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान किया है. नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने यह घोषणा की.

  • राजस्थान : शाम 5 बजे होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट और गहलोत की भी होगी मुलाकात

    राजस्थान : शाम 5 बजे होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट और गहलोत की भी होगी मुलाकात

    राजस्थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात के बाद मंगलवार को जयपुर लौटे थे. कांग्रेस नेतृत्व की ओर से उन्हें भरोसा दिया गया है कि उनकी शिकायतों को दूर किया जाएगा. हालांकि, उनके जयपुर पहुंचते ही मुख्यमंत्री गहलोत जैसलमेर के लिए निकल गए थे, जहां कांग्रेस के 100 विधायकों को रखा गया था.

  • कांग्रेस ने पलट डाला BJP का गेम, नई रणनीति तैयार करने को किया मजबूर

    कांग्रेस ने पलट डाला BJP का गेम, नई रणनीति तैयार करने को किया मजबूर

    राजस्थान (Rajasthan) विधानसभा का विशेष सत्र कल (शुक्रवार) से शुरू हो रहा है. प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) और बीजेपी (BJP) नेताओं ने आज (गुरुवार) सत्र को लेकर मुलाकात की. कांग्रेस (Congress) में मची आंतरिक कलह के बाद यह बीजेपी नेताओं की पहली मीटिंग है. सोमवार को सचिन पायलट (Sachin Pilot) अपने समर्थक विधायकों के साथ घर वापसी कर चुके हैं और इसी के साथ गहलोत सरकार पर बना कथित संकट खत्म हो गया.

  • CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

    CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट्स में लिखा, 'कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है. पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें फॉरगेट एन्ड फॉरगिव, आपस में भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है.'

  • सुलह के बाद भी राजस्थान कांग्रेस में 'सब कुछ ठीक' नहीं! क्या आज होगी पायलट-गहलोत की मुलाकात?

    सुलह के बाद भी राजस्थान कांग्रेस में 'सब कुछ ठीक' नहीं! क्या आज होगी पायलट-गहलोत की मुलाकात?

    सचिन पायलट और उनके समर्थन में उतरे 18 बागी विधायकों ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिलकर अपनी बात रखी थी और सुलह कर लिया था, इसके बाद ये सभी लोग राजस्थान लौट आए हैं. हालांकि, उन्हें लौटे हुए 48 घंटों से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन अभी तक न ही उनसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की है, न ही नए प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने.

  • राजस्थान कांग्रेस के लिए बड़ा दिन, MLA बैठक के बीच BSP MLAs की याचिका पर कोर्ट में सुनवाई - 10 बड़ी बातें

    राजस्थान कांग्रेस के लिए बड़ा दिन, MLA बैठक के बीच BSP MLAs की याचिका पर कोर्ट में सुनवाई - 10 बड़ी बातें

    राजस्थान कांग्रेस (Rajasthan Congress) के लिए गुरुवार का दिन काफी बड़ा है. महीने भर चली सियासी उठापटक के बाद मामला शांत हो गया है और शुक्रवार को कांग्रेस-बीजेपी दोनों विधायकों की बैठक कर रहे हैं. शुक्रवार से राजस्थान विधानसभा सत्र की शुरुआत हो रही है, ऐसे में अशोक गहलोत को विश्वास मत पेश करना पड़ सकता है. इसके अलावा गहलोत की चिंता में सुप्रीम कोर्ट और राजस्थान हाईकोर्ट में आज होने वाली एक सुनवाई भी शामिल होगी. सुप्रीम कोर्ट और राजस्थान हाईकोर्ट में आज कांग्रेस में बीएसपी विधायकों के विलय पर (BSP MLAs merger in congress) सुनवाई होनी है. इस मामले इस विलय को अवैध घोषित किए जाने की मांग वाली याचिका डाली गई है. अगर आज फैसला आता है और गहलोत को अपने समर्थन के छह विधायकों से हाथ धोना पड़ सकता है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com