NDTV Khabar

S Jaishankar


'S Jaishankar' - 126 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • भारत-यूरोपीय संघ ग्लोबलाइजेशन को बेहतर बनाने में निभा सकते हैं अहम भूमिका : जयशंकर

    भारत-यूरोपीय संघ ग्लोबलाइजेशन को बेहतर बनाने में निभा सकते हैं अहम भूमिका : जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि भारत और यूरोपीय संघ भूमंडलीकरण को बेहतर बनाने तथा और अधिक प्रभावी बहुपक्षवाद के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. उन्होंने जोर देकर कहा कि साथ मिलकर काम करने की इनकी क्षमता वैश्विक परिणामों को आकार देने में मदद कर सकती है. 

  • विदेश मंत्री जयशंकर के राज्यसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, नोटिस जारी

    विदेश मंत्री जयशंकर के राज्यसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, नोटिस जारी

    विदेश मंत्री एस जयशंकर के राज्यसभा चुनाव (Rajya sabha Election) को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने जयशंकर को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. जयशंकर (Jaishankar) की ओर ये हरीश साल्वे ने नोटिस स्वीकार किया. जयशंकर इस मामले में जवाब दाखिल करेंगे. ऐसी ही अन्य याचिकाओं पर भी साथ ही सुनवाई होगी. दरअसल पिछले साल गुजरात उच्च न्यायालय ने कांग्रेस (Congress) नेता गौरव पंड्या की याचिका को खारिज कर दिया था. कांग्रेस नेता ने राज्यसभा के लिए जयशंकर के निर्वाचन को चुनौती दी थी. अदालत ने भाजपा के उम्मीदवार जुगलजी ठाकोर के निर्वाचन के खिलाफ कांग्रेस नेताओं चंद्रिका चुडासमा और परेश धनाणी द्वारा दायर दो अन्य याचिकाओं को भी खारिज कर दिया था. 

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को भरोसा जताया कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे. उन्होंने कहा कि वह एक ऐसे दौर का हिस्सा रहे हैं जब दोनों देशों के बीच के द्विपक्षीय संबंधों में आमूल-चूल परिवर्तन हुआ.

  • अभी के फैसले तय करेंगे, भारत औद्योगिक शक्ति बनेगा या नहीं: जयशंकर

    अभी के फैसले तय करेंगे, भारत औद्योगिक शक्ति बनेगा या नहीं: जयशंकर

    केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि आत्मनिर्भर भारत योजना का परिदृश्य देश के लिये बहुत महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि भारत आने वाले समय में प्रथम श्रेणी की औद्योगिक शक्ति बनता है या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आज किस तरह के फैसले लिये जा रहे हैं.

  • सीमापार से होने वाले आतंकवाद को सबकी नजरों के सामने रखा है भारत ने : जयशंकर

    सीमापार से होने वाले आतंकवाद को सबकी नजरों के सामने रखा है भारत ने : जयशंकर

    कोविड-19 के बाद मेडिकल उपकरणों के क्षेत्र में भारत की क्षमता के बारे में बताते हुए जयशंकर ने कहा कि देश में फिलहाल महामारी के लिए 15,000 समर्पित अस्पताल हैं जिनमें 15 लाख आइसोलेशन बिस्तर उपलब्ध हैं. देश की 7,000 से ज्यादा प्रयोगशालाओं में 10 लाख से ज्यादा लोगों की कोविड-19 की जांच हो रही है. उन्होंने विचार रखा कि फिलहाल चुनौती संकट की इस स्थिति से उबरने की है. उन्होंने कहा कि दुनिया में अब पहले जैसा कामकाज नहीं होगा, क्योंकि बदलाव शुरू हो गया है.

  • LAC पर यथास्थिति में परिवर्तन का कोई भी एकतरफा प्रयास अस्वीकार्य : विदेश मंत्री जयशंकर

    LAC पर यथास्थिति में परिवर्तन का कोई भी एकतरफा प्रयास अस्वीकार्य : विदेश मंत्री जयशंकर

    चीन-भारत सीमा गतिरोध के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कहा कि भारत और चीन के बीच संबंध "गंभीर तनाव" में हैं और संबंधों में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए पिछले कुछ वर्षों में दोनों देशों के बीच हुए समझौतों का पूरी "समग्रता" के साथ "निष्ठापूर्वक" सम्मान किया जाना चाहिए.

  • सीमा विवाद पर अमेरिका ने किया भारत का समर्थन तो बौखलाया चीन, कहा- तीसरे पक्ष के लिए जगह नहीं

    सीमा विवाद पर अमेरिका ने किया भारत का समर्थन तो बौखलाया चीन, कहा- तीसरे पक्ष के लिए जगह नहीं

    भारत-चीन (India China Clash) के बीच लद्दाख (Ladakh) में सीमा विवाद पर अमेरिका (America) ने एक बार फिर चीन को आईना दिखाते हुए भारत का साथ दिया है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ (Mike Pompeo) ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) से मुलाकात के बाद कहा कि अमेरिका भारत की ओर से अपनी अखंडता के लिए किए जा रहे कदमों में उसके साथ खड़ा है. अमेरिकी विदेश मंत्री के इस बयान से चीन तिलमिला गया और बयान जारी करते हुए कहा कि यह दो देशों के बीच का द्विपक्षीय मामला है और इसमें किसी भी तीसरे पक्ष के दखल के लिए कोई जगह नहीं है.

  • भारत-US ने आखिरकार अहम डिफेंस डील BECA पर किए हस्ताक्षर, इस तरह चीन पर मिलेगी बढ़त

    भारत-US ने आखिरकार अहम डिफेंस डील BECA पर किए हस्ताक्षर, इस तरह चीन पर मिलेगी बढ़त

    भारत और अमेरिका ने मंगलवार को बड़ी डिफेंस डील Basic Exchange and Cooperation Agreement या BECA पर हस्ताक्षर कर दिए. इस डील के तहत भारत को मिसाइल और ड्रोन्स के बेहतर इस्तेमाल के लिए जरूरी टोपोग्राफिकल, नॉटिकल और एरोनॉटिकल डाटा मिलेगा.

  • टू प्लस टू वार्ता से पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ

    टू प्लस टू वार्ता से पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ

    मंगलवार को दोनों देशों के बीच बेसिक एक्सचेंज एंड कोऑपोरेशन एग्रीमेंट (BECA)पर हस्ताक्षर होंगे. इसके तहत भारत को मिसाइल और ड्रोन्स के बेहतर इस्तेमाल के लिए जरूरी टोपोग्राफिकल, नॉटिकल और एरोनॉटिकल डाटा मिलेगा. जाहिर है विदेश और रक्षा मंत्रियों की ये आपसी मुलाकात भारत और अमेरिका के लगातार क़रीब आने का इशारा है.

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- समय के अनुरूप उठाया गया कदम है क्वाड

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- समय के अनुरूप उठाया गया कदम है क्वाड

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को कहा कि ‘‘क्वाड’’ या चतुभुर्जीय गठबंधन के अंतर्गत भारत, जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया का आना बदलते समय के अनुरूप उठाया गया कदम है तथा यह बहुध्रुवीय विश्व के उभरते परिदृश्य का प्रतिबिंब है.

  • LAC पर शांति अत्यधिक बाधित, भारत-चीन संबंधों पर पड़ रहा असर : एस जयशंकर

    LAC पर शांति अत्यधिक बाधित, भारत-चीन संबंधों पर पड़ रहा असर : एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर शांति और अमन-चैन गंभीर रूप से बाधित हुए हैं और जाहिर तौर पर इससे भारत तथा चीन के बीच संपूर्ण रिश्ते प्रभावित हो रहे हैं. 

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा -भारत, चीन के बीच सीमा पर झड़पों से रिश्तों में गंभीर रूप से उथल-पुथल की स्थिति

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा -भारत, चीन के बीच सीमा पर झड़पों से रिश्तों में गंभीर रूप से उथल-पुथल की स्थिति

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को कहा कि जून में भारत-चीन सीमा पर हिंसक झड़पों का बहुत गहरा सार्वजनिक और राजनीतिक प्रभाव रहा है तथा इससे रिश्तों में गंभीर रूप से उथल-पुथल की स्थिति बनी है.

  • सीमा गतिरोध मामले में चीन को लेकर बोले विदेश मंत्री, 'बातचीत गोपनीय, अंदाजा लगाना नहीं चाहता'

    सीमा गतिरोध मामले में चीन को लेकर बोले विदेश मंत्री, 'बातचीत गोपनीय, अंदाजा लगाना नहीं चाहता'

    India-China border Dispute: विदेश मंत्री एस. जयशंकर (External Affairs Minister S Jaishankar)ने गुरुवार को यह बात कहीं. एक ऑनलाइन बैठक के दौरान दोनों पक्षों के बीच बातचीत के परिणाम के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा, 'चर्चा चल रही है और अभी सब कुछ प्रक्रिया में है. मैं इस बारे में अंदाज लगाना नहीं चाहता' 

  • चीन से सीमा विवाद पर टोक्यो में बोले एस जयशंकर- भारत शांतिपूर्ण हल के लिए प्रतिबद्ध

    चीन से सीमा विवाद पर टोक्यो में बोले एस जयशंकर- भारत शांतिपूर्ण हल के लिए प्रतिबद्ध

    चीन के विस्तारवादी आचरण को लेकर बढ़ती वैश्विक चिंता के बीच भारत ने मंगलवार को कहा कि वह नियमों पर आधारित विश्व व्यवस्था, क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के सम्मान तथा विवादों के शांतिपूर्ण हल के लिए प्रतिबद्ध है.

  • सरकार ने चीनी कंपनी के भारतीय नेताओं की जासूसी का मुद्दा चीन के सामने उठाया : जयशंकर

    सरकार ने चीनी कंपनी के भारतीय नेताओं की जासूसी का मुद्दा चीन के सामने उठाया : जयशंकर

    चीन (China) की कंपनियों द्वारा भारत के कुछ नेताओं की जासूसी करने की खबरों के बीच सरकार ने बुधवार को इस मुद्दे को यहां चीन के राजदूत के समक्ष उठाया. यह जानकारी विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल को एक पत्र लिखकर दी है. पत्र में कहा गया है कि इस मामले को चीन के विदेश मंत्रालय के समक्ष भी उठाया गया है.

  • चीन से ताल्लुकात पर ध्यान देने वाला भारत एक अकेला देश नहीं : एस जयशंकर

    चीन से ताल्लुकात पर ध्यान देने वाला भारत एक अकेला देश नहीं : एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने कहा है कि चीन (China) और भारत (India) के बीच कहीं अधिक व्यवस्थित और मजबूत संबंधों के लिए दोनों देशों द्वारा बहुध्रुवीयता और पारस्परिकता की व्यापक स्वीकृति महत्वपूर्ण है. साथ ही, यह वैश्विक पुनर्संतुलन की वृहद बुनियाद पर निर्मित होना चाहिए. हाल ही में जारी अपनी पुस्तक ‘‘द इंडिया वे: स्ट्रेटेजीज फॉर ए अनर्सेटेन वर्ल्ड’’(The India Way: Strategies for a Uncertain World)  में उन्होंने कहा है कि भारत कोई एकमात्र देश नहीं है, जो चीन के साथ संबंध पर ज्यादा ध्यान दे रहा है बल्कि पूरी दुनिया ऐसा कर रही है और प्रत्येक देश बातचीत के नियम और शर्तों को अपने हिसाब से फिर से तय कर रहा है.

  • विदेश मंत्रियों की बैठक में चीन ने भारत से कहा - जवानों, उपकरणों को वापस ले जाएं

    विदेश मंत्रियों की बैठक में चीन ने भारत से कहा - जवानों, उपकरणों को वापस ले जाएं

    मॉस्को में गुरुवार को हुई भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक में दोनों देशों ने पूर्वी लद्दाख में सेना के बीच बने तनाव को खत्म करने के लिए पांच सूत्रीय समझौते पर हस्ताक्षर किया है. चीन ने इस बैठक को लेकर एक बयान जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि चीन ने इस बैठक में भारत से कहा है कि 'यह जरूरी है कि सीमा पार आए जवानों और उपकरणों को वापस लिया जाए.'

  • भारत-चीन LAC विवाद सुलझाने को इन 5 मुद्दों पर करेंगे काम, विदेश मंत्रियों की बैठक में बनी सहमति

    भारत-चीन LAC विवाद सुलझाने को इन 5 मुद्दों पर करेंगे काम, विदेश मंत्रियों की बैठक में बनी सहमति

    विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी की मॉस्को में हुई बातचीत के दौरान भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर विवाद खत्म करने के लिए पांच बिंदुओं पर काम करने को लेकर सहमति जताई है. बता दें कि मॉस्को में चल रहे शंघाई सहयोग संगठन की शिखर वार्ता में हिस्सा लेने के लिए दोनों देशों के विदेश मंत्री वहां गए हुए थे. इस दौरान गुरुवार की रात शिखर वार्ता से इतर दोनों देशों ने बैठक ली. ढाई घंटे चली यह बैठक ऐसे वक्त में हुई है, जब पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com