NDTV Khabar

SC ST Act


'SC ST act' - 111 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बर्थडे पार्टी के बाद 'धर्मांतरण' के आरोप में गिरफ्तार मुस्लिम किशोर को नहीं मिली राहत

    बर्थडे पार्टी के बाद 'धर्मांतरण' के आरोप में गिरफ्तार मुस्लिम किशोर को नहीं मिली राहत

    बिजनौर के पुलिस प्रमुख डॉ. धमवीर सिंह ने कहा, 'हमने 15 दिसंबर को केस फाइल किया था और एक पुलिस अफसर इसकी तफ्तीश कर रहा था. सबूतों, मेडिकल परीक्षण और लड़की के मजिस्‍ट्रेट के समक्ष बयान के आधार पर हमने IPC, POCSO Act, SC/ST कानून और धर्मातरण कानून के अंतर्गत चार्जशीट दाखिल की है.'

  • मजदूरी विवाद में समझौते से इनकार करने पर दलित भाइयों की बेरहमी से पिटाई, घर भी फूंका 

    मजदूरी विवाद में समझौते से इनकार करने पर दलित भाइयों की बेरहमी से पिटाई, घर भी फूंका 

    मामले में पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट के तहत कार्रवाई की थी, इस मामले में आरोपी पीड़ित परिवार पर समझौते का दबाव बना रहे थे, इंकार करने पर कथित तौर पर पवन यादव के परिजनों ने बंदूक की बटों से दोनों दलित भाइयों को बेरहमी से पीटा और उनका घर जला दिया.

  • आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला: लोकसभा में जमकर हुआ हंगामा, जानिए सदन में किस पार्टी ने क्या कहा

    आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला: लोकसभा में जमकर हुआ हंगामा, जानिए सदन में किस पार्टी ने क्या कहा

    कोर्ट के एक फैसले का मुद्दा लोकसभा में प्रश्नकाल एवं शून्यकाल में भी छाया रहा और कांग्रेस तथा कुछ विपक्षी दलों ने सरकार पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाया. विपक्षी दलों ने सरकार से सुप्रीम कोर्ट में समीक्षा याचिका दायर करने को कहा.

  • सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST एक्ट संशोधन 2018 को रखा बरकरार, आरोपी पर FIR दर्ज कर तुरंत होगी गिरफ्तारी

    सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST एक्ट संशोधन 2018 को रखा बरकरार, आरोपी पर FIR दर्ज कर तुरंत होगी गिरफ्तारी

    20 मार्च 2018 को अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के हो रहे दुरूपयोग के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने इस अधिनियम के तहत मिलने वाली शिकायत पर स्वत: एफआईआर और गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी.

  • एससी-एसटी एक्ट की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सोमवार को फैसला

    एससी-एसटी एक्ट की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सोमवार को फैसला

    अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) संशोधन कानून, 2018 की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को फैसला सुनाएगा. दरअसल 20 मार्च 2018 को अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के हो रहे दुरुपयोग के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने इस अधिनियम के तहत मिलने वाली शिकायत पर स्वत: एफआईआर और गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी.

  • यूपी: दलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोकने का VIDEO हुआ वायरल, मामला हुआ दर्ज

    यूपी: दलित महिलाओं को मंदिर में घुसने से रोकने का VIDEO हुआ वायरल, मामला हुआ दर्ज

    वीडियो में सुना जा सकता है कि महिलाएं कह रही हैं कि उन्हें पूजा करने का अधिकार है और जब तक उन्हें पूजा नहीं करने दी जाएगी, वे मंदिर से नहीं जाएंगी. इसके बाद वह युवक उंगुली उठाकर कहता है, 'आराम से बात कर'. इस पर एक महिला ने कहा कि "अगर हमें मारना चाहते हैं, तो मारो. लेकिन हम यहां बैठेंगे. हम यहीं रहेंगे.' एक अन्य महिला ने कहा, "तुम हमें मार क्यों नहीं देते? हम यहीं मरेंगे. लाठियां लाओ. हम यहां बैठे रहेंगे. हम नहीं जाएंगे. पूरे गांव को ले आओ.'

  • सुप्रीम कोर्ट के SC/ST Act पर फैसला वापस लेने के बाद मायावती ने BJP-कांग्रेस पर साधा निशाना, कही ये बात

    सुप्रीम कोर्ट के SC/ST Act पर फैसला वापस लेने के बाद मायावती ने BJP-कांग्रेस पर साधा निशाना, कही ये बात

    सुप्रीम कोर्ट ने अपने पूर्व आदेश को पलटते हुए दलित एवं जनजाति समुदायों के उत्पीड़न को रोकने के लिए SC/ST Act के सख़्त प्रावधानों को यथावत बरकरार रखने को कहा है. इसके साथ ही मायावती ने स्कूली शिक्षा के मामले मे उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की निम्न रैंकिंग के लिए भी भाजपा और कांग्रेस की ग़लत नीतियों को ज़िम्मेदार ठहराया.

  • जानें क्या है SC-ST एक्ट? सुप्रीम कोर्ट ने क्यों लिया अपना पुराना फैसला वापस

    जानें क्या है SC-ST एक्ट? सुप्रीम कोर्ट ने क्यों लिया अपना पुराना फैसला वापस

    देश के कई इलाकों में बंद को सफल कराने के लिए प्रदर्शनकारी सड़क पर उतरे थे. मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र आदि राज्यों में भारत बंद कराने के लिए सवर्ण समुदाय के लोग सड़क पर थे. उस दौरान कहीं दुकानें बंद कराई गई थी तो कहीं आगजनी की गई थी.

  • SC/ST एक्ट: सुप्रीम कोर्ट ने वापस लिया पुराना फैसला, अब बिना जांच दर्ज की जा सकेगी FIR

    SC/ST एक्ट: सुप्रीम कोर्ट ने वापस लिया पुराना फैसला, अब बिना जांच दर्ज की जा सकेगी FIR

    सुप्रीम कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट में अपना पुराना फैसला वापस ले लिया है. अब इस एक्ट के तहत बिना जांच के एफआईआर दर्ज की जा सकेगी. सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला SC/ST एक्ट के प्रावधानों को हल्का करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार की पुनर्विचार याचिका पर सुनाया है. अब सरकारी कर्मचारी और सामान्य नागरिक को गिरफ्तार करने से पहले अनुमति लेने की जरूरत नहीं है. इससे पहले शिकायत दर्ज करने के बाद जांच करने पर ही FIR दर्ज करने के कोर्ट ने आदेश दिए थे. अब कोर्ट ने यह बदल दिया है. अब अब पहले जांच जरूरी नहीं है. जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस एम आर शाह और जस्टिस बी आर गवई की पीठ फैसला ने सुनाया फैसला.

  • SC/ST एक्ट संशोधन एक्ट के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट में तीन जजों की बेंच के पास भेजा गया

    SC/ST एक्ट संशोधन एक्ट के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट में तीन जजों की बेंच के पास भेजा गया

    लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के लिए सिरदर्द बन चुका एससी/एसटी एक्ट एक बार फिर चर्चा में है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने 20 मार्च 2018 के फैसले  पर पुनर्विचार याचिकाओं को तीन जजों की बेंच के पास भेजा है. इस मामले में केंद्र और अन्य पुनर्विचार याचिकाएं हैं. अब इस पर सुनवाई कर रही पीठ ने प्रधान न्यायाधीश के पास भेजा है और मामले की सुनवाई अगले हफ्ते होगी. आपको बता दें कि एक मई को कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था और कहा कि देश में कानून एक समान और जाति तटस्थ होने चाहिए.

  • एससी/एसटी कानून के प्रावधानों को लेकर पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुरक्षित

    एससी/एसटी कानून के प्रावधानों को लेकर पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुरक्षित

    एससी/एसटी कानून के प्रावधानों को हलका करने के अपने आदेश पर पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा है. केंद्र सरकार व अन्य ने 20 मार्च 2018  के आदेश पर फिर से विचार करने के लिए पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी. पुनर्विचार याचिका पर फैसला देने के बाद ही सुप्रीम कोर्ट SC/ST अत्याचार निवारण ( संशोधन ) कानून 2018 का परीक्षण करेगा. सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पलटने के लिए केंद्र द्वारा यह कानून लाया गया था. 

  • सुप्रीम कोर्टः एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर होगी अंतिम सुनवाई

    सुप्रीम कोर्टः एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर होगी अंतिम सुनवाई

    सुप्रीम कोर्ट में SC/ST अत्याचार निरोधक अधिनियम संशोधन कानून  2018 के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर  26 मार्च से अंतिम सुनवाई होगी.

  • नए SC/ST एक्ट पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, 19 फरवरी को मामले की अगली सुनवाई

    नए SC/ST एक्ट पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, 19 फरवरी को मामले की अगली सुनवाई

    नए SC/ST एक्ट यानी 2018 के संशोधित एससी-एसटी कानून पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है. अब सुप्रीम कोर्ट मामले की सुनवाई 19 फरवरी को करेगा.

  • सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST के संसोधित कानून पर रोक से किया इनकार, कहा-ऐसे मामलों में रोक संभव नहीं 

    सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST के संसोधित कानून पर रोक से किया इनकार, कहा-ऐसे मामलों में रोक संभव नहीं 

    वहीं याचिकाकर्ता ने कहा कि इस कानून पर अंतरिम रोक लगाई जानी चाहिए. सुनवाई के दौरान पीठ (SC) ने कहा कि पहले का फैसला जस्टिस आदर्श गोयल और जस्टिस यू ललित ने दिया था. अब जस्टिस गोयल के रिटायर होने के बाद जस्टिस ललित को पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करनी है. इसके लिए मुख्य न्यायाधीश को पीठ का गठन करना है. लिहाजा इस मामले को मुख्य न्यायाधीश के पास भेजा जाना है. सुनवाई के दौरान जस्टिस ए के सीकरी की पीठ ने कहा कि मुख्य न्यायाधीश यह तय करेंगे कि इन जनहित याचिकाओं को पुनर्विचार याचिका के साथ सुना जाए या इसकी सुनवाई अलग से हो.

  • Flashback 2018: इन 5 बड़े आंदोलनों ने खींचा पूरे देश का ध्यान...

    Flashback 2018: इन 5 बड़े आंदोलनों ने खींचा पूरे देश का ध्यान...

    Flashback2018: साल 2018 का समापन होने वाला है. बीते साल देश में कुछ बड़े आंदोलन हुए, जिससे कुछ बदलाव की भी झलक देखने को मिली. साल 2018 में देश के अन्नदाता कई बार सड़कों पर उतरे. कभी दिल्ली तो कभी महाराष्ट्र में किसानों ने अपनी आवाज बुलंद की. तो वहीं, SC/ST Act पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने भारत बंद बुलाया, जिस दौरान 9 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई अन्य घायल हो गए.

  • आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों ने कथित रूप से दलित सहयोगी का उत्पीड़न किया, मामला दर्ज

    आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों ने कथित रूप से दलित सहयोगी का उत्पीड़न किया, मामला दर्ज

    आईआईटी कानपुर के एयरोस्पेस विभाग में दलित समुदाय के एक सदस्य के उत्पीड़न के आरोप में विभाग के चार वरिष्ठ प्रोफेसरों के खिलाफ सोमवार को कल्याणपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया गया है.

  • बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पटना में JDU के कार्यक्रम में ही शख्स ने सरेआम फेंकी चप्पल, जानें क्या है वजह

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पटना में JDU के कार्यक्रम में ही शख्स ने सरेआम फेंकी चप्पल, जानें क्या है वजह

    बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को पटना में एक कार्यक्रम के दौरान एक युवक के आक्रोश का सामना करना पड़ा. दरअसल, पटना में JDU की युवा शाखा की बैठक में एक युवक ने मुख्यमंत्री पर चप्पल फेंकी. पार्टी में हाल ही में शामिल हुए प्रशांत किशोर भी मुख्यमंत्री के साथ मंच पर मौजूद थे. CM पर चप्पल फेंकने वाले युवक चंदन को पुलिस ने हिरासत में ले लिया, और उसका कहना है कि वह आरक्षण का विरोधी है और अगड़ी जाति के लोगों के लिए भी आरक्षण की मांग करता है.

  • दिग्विजय सिंह को काले झंडे दिखाने वालों को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर पीटा

    दिग्विजय सिंह को काले झंडे दिखाने वालों को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर पीटा

    मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाए. काले झंडे दिखाने वालों की कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर पिटाई कर दी. कांग्रेस कार्यकर्ताओं के इस कृत्य की सपाक्स ने निंदा की है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com