NDTV Khabar

Sonia Gandhi


'Sonia Gandhi' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • केंद्र के कृष‍ि विधेयकों को खारिज करने के लिए कानूनों पर विचार करें कांग्रेस शासित राज्य : सोनिया गांधी

    केंद्र के कृष‍ि विधेयकों को खारिज करने के लिए कानूनों पर विचार करें कांग्रेस शासित राज्य : सोनिया गांधी

    एनडीए के सबसे पुराने सहयोगी अकाली दल ने इस मुद्दे को लेकर पहले कैबिनेट से इस्तीफा दिया और फिर एनडीए से अलग होकर अपना विरोध जताया है. अकाली दल ने कृषि विधेयकों को किसानों, खेत मजदूरों और आढ़तियों के खिलाफ बताया और सभी राजनीतिक दलों से इसके खिलाफ एकजुट होने की अपील की.

  • राहुल गांधी ने मोदी सरकार को किया आगाह, 'पड़ोस में बिना दोस्तों के रहना खतरनाक'

    राहुल गांधी ने मोदी सरकार को किया आगाह, 'पड़ोस में बिना दोस्तों के रहना खतरनाक'

    कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) देश लौट चुके हैं. वह अपनी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के इलाज के लिए उनके साथ विदेश गए थे. इस बीच राहुल सोशल मीडिया के जरिए लोगों से जुड़े हुए थे. वह अक्सर ट्विटर के जरिए मोदी सरकार पर निशाना साधते हैं. कुछ देर पहले उन्होंने सरकार पर अंतरराष्ट्रीय संबंधों को लेकर सवाल करते हुए हमला बोला. राहुल ने ट्वीट किया, 'मिस्टर मोदी ने रिश्तों के उन जाल को नष्ट किया है, जो कांग्रेस ने कई दशकों में बनाए और पोषित किए थे. पड़ोस में दोस्तों के बिना रहना खतरनाक है.'

  • केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की गांधी-नेहरू टिप्‍पणी पर विवाद, चार बार स्‍थगित हुई लोकसभा की कार्यवाही

    केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की गांधी-नेहरू टिप्‍पणी पर विवाद, चार बार स्‍थगित हुई लोकसभा की कार्यवाही

    अनुराग ठाकुर ने कहा था कि हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक, हर कोर्ट ने पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund)को सही ठहराया.छोटे-छोटे बच्चों ने गुल्लक तोड़कर चंदा दिया. उन्‍होंने आगे कहा, नेहरूजी ने फंड बनाया आज तक उसका रजिस्ट्रेशन नहीं कराया. आपने केवल एक परिवार गांधी परिवार के लिए ट्रस्ट बनाया था. सोनिया गांधी को अध्यक्ष बनाया था, इसकी जांच होनी चाहिए

  • सोनिया और राहुल गांधी संसद के मानसून सत्र के पहले चरण में नहीं होंगे शामिल

    सोनिया और राहुल गांधी संसद के मानसून सत्र के पहले चरण में नहीं होंगे शामिल

    सूत्रों का कहना है कि पार्टी आर्थिक मंदी और केंद्र द्वारा कोरोनोवायरस महामारी से निपटने जैसे मुद्दों को उठाने की संभावना है. आपको बता दें कि सोनिया गांधी के विदेश जाने से एक दिन पहले, पार्टी में प्रमुख संगठनात्मक परिवर्तन किए गए जिसमें कई "असंतुष्ट" पत्र लेखकों जिन्हें पिछले महीने गांधी परिवार के नेतृत्व पर सवाल उठाते देखा गया था, उन्हें अपना पद खोना पड़ा है. 

  • 'लेटर बम' के बाद कांग्रेस में उथल-पुथल, गुलाम नबी आजाद को महासचिव पद से हटाया गया

    'लेटर बम' के बाद कांग्रेस में उथल-पुथल, गुलाम नबी आजाद को महासचिव पद से हटाया गया

    गुलाम नबी आज़ाद कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य बने रहेंगे. जो कि पार्टी के शीर्ष निर्णय लेने वाला पैनल है. असंतुष्ट नेताओं के समूह के एक अन्य सदस्य जितिन प्रसाद को परमानेंट इनवाइटी बनाया गया है.

  • मध्‍यप्रदेश: उपचुनावों के लिए कांग्रेस ने 15 प्रत्‍याशी घोषित किए, जानें किस सीट से किसे मिला टिकट..

    मध्‍यप्रदेश: उपचुनावों के लिए कांग्रेस ने 15 प्रत्‍याशी घोषित किए, जानें किस सीट से किसे मिला टिकट..

    पार्टी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को इन नामों को मंजूरी दी. शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में शामिल तुलसी सिलावट के खिलाफ सांवेर सीट ने कांग्रेस ने प्रेमचंद गुड्डू को मैदान में उतारा है. सिलावट हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं.

  • कंगना रनौत ने अब सोनिया गांधी पर साधा निशाना - इतिहास करेगा आपकी चुप्पी पर फैसला

    कंगना रनौत ने अब सोनिया गांधी पर साधा निशाना - इतिहास करेगा आपकी चुप्पी पर फैसला

    महाराष्ट्र सरकार पर लगातार हमलावर बनीं बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अब पूरे विवाद में कांग्रेस को लपेटने की कोशिश की है. कंगना ने शुक्रवार को एक साथ लगातार तीन ट्वीट करके कांग्रेस के बहाने पर शिवसेना पर हमला बोला, वहीं मामले में सोनिया गांधी के दखल का भी आग्रह किया.

  • कांग्रेस में 'लेटर बम' फोड़ने वाले असंतुष्ट नेताओं से सोनिया गांधी का आज होगा सामना

    कांग्रेस में 'लेटर बम' फोड़ने वाले असंतुष्ट नेताओं से सोनिया गांधी का आज होगा सामना

    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) कल संसदीय रणनीति समूह (Parliamentary Strategy Group) की वर्चुअल मीटिंग की अध्यक्षता करेंगी. 24 अगस्त को हुई कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक के बाद यह पहली बैठक है. इस बैठक में वे उन प्रमुख नेताओं से बातचीत करेंगी जिन्होंने पिछले महीने 'लेटर बम' से पार्टी में उथल-पुथल मचा दी थी. कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद और आनंद शर्मा पार्टी के संसदीय रणनीति समूह का हिस्सा हैं. यह नेता उन 23 नेताओं में शामिल थे जिन्होंने सोनिया गांधी को भेजे गए पत्र पर हस्ताक्षर किए. इस पत्र में कांग्रेस नेतृत्व, पार्टी संगठन और आंतरिक चुनावों में बड़े बदलाव का आह्वान किया गया था.

  • कांग्रेस से निष्कासित नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी : कहा- परिवार के मोह से ऊपर उठकर संगठन चलाएं

    कांग्रेस से निष्कासित नेताओं ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी : कहा- परिवार के मोह से ऊपर उठकर संगठन चलाएं

    कांग्रेस (Congress) में नेतृत्व को लेकर सवालों का सिलसिला थम नहीं रहा है. कुछ ही दिनों पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाने के बाद अब एक और पत्र पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखा गया है. यह पत्र पिछले साल कांग्रेस से निकाले गए नेताओं ने लिखा है. अनुशासनहीनता के आरोप में निष्कासित नेताओं के एक गुट ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर उनसे ''परिवार के मोह'' से ऊपर उठकर पार्टी में संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों को बहाल करते हुए इसे चलाने का आग्रह किया है. निष्कासित नेताओं में से पूर्व सांसद संतोष सिंह और पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी समेत नौ नेताओं ने दो सितम्बर को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने लोकतांत्रिक मूल्यों और विचारधारा के साथ कांग्रेस और देश को बनाया है, लेकिन विडम्बना यह है कि पिछले कुछ समय से पार्टी जिस तरह से चल रही है उससे पार्टी कार्यकर्ताओं में असमंजस और अवसाद की स्थिति बन गई है. 

  • वो कौन सी बात थी जिससे सोनिया गांधी नाराज हो गई थीं प्रणब मुखर्जी से

    वो कौन सी बात थी जिससे सोनिया गांधी नाराज हो गई थीं प्रणब मुखर्जी से

    पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ. प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि देना का सिलसिला जारी है. हालांकि कोरोना वायरस की वजह से कई तरह के प्रतिबंध लागू हैं. आज ही प्रणब मुखर्जी को पंचतत्व में विलीन कर दिया जाएगा. देश में 7 दिन के राष्ट्रीय शोक का भी ऐलान किया गया है. कांग्रेस के संकटमोचक रहे प्रणब मुखर्जी बीच-बीच में पार्टी को झटका देते भी रहते थे. पार्टी नेताओं के विरोध के बावजूद भी वह नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंच गए. राजीव गांधी से उनके मतभेद भी हुए थे. हालांकि कई विरोधाभाषों के बाद भी कांग्रेस में उनकी हैसियत कम नहीं हुई. एक बार लोकसभा में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा था कि वह सोचते हैं कि अगर प्रणब दा नहीं होते तो यूपीए सरकार का क्या होता. प्रणब मुखर्जी ने अपनी डायरियां भी लिखते थे और उन्होंने कहा था कि इन डायरियों को उनके न रहने पर ही प्रकाशित की जाएं. 

  • कांग्रेस अध्यक्ष के लिए चुनाव पर बोले सलमान खुर्शीद - कोई जल्दी नहीं, उसके बिना कोई आसमान नहीं टूट रहा

    कांग्रेस अध्यक्ष के लिए चुनाव पर बोले सलमान खुर्शीद - कोई जल्दी नहीं, उसके बिना कोई आसमान नहीं टूट रहा

    कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व को लेकर वरिष्ठ व दिग्गज नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने अपना बयान दिया है. उन्होंने न्यूज एजेंसी भाषा से बातचीत में कहा, कांग्रेस अध्यक्ष को चुनने के लिये चुनाव कराने की कोई जल्दी नहीं, उसके बिना कोई आसमान नहीं टूट रहा है, जब हालात ठीक हो जाएं तब चुनाव हो सकते हैं.

  • सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले 23 नेताओं में शामिल जितिन प्रसाद बोले - गलत मतलब निकाला गया

    सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले 23 नेताओं में शामिल जितिन प्रसाद बोले - गलत मतलब निकाला गया

    कांग्रेस में संगठनात्मक बदलाव और पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग को लेकर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले 23 नेताओं में शामिल जितिन प्रसाद ने शनिवार को कहा कि पत्र का गलत मतलब निकाला गया और उन्हें पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में पूरा विश्वास है.

  • सोनिया गांधी का केंद्र पर वार- खतरे में है अभिव्यक्ति की आजादी, वे चाहते हैं अपना मुंह बंद रखे देश

    सोनिया गांधी का केंद्र पर वार- खतरे में है अभिव्यक्ति की आजादी, वे चाहते हैं अपना मुंह बंद रखे देश

    कांग्रेस अध्यक्ष ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के भूमि पूजन कार्यक्रम में कहा, "लोगों को लड़ाने वाली ताकतें देश में नफरत का जहर फैला रही हैं. अभिव्यक्ति की आजादी खतरे में है, लोकतंत्र नष्ट हो रहा है. वे चाहते हैं कि देश के लोग, हमारे आदिवासी, महिलाएं, युवा अपना मुंह बंद रखें. वो देश का मुंह बंद रखना चाहते हैं." 

  • चिट्ठी विवाद को लेकर कांग्रेस नेता की मांग- गुलाम नबी को पार्टी से 'आजाद' कर दो

    चिट्ठी विवाद को लेकर कांग्रेस नेता की मांग- गुलाम नबी को पार्टी से 'आजाद' कर दो

    कांग्रेस (Congress) के 23 नेताओं की ओर से पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखे गए पत्र को लेकर खड़े हुए विवाद के बीच उत्तर प्रदेश (UP Congress) के कांग्रेस नेता और पूर्व विधान परिषद सदस्य नसीब पठान (Naseeb Pathan) ने शुक्रवार को वरिष्ठ पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) को पार्टी से बाहर निकाल देने की मांग की. उन्होंने कहा कि पार्टी ने आजाद को बहुत कुछ दिया किंतु उन्होंने वफादारी नहीं की.

  • स्‍टूडेंट से जुड़े मुद्दे पर सोनिया गांधी का संदेश, 'उनके भविष्‍य के बारे में कोई निर्णय लेना है तो यह...'

    स्‍टूडेंट से जुड़े मुद्दे पर सोनिया गांधी का संदेश, 'उनके भविष्‍य के बारे में कोई निर्णय लेना है तो यह...'

    ऐसे समय जब जेईई और नीट (NEET-JEE Exam) परीक्षा के आयोजन का मुद्दा इस समय पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) नेस्‍टूडेंट को लेकर अपनी बात रखी है.

  • Exclusive : ये रहा कांग्रेस में 'बवाल' खड़ा करने वाला 'लेटर बम', पढ़ें बड़ी बातें

    Exclusive : ये रहा कांग्रेस में 'बवाल' खड़ा करने वाला 'लेटर बम', पढ़ें बड़ी बातें

    इस चिट्ठी की टाइमिंग को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सवाल उठाए.    

  • सोनिया गांधी ने लिया बड़ा फैसला, नियुक्तियों में 'असंतुष्‍टों' को किया दरकिनार

    सोनिया गांधी ने लिया बड़ा फैसला, नियुक्तियों में 'असंतुष्‍टों' को किया दरकिनार

    लेटर लिखने वाले नेताओं को 'किनारे करने' के तहत पहला कदम उठाते हुए कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने जयराम रमेश को चीफ व्हिप नियुक्‍त किया है. कांग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष ने राज्‍यसभा (Rajya Sabha)के लिए एक समिति गठित की है. सोनिया ने पार्टी के कोषाध्‍यक्ष और अपने राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल वेणुगोपाल को इस समिति का सदस्‍य नियुक्‍त किया है.

  • पिक्चर अभी बाकी है, कांग्रेस में जंग जारी है...

    पिक्चर अभी बाकी है, कांग्रेस में जंग जारी है...

    कांग्रेस का लेटर बम मामला अभी तक खत्म नहीं हुआ है. हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कहा था अब इस मामले पर कोई बात नहीं करेगा और पार्टी को इससे निकल कर आगे बढना चाहिए. मगर कांग्रेस में अभी भी सब ठीक-ठाक नहीं है. यह तो उसी दिन पता चल गया था जब कांग्रेस कार्य समिति की औपचारिक बैठक के बाद गुलाम नबी आजाद के घर पर उन नेताओं की बैठक हुई जिन्होने चिट्ठी पर दस्तखत किए थे और अब गुलाम नबी ये कह रहे हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव होना चाहिए और साथ में कांग्रेस कार्य समिति का भी चुनाव हो. यही नहीं ब्लॉक लेवल से उपर तक नियुक्ति चुनाव के बाद ही हो. आजाद ने यह भी कहा कि हमारी मंशा कांग्रेस को मजबूत करने और उसको सक्रिय करने की है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com