NDTV Khabar

Ujjain


'Ujjain' - 137 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • लड़की को भगाकर ले जाने वाले नाबालिग लड़के की खंभे से बांधकर पिटाई

    लड़की को भगाकर ले जाने वाले नाबालिग लड़के की खंभे से बांधकर पिटाई

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के उज्जैन (Ujjain) में 15 साल की लड़की को बहला फुसलाकर भगाकर ले जाने के आरोप में एक नाबालिग लड़के (Minor Boy) की बिजली के खंभे से बांधकर पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है. उज्जैन के नीलगंगा थाने की पुलिस ने लड़की के परिजन से लड़के को छुड़ाया. उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

  • उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में खुदाई रुकी, 1000 साल पुरानी संरचना मिली

    उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में खुदाई रुकी, 1000 साल पुरानी संरचना मिली

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के उज्जैन (Ujjain) में प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshwar Mandir) के विस्तार के लिए की जा रही खुदाई के दौरान करीब 1000 साल पुरानी संरचना के अवशेष मिले हैं जिसके बाद खुदाई रोक दी गई है. मंदिर के सहायक प्रशासक मूलचंद जुनवाल ने शनिवार को बताया कि महाकालेश्वर मंदिर के मुख्य द्वार पर सती मंदिर के पास प्रतीक्षा क्षेत्र, बगीचे और अन्य सुविधाओं को बनाने के लिए शुक्रवार को खुदाई 20 फीट तक पहुंच गई, तभी वहां कुछ पुरातन सीढ़ियां और मंदिर के अवशेष दिखाई दिए जिसके बाद खुदाई रोक दी गई.

  • मटर 4-5 रुपये किलो बिक रही, उज्जैन में किसानों ने हंगामा कर वाहनों में तोड़फोड़ की

    मटर 4-5 रुपये किलो बिक रही, उज्जैन में किसानों ने हंगामा कर वाहनों में तोड़फोड़ की

    किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) का असर मालवा के मटर पर भी पड़ा है. मटर (Madhya Pradesh Peas) का व्यापार दिल्ली तक नहीं होने की वजह से हर साल मंडी में 30-40 रु प्रति किलो बिकने वाले मटर का थोक मंडी में भाव 4 से 5 रुपये प्रति किलो ही मिल रहा है.

  • शिवराज ने उज्जैन के जहरीली शराब कांड में एसपी को हटाया, 11 की हुई थी मौत

    शिवराज ने उज्जैन के जहरीली शराब कांड में एसपी को हटाया, 11 की हुई थी मौत

    उज्जैन में जहरीली शराब से मौत की घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख़्त कदम उठाए हैं. उन्होंने एसपी उज्जैन को हटाने के साथ सीएसपी रजनीश कश्यप को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने का निर्णय किया है.

  • एमपी के उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 14 की मौत, अब तक 10 आरोपी गिरफ्तार

    एमपी के उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 14 की मौत, अब तक 10 आरोपी गिरफ्तार

    इधर उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में जहरीली झिंजर पीने की पुष्टि हुई है. पुलिस ने कल रात से कार्यवाही में अभी तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें मुख्य रुप से जिंजर बनाने वाले सिकंदर, गबरू और यूनुस को गिरफ्तार किया है.यह छतरी चौक स्थित नगर निगम की मल्टी लेवल पार्किंग में अवैध रूप से जिंजर पोटली बनाकर मजदूरों को बेचा करते थे.

  • इंदौर: ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे से पहले कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने गिरफ्तार किया

    इंदौर: ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे से पहले कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने गिरफ्तार किया

    कांग्रेस ने स्कूली फीस माफी के साथ ही बस संचालकों को मुआवजे का मुद्दा प्रमुखता से उठाते हुए जमकर नारेबाजी भी की. लेकिन इसी बीच मौके पर पहुंची पुलिस ने जैसे ही कांग्रेस के प्रदर्शन पर सवाल जबाव किये तो कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं की पुलिस से हुज्जत हो गई. आखिरकार पुलिस ने बड़ी संख्या में एकत्रित कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया. प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी नेता चिंटू चौकसे को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. 

  • सावन के आखिरी सोमवार पर उज्जैन के महाकलेश्वर मंदिर में की गई भस्म आरती, देखें Video

    सावन के आखिरी सोमवार पर उज्जैन के महाकलेश्वर मंदिर में की गई भस्म आरती, देखें Video

    कोरोनावायरस की वजह से इस साल सावन के महीने में देशभर के बहुत से प्रमुख मंदिर श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोले गए थे. दरअसल, कोरोना के खतरे को देखते हुए मंदिरों ने श्रद्धालुओं के लिए लाइव दर्शन जारी रखा गया ताकि सभी भक्त अपने घरों से ही लाइव दर्शन कर सकें और सुरक्षित भी रह सकें. 

  • मध्यप्रदेश : छेड़छाड़ के आरोपी को हाई कोर्ट ने सशर्त जमानत दी, शर्त जानकर रह जाएंगे हैरान

    मध्यप्रदेश : छेड़छाड़ के आरोपी को हाई कोर्ट ने सशर्त जमानत दी, शर्त जानकर रह जाएंगे हैरान

    मध्यप्रदेश हाईकोर्ट (MP High Court) की इंदौर बेंच ने छेड़छाड़ के आरोपी को सशर्त जमानत (Conditional bail) दी है. शर्त यह है कि आरोपी रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) पर पीड़ित के घर जाकर उससे राखी बंधवाएगा और रक्षा का वचन देगा. आरोपी विक्रम बागरी उज्जैन जेल में बंद है. अप्रैल में पड़ोस में रहने वाली महिला के घर में घुसकर छेड़छाड़ के आरोप में जेल में बंद विक्रम बागरी ने इंदौर में जमानत याचिका दायर की थी.

  • सावन के तीसरे सोमवार को महाकाल में हुई भस्म आरती, देखें Video

    सावन के तीसरे सोमवार को महाकाल में हुई भस्म आरती, देखें Video

    सभी भक्त मंदिर में की जा रही पूजा के ऑनलाइन दर्शन कर सकते हैं. सभी भक्त अपने मोबाइल से महाकालेश्वर के दर्शन कर सकते हैं. आज यानी कि 20 जुलाई को सावन के तीसरे सोमवार के मौके पर महाकाल मंदिर में भीष्म आरती की गई. 

  • महाकाल भक्तों के लिए बड़ी खबर, इस सोमवार से मध्य प्रदेश से बाहर के भक्तों की नहीं होगी एंट्री

    महाकाल भक्तों के लिए बड़ी खबर, इस सोमवार से मध्य प्रदेश से बाहर के भक्तों की नहीं होगी एंट्री

    मंदिर के प्रशासक सुजान सिंह रावत ने शनिवार को कहा कि यह देखा गया है कि अन्य राज्यों से आने वाले भक्तों से कोरोना वायरस फैलने का डर है. प्रदेश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बाद सोमवार से अन्य राज्यों से आने वाले भक्तों के मंदिर में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है.

  • यूपी सरकार ने गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर मामले में रिटायर्ड जज की निगरानी में बिठाई जांच कमेटी

    यूपी सरकार ने गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर मामले में रिटायर्ड जज की निगरानी में बिठाई जांच कमेटी

    कानपुर बिकरु कांड और 3 जुलाई से 10 जुलाई के बीच हुए संबंधित सभी एनकाउंटर की जांच के लिए यह आयोग गठित किया गया है. जस्टिस शशीकांत अग्रवाल की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय आयोग का गठन किया गया है.

  • विकास दुबे को उज्जैन से लेकर आ रहे वाहन पर सवार कांस्टेबल Coronavirus से संक्रमित

    विकास दुबे को उज्जैन से लेकर आ रहे वाहन पर सवार कांस्टेबल Coronavirus से संक्रमित

    GSVM कालेज के कार्यवाहक प्रधानाध्यापक आर बी कमल ने रविवार को बताया कि कांस्टेबल के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर शनिवार देर रात मिली. उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. कमल ने बताया कि उसी वाहन में चार और पुलिसकर्मी सवार थे और उनके संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हुई है. 

  • मध्यप्रदेश : उज्जैन पुलिस ने गैंगस्टर विकास दुबे के मामले का किया पूरा खुलासा, नहीं किसी से कनेक्शन

    मध्यप्रदेश : उज्जैन पुलिस ने गैंगस्टर विकास दुबे के मामले का किया पूरा खुलासा, नहीं किसी से कनेक्शन

    उज्जैन के एसपी मनोज सिंह ने कानपुर के गैंगस्टर विकास दुबे के मामले पर पूरा खुलासा किया है. उनके मुताबिक विकास दुबे का उज्जैन में किसी से कोई संबंध नहीं था. इसे बारे में कोई लिंक नहीं मिला है. उन्होंने कहा है कि यूपी पुलिस का प्रेस नोट निराधार है. विकास को अभिरक्षा में लेकर यूपी पुलिस के हवाले किया गया था.

  • विकास दुबे एनकाउंटर मामले में SC में दाखिल 2 याचिका, कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग

    विकास दुबे एनकाउंटर मामले में SC में दाखिल 2 याचिका, कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग

    विकास दुबे (Vikas Dubey) एनकाउंटर मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दो याचिकाएं दाखिल की गई हैं. याचिकाओं में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग की गई है. एक याचिका वकील अनूप प्रकाश अवस्थी ने दाखिल की है.

  • विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले उसके पिता- मेरे बेटे ने किया था अक्षम्य पाप...

    विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले उसके पिता- मेरे बेटे ने किया था अक्षम्य पाप...

    न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए रामकुमार दुबे ने कहा, 'क्या उसने हमारा कहा माना, माना होता तो उसकी जिंदगी ऐसे खत्म नहीं होती. विकास ने कभी किसी भी तरह से हमारी मदद नहीं की. उसकी वजह से हमारी पैतृक संपत्ति नष्ट हो गई. उसने 8 पुलिसवालों को भी मारा, जो एक अक्षम्य पाप था. प्रशासन ने ठीक किया है. अगर वो ऐसा नहीं करते तो कल कोई और ऐसी हरकत करता.'

  • Vikas Dubey Encounter : इस तस्वीर में छिपा था पुलिस का आखिरी दांव जो नहीं समझ पाया विकास दुबे?

    Vikas Dubey Encounter : इस तस्वीर में छिपा था पुलिस का आखिरी दांव जो नहीं समझ पाया विकास दुबे?

    Vikas Dubey Encounter : बीती 3 जुलाई से लेकर 8 जुलाई तक 7 राज्यों की पुलिस, 100 टीमें, 5 लाख का इनाम और कई एसपी और डीएसपी को अकेले छकाने वाला कानपुर का गैगंस्टर विकास दुबे आखिरी 24 घंटों में मात गया है. फरारी से लेकर उज्जैन में पकड़े जाने तक लेकर उसकी ही रची स्क्रिप्ट में पुलिस इधर-उधर दौड़ती रही है और अब मध्य प्रदेश पुलिस की इस तस्वीर को देखिए इसमें आपको एक भी पुलिसकर्मी हथियार लिए नहीं नजर आ रहा है.  मतलब शुरू से ही शक किया जा रहा था कि विकास दुबे ने जानबूझकर उज्जैन के महाकाल मंदिर में जाकर सरेंडर किया है. दरअसल ऐसा लग रहा है कि आखिरी 24 घंटो में पुलिस भी विकास की रची स्क्रिप्ट पर काम करने लगी थी.  यानी विकास दुबे को इस बात का विश्वास दिलाना था कि जैसा वह चाह रहा है वैसा ही हो रहा है. नहीं तो ये विश्वास करना मुश्किर है कि जिस शख्स ने कुछ ही घंटों में 8 पुलिसकर्मियों को मार दिया है, उसे पकड़ने वाली पुलिस बिना हथियार लिए वहां पहुंच गई हो.  उसके गिरफ्तार होने के पहले के घटनाक्रम पर नजर डालें तो ये भी नाटकीय लग रहा है कि विकास दुबे उज्जैन पहुंचता है वहां वह 250 रुपये की रसीद कटवाता है और दर्शन करने के बाद खुद को 'विकास दुबे...कानपुर वाला' बताता है. माने उसको यहां तक  अपने सरेंडर वाली थ्योरी पर विश्वास था कि ऐसा करने से वह पुलिस के हाथों मरने से बच जाएगा.

  • कानपुर के गैगंस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर : ये 10 सवाल जिनका जवाब बहुतों को 'वास्तव' में ले डूबता

    कानपुर के गैगंस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर :  ये 10 सवाल जिनका जवाब बहुतों को 'वास्तव' में ले डूबता

    गैंगस्टर विकास दुबे( Vikas Dubey) को पुलिस ने कानपुर से 30 किलोमीटर दूर भौंती नाम की जगह पर मार गिराया है. पुलिस के मुताबिक उज्जैन से उसे सड़क के रास्ते लाया जा रहा था तभी काफिल में शामिल एक वाहन पलट गया इसका फायदा उठाकर उसने भागने की कोशिश जिसमें पुलिस ने उसे मार गिराया है. लेकिन पुलिस की इस थ्योरी पर सवाल उठ रहे हैं. जब विकास दुबे ने बड़े आराम से खुद को सरेंडर किया और उसे पता था कि अब उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा यानी एनकाउंटर का खतरा टल चुका था तो भागने की कोशिश क्यों करेगा. गौरतलब है कि विकास दुबे के मामले में पुलिस की भूमिका शुरू से ही संदिग्ध रही है और उसके एक गुर्गे ने कैमरे के सामने बोला है कि उसे पकड़ने के लिए पुलिस आ रही है इसकी सूचना उसे थाने से ही दी गई है. दूसरी ओर कुछ मीडिया रिपोर्टस की मानें तो उज्जैन में जब उससे पूछताछ की जा रही थी तो वहां भी उसने कबूला था कि उसकी मदद में कई पुलिस चौकियां शामिल थीं. कुल मिलाकर विकास दुबे के खत्म होते ही ये सवाल भी हमेशा के लिए दफन हो गए.

  • विकास दुबे ढेर : 2 जुलाई की रात 10:30 बजे से 10 जुलाई की सुबह 7 बजे तक क्या-क्या हुआ, 10 प्वाइंट में जानिए

    विकास दुबे ढेर : 2 जुलाई की रात 10:30 बजे से 10 जुलाई की सुबह 7 बजे तक क्या-क्या हुआ, 10 प्वाइंट में जानिए

    Vikas Dubey Encounter : कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करके फरार होने वाले गैंगस्टर विकास दुबे का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है. बताया जा रहा है कि रात में उज्जैन से कानपुर के लिए निकली एसटीएफ की टीम कानपुर से थोड़ा पहले पहुंची ही थी कि काफिले में शामिल एक कार हाइवे पर पलट गई. इस घटना का फायदा उठाकर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और दो-तीन किलोमीटर भागने के बाद उसे पुलिस ने गोली मार दी है. हालांकि पुलिस की इस थ्योरी से पर सवाल भी खड़े हो गए हैं कि जब इतने लाव-लश्कर के साथ पुलिस ने उसको पकड़ रखा तो फिर वह भागने में कैसे कामयाब हो गया. कुल मिलाकर विकास दुबे की कहानी खत्म होने के साथ ही सवालों के जवाब भी हमेशा के लिए दफन हो गए कि उसके अपराध में कौन-कौन से वर्दीधारी, सफेदपोश शामिल थे, जो शायद कोर्ट के सामने पता लग पाते. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com