NDTV Khabar

Varanasi


'Varanasi' - 724 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • वाराणसी में पीएफ से पैसे निकालने वालों की तादाद 50 फीसदी बढ़ी

    वाराणसी में पीएफ से पैसे निकालने वालों की तादाद 50 फीसदी बढ़ी

    वाराणसी के पीएफ दफ्तर में इन दिनों कोविड काल में नौकरी जाने, वेतन न मिलने, वेतन देरी से मिलने की वजह से लोग अपने पैसे पीएफ से निकालने के लिए आ रहे हैं. इनकी संख्या आम दिनों से लगभग 50 फ़ीसदी ज्यादा हो गई है. वाराणसी के पीएफ दफ्तर के बगल में जन सेवा केंद्र में मेरी मुलाकात चुन्नी देवी से हुई. चुन्नी देवी वाराणसी के चौसठी घाट के पास ठेकेदार के अंडर में सफाई का काम करती हैं. कोविड काल में उन्हें तनख्वाह कम मिली लिहाजा आमदनी कम हुई. अब अपना पीएफ निकालने आई हैं, क्योंकि बेटी की शादी करनी है. आमदनी का दूसरा कोई जरिया नहीं है तो पीएफ के पैसे का ही भरोसा है.

  • वाराणसी: बीएचयू में छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन, रोजगार देने की मांग

    वाराणसी: बीएचयू में छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन, रोजगार देने की मांग

    वाराणसी में बीएचयू के गेट के बाहर पंडित मदनमोहन मालवीय की प्रतिमा के पास भगत सिंह छात्र मोर्चा के छात्रों ने बेरोजगारी व प्रतियोगी परीक्षाएं ना कराए जाने को लेकर विरोध स्वरूप ताली-थाली बजाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. लगभग एक घंटे चले इस अनूठे विरोध प्रदर्शन में इन छात्रों की मांग थी कि सरकार रोजी रोटी दे. बेरोजगारी, सरकारी संस्थानों के निजीकरण को खत्म करने के सवाल पर अपना मत साफ करे और युवाओं को अंधकार में धकेलने के बजाय रोजगार के अवसर प्रदान करने के ठोस उपाय के बारे में बताए.

  • BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

    BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

    एक पिता मध्यप्रदेश से बनारस आकर छह महीने से खोए अपने बेटे को खोज रहे हैं. उनका बेटा बीएचयू का छात्र है. वे बताते हैं कि बेटे को छह महीने पहले पुलिस ले गई थी. बीएससी सेकंड ईयर में पढ़ने वाले शिव कुमार त्रिवेदी का उसके बाद कुछ पता नहीं है. पिता ने अब हाइकोर्ट से गुहार लगाई है. लापता छात्र शिवकुमार के पिता प्रदीप कुमार त्रिवेदी कहते हैं कि ''मैं एक संकल्प के साथ निकला हूं. जब तक मेरा पुत्र नहीं मिलेगा, मैं जूते-चप्पल नहीं पहनूंगा, मैं एक ही टाइम आहार करूंगा और अगर नहीं मिला तो लंका के थाने के सामने आत्मदाह कर लूंगा, लेकिन घर नहीं जाऊंगा.''

  • BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

    BHU का छात्र वाराणसी पुलिस के हिरासत में लेने के बाद छह महीने से लापता

    एक पिता मध्यप्रदेश से बनारस आकर छह महीने से खोए अपने बेटे को खोज रहे हैं. उनका बेटा बीएचयू का छात्र है. वे बताते हैं कि बेटे को छह महीने पहले पुलिस ले गई थी. बीएससी सेकंड ईयर में पढ़ने वाले शिव कुमार त्रिवेदी का उसके बाद कुछ पता नहीं है. पिता ने अब हाइकोर्ट से गुहार लगाई है. लापता छात्र शिवकुमार के पिता प्रदीप कुमार त्रिवेदी कहते हैं कि ''मैं एक संकल्प के साथ निकला हूं. जब तक मेरा पुत्र नहीं मिलेगा, मैं जूते-चप्पल नहीं पहनूंगा, मैं एक ही टाइम आहार करूंगा और अगर नहीं मिला तो लंका के थाने के सामने आत्मदाह कर लूंगा, लेकिन घर नहीं जाऊंगा.''

  • रक्षा मंत्री और उनके बेटे के नाम पर करोड़ों रुपये ठगे, आरोपी फरार

    रक्षा मंत्री और उनके बेटे के नाम पर करोड़ों रुपये ठगे, आरोपी फरार

    केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उनके विधायक बेटे के नाम पर करोड़ों ठगने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. . वह पिता को हार्टअटैक आने की बात कहकर बनारस भाग गया. वह बहनों के लॉकर से 26 लाख रुपये के गहने भी चुरा ले गया.

  • बिजली के बिल की सब्सिडी को लेकर बनारस के बुनकर चले आंदोलन की राह

    बिजली के बिल की सब्सिडी को लेकर बनारस के बुनकर चले आंदोलन की राह

    बनारस की साड़ियां फैशन नहीं परंपरा है. ऐसी परंपरा जिसकी रस्म दुनियाभर में निभाई जाती है. शादी कहीं भी हो, दांपत्य का रिश्ता बनारस की रेशमी साड़ियों से ही गाढ़ा होता है.

  • वाराणसी: बदमाशों ने दिनदहाड़े की ताबड़तोड़ फायरिंग, दो लोगों की मौत

    वाराणसी: बदमाशों ने दिनदहाड़े की ताबड़तोड़ फायरिंग, दो लोगों की मौत

    चौकाघाट कालीमंदिर के समीप दुस्साहसी बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग करके दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया.मिली जानकारी के अनुसार, बाइक पर सवार बदमाशों की ओर से की जा रही ताबड़तोड़ फायरिंग के दौरान उधर से गुजर रहा ट्राली चालक भी चपेट में आ गया. खास बात यह है कि यह घटना जिस जगह हुई, वहां से पुलिस चौकी चंद कदम की दूर है.

  • अस्पताल की चौथी मंजिल से कूदकर कोरोना संक्रमित ने जान दी, युवक का शव मिला

    अस्पताल की चौथी मंजिल से कूदकर कोरोना संक्रमित ने जान दी, युवक का शव मिला

    कोरोना काल में बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल और सुपर स्पेशलिटी कॉम्पलेक्स के ऊपर एक बड़ी जिम्मेदारी है, लेकिन आए दिन इन अस्पतालों से लापरवाही की तस्वीरें सामने आ रही हैं. पिछले 24 घंटे के अन्दर इन अस्पतालों में दो बड़ी घटनाएं हुईं हैं. रविवार को देर रात अस्पताल के चौथी मंजिल से कूदकर एक कोरोना संक्रमित ने जान दे दी. बीएचयू प्रशासन के अनुसार मृतक युवक मानसिक रूप से बीमार था. 

  • पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र स्वच्छता में फिसड्डी, वाराणसी की रैंकिंग 27 वीं

    पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र स्वच्छता में फिसड्डी, वाराणसी की रैंकिंग 27 वीं

    गंगा के किनारे बसे शहरों में बनारस स्वच्छता की रैंकिंग में पहले पायदान पर आया है. यह सुनकर लगेगा कि पूरा बनारस साफ़ हो गया है लेकिन ऐसा नहीं है. ये बात शहरों  की ओवरआल  रैंकिंग भी बताती है कि तमाम कोशिशों और  प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र होने के बावजूद अभी ये 27 वें पायदान पर है. इसके पहले के सर्वेक्षण में भी बनारस पिछड़ता ही रहा है. साल 2016 के 73 शहरों की रैंकिंग में तो इसका स्थान 65 वां था. साफ़ है कि अभी भी कई जगह इसके दामन में कूड़े और सीवर के पानी के दाग नज़र आते हैं. 

  • शहनाई के उस्ताद बिस्मिल्ला खां की धरोहर पर चला हथौड़ा, संगीत जगत आहत

    शहनाई के उस्ताद बिस्मिल्ला खां की धरोहर पर चला हथौड़ा, संगीत जगत आहत

    उत्तरप्रदेश के वाराणसी (Varanasi) के जिस मकान में उस्ताद बिस्म्मिल्लाह खां (Bissmilaah Khan) की शहनाई परवान चढ़ी, जिसकी हर दरोदीवार पर उस्ताद की यादें सिमटी हैं और फज़्र की नमाज़ के बाद जिस कमरे में उस्ताद शहनाई का रियाज़ करते थे उस कमरे पर हथौड़ा चला है. यह हथौड़ा पारिवारिक विवाद का है, जिसमें एक पक्ष उस मकान को तोड़कर व्यावसायिक केंद्र बनाना चाहता है तो दूसरा पक्ष उसे धरोहर के रूप में बचाए रखना चाहता है. फिलहाल ये विवाद बड़ा हो गया है और इसमें अब स्थानीय प्रशासन ने हस्तक्षेप किया है. वाराणसी प्राधिकरण ने वहां चल रहे काम को रुकवा दिया है.

  • वाराणसी पीएचसी के 28 प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों ने सौंपा सीएमओ को प्रभारी पद का इस्तीफा 

    वाराणसी पीएचसी के 28 प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों ने सौंपा सीएमओ को प्रभारी पद का इस्तीफा 

    बनारस में कोरोना की बिगड़ती स्थिति के बीच प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के बीच भी असहज स्थति सामने आने लगी है.  कोरोना को लेकर प्रशासन स्वास्थ्य विभाग पर कड़ाई करता रहा है. इसी कड़ी में बनारस के शहरी पीएचसी में तैनात प्रभारी अधिकारियों पर कोरोना बिमारी की रोकथाम में सही तरह से काम न करने का एक नोटिस सहायक नोडल अधिकारी / डिप्टी कलेक्टर की तरफ से दिया गया. इस लेटर के मिलने के बाद 28 प्रभारी चिकत्सा अधिकारियों का सब्र टूट गया और उन लोगों ने सामूहिक रूप से सीएमओ से मिलकर प्रभारी चिकत्सा पद से इस्तीफा दे दिया.  

  • वाराणसी पीएचसी के 28 प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों ने सौंपा सीएमओ को प्रभारी पद का इस्तीफा 

    वाराणसी पीएचसी के 28 प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों ने सौंपा सीएमओ को प्रभारी पद का इस्तीफा 

    बनारस में कोरोना की बिगड़ती स्थिति के बीच प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के बीच भी असहज स्थति सामने आने लगी है.  कोरोना को लेकर प्रशासन स्वास्थ्य विभाग पर कड़ाई करता रहा है. इसी कड़ी में बनारस के शहरी पीएचसी में तैनात प्रभारी अधिकारियों पर कोरोना बिमारी की रोकथाम में सही तरह से काम न करने का एक नोटिस सहायक नोडल अधिकारी / डिप्टी कलेक्टर की तरफ से दिया गया. इस लेटर के मिलने के बाद 28 प्रभारी चिकत्सा अधिकारियों का सब्र टूट गया और उन लोगों ने सामूहिक रूप से सीएमओ से मिलकर प्रभारी चिकत्सा पद से इस्तीफा दे दिया.  

  • बीएचयू कोविड अस्पताल में घोर लापरवाही, अपने चिकित्सा अधिकारी का ही शव दूसरे शव से बदल दिया

    बीएचयू कोविड अस्पताल में घोर लापरवाही, अपने चिकित्सा अधिकारी का ही शव दूसरे शव से बदल दिया

    कोरोना काल में बीएचयू (BHU) में लापरवाही के कई किस्से सुनने और देखने को मिल रहे हैं. लेकिन इस बार जो कुछ हुआ शर्मसार करने वाला है.  उसने लोगों को ये सोचने पर मजबूर कर दिया कि क्या बीएचयू एम्स का दर्जा पाने लायक भी है? बुधवार को बीएचयू के कर्मचारियों ने लापरवाही की सभी हदें पार करते हुए कोरोना संक्रमित मृतक की लाश लेने पहुंचे परिजनों को दूसरे की लाश सौंप दी. यह लापरवाही किसी और के साथ नहीं बल्कि स्वास्थ्य विभाग के दूसरे नंबर के अधिकारी के शव के साथ हुई. 

  • बनारस में कोरोना काल की जन्माष्टमी पर पीपीई किट में नजर आ रहे भगवान कृष्ण

    बनारस में कोरोना काल की जन्माष्टमी पर पीपीई किट में नजर आ रहे भगवान कृष्ण

    Krishna Janmashtami: सिर पर कोरोना से बचाव की पगड़ी, बदन पर पीपीई किट और मुंह पर मास्क.. इस जन्माष्टमी पर कृष्ण भगवान की यह नई ड्रेस है.  जन्माष्टमी के मौके पर कोरोना से बचाव के सामान से सजे कृष्ण भगवान की झांकी ये बताती है कि कोरोना का असर समाज और हमारे तीज त्योहारों पर भी पड़ा है, तभी तो छोटे-छोटे मास्क, पीपीई किट और कोरोना से बचाव की मुकुट इस बार जन्माष्टमी में झांकी सजाने के लिए लोगों की पहली पसंद बना है. 

  • बनारस में दरोगा की करतूत से पुलिस हुई शर्मशार, एसएसपी ने किया सस्पेंड

    बनारस में दरोगा की करतूत से पुलिस हुई शर्मशार, एसएसपी ने किया सस्पेंड

    मानवता को शर्मसार करने वाली एक तस्वीर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आई है. यहां के शिवपुर पुलिस स्टेशन में तैनात एक दरोगा ने लॉकडाउन के दौरान सड़क के किनारे खड़े एक भुट्टा विक्रेता का ठेला पलट दिया. दरोगा की गुंडागर्दी की यह तस्वीरें जब सोशल मीडिया पर वायरल हुईं तो पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. घटना की हर तरफ हो रही निंदा को देखते हुए एसएसपी अमित पाठक ने आरोपी दारोगा को फ़ौरन सस्पेंड कर दिया है. साथ ही उसके खिलाफ अब विभागीय कार्रवाई की भी तैयारी चल रही है.

  • वाराणसी में ठेला पलटाने वाले दरोगा पर गिरी गाज, पुलिस ने पीड़ित की मदद को बढ़ाया हाथ

    वाराणसी में ठेला पलटाने वाले दरोगा पर गिरी गाज, पुलिस ने पीड़ित की मदद को बढ़ाया हाथ

    UP Cop Overturn Cart in Varanasi: वाराणसी के शिवपुर इलाके में एक भुट्टा विक्रेता सड़क किनारे ठेले पर भुट्टे बेच रहा था. इस दौरान, सब-इंस्पेक्टर वरुण कुमार शशि ठेले के पास पहुंचते हैं और भुट्टे उठाकर सड़क पर फेंकने लगते हैं. यही नहीं कुछ देर बाद दरोगा वरुण कुमार पूरा ठेला पलट देते हैं और वहां से चले जाते हैं.

  • वाराणसी : L-3 अस्पताल बीएचयू में लापरवाही की खबरें, जिले में कोरोना से अब तक 75 की मौत

    वाराणसी : L-3 अस्पताल बीएचयू में लापरवाही की खबरें, जिले में कोरोना से अब तक 75 की मौत

    वाराणसी में कोरोना का कहर जारी है. मरीजों की संख्या रुकने का नाम नहीं ले रही है.  इसके साथ ही L3 के अस्पताल बीएचयू से इलाज में लापरवाही की खबरें भी आ रही हैं. ताज़ा मामला एक वरिष्ठ पत्रकार की मौत से जुड़ा है. कोरोना से हुई इस मौत के बाद मीडियार्मियों में दुखी हैं और उनका कहना है कि यहां भी इलाज ठीक से नहीं हो पा रहा है. हिंदी अखबार में काम करने वाले पत्रकार राकेश चतुर्वेदी का कोरोना की वजह से बीती रात मौत हो गई है. पत्रकार विक्रांत दुबे ने का कहना है कि राकेश को सांस लेने में तकलीफ थी उनके परिवार ने काफी मशक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया पाया था.  

  • पारंपरिक चीजों से ये महिलाएं बना रही हैं राखियां, कहा- यह PM के 'आत्मनिर्भर मिशन' को समर्थन का एक प्रयास

    पारंपरिक चीजों से ये महिलाएं बना रही हैं राखियां, कहा- यह PM के 'आत्मनिर्भर मिशन' को समर्थन का एक प्रयास

    इसी बीच वाराणसी के एक स्वयं सहायक समूह की महिलाएं रक्षाबंधन के लिए पारंपरिक चीजों का इस्तेमाल कर राखी बना रही हैं. जिला शहरी विकास एजेंसी की जया सिंह ने इस बारे में बात करते हुए बताया कि, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ''आत्मनिर्भर मिशन'' का समर्थन करने का प्रयास करते हुए महिलाएं ये राखियां बना रही हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com